पीठ दर्द क्या है और यह किस कारण होता है

पीठ दर्द क्या है और यह किस कारण होता है

इस पोस्ट में पीठ के दर्द के बारे में जानकारी बताऊंगा कि पीठ का दर्द किस किस कारण से हो सकता है. और इसका इलाज किस तरह किया जाता है. और इसके इलाज के लिए हमें क्या-क्या करना चाहिए.क्योंकि आज के समय में पीठ दर्द की बीमारी लगभग हर किसी को मिल जाएगी चाहे बूढ़ा हो जवान हो लड़की हो लड़का हो चाहे किसी भी तरह का इंसान हो. लगभग आपको ऐसे बहुत से आदमी मिल जाएंगे जिनकी पीठ में दर्द अक्सर रहता है. और यह एक बहुत ही गंभीर समस्या बनी हुई है.

लोग इसके इलाज के लिए बहुत ही अलग-अलग तरह की दवाइयां अलग-अलग तरह के इलाज करवाते हैं. लेकिन फिर भी इनसे छुटकारा नहीं मिल पाता है. कई लोग तो पीठ दर्द के कारण बहुत ज्यादा पैसा खर्च कर देते हैं. लेकिन फिर भी उनके पीठ दर्द में किसी भी तरह का आराम नहीं मिलता है. तो मैं आपको नीचे पीठ दर्द के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी बता रहा हूं कि आप अच्छी तरह से देखें इसका तो देखिए.

पीठ दर्द क्या है What is backache in Hindi

What is backache in Hindi पीठ दर्द क्या होता है. इसके बारे में बताने की शायद आपको जरूरत भी नहीं है. क्योंकि आप पीठ दर्द का नाम सुनते ही समझ जाते हैं. कि यह क्या चीज है क्योंकि यह एक बहुत ही गंभीर समस्या है. जो कि आजकल हर किसी इंसान को मिल जाती है. पीठ दर्द हमारे कमर के निचले हिस्से में होता है. और यह कई बार तो इतना ज्यादा होने लगता है. कि हमें उठने बैठने में भी दिक्कत होने लगती है. और कई बार पीठ दर्द कम भी होता है. जो कि हमें नॉर्मल रहता है. पीठ दर्द किस कारण होता है. यह शायद आपको नहीं पता होगा लेकिन मैं आपको बता दूं कि पीठ दर्द होने के लगभग 4 सबसे बड़े कारण होते हैं. यह हमारी रीढ़ की हड्डी की वजह से भी हो सकता है. यह हमारी रीढ़ की हड्डी में जोड़ होते हैं.उनके कारण भी हो सकता है. और जो हमारे शरीर की  रीड की हड्डी के साथ मांसपेशियां जुड़ी होती है. उनके कारण भी यह दर्द हो सकता है. और न वहां से जो न से निकलती है उन नसों के दबने के कारण भी कई बार यह दर्द हमें होने लगता है. या उन नसों में दिक्कत होने के कारण भी यह दर्द हमें अक्सर रहने लगता है.

पीठ का दर्द कितने प्रकार का होता है.

हम आपको बताऊंगा कि पीठ का दर्द कितने प्रकार का होता है. अगर आपकी पीठ में लगातार 12 हफ्ते से दर्द है. तो उसे हम एक्यूट पीठ दर्द बोलते हैं. और अगर आपके शरीर में 12 हफ्ते से ज्यादा पीठ में दर्द है. तो उसे क्रॉनिक पीठ दर्द कहा जाता है. और पीठ दर्द हमें किस वजह से होता है. कई बार हमारी पीठ में अपने आप दर्द होने लगता है. उसका कारण हमें पता नहीं होता है. कि वह दर्द किस वजह से हो रहा है. उससे अविशिष्ट पीठ दर्द कहते है. जिसका हमें कारण नहीं पता होता है.

और कुछ पीठ दर्द किसी कारण से भी होता है. जैसे किसी तरह का संक्रमण हमारे शरीर में हो जाता है. तो पीठ दर्द होने लगता है. अगर हमारे शरीर में कैंसर है तो भी हमें पीठ दर्द होने लगता है. या किसी तरह की चोट लगने से पीठ दर्द होने लगता है. कभी आप का एक्सीडेंट हुआ हो तो उस में चोट लगने से आपको पीठ दर्द होने लगता है. क्योंकि जब आप का एक्सीडेंट होता है. तो कई बार आपकी रीड की हड्डी में फ्रैक्चर आ जाता है. उससे आप की हड्डी कमजोर हो जाती है. और उसमें आप को हर दम दर्द रहने लगता है.

कम पीठ दर्द के कारण

सामान्य कारण

बहुत से लोगों की कमर के निचले हिस्से में बिल्कुल हल्का सा दर्द रहता है. उस दर्द का कारण शायद आप नहीं जानते हैं. लेकिन वह दर्द आपको परेशान भी करता है. और एक ऐसा माना जाता है. कि उस दर्द का सबसे बड़ा कारण होता है कि अगर आप कहीं पर नौकरी कर रहे हैं.या आप कहीं पर काम कर रहे हैं. उस काम में आपका मन का नहीं लगना या आपके पारिवारिक तनाव के कारण आपके पीठ में दर्द रहता है. और उन लोगों के दर्द के ये दो सबसे बड़े कारण होते हैं. डॉक्टर के पास पीठ के दर्द के सबसे ज्यादा मरीज आते हैं. उनकी पीठ में दर्द का कारण सबसे ज्यादा यह होता है. कि उनकी रीड की हड्डी से जुड़ी हुई जो मांसपेशियां होती है उनमें खिंचाव आ जाता है. क्योंकि आप अगर ज्यादा समय तक किसी एक अवस्था में सोते रहते हैं. तो उस समय आपकी मांसपेशियां खींच जाती है. या कई बार वह दब जाती है. जिसके कारण आपकी पीठ में दर्द होता है दूसरा कारण जो होता है. वह यह है. कि जो रीड की हड्डी है. उसके ऊपर अगर दबाव पड़ता है. तो भी कई बार ज्यादा दर्द होने लगता है.

असामान्य कारण

दूसरे जो असामान्य कारण होते हैं. उनमें  जैसे की स्पाइनल डिस्क डीजनरेशन या ऑस्टियोआर्थराइटिस और तो यह कुछ कारण भी पीठ दर्द के हो सकते हैं. लेकिन यह पीठ दर्द जब होता जब आपकी उम्र थोड़ी बढ़ जाती है. और अगर हम बात करें महिलाओं के पीठ दर्द की तो 50% से भी ज्यादा महिलाओं की पीठ में दर्द उस समय होता है. जब वे गर्भावस्था में होती है. तो गर्भावस्था मैं जब भी कोई महिला होती है. तो उसे कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जैसे कि उनको ज्यादा लंबे समय तक खड़े नहीं रहना चाहिए या ज्यादा लंबे समय तक बैठना नहीं चाहिए या उनको किसी भी तरह का वजन नहीं उठाना चाहिए तो यदि इन बातों का ध्यान रखते हैं. तो इस तरह की दिक्कत कम होगी.

पीठ दर्द का इलाज

जब कोई भी मरीज पीठ दर्द के कारण डॉक्टर के पास जाता है. तो उस समय डॉक्टर उस मरीज से उस दर्द के बारे में पूरी जानकारी लेता है. और उसके बाद डॉक्टर और मरीज का एम आर आई सीटी स्कैन या एक्स-रे करता है. इन चीजों को करने के बाद डॉक्टर को यह पता लगाने में आसानी हो जाती है. कि आपका दर्द किस वजह से हो रहा है. फिर उसके लिए आप का इलाज शुरू होता है. जिस जगह पर मरीज को दर्द होता है वहां पर डॉक्टर हिट थेरेपी का इस्तेमाल करते हैं. और यह Full Cmpression Therapy होता है. फिर उसके बाद कुछ दर्द की गोली या दवाइयां डॉक्टर उस मरीज को देता है. कई लोगों के पीठ में दर्द होता है. तो वहां पर सर्जरी भी की जाती है. जिन लोगों के बीच में दर्द 3 महीने या उससे ज्यादा समय का है. तो डॉक्टर को  उन लोगो के लिए Multidisciplinary Approach देना बहुत जरूरी है. उनको मनोवैज्ञानिक परामर्श देना चाहिए और उसके साथ-साथ जो दर्द का कारण बताना चाहिए और उसका उपचार करना चाहिए.

पीठ का दर्द हड्डी के कारण होता है. और यह रीड की हड्डी के निचले भाग में होता है. इस दर्द को आप दो तरह से समाप्त कर सकते हैं एक तो योगासन के साथ और दूसरा घरेलू नुक्सा के साथ तो मैं आपको यहां पर दोनों चीजों के बारे में बताऊंगा तो देखिए.

पीठ दर्द के लिए योगासन

जितना वजन हमारी कमर उठा सकती है.उससे कई ज्यादा हमारे पैर की जांघे और हाथ उठा सकते है. वह कमर से कई ज्यादा मजबूत होते हैं. भारी वजन को उठाने की एक्सरसाइज करने से इसी तरह आपकी कमर को भी मजबूती मिलेगी यह back bones को ठोस मजबूती देता है.योग स्ट्रेचिंग से कमर की हड्डी लचीली हो जायेगी जिससे आपको एक जगह बैठने में परेशानी नहीं आएगी. इसके साथ ही यह आगे आने वाले समय में जोड़ों के दर्द आदि हड्डियों से संबंधित सभी रोगों से छुटकारा दिलाएगा. कमर दर्द के लिए योग से बढ़कर और कोई सा इलाज नहीं हो सकता हैं. अगर आप रोजाना नियम से योग करते हैं. तो हड्डियों से संबंधित रोग आपको हो ही नहीं सकते.नीचे मैं आपको कुछ व्यायाम के नाम बता रहा हूं. जो कि पीठ दर्द के लिए एक बहुत ही फायदेमंद व्यायाम है.

  1. स्ट्रेचिंग.
  2. कैट पोज़ व्यायाम.
  3. Knee Rol व्यायाम.

पीठ दर्द के लिए घरेलू उपाय

  1. डॉक्टरी सलाह अनुसार फिजियोथेरेपी ले. अगर डॉक्टर सुझाव दे तो कमर के लिए बेल्ट का प्रयोग करे.  जिससे वह की मांसपेशिया अपने स्थान पर तिकी रहेंगी. अच्छे और योग्य फिजियोथेरेपिस्ट से सलाह ले.
  2. आयुर्वेद के महाविषगर्भ तेल और महानारायण तेल को मिलाकर दर्द वाले स्थान पर लगाने से फ़ायदा मिलता है.
  3. निरंतर कंप्यूटर पर काम करने वाले व्यक्तिओ को ये समस्या अधिक होती है. इससे बचने के लिए उचित व्यायाम करे और अपने शरीर को स्वस्थ रखे खाने में कैल्शियम वाले आहार को शामिल करे.
  4. रात को गेंहू के दानो को पानी में भिगोए. अगली सुबह खसखस और धनिए के दानो के साथ दूध में डालकर चटनी बनाकर इसका सेवन करे सप्ताह में दो बार इसके सेवन से दर्द में आराम मिलेगा.
  5. पीठ दर्द में दशमुल का काढ़ा सुबह शाम पानी से पीना चाहिए। दर्द में आराम मिलेगा.
  6. दर्द का मूल कारण कब्ज भी होता है. इसके लिए 15mm अरंडी के तेल को रात में ले.

तो आज हमने आपको इस पोस्ट में  पीठ के दर्द पीठ दर्द क्या है और यह किस कारण होता है पीठ दर्द के लिए योगासन पीठ दर्द के कारण पीठ दर्द के घरेलू उपाय पीठ दर्द की दवा पीठ दर्द का इलाज पीठ दर्द होने के कारण पीठ दर्द का उपाय पीठ दर्द का इलाज इन हिंदी पीठ दर्द का आयुर्वेदिक इलाज पीठ दर्द के लिए आसन पीठ दर्द इलाज पीठ दर्द का घरेलू इलाज  के बारे में जानकारी यदि आपको पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं.

1 Comment
  1. Ashu says

    Sir mote kese hoye

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+