Business

जिरेनियम के तेल का बिजनेस कैसे शुरू करें भविष्य में होगा लाखों का मुनाफा

जिरेनियम के तेल का बिजनेस कैसे शुरू करें भविष्य में होगा लाखों का मुनाफा

पिछले दो-तीन साल में जब से पूरी दुनिया में लॉकडाउन लगा है तब से दुनिया भर के सभी देशों में तेल के रेट बढ़ गए हैं दुनिया भर में पेट्रोल से लेकर खाने-पीने और दूसरे इस्तेमाल में की जाने वाली सभी तेलों के रेट लगभग 2 गुना हो गए हैं और इनके रेट इतना ज्यादा होने के पीछे इनके स्टॉक में कमी और इनके उत्पादन में कमी होना है हालांकि बहुत सारे तेल ऐसी भी हैं जिनका रेट शायद इतना ज्यादा नहीं बढ़ा क्योंकि इन तेलों का इस्तेमाल इतना ज्यादा नहीं होता.

खाने-पीने के तेलों के दाम तो बहुत तेजी से दोगुना हो गए सरसों का तेल आज से लगभग 2 साल पहले आपको 80 से ₹90 प्रति लीटर मिल जाता था और उसी सरसों के तेल का भाव आज के समय में लगभग 180 से ₹200 प्रति लीटर हो गया है इसी तरह से दूसरे खाद्य तेल जैसे रिफाइंड खाने व घी आदि का रेट भी बढ़ गया है. इनके अलावा कुछ ऐसे तेल है जो पहले से ही बहुत महंगे थे और इन सभी तेल का भाव और भी ज्यादा बढ़ गया है.

बहुत सारे लोग ऐसे थे जिनके पास इस तेल का स्टोर था उन्होंने लोक डाउन के बाद अच्छा मुनाफा कमाया है और ऐसा ही एक तेल जिरेनियम तेल है जोकि खाने पीने के इस्तेमाल में लाए जाने वाले तेल से बिल्कुल अलग तेल है लेकिन इस तेल का भाव मार्केट में हजारों रुपए प्रति लीटर है बहुत सारे लोग इस तेल का बिजनेस करके इससे अच्छा पैसा कमा रहे हैं इस तेल का उत्पादन भारत जैसे देशों में कम होता है इसीलिए इनका भाव बहुत ज्यादा है.

यदि आप भी जिरेनियम तेल का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तब आप भी अच्छा पैसा कमा सकते हैं और आपके भविष्य के लिए भी एक बढ़िया और अच्छा बिजनेस हो सकता है इस ब्लॉग में हम आपको जिरेनियम तेल के बिजनेस शुरू करने के लिए पूरी जानकारी विस्तार से देने वाले है.

जिरेनियम तेल

आप सभी को पता होगा कि जिस चीज की किसी देश में कमी होती है यह उस चीज का किसी देश में उत्पादन नहीं होता है उसका भाव हमेशा ही दूसरे देशों के मुकाबले में ज्यादा रहता है इसी तरह चीज जिरेनियम के तेल का भाव भी भारत व भारत के आसपास के राज्यों में बहुत ज्यादा है क्योंकि यह तेल एक ऐसा तेल है जो कि ज्यादातर अफ्रीकन देशों में पैदा होने वाले झाड़ी के रूप में पौधे से तैयार किया जाता है.

जिरेनियम के पौधे के ऊपर छोटे गुलाबी फूल और नुकीली पत्तियां होती है यह ज्यादातर अफ्रीकन देशों में होता है पिछले कुछ वर्षों से इस का उत्पादन अफ्रीकन देशों के अलावा भी कई देशों में होने लगा है क्योंकि जरेनियम के पौधे की कई अलग-अलग किसमें होती है जिरेनियम का तेल हमारे देश में हजारों रुपए प्रति लीटर है क्योंकि इस तेल का उत्पादन बहरी देशों में होता है यह तेल एक बहुत ही खुशबूदार तेल होता है

जिसका इस्तेमाल अलग-अलग खुशबू वाली चीजों में किया जाता है हालांकि यह तेल खाद्य तेलों से बिल्कुल अलग होता है और इस तेल का इस्तेमाल खाद्य तेल के रूप में नहीं किया जाता और कुछ प्राचीन चीजों के मुताबिक तेल का इस्तेमाल बहुत सारी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को ठीक करने के लिए भी किया जाता है यह जिरेनियम पौधा गुणदायक होता है और इस पौधे की अलग-अलग किस्मों में बढ़िया और अच्छी अच्छी खुशबू का तेल तैयार किया जाता है.

जरेनियम के पौधे की हर किस्म की खुशबू अलग-अलग भी हो सकती है लेकिन इस पौधे का आकार हमेशा एक जैसा ही होता है जिस किसी चीज का इस्तेमाल बदबू या गंदी होने के कारण ने किया जाता हो तब उस चीज का इस्तेमाल जरेनियम के तेल के इस्तेमाल के साथ आसानी से किया जा सकता है. जिरेनियम का पेड़ एक बहुत ही फायदेमंद और गुणकारी पौधा होता है.

यदि आप इस तेल को अपनी त्वचा के ऊपर लगाते हैं तब आप की त्वचा के ऊपर से कील मुंहासे, त्वचा की जलन व त्वचा के संक्रमण आदि को कम करने में फायदा मिलता है क्योंकि इस तेल में कई अलग-अलग प्रकार की चीजें होती हैं जिसमें बहुत सारे जीवाणुरोधी, रोगाणुरोधी वह एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं इसीलिए इस्तेमाल बहुत सारी स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक करने के लिए भी किया जाता है

जिरेनियम के तेल का बिजनेस कैसे शुरू करें

यदि आप एक कोई बढ़िया बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तब आप जिरेनियम के तेल का बिजनेस शुरू कर सकते हैं क्योंकि इस तेल की मांग बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है और इसीलिए इस तेल का भाव भी मार्केट में हजारों रुपए प्रति लीटर हो चुका है यदि आप इस जिरेनियम के तेल के बिजनेस को खड़ा कर लेते हैं तब आप इसे हर रोज काफी मुनाफा कमा सकते हैं इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले एक प्लांट लगाने की आवश्यकता होगी.

वैसे तो जिरेनियम का उत्पादन का सबसे बड़ा क्षेत्र अफ्रीकन देश ही हैं लेकिन अब पिछले कुछ सालों से भारत में भी जिरेनियम के उत्पादन के ऊपर काफी जोर दिया गया है और भारत में उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, बिहार और हिमाचल प्रदेश जैसे क्षेत्रों में जिरेनियम का उत्पादन किया जाता है और यदि आप जिरेनियम जेल का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं.

तब से पहले आपको इन राज्यों के कुछ किसानों से संपर्क जरूर करना होगा आपको सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिन एंड एरोमैटिक प्लांट्स ऑफ़ जिरेनियम के साथ संपर्क करना होगा क्योंकि आपको जिरेनियम ऑयल प्लांट के लिए बढ़िया किस्म के जिरेनियम की जरूरत होती है

बिजनेस शुरू करने के लिए क्या करें

यदि आप जिरेनियम आयल प्लांट लगाना चाहते हैं तब आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपको जिरेनियम ऑयल प्लांट हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश बिहार और हिमाचल प्रदेश जैसे राज्यों में ही लगाना होगा क्योंकि इन्हीं जगह पर जिरेनियम का उत्पादन किया जाता है इसके बाद में आपको अपने प्लांट के लिए एक बढ़िया बिल्डिंग तैयार करानी होगी.

जिसमें अलग-अलग प्रकार की छोटी और बड़ी मशीनें और दूसरे जरूरतमंद उपकरणों की जरूरत होती है इस प्लांट के लिए आपको 300 से 400 वर्ग मीटर की जगह में प्लांट लगाना होगा यदि आपके पास खुद की जमीन है तो आप खुद की जमीन पर भी तैयार करवा सकते हैं

लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

इसके बाद में आपको कई अलग-अलग प्रकार के लाइसेंस लेने की जरूरत होती है क्योंकि निम्नलिखित है

  • सबसे पहले आपको बिजनेस प्रोप्राइटऱशिप, पार्टनरशिप आदि के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होगा
  • इसके बाद में आपको जीएसटी या टैक्स रजिस्ट्रेशन करवाना होता है
  • उसके बाद में आपको पॉल्यूशन और फायर डिपार्टमेंट से भी NOC बनानी होगी
  • फिर आपको नगर निगम और नगर पालिका से भी लाइसेंस लेना होगा
  • उसके बाद में आपको कॉस्मेटिक और ड्रग ब्यूरो से भी लाइसेंस लेना पड़ेगा
  • उसके बाद में आपको उधम रजिस्ट्रेशन करवाना होगा
  • फिर आपको अपने ब्रांड का नाम और ट्रेडमार्क भी रजिस्ट्रेशन करवाना होता है
  • यदि आप बाहरी देशों में माल को एक्सपोर्ट इंपोर्ट करना चाहते हैं तब इसके लिए आपको इंपोर्ट एक्सपोर्ट कोड भी लेना होगा

जिरेनियम ऑयल बनाने की मशीन

सभी प्रकार के अलग-अलग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद में आपको अपनी तैयार की हुई बिल्डिंग में जिरेनियम ऑयल को बनाने वाली मशीन लगानी होगी इसके लिए आपको कई अलग-अलग प्रकार की मशीनें खरीदनी पड़ती है जिसमें मुख्य रुप से निम्नलिखित मशीनें आती हैं

  • स्टीम पाइप,
  • स्परेटर,
  • वाटर पंप,
  • कूलिंग टावर,
  • फिलिंग मशीन,
  • वाटर टैंक,
  • जरूरी बर्तन,
  • बिजली,
  • जरनैटर व इनवर्टर,
  • साफ पानी का टैंक

कच्चा माल

सब कुछ तैयार होने के बाद में आपको अपनी कंपनी के लिए कुछ कर्मचारियों की भी आवश्यकता होगी जो कि आपके लिए ऑयल बनाने का काम करेंगे इसके लिए आप अपने बिजनेस के हिसाब से कर्मचारी रख सकते हैं और कुछ मशीन ऑपरेटर को भी रखना होगा उसके बाद में आपको अपनी अपने प्लांट के लिए कच्चे माल की जरूरत होती है और कच्चे माल के लिए आपको किसी ऐसी जगह पर संपर्क करना होगा जो कि जिरेनियम के उत्पादन के ऊपर ज्यादा जोर देते हैं इसके लिए आप अलग-अलग जगहों पर जाकर संपर्क कर सकते हैं और फिर आप उनसे कच्चा माल खरीद सकते हैं उसके बाद में आपको अपने प्लांट में तेल की पैकिंग के लिए बोतल आदि भी तैयार करवानी होगी जिसमें आपको अपनी कंपनी का नाम और ट्रेडमार्क भी छपवाना होगा

फिर जब आप अपने प्लांट में तेल को बनाकर पैक करवा लेते हैं तब आपको अपने बिजनेस के शुरू शुरू के दिनों में प्रमोशन के लिए भी कुछ जगहों पर जाना पड़ेगा और किसी ऐसी जगह पर संपर्क करना होगा जो कि आपकी कंपनी का तेल खरीद सकते हैं लेकिन इस तेल की मांग भारत में बहुत ज्यादा है और इसका उत्पादन बहुत कम है इसलिए एक बार आपको इस बिजनेस को शुरू करने में परेशानी आएगी बाद में इस तेल के होलसेलर आपसे अपने आप संपर्क करने लगेंगे तो आप इससे अच्छा पैसा कमा सकते हैं

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बताई गई जिरेनियम के तेल का बिजनेस शुरू करने के बारे में यह जानकारी आपको पसंद आई होगी तो यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है और आप ऐसी ही और जानकारियां पाना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट को जरूर विजिट करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button