प्रोटीन की खोज किसने की और कब की

प्रोटीन की खोज किसने की और कब की

प्रोटीन सभी जीवित प्राणियों के लिए जरूरी है जिस तरह विटामिंस हमारे शरीर के लिए जरूरी है उसी तरह प्रोटीन भी हमारे शरीर के लिए  जरूरी है प्रोटीन शरीर के लिए ऊर्जा का स्त्रोत है शरीर के स्वस्थ रहने  के लिए प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में जरूरी है प्रोटीन की कमी से शरीर के अंदर ना तो वृद्धि हो पाती और ना ही शरीर स्वस्थ रहता है और आज कल सभी उमर के लोगो में प्रोटीन की कमी पाई जाती है क्योंकि आज प्रोटीन युक्त आहार बहुत  कम खाते है जिससे शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाती है

और वह जल्दी से पूरी भी नहीं होती प्रोटीन ओक्सिजन, हाइड्रोजन और नाइट्रोजन से बनने वाला तत्व है  शरीर को बीमारियों से बचाने का काम करता है प्रोटीन ही शरीर को अंदर और बाहर से मजबूत बनाता है और बच्चों में प्रोटीन की बहुत ज्यादा मात्रा में आवश्यकता होती है क्योंकि बच्चों का शरीर के विकास के लिए प्रोटीन सबसे महत्वपूर्ण आहार है कुछ बच्चों में बचपन से ही प्रोटीन की कमी पाई जाती है जिससे उनका शरीर कभी विकास नहीं करता और उसे प्रोटीन की पूर्ति करने के लिए प्रोटीन पाउडर या अन्य दवाइयों का इस्तेमाल करना पड़ता है

और प्रोटीन  शरीर में सीधे पाचन शक्ति को प्रभावित करता है इसलिए प्रोटीन लेने की भी एक उम्र होती है जिसके बाद प्रोटीन शरीर के लिए नुकसान करता है प्रोटीन हर इंसान को 5 से 35 वर्ष तक की उम्र तक लेना चाहिए  क्योंकि इस उम्र के बाद प्रोटीन शरीर पर गलत असर डालने लगते हैं प्रोटीन आपके शरीर के लिए बहुत जरूरी है यदि आपका वजन 50 किलो है तो आपको हर दिन 40 से 50 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए तभी आपके शरीर की प्रोटीन की पूर्ति हो पाएगी

और प्रोटीन त्वचा, रक्त, मांसपेशियों तथा हड्डियों की कोशिकाओं के विकास के लिए आवश्यक होते हैं प्रोटीन का मुख्य कार्य शरीर की संरचना  के लिए  एवं इन्जाइम के रूप में शरीर की जैवरसायनिक क्रियाओं का संचालन करना है। आवश्यकतानुसार इससे ऊर्जा भी मिलती है प्रोटीन हमारे शरीर में हड्डियों की मजबूती और शरीर के विकास के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है और गर्भवती महिलाओं में प्रोटीन बहुत ही ज्यादा मात्रा में आवश्यकता होती है

गर्भवती महिलाओं के लिए 63 ग्राम, जबकि स्तनपान करानेवाली महिलाओं के लिए प्रतिदिन 75 ग्राम प्रोटीन  की आवश्यकता होती है  क्योंकि गर्भवती महिलाओं के अंदर का शारीरिक विकास होता है और गर्भ बच्चे के विकास में प्रोटीन की कमी रह जाए तो वह मुझे सारी उम्र तक रहेगीवैसे तो मांसाहारी भोजन में सबसे ज्यादा मात्रा में प्रोटीन होता है लेकिन कुछ लोग मांसाहारी भोजन का सेवन नहीं करते तो शाकाहारी भोजन के अंदर प्रोटीन का भरपूर मात्रा में मिलना थोड़ा सा मुश्किल है

लेकिन कुछ शाकाहारी भोजन या फल होते हैं जिनके मात्रा में बहुत ज्यादा मात्रा में प्रोटीन होता है शाकाहारी स्रोतों में चना, मटर, मूंग, मसूर, उड़द, सोयाबीन, राजमा, लोभिया, गेहूँ, मक्का प्रमुख हैं  मांस, मछली, अंडा, दूध एवं यकृत प्रोटीन के अच्छे मांसाहारी स्रोत हैं। पौधों से मिलनेवाले खाद्य पदार्थों में सोयाबीन में सबसे अधिक मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। इसमें 40 प्रतिशत से अधिक प्रोटीन होता है

 प्रोटीन की खोज

सबसे पहले सन ,1838 में  प्रोटीन की खोज डच रसायनज्ञ rardus Johannes Mulder और स्वीडिश रसायनज्ञ Jöns Jacob Berzelius  ने की थी उन्होंने प्रोटीन  का मौलिक विश्लेषण किया और पाया  लगभग  सभी प्रोटीन ही का अनुभवजन्य सूत्र,C400H620N100O120P1S1 था और प्रोटीन के  अणुओं का वर्णन करने के लिए इसका नाम  मुलडर के सहयोगी Berzelius द्वारा प्रस्तावित किया गया था

जर्मन कार्ल वॉन वोइट ने यह साबित किया कि प्रोटीन, शरीर की संरचना को बनाए रखने के लिए सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व था और फ्रेडरिक सेंगर ने सन , 1949 में अमीनो एसिड के बजाय branched चेन, कोलाइड, के शामिल होने  का प्रदर्शन किया  है और इस उपलब्धि के लिएsसन ,1958 में एस्टा में उन्हें  नोबल पुरस्कार मिला

और सन ,1958 में  मैक्‍स पेरट्ज़ और सर जॉन काडरी Kendrew द्वारा हीमोग्लोबिन और मायोग्लोबिन प्रोटीन संरचनाओं को हल किया  और पाया प्रोटीन की 126.060 से अधिक परमाणु संकल्प संरचना है और बाद में भी प्रोटीन के ऊपर बहुत से रिचार्ज  किये और अधिक से अधिक जानकारी लेने की कोशिश की गई और पता लगाया गया कि यह शरीर के लिए कितना लाभदायक है  और पता लगाया गया कि प्रोटीन किस किस पदार्थ में पाया जाता है किस किस भोजन के लेने से प्रोटीन की पूर्ति होती है और भी बहुत सी जानकारियां हासिल की गई औरऔर यह भी पता लगाया गया कि प्रोटीन की कमी से शरीर में क्या कमी आ जाती है

 यह भी देखे

इस पोस्ट में आपको  प्रोटीन की खोज किसने की और कब की protein ka avishkar kisne kiya protein ka aviskar kisne kiya protein ka aviskar kisne kiya protein ka aviskar kisne kiya के बारे में बताया गया है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें. और इस पोस्ट को शेयर जरूर करें ताकि दूसरे भी इस जानकारी को जान सकें.

3 Comments
  1. Pragya Nidhi says

    Very helpful for us…

  2. Ajay says

    1930 me protine kuch changes aaye

  3. akash says

    Protein me konsa vitamin paya jata h

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+