माइक्रोफोन का आविष्कार किसने किया

माइक्रोफोन का आविष्कार किसने किया

दोस्तों आजकल सभी इलेक्ट्रिकल चीजों का दौर है इसमें बहुत सी चीजों का आविष्कार बहुत ही तेजी से किया जा रहा है यह में नई-नई चीजें दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है इंटरनेट का आविष्कार हुआ उसके साथ ही दुनिया में बहुत सी तेजी आई इंटरनेट के आविष्कार के बाद बहुत सी और चीजों का अविष्कार हुआ गूगल का आविष्कार हुआ. जिससे कि हम देश दुनिया की जानकारी पर बैठ कर सकते हैं मोबाइल फोन का आविष्कार हुआ चीजों का स्कोर आज से हम बातें कर सकते हैं एक जगह पर बैठ कर और अपनी आवाज को बहुत दूर तक पहुंचा सकते हैं

लेकिन जब हम किसी से बात करते हैं तो हमें बात करते समय एक चीज का बहुत ध्यान रखना पड़ता है कि कहीं आप के मोबाइल में माइक्रोफोन तो खराब नहीं है कई बार जब हमें यह महसूस होता है कि या तो हमारी आवाज साफ नहीं आ रही है या आगे से आने वाली आवाज हमे साफ नहीं सुनाई दे रही तो हम सिर्फ इसी बात की ओर इशारा करते हैं. कि अगले का माइक्रोफोन खराब है या हमारे मोबाइल का माइक्रोफोन खराब है तो दोस्तों आज हम आपको इस पोस्ट में माइक्रोफोन के आविष्कार के बारे में बताएंगे माइक्रोफोन एक ऐसी इलेक्ट्रिकल युक्ति है जो कि किसी भी बात करने या बात भेजने वाले उपकरण के अंदर मौजूद होती है

पहले बहुत बड़े-बड़े माइक्रोफोन होते थे लेकिन आज की बढ़ती हुई टेक्निक के कारण बहुत ही छोटे छोटे और बहुत ही बढ़िया माइक्रोफोन बनाए गए हैं किसी को  पता भी नहीं चलता माइक्रोफोन आपके पास है और इतने छोटे माइक्रोफोन होने के बाद भी उनका काम सिर्फ एक ही होता है की आवाज को दूसरी जगह पर पहुंचा ना माइक्रोफोन जैसा भी हूं सिर्फ काम तो वही करता है जो हम बोलते हैं उसको वह दूसरी ओर पहुंचाता है माइक्रोफोन आजकल हर चीज में आते हैं वह तो आप किसी भी तरह की ईयर फोन या सीधा माइक्रोफोन लैपटॉप मोबाइल सभी में माइक्रोफोन का इस्तेमाल होता है और अगर सीधी भाषा में हम कहें तो माइक्रोफोन का इस्तेमाल उस चीज में होता है जिससे कि हम किसी से बात कर सकते हैं.

माइक्रोफोन का आविष्कार किसने किया

हम सभी जानते हैं कि कोई भी चीज़ अकेले काम नहीं कर सकती है क्योंकि यह सभी चीजें एक दूसरे के ऊपर निर्भर होती है वह चाहिए आप किसी भी चीज़ में देख ले अगर इंटरनेट का आविष्कार नहीं होता तो गूगल किसी काम का नहीं होता और अगर मोबाइल फोन का आविष्कार नहीं होता तो इंटरनेट किसी काम का नहीं होता और यदि माइक्रोफोन का आविष्कार नहीं होता तो मोबाइल फोन किसी काम का नहीं होता इसी तरह सभी चीजें एक दूसरे से जुड़ी हुई होती हैं जो कि अकेले भी नहीं चल सकती और उसको अकेला चलाना चाहिए तो हमें उसके साथ कुछ न कुछ चीजें जोड़नी ही पड़ती है माइक्रोफोन का आविष्कार बहुत पहले किया जा सकता था लेकिन इसको समय के साथ साथ बदल दिया गया और आज कल इतने छोटे-छोटे और अच्छे माइक आए हुए हैं जो कि हमारी वॉल्यूम को इतनी तेजी से पकड़ते हैं कि हम अंदाजा भी नहीं लगा सकते अगर आप बिल्कुल धीरे बोलते हैं तो भी माइक्रोफोन आपकी आवाज को पकड़ लेते हैं

माइक्रोफोन 1 इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो कि साउंड signal को इलेक्ट्रिकल signal में बदल देती है. माइक्रोफोन को हम MIC के नाम से भी जानते हैं और माइक आज के समय में हमें एक छोटे से मोबाइल में भी देखने को मिलता है. माइक्रोफोन सभी डिवाइस में एक ही काम करता है. चाहे वह किसी भी डिवाइस में क्यों ना हो अगर माइक्रोफोन ना होता तो शायद आज मोबाइल का भी अस्तित्व नहीं होता.और ऐसी तमाम डिवाइस जिसमें माइक्रोफोन का इस्तेमाल होता है वह आज सारी की सारी नहीं होती .

माइक्रोफोन का आविष्कार सबसे पहले टेलीफोन के लिए किया गया था और उसके बाद में इसे अलग-अलग इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में लगाया गया जहां जहां पर इसकी जरूरत पड़ी जैसे की टेप रिकॉर्डर, तो चलिए जानते हैं इसका आविष्कार कब और किसने और कैसे किया.

माइक्रोफोन का आविष्कार किसने किया

सन 1827 में Sir Charles Wheatstone ने माइक्रोफोन के बारे में व्याख्या की थी या यूं कहें कि माइक्रोफोन के बारे में बताया था. लेकिन माइक्रोफोन का आविष्कार सन 1876 में Emile Berliner (एमिल बर्लिनर) ने Telephone Voice को Transmitter करने के लिए किया था. The Bell Telephone Company इस अविष्कार से बहुत ज्यादा प्रभावित हुए  क्योंकि उन्हें अपने टेलीफोन के लिए एक बढ़िया माइक्रोफोन की जरूरत थी तो उन्होंने यह Patent $50000 में खरीद लिया.

इसके बाद सन 1878 में David Edward Hughes ने कार्बन माइक्रोफोन का आविष्कार किया.और रेडियो के अविष्कार के साथ ही रेडियो ब्रॉडकास्टिंग के लिए नए-नए माइक्रोफोन के आविष्कार हुए और 1942 में खास रेडियो ब्रॉडकास्टिंग के लिए रिबन माइक्रोफोन का अविष्कार हुआ.

सन 1964 में James West और Gerhard Sessler को विद्युतचुंबकीय ट्रांसड्यूसर के लिए Patent no. 3,118,022 मिला गया .इसने माइक्रोफोन उद्योग में क्रांतिकारी बदलाव किया, जिसमें प्रत्येक वर्ष लगभग एक अरब Microphone का उत्पादन किया गया था।

1970 के दशक में Dynamic और condenser mics का आविष्कार हुआ और इसी के साथ और भी कम आवाज में भी अच्छे से काम करने वाले माइक्रोफोन का अविष्कार किया गया .

कुछ अन्य अविष्कार

हमने आपको इस पोस्ट में बताया माइक्रोफोन के आविष्कार के बारे में कि माइक्रोफोन का आविष्कार किसने किया और माइक्रोफोन के बारे में कुछ और भी रोचक जानकारी आप को बताई यदि आपको यह जानकारी पसंद आए तो शेयर करना ना भूले और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल है उसे बताओ तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं.और यदि आपके पास भी कोई ऐसी ही रोचक जानकारी है तो हमारे साथ जरूर शेयर करें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.