रेडियो की खोज कब और किसने की

रेडियो की खोज कब और किसने की

दोस्तों अपने मनोरंजन के लिए बहुत से साधनों के बारे में सुना होगा और आपने उनके साथ मनोरंजन भी किया होगा लेकिन हर बदलते समय के साथ-साथ नए नए मनोरंजन के साधन आते हैं जैसे कि आज की दुनिया में सबसे ज्यादा मनोरंजन का साधन इंटरनेट और समार्टफोन, लैपटॉप, कंप्यूटर, आदि है या सबसे ज्यादा सॉन्ग सुनकर लोग अपना मनोरंजन करते हैं लेकिन सोंग तो सदा से ही मनोरंजन के साधन रहा हैं लेकिन हम सभी इन्हीं चीजों के और ध्यान देते हैं कि अब हमारा मनोरंजन किसके साथ हो रहा है लेकिन क्या आप जानते हैं कि रेडियो भी एक मनोरंजन का साधन होता है और रेडियो से जो मनोरंजन किया जाता है वह आज से नहीं बल्कि बहुत समय पहले से ही किया जा रहा है रेडियो एक बहुत ही अच्छा मनोरंजन का साथी है

पहले जब TV लैपटॉप कंप्यूटर या मोबाइल फोन नहीं थे.और लैपटॉप और इन चीजों से मनोरंजन जो होता है वह उस समय रेडियो से किया जाता था रेडियो उस समय का बहुत ही लोकप्रिय मनोरंजन का साधन होता था और लगभग सभी चीजें मनोरंजन के लिए रेडियो पर ही आती थी रेडियो पर नाटक सॉन्ग और समाचार जैसी चीजें आती थी आज भी हमारे देश में बहुत से लोग हैं जोकि रेडियो का रेडियो को अपना मनोरंजन का साथी मानते हैं और हमेशा रेडियो से ही मनोरंजन करते हैं और अपने रेडियो से और लोगों को भी सॉन्ग सुनाते हुए आजकल तो इतना रेडियो का वैसे दूर नहीं है आजकल स्मार्टफोन का ज्यादा दोर है.

लेकिन आपको यह जानना बहुत ही जरूरी होता है कि रेडियो का आविष्कार किसने किया और रेडियो क्या चीज है तो इस तरह की कुछ जानकारी आपके लिए बहुत ही आवश्यक है क्योंकि कई बार इन जानकारियों के बारे में आपसे एग्जाम में भी पूछा जाता है तो हम आज आपको इस पोस्ट में रेडियो का आविष्कार के बारे में बता रहे हैं किसने रेडियो का आविष्कार किया और कब किया तो नीचे आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें

रेडियो के बारे में आजकल कौन नही जानता. लेकिन आज रेडियो की जगह नई टेक्नोलॉजी ने ले ली है. ये प्रशारण का एक अच्छा और सस्ता साधन है. रेडियो एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसमे आवाज़ को रेडियो वेव में बदलकर ट्रांसमिट किया जाता है और रिसीवर इस वेव को बदलकर आवाज़ बदल देता है.

रेडियो पर कुछ भी प्रशारण करने के लिए दो चीजो की जरूरत होती है 1 ट्रांसमीटर 2 रिसीवर. ट्रांसमीटर आवाज़ को रेडियो frequency में बदल कर आगे एक स्थाई frequency में रिसीवर तक ट्रांसमिट करता है . रेडियो रिसीवर उस फ्रीक्वेंसी को साउंड फ्रीक्वेंसी में बदल कर आगे पहुंचता है.

रेडियो की खोज कब और किसने की

सबसे पहले 1864 में James Clerk Maxwell  ने Theoretical और Mathematically ये दिखाया था की विद्युतचुम्बकीय तरंगें ( electromagnetic waves) बिना तार के एक जगह से दूसरी जगह कैसे भेजी जा सकती है . लेकिन पांच साल बाद यानी के1879 में उनकी मृत्यु हो गई और वो रेडियो को नहीं बना सके। उसके बाद 1886-1889 में  एक जर्मन वैज्ञानिक Heinrich Hertz ने के रेडियो की Theory को साबित किया की ये Theory सही है .

इसके बाद 1890 में एक इटालियन वैज्ञानिक Guglielmo Marconi ने wireless टेलीग्राफी पर काम करना शुरू किया जब वो सिर्फ 16 साल के थे . और 1900 में उन्होंने पहली बार रेडियो संदेश भेज कर दिखाया .लेकिन  एक से अधिक व्यक्तियों के पास रेडियो सन्देश 1906 में भेज गया था वो भी अटलांटिक महासागर में तैर रहे जहाजों के रेडियो ऑपरेटरों के पास और ये कोई संदेश नहीं बल्कि एक संगीत उनको सुनाया गया था .

रेडियो के बारे में रोचक जानकारी

  • सबसे पहले 1918 में New York में एक रेडियो स्टेशन लगाया गया जिसका नाम था “The Forest” पर कुछ दिनों बाद ही पुलिस को पता लगा गया और उसे बंद करवा दिया
  • लेकिन नवंबर 1920 में पहली बार क़ानूनी तौर पर रेडियो स्टेशन शुरु करने की अनुमति मिली
  • रेडियो पर Advertising की शुरुआत 1923 में हुई |
  • 1936 में भारत में एक सरकारी रेडियो की शुरुआत हुई जो भारत आजाद होने के बाद ऑल इंडिया रेडियो या आकाशवाणी बन गया।
  • 1939 में  द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान सारे रेडियो स्टेशन सरकार ने बंद कर दिए थे |

यह भी देखे

इस पोस्ट में आपको रेडियो की खोज कब हुई रेडियो का इतिहास रेडियो की परिभाषा मोबाइल फोन की खोज किसने की रेडियो क्या है रेडियो का आविष्कार कब और किसने किया रेडियो प्रसारण की प्रक्रिया रेडियो के प्रकार से संबंधित जानकारी दी गई है अगर आपको यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और अगर इसके बारे में आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर बताएं.

7 Comments

Leave a Comment