अधिक पसीना आना इसके कारण लक्षण व उपचार

अधिक पसीना आना इसके कारण लक्षण व उपचार

आज के समय में दुनिया में ऐसा कोई भी इंसान नहीं है जिसको कोई बीमारी ना हो हर इंसान को कोई न कोई छोटी या बड़ी बीमारी जरूर होती है लेकिन बीमारियों के अलावा भी कई बार हमारे शरीर का संतुलन बिगड़ जाने से हमें कई ऐसी समस्या उत्पन्न हो जाती है जो कि हमें बहुत परेशानी देती है.

इसी तरह से एक समस्या है अधिक पसीना आना वैसे तो यह एक आम समस्या है तो आज के इस ब्लॉग में हम इसी समस्या के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे कि अधिक पसीना क्यों आता है इसके क्या कारण होते हैं और इस को कंट्रोल करने के उपाय.

अधिक पसीना आना

जब हम लगातार कार्य करते हैं या गर्मी के मौसम में काम कर रहे होते हैं तब हमारे शरीर की त्वचा के ऊपर स्वेद ग्रंथियां गर्मी के मौसम के कारण तेजी से काम करने लगती है और इससे हमारे शरीर का पसीना निकलने लगता है वैसे तो पसीना आना एक आम प्रक्रिया है क्योंकि पसीना आने से हमारे शरीर का तापमान बिल्कुल स्थिर बना रहता है और पसीना निकलना हमारे स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है क्योंकि जब हमारे शरीर से पसीना निकलता है तब यह हमारे शरीर से दूषित पदार्थों को बाहर निकलता है लेकिन अगर लगातार ज्यादा मात्रा में पसीना निकलता रहता है

तब यह हमारे शरीर के लिए हानिकारक भी साबित होने लगता है क्योंकि जब ज्यादा पसीना निकलेगा तब हमारे शरीर में पानी या लवणों की कमी हो सकती है जो हमारे शरीर के लिए अच्छा नहीं है और जब हमारे शरीर में पानी या लवणों की कमी आती है तब हमारे शरीर में दूसरी कई बीमारियां उत्पन्न होने लगती है जैसे चिड़चिड़ापन, नींद कम आना, पानी की कमी से रक्त संचार में बाधा आना, सिर दर्द की समस्या उत्पन्न होना या हृदय की गति ज्यादा होना और शरीर के तापमान बढ़ने पर बुखार की समस्या उत्पन्न होने लगती है इसलिए हमारे शरीर से सीमित मात्रा में ही पसीना निकलना जरूरी होता है

अधिक पसीना आने के कारण

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया किसी भी इंसान को पसीना आना एक आम प्रक्रिया है लेकिन किसी इंसान को कई बार ज्यादा कठोर कार्य, मानसिक तनाव, थकान, डर या गुस्से की वजह से भी पसीना आ सकता है इसके अलावा बुखार, ज्यादा शराब या कोल्ड ड्रिंक पीना, महिलाओं के हारमोंस में बदलाव होना, कैंसर टी.बी,मोटापा,मलेरिया, मानसिक, उत्तेजना, मधुमेह, ज्यादा मसालेदार भोजन और एलोपैथिक दवाओं के सेवन के कारण भी ज्यादा पसीना आ सकता है

अधिक पसीना आने के लक्षण

अगर अधिक पसीना आने की समस्या के लक्षणों के बारे में बात की जाए तो वैसे तो इस समस्या के कोई ज्यादा लक्षण नहीं है जब किसी को यह परेशानी होती है तब उस इंसान को बिल्कुल कम काम करने पर भी पसीना आएगा या आग और गर्म जगह पर जाते ही तेजी से पसीना बहने लगेगा और गर्मियों के दिन में पंखे कूलर के नीचे भी अपने आप पसीना आने लगेगा

क्या-क्या खाना चाहिए

  • आपको ज्यादा से ज्यादा पानी वाले फल खाने चाहिए जैसे तरबूज, खरबूजा, अंगूर, संतरा आदि
  • आपको सब्जी में कद्दू, तुरई, टिंडा, लौकी की सब्जी खानी चाहिए
  • आपको हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना चाहिए जैसे मेथी, पालक, धनिया, गोभी, बथुआ, चोलई आदि
  • आपको गर्मी के मौसम में नींबू के पानी का सेवन करना चाहिए इससे आपके शरीर में लवणों की कमी नहीं होगी
  • आपको हर रोज सुबह शाम एक कप टमाटर के रस को पीना चाहिए
  • आपको हमेशा हल्का व ठंडा भोजन खाना चाहिए
  • आपको ज्यादा से ज्यादा दही और लस्सी का सेवन करना चाहिए

क्या नहीं खाना चाहिए

  • आपको ज्यादा मिर्च व मिर्च की चटनी आदि का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको ज्यादा गर्म एलोपैथिक दवाओं का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको भोजन में अमचूर, इमली और खटाई युक्त खाद्य पदार्थ नहीं खाने चाहिए
  • आपको ज्यादा उत्तेजक पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए जैसे चाय, कॉफी, गर्म दूध आदि
  • आपको ज्यादा नशीले पदार्थों का सेवन भी नहीं करना चाहिए जैसे शराब, तंबाकू, बीड़ी, सिगरेट, गुटका, पान आदि
  • आपको ज्यादा नमक खाने से परहेज करना
  • चाहिए आपको ज्यादा मिर्च मसालेदार व तले हुए भोजन से परहेज करना चाहिए
  • आपको ज्यादा गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थ नहीं खाने चाहिए

क्या करना चाहिए

अगर आपको अधिक पसीना आने की समस्या है तब आपको कुछ ऐसी चीजों को करने से बचने की जरूरत है जो आपकी इस परेशानी को और बढ़ा सकती हो और कुछ ऐसी चीजें आपको करनी होगी जिनसे आप इस परेशानी को कंट्रोल कर सकते है जैसे

  • आपको पसीना रोधक पाउडर का इस्तेमाल करना चाहिए
  • आपको हर रोज सुबह शाम ठंडे पानी से स्नान करना चाहिए
  • नहाने के बाद आपको अपने शरीर को तौलिए से रगड़ कर पूंछना चाहिए
  • अपने शरीर की सफाई के लिए आपको मुल्तानी मिट्टी दही या नीम की साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए
  • अगर आपको लगातार अधिक पसीना आ रहा है तो उसको रोकने के लिए कच्चे बैंगन का रस हाथ पैरों पर लगाना चाहिए
  • आपको सिंथेटिक कपड़ों की जगह सूती कपड़ों का इस्तेमाल करना चाहिए
  • आपको खुले और हवादार कमरे में रहना चाहिए

क्या नहीं करना चाहिए

  • आपको ज्यादा तंग व नए कपड़े नहीं पहने चाहिए
  • आपको ज्यादा गर्म वस्त्रों को का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए
  • आपको ज्यादा घुटन वाले कमरे में नहीं रहना चाहिए
  • अपने शरीर में कब्ज की शिकायत नहीं होने देनी चाहिए
  • अपने शरीर का वजन ज्यादा नहीं बढ़ने देना चाहिए
  • आपको ज्यादा गर्म इलाके या आग के पास जाने से बचना चाहिए
  • आपको लगातार कठोर कार्य नहीं करने चाहिए
  • आपको गर्मी के मौसम में गर्म पानी से स्नान नहीं करना चाहिए

हाइपरहाइड्रोसिस का आयुर्वेदिक इलाज

लेकिन फिर भी अगर आपको यह समस्या लगातार बनी रहती है तब आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए और डॉक्टर के सलाह लेनी चाहिए या आप कुछ आयुर्वेदिक दवाइयों व आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल करके भी इस समस्या से पीछा छुड़वा सकते हैं जिनके बारे में हमने आपको नीचे बताया है इन सभी को आप डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इस्तेमाल करें.

  • रोजाना दो से तीन बार स्नान करें। स्नान करने से पहले बाल्टी में एक चुटकी बेकिंग सोडा डाल कर नहाये.
  • अधिक पसीने को रोकने के लिए रोजाना टमाटर के जूस पिया करे ।
  • प्रतिस्वेदक का प्रयोग करें। क्योंकि, यह पसीने के पोर को बंद कर सकते हैं जिससे पसीना का आना कम हो सकता है.

हाइपरहाइड्रोसिस का आयुर्वेदिक इलाज पसीने की बीमारी का इलाज सिर में बहुत पसीना आने का कारण और उपाय पसीना न आने के कारण पसीना लाने के लिए क्या करें हथेली में पसीना आने का इलाज कांख में पसीना आने का कारण खाना खाते समय सिर में पसीना आना सर्दी में होम्योपैथिक मेडिसिन.

Leave A Reply

Your email address will not be published.