मुख्यमंत्री जनसुनवाई योजना

मुख्यमंत्री जनसुनवाई योजना

मुख्यमंत्री के द्वारा इस योजना का गठन किया गया है इसका मुख्य उद्देश्य है कि प्रदेश का कोई भी नागरिक जो किसी भी समस्या के लिए अधिकारियों के आगे पीछे घूम रहा है उसकी सुनवाई नहीं हो रही है दफ्तरों के आगे पीछे ना घूमने के लिए प्रदेश के नागरिकों को ऑनलाइन शिकायत करने की सुविधा प्रदान किया है इस योजना के माध्यम से प्रदेश का कोई भी नागरिक जो किसी भी विभाग की शिकायत दर्ज कराना चाहता है या किसी भी विभाग के खिलाफ या पक्ष में कोई बात कहना चाहता है तो ऑनलाइन पोर्टल का इस्तेमाल करके घर बैठे अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है।

इस योजना के माध्यम से अब प्रदेश के नागरिकों को ऑनलाइन सुविधा मिल जाएगी जिससे उन्हें कहीं भी बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी ना ही किसी दफ्तर या ऑफिसर के आगे पीछे घूमने की जरूरत पड़ेगी ऑनलाइन पोर्टल करके आप डायरेक्ट मेन आदमी से अपनी शिकायत कर पाएंगे तथा समाधान भी पा पाएंगे।

यदि आप कोई योजना के बारे में कोई जानकारी नहीं है आपको नहीं पता कि आप कैसे ऑनलाइन मुख्यमंत्री की योजना का लाभ उठा सकते हैं तो आज हम आपको बताने वाले क्या पैसे योजना से जुड़ कर घर बैठे अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं किसी भी विभाग में आपकी शिकायत ऑनलाइन दर्ज हो जाएगी इस योजना से जुड़ने के बाद जानने के लिए  बने रहे हमारे साथ चलिए शुरू करते हैं….

क्या है मुख्यमंत्री जनसुनवाई योजना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा शुरू की गई जनसुनवाई योजना उत्तर प्रदेश की बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि देश में रह रहे नागरिकों को उनकी सुनवाई के लिए डायरेक्ट विभाग से संपर्क करने के लिए ऑनलाइन सुविधा प्रदान करना। ताकि कोई भी प्रदेश का नागरिक किसी भी दफ्तर या विभाग के अफसर के आगे पीछे ना घूमे । घर बैठे अपनी शिकायत मेंन आदमी से दर्ज करवा पाए इस योजना का मुख्य उद्देश्य है। मुख्यमंत्री ने इसके लिए ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए सुविधा प्रदान की है।

साथ ही इसके लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिया है। जिसका उपयोग करके प्रदेश का कोई भी नागरिक अपनी शिकायत किसी भी विभाग के मेन हेड से कर सकता है और अपनी शिकायत दर्ज करवाने के बाद समस्या का निदान भी पा सकता है। इस योजना के माध्यम से देश का नागरिक कम समय में बिना खर्च के अपनी बात विभाग के अधिकारियों से कह पाएगा और कई परेशानियों से इधर उधर घूमने तथा चक्कर लगाने की समय बर्बाद करने की समस्या से भी निजात पाएगा।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने तथा विभागों के पीछे परेशान होने वाले व्यक्तियों को राहत देने के लिए प्रदेश में शांति बनाए रखने के लिए समय बर्बाद ना हो पाए इसके लिए इस योजना का शुभारंभ किया है। जिसका लाभ प्रदेश का नागरिक पा रहा है मुख्यमंत्री ने हेल्पलाइन नंबर के तौर पर 1076 नंबर जारी किया है इसका इस्तेमाल करके कोई भी व्यक्ति योजना से लाभ उठा सकता है। और एक मिस कॉल पर अपनी बात कह सकता है। इस नंबर पर इच्छुक तथा पीड़ित नागरिक को अपने मोबाइल फोन के जरिए केवल मिस्ड कॉल करने हैं या कॉल करने हैं उधर से आपसे संपर्क किया जाएगा।

मुख्यमंत्री जनसुनवाई योजना से लाभ

होगा कि अब किसी भी नागरिक को अपनी शिकायत दर्ज करवाने के लिए आगे पीछे नहीं जाना पड़ेगा वह घर बैठे ही अपनी शिकायत दर्ज करा पाएगा पैसे के लेनदेन गलत इस्तेमाल से भी बच पाएगा ऑनलाइन माध्यम से किसी भी प्रकार की ठगी का शिकार नहीं होगा मुख्यमंत्री ने योजना के लिए हेल्पलाइन नंबर 1076 जारी किया है इस पर मिस कॉल मार कर भी अधिकारियों से बात जा सकते है।

प्रवासी मजदूरों को भी मिलेगा या जगत जी आप जानते हैं पुराना साल में लॉक डाउन की समस्या से प्रदेश के कई मजदूर वर्ग के लोग दूसरे राज्यों में फंस गए हैं जिन्हें घर वापस आने के लिए बड़ी मशक्कत और दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है उन लोगों को वापस घर बुलाने के लिए सरकार पंजीकरण व्यवस्था बनाएगी जिससे कि कोई भी प्रवासी मजदूर जो बाहर है प्रदेश से वह वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण कराकर आसानी से अपने घर पर लौट सके इस योजना से सारे प्रवासी मजदूरों को देश से बाहर रह रहे लोगों को भी फायदा मिलने वाला है।

प्रदेश में अन्य प्रदेश में अपराधिक घटनाएं होती रहती जिन पर कंट्रोल करने के लिए इस योजना का महत्व बहुत ही बढ़ गया है लोगों को किसी भी प्रकार से प्रताड़ित करने वाले को सजा का भी प्रावधान है यदि आपके साथ कोई भी अपराधिक घटना हो जाती है तो आप इस योजना का इस्तेमाल करके सरकार से डायरेक्ट बात कर सकते हैं। और आरोपी को सजा भी दिलवा सकते कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए तथा कानून का राज करने के लिए भी प्रदेश में इस योजना का शुभारंभ किया गया है। यहां पर ऑनलाइन पोर्टल का इस्तेमाल करके कोई भी अपने साथ होने वाली अपराधिक घटनाओं को दर्ज करवा सकता है आरोपी को दंडित करवा सकता है।

कौन सी शिकायतें दर्ज नहीं की जाएंगी योजना में

  • योजना में कुछ शर्तें भी हैं आप हर प्रकार की शिकायतें भी दर्ज करवा सकते हैं इसके लिए सरकार ने कुछ शिकायतें दर्ज करवाने के लिए भी नियम बनाए हैं उन शिकायतों में
  • यदि शिकायत न्यायालय से संबंधित न्यायालय में कोई भी आप की अर्जी चल रही है तो उसकी शिकायत आप इस पोर्टल पर नहीं कर सकते
  • सूचना अधिकार से संबंधित मामले की जांच शिकायत आप यहाँ नहीं कर सकते
  • किसी भी प्रकार की नौकरी तथा पैसे की मांग के लिए आप यहां शिकायत दर्ज नहीं करवा सकते।
  • किसी भी सरकारी विभाग के कर्मचारी कि आप शिकायत तब तक नहीं कर सकते जब तक सरकारी कर्मचारी ने विभाग में उपलब्ध कार्यों को ना किया हो।
  • यदि कोई सरकारी कर्मचारी विभाग से रिलेटेड कोई काम नहीं कर रहा तो आप शिकायत कर सकते हैं विभाग के बाहरी कार्यों के लिए आप शिकायत नहीं कर सकते।

कौन सी शिकायतें की जा सकते हैं योजना में

  • योजना में उस प्रकार की शिकायतें दर्ज की जा सकती है
  • जो जन समस्याओं से जुड़ी शिकायतें हैं उस प्रकार की शिकायतें हैं ऑनलाइन पोर्टल में कर सकते हैं।
  • शासकीय योजनाओं के बारे में आप जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।
  • तथा जन समस्याओं को आप इस ऑनलाइन पोर्टल पर दर्ज करवा सकते हैं।
  • लोगों की समस्याओं को आप योजना के माध्यम से निदान आ सकते हैं।

कैसे करवाये पंजीकरण करें जनसुनवाई योजना

आपको आवेदन करने के लिए तथा योजना से लाभ लेने के लिए पहले पंजीकरण कराना पड़ेगा पंजीकरण कराने के लिए आपको जनसुनवाई ऑनलाइन पोर्टल पर जाना पड़ेगा ऑनलाइन पोर्टल पर जाने के बाद आपको सरकार की योजना की ऑफिशियल वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन का फॉर्म मिलेगा। रजिस्ट्रेशन के फॉर्म पर क्लिक करने के बाद आपको टर्म एंड कंडीशन का पेज दिखाई देगा जिसमें आपको बताया जाएगा कि आप किस प्रकार की शिकायतें दर्ज करवा सकते हैं। इसके बाद आपको एग्री के बटन पर क्लिक करके ओके कर देना इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन पंजीकरण का फॉर्म मिलेगा जिस पर आपको ईमेल आईडी तथा फोन नंबर ऑफ कर देना है।

थोड़ी देर बाद वेबसाइट की तरफ से आपके मोबाइल पर ईमेल पर ओटीपी भेजा जाएगा जिसको आपको पेज में मांगे गए स्थान पर ओटीपी कोड भर देना है। उसके बाद आपको मेन पेज मिल जाएगा वहां पर आप अपनी शिकायतें तथा अपनी समस्याओं को एप्लीकेशन को दर्ज करके सारी डिटेल भरने के बाद सबमिट कर देना है।

आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आपको मोबाइल द्वारा बता दिया जाएगा नोटिफिकेशन आवेदन ना आवेदन स्वीकार हुआ है या नहीं इसको जानने के लिए वेबसाइट का भी सहारा ले सकते हैं।

सरकार की योजना वेबसाइट है http//jansunvaiup.nic.in यह योजना की सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट जहां पर आप अपनी शिकायतें दर्ज करवा सकते हैं बाकी अपनी समस्याओं को बता सकते हैं अधिकारियों तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं।

वेबसाइट के अलावा मुख्यमंत्री ने हेल्पलाइन नंबर भी प्रदेश के नागरिक के लिए नागरिकों के लिए उपलब्ध कराया है उस पर कोई भी प्रदेश का नागरिक मिस्ड कॉल या कॉल करके भी समस्या से निदान पा सकता है अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है। हेल्पलाइन नंबर है 1076 यह यूपी गवर्नमेंट के योजना का हेल्पलाइन नंबर है यहां पर भी आप अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं मोबाइल के जरिए।

मुख्यमंत्री शिकायत उत्तर प्रदेश जनसुनवाई आवेदन तहसील दिवस शिकायत की स्थिति मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल मुख्यमंत्री से शिकायत कैसे करें जनसुनवाई पोर्टल शिकायत की स्थिति सार्वजनिक शिकायत जनसुनवाई संदर्भ संख्या UP

Leave a Comment