आंत में अवरोध होने के कारण लक्षण व उपचार

आंत में अवरोध होने के कारण लक्षण व उपचार

मनुष्य का शरीर एक मशीन की तरह होता है जिस तरह से हम समय-समय पर मशीन देखभाल करते रहते हैं उसी तरह हमारे शरीर की देखभाल करना भी बहुत जरूरी होता है अगर हम हमारे शरीर की तरफ ध्यान नहीं देते है. तो हमारा शरीर अनेक प्रकार की बीमारियों से ग्रस्त हो जाएगा इसलिए हमारे शरीर के समय-समय पर चेकअप और टेस्ट आदि करवाना बहुत जरूरी होता है

इसके साथ ही कई बार हम कुछ ऐसी गलतियां भी कर देते हैं जिन से हमारे शरीर में अचानक कोई ऐसी समस्या उत्पन्न हो जाती है जो कि हमें बहुत पीड़ा देती है और ये हमारे लिए आगे चलकर दूसरी कई बीमारियों का भी कारण बन जाते है तो इसी तरह से कई बार हमारे शरीर की आंतो में अवरोध हो जाता है जिससे रोगी को बहुत परेशानी होती है और इस समस्या से तुरंत छुटकारा पाना बहुत जरूरी होता है तो आज के इस ब्लॉग में हम इसी समस्या के बारे में विस्तार से जानेंगे

आंत में अवरोध

जब कोई स्वस्थ व्यक्ति भोजन करता है तब उसका भोजन पाचन क्रिया से हमारी आंतो तक पहुंचता है और फिर छोटी और बड़ी आंत से गुजर कर मल में बदल जाता है लेकिन जब हमारी आंखों में किसी प्रकार की रुकावट आ जाती है तब इस समस्या को आंत के अवरोध नामक रोग के नाम से जाना जाता है और जब हमारे शरीर में अचानक हाथ में रुकावट आ जाती है तब यह हमारे लिए कष्टदायक साबित होती है

क्योंकि इससे हमारी आंखों की गति रुक जाती है और हमारे शरीर में पचे हुए भोजन का अपशिष्ट (मल )पदार्थ बाहर नहीं निकल पाता और हमारे शरीर में कब्ज़ की भी समस्या उत्पन्न हो जाती है और यह समस्या हमारे शरीर की लगभग 25 फीट की आंत के किसी भी हिस्से में उत्पन्न हो सकती है

आंत में अवरोध के कारण

जब किसी इंसान की शरीर में आंख में जब किसी इंसान के शरीर की आंख में रुकावट उत्पन्न हो जाती है तब इसके पीछे कई प्रकार के कारणों का हाथ होता है जैसे आंत के किसी हिस्से में सूजन या इंफेक्शन हो जाना, ज्यादा कठोर भोजन का सेवन करना, रोगी को हर्निया होना रोगी की आंत में ट्यूमर या मांस बढ़ जाना, रोगी की आंत की मांसपेशियों में लकवा मार जाना, रोगी की आंत पर गहरी चोट लगना

रोगी के पेट में सर्जरी आदि होना लंबे समय तक भोजन न करना, ज्यादा मिर्च मसालेदार व तले हुए भोजन का सेवन करना, बिल्कुल सूखी वस्तुओं का सेवन करना जैसे बिस्किट कुरकुरे चिप्स ब्रेड आदि, रोगी का एक जगह पर बैठे बैठे काम करना, रोगी के शरीर में मोटापा आना, रोगी को किसी कारण से कब्ज हो जाना इसके अलावा इस समस्या के पीछे बहुत सारे कारण हो सकते हैं

आंत के अवरोध के लक्षण

जब किसी इंसान की आंत में अवरोध हो जाता है तब रोगी को इसके बहुत सारे लक्षण भी दिखाई देते हैं जैसे रोगी के पेट में बार-बार दर्द होना, पाखाना जाने की चाहत होना, रोगी के शरीर में कब्ज हो जाना, रोगी का मल बिल्कुल भी न निकलना, रोगी को भूख प्यास लगना बंद होना, रोगी को कुछ भी खाते पीते ही उल्टी आना,

रोगी को हल्का सिर दर्द होना, रोगी को हल्का बुखार व थकावट होना, रोगी को आलस्य, कमजोरी महसूस होना, रोगी के शरीर में गैस बनना, रोगी के पेट में सूजन आना, उठते बैठते हुए दर्द महसूस होना इस प्रकार के कई लक्षण आपको इस समस्या में देखने को मिलते हैं

इलाज

जब किसी इंसान के शरीर में आंत के अवरोध उत्पन्न हो जाते हैं तब इसका इलाज करवाना बहुत जरूरी होता है क्योंकि अगर इस समस्या का समय पर इलाज करवाया जाए तो यह समस्या आपके लिए बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकती है इसलिए इस समस्या के लक्षण दिखाई देते ही तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए डॉक्टर सबसे पहले आपके पेट का टेस्ट या अल्ट्रासाउंड आदि करके चेक करते हैं फिर चेक के बाद आपको बताया जाएगा कि आपको ऑपरेशन की जरूरत है या आप ऐसे ही दवाइयों से ठीक हो सकते हैं लेकिन ज्यादातर लोगों में इस समस्या के उत्पन्न होने पर ऑपरेशन का ही सहारा लिया जाता है

ऑपरेशन – की सहायता से डॉक्टर आपके शरीर में आंत की रुकावट वाले हिस्से को निकाल  हिस्से को निकाल देते हैं और फिर सर्जरी के कुछ समय बाद आप बिल्कुल ठीक हो जाते हैं

सर्टेंट – इसके अलावा इस समस्या का एक दूसरा समाधान भी होता है जिसको सर्टेंट कहा जाता है इस स्थिति में रोगी के शरीर की आंतों में सर्जरी करने की बजाय आंत के अंदर एक उपकरण को डाला जाता है जिससे आपकी आंतों की रुकावट को खोल दिया जाता है लेकिन ऐसा तब होता है जब आपके शरीर में किसी भी प्रकार की कोई इंफेक्शन या कोई दूसरी बीमारी ना हो

क्या करना चाहिए

  • लक्षण दिखाई देते हैं आप तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए
  • आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए क्योंकि कई बार आपके शरीर में आपकी रुकावट का कारण आप का गलत खान-पान भी हो सकता है
  • आपको ज्यादा से ज्यादा केला, पपीता जैसी चीजों का सेवन करना चाहिए
  • आपको हर रोज सुबह सुबह घूमना चाहिए वह हल्का व्यायाम करना चाहिए
  • आप को भोजन करने के बाद थोड़ा बहुत घूम लेना चाहिए
  • आपको सोने से लगभग 2 घंटे पहले भोजन करना चाहिए

क्या नहीं करना चाहिए

  • आपको लंबे समय तक की एक जगह पर बैठे नहीं रहना चाहिए
  • आपको भोजन करते ही तुरंत सोना नहीं चाहिए
  • आपको हमेशा सुपाच्य व नरम भोजन का सेवन करना चाहिए
  • आपको अवरोध उत्पन्न होने पर भार नहीं उठाना चाहिए
  • आपको ज्यादा मिर्च मसालेदार वह नशीली वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको अपने शरीर में कब्ज की समस्या उत्पन्न नहीं होने देनी चाहिए

लेकिन फिर भी अगर आपके शरीर में आंत के अवरोध की समस्या उत्पन्न हो जाती है तब आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए और डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए क्योंकि इस समस्या में देरी करना आपके लिए आगे चलकर भारी पड़ सकता है और इससे आपके शरीर में कई प्रकार की दूसरी बीमारी या समस्याएं उत्पन्न हो सकती है क्योंकि यह समस्या आपके शरीर की पाचन शक्ति को बिल्कुल कमजोर कर देती है और आपकी आंतो की गति को रोक देती है

पेट की बीमारी के लक्षण छोटी आंत में रुकावट उपचार पेट में कैंसर होने के लक्षण पेट की सभी बीमारी का इलाज पेट में इन्फेक्शन के लक्षण आंतों में गैस के लक्षण आंतों के गंभीर रोगों की टेबलेट आंतों की कमजोरी के लक्षण

Leave a Comment