आईये कुछ नया जाने

Antivirus क्या होता है यह कैसे काम करता है इसके फायदे और नुकसान

Antivirus क्या होता है यह कैसे काम करता है इसके फायदे और नुकसान

आज अनगिनत लोग मोबाइल और कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं और हम सब कंप्यूटर और मोबाइल में अपना पर्सनल डाटा जैसे की वीडियो ऑडियो फोटो इत्यादि सेव करके रखते हैं. और जब भी हमें जरुरत पड़ती है तब हम इनका इस्तेमाल में बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं.लेकिन हम यह कभी नहीं सोचते कि अगर कभी हमारा डाटा हमारी मर्जी के बगैर चोरी हो जाए या खराब कर दिया जाए या है कर दिया जाए तो हम क्या करेंगे शायद ही आपके साथ ऐसा कभी हुआ हो कि आपके फोन या कंप्यूटर का डाटा खराब हो गया हो और आपको उसका कारण भी पता ना चला हो.

कंप्यूटर में या फ़ोन में डेटा खराब होने के सिर्फ कुछ ही कारण होते हैं और जिनमें सबसे बड़ा कारण होता है वायरस. कुछ लोग दूसरों के कंप्यूटर और फोन को खराब करने के लिए या अपने फायदे के लिए दूसरे लोगों के फोन और कंप्यूटर के डाटा को हैक कर लेते हैं उसे खराब कर देते हैं इन्हीं सब से बचने के लिए हम एंटीवायरस का इस्तेमाल करते हैं तो अगर आपको नहीं पता की what is antivirus In Hind ? तो इस पोस्ट में हम आपको antivirus Kya hai , Ye Kaise Kaam karta hai के बारे में पूरी जानकारी देंगे .

Antivirus क्या है

Antivirus definition and examples In Hindi ?  what is antivirus in computer in hindi ? एंटीवायरस सॉफ्टवेयर एक ऐसा प्रोग्राम है जो कि कंप्यूटर में आने वाले वायरस को सर्च करके उन्हें कंप्यूटर से डिलीट करता है और कंप्यूटर में आने से रोकता है .जिससे हमारा कंप्यूटर ज्यादा सुरक्षित रहता है.अगर आप अपने कंप्यूटर पर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं. तो आपके कंप्यूटर पर वायरस malicious खाना बहुत ही आसान है. क्योंकि इंटरनेट पर ऐसी बहुत सारी वेबसाइट है जो कि सिर्फ यही काम करती हैं कि लोगों के कंप्यूटर में वायरस डालना और उनके कंप्यूटर को हैक करना क्या उनके डाटा को ख़राब  करना तो इन सब वायरस malicious से बचने के लिए हम कंप्यूटर में एंटीवायरस का इस्तेमाल करते हैं.

पहले के मुकाबले अब इंटरनेट का इस्तेमाल बहुत ज्यादा होने लग गया है. इसी कारण पहले के मुकाबले अब और भी ज्यादा खतरनाक वायरस कंप्यूटर में आने का खतरा रहता है और सभी वायरस एक जैसे काम नहीं करते कुछ वायरस सिर्फ आपके कंप्यूटर को हैक करने के लिए होते हैं कुछ वायरस आपके डाटा को खराब करने के लिए होते हैं और कुछ वायरस बहुत ज्यादा खतरनाक होते हैं जो कि आपके पूरे कंप्यूटर डाटा को लॉक करके और आपसे उसे अनलॉक करने के बदले फिरौती मांग सकते हैं.

Antivirus कैसे काम करता है

एंटीवायरस हमारे कंप्यूटर की सभी फाइलों को स्कैन करता है और स्कैन करते समय हर एक एंटीवायरस अलग अलग तरीके का इस्तेमाल करते हैं. जिससे उन्हें हमारी फ़ाइल और वायरस के बीच में अंतर पता चल जाता है और वह हमारे कंप्यूटर में आने वाले वायरस को पहचान लेते हैं और उन्हें कंप्यूटर में आने से रोकते हैं. लेकिन वायरस को स्कैन करने का तरीका या वायरस का पता लगाने का तरीका अलग-अलग होता है क्योंकि वायरस अलग-अलग तरह के होते हैं तो उन्हें डिटेक्ट करने के लिए अलग-अलग तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है.

  1. Signature-based detection
  2. Heuristic-based detection
  3. Behavioural-based detection
  4. Sandbox detection
  5. Data mining techniques

Antivirus के फायदे

एंटीवायरस को इस्तेमाल करने के बहुत सारे फायदे हैं . चाहे एंटीवायरस अपने फोन में इंस्टॉल करें.या फिर कंप्यूटर में . तो नीचे आपको एंटीवायरस इस्तेमाल करने के कुछ फायदे बताए गए हैं.

Real-Time Protection :– हमारे कंप्यूटर में वायरस आने का कोई समय नहीं होता वायरस किसी भी समय हमारे कंप्यूटर पर अटैक कर सकता है वह हमारे कंप्यूटर को खराब कर सकता है. इसीलिए एंटीवायरस हर समय हमारे कंप्यूटर को सेकंड करता रहता है और हर समय आने वाले वायरस को डिलीट करता रहता है. इस तरह एंटीवायरस हर समय हमारी कंप्यूटर में काम करता है.

संवेदनशील जानकारी का संरक्षण :– इंटरनेट पर बहुत सारी वेबसाइट ऐसी होती हैं जो आपके पर्सनल डाटा को हैक करने की कोशिश करती है या आपकी प्राइवेट जानकारी को चुराने की कोशिश करती है तो इन सबको एंटीवायरस रोक देता है और आपकी प्राइवेट जानकारी सुरक्षित रहती है.

Scanning of Individual Files :– हमारे कंप्यूटर में और हमारे मोबाइल में बहुत सारी फाइलें होती हैं जिन्हें हम ओपन करके ही उनके बारे में जान सकते हैं कि यह फाइल किस काम की है लेकिन एंटीवायरस उस फाइल को बिना ओपन किए ही स्कैन कर लेता है कि इस फाइल में वायरस है या यह फाइल हमारे कंप्यूटर या मोबाइल को कोई हानि पहुंचा सकती है या नहीं अगर एंटीवायरस को लगता है कि यह फाइल हमारे फोन या कंप्यूटर को नुकसान कर सकते हैं तो वह उस फाइल को डिलीट कर देता है या आपको नोटिफिकेशन देगा कि हमें एक वायरस की फाइल मिली है इसे आप डिलीट करना चाहते हैं या रखना चाहते हैं.

Antivirus के नुकसान

अगर किसी वस्तु का फायदा होता है तो उसी के साथ उसका कोई ना कोई नुकसान जरूर होता है और इसी तरह एंटीवायरस के फायदे होने के साथ-साथ इसके कुछ नुकसान भी होते हैं जो कि आपको नीचे दिए गए हैं.

Detection Techniques :- सभी एंटीवायरस वायरस को स्कैन या सर्च करने के लिए एक ही तरीका अपनाते हैं लेकिन अगर कोई नया वायरस आ जाता है तो एंटीवायरस उसे सेकंड नहीं कर पाता और वह हमारे कंप्यूटर को नुकसान कर देता है.

Doesn’t Fully Protect :- हर एक एंटीवायरस आपके कंप्यूटर को अलग अलग तरीके से सेकंड करता है और उन्हें वायरस से बचाता है लेकिन फिर भी सबकी एंटीवायरस में कोई ना कोई कमी रह जाती है और वह आपके कंप्यूटर को कहीं ना कहीं से स्कैन नहीं कर पाते जैसे कि अगर कोई एंटीवायरस आपके इंटरनेट से आने वाले वायरस को स्कैन करता है तो वह एंटीवायरस आपके कंप्यूटर में किसी और तरीके से आने वाले वायरस को नहीं रोक सकता तो यह इसकी एक बहुत बड़ी कमी है.

Slows Down PC :-हमारे कंप्यूटर में हजारों पहले होती है तो जब हम किसी फोल्डर को ओपन करते हैं तो उसके फाइल को एंटीवायरस स्कैन करता है और इसीलिए 1- 1 फाइल को स्कैन करने में बहुत ज्यादा समय लग जाता है और इसके कारण हमारे कंप्यूटर की स्पीड कम हो जाती है. और इसी तरह इंटरनेट पर भी अगर हमने एंटीवायरस का इस्तेमाल किया है तो हमारे इंटरनेट की स्पीड भी कम हो जाती है.

Types of antivirus In Hindi

आज मार्केट में आपको कई तरह के एंटीवायरस सॉफ्टवेयर देखने को मिलते हैं जो कि आपके कंप्यूटर को ऑफलाइन और ऑनलाइन इंटरनेट से सुरक्षित रखते हैं .लेकिन सभी एंटीवायरस बढ़िया नहीं होते और सभी एंटीवायरस फ्री नहीं होते. अलग-अलग कंपनियां अलग-अलग तरह से एंटीवायरस बनाती है जैसे कि :-

1. Kaspersky internet security

Kaspersky internet security  यह एंटीवायरस खास तौर पर इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों के लिए बनाया गया है जो कि अपने कंप्यूटर पर सारा दिन इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और तरह-तरह की वेबसाइट को ओपन करते हैं तो उन सभी वेबसाइट से आपके कंप्यूटर को सुरक्षित रखने के लिए Kaspersky कंपनी ने यह इंटरनेट सिक्योरिटी एंटीवायरस बनाया है.

2. Avast Free Antivirus

avast कंपनी  ने तीन एडिशन में अपने एंटीवायरस बनाएं हैं जो कि अलग-अलग काम करते हैं. 1. Avast Free Antivirus, 2. Avast Internet Security, 3. Avast Premier . सबसे पहला बिल्कुल फ्री है इसमें आपको थोड़े बहुत फीचर मिलते हैं जिससे आप अपने कंप्यूटर को वायरस से बचा सकते हैं . इसके बाद में इंटरनेट सिक्योरिटी एंटीवायरस में आपको कुछ और ज्यादा फीचर दिए जाते हैं जैसे कि फेक वेबसाइट से आपको  सुरक्षित रखते हैं. phishing वेबसाइट और phishing ईमेल वगैरह से आपको बचाते हैं.और Avast के प्रीमियर  एंटीवायरस मैं आपको इन दोनों से और भी काफी एडवांस फीचर दिए गए हैं.

avast कंपनी  ने तीन एडिशन में अपने एंटीवायरस बनाएं हैं जो कि अलग-अलग काम करते हैं. 1. Avast Free Antivirus, 2. Avast Internet Security, 3. Avast Premier . सबसे पहला बिल्कुल फ्री है इसमें आपको थोड़े बहुत फीचर मिलते हैं जिससे आप अपने कंप्यूटर को वायरस से बचा सकते हैं . इसके बाद में इंटरनेट सिक्योरिटी एंटीवायरस में आपको कुछ और ज्यादा फीचर दिए जाते हैं जैसे कि फेक वेबसाइट से आपको  सुरक्षित रखते हैं. phishing वेबसाइट और phishing ईमेल वगैरह से आपको बचाते हैं.और Avast के प्रीमियर  एंटीवायरस मैं आपको इन दोनों से और भी काफी एडवांस फीचर दिए गए हैं.

3. ESET Smart Security

कंपनी कई तरह के एंटीवायरस बनाती है जो आपके कंप्यूटर को कई तरह के वायरस से बचाती है. और यह कंपनी सिर्फ कंप्यूटर के लिए ही नहीं एंड्रॉयड मोबाइल के लिए भी एंटीवायरस बनाती है जिससे आप अपने फोन को भी ज्यादा सुरक्षित रख सकते हैं लेकिन इस कंपनी के सभी एंटीवायरस आपको खरीदने पड़ेंगे क्योंकि इनके एंटीवायरस फ्री नहीं है इस कंपनी द्वारा बनाए गए एंटीवायरस की लिस्ट नीचे दी गई है

  1. ESET Smart Security Premium
  2. ESET Smart Security
  3. ESET Cyber Security Pro
  4. ESET Cyber Security
  5. ESET Mobile Security for Android
  6. ESET Parental Control for Android
  7. ESET NOD32 Antivirus 4 for Linux Desktop

इस पोस्ट में आपको बताया गया कि एंटीवायरस क्या होता है एंटीवायरस कैसे काम करता है एंटीवायरस कितने तरह का होता है अगर इसके अलावा कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+