स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता है 15 अगस्त निबंध Independence Day in Hindi

स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता है 15 अगस्त निबंध Independence Day in Hindi

एक समय ऐसा था जब बहुत सारे देश एक दूसरे के गुलाम थे लेकिन धीरे-धीरे समय बदलता गया और सभी देश एक दूसरे से गुलामी की जंजीरों से बाहर आने लगी और भारत भी एक ऐसा ही देश था जिसने अंग्रेजो के साथ 200 साल की लड़ाई के बाद आजादी प्राप्त की भारत ब्रिटिश शासन के अधीन था और भारत में सभी काम अंग्रेजो के द्वारा किए जाते थे क्योंकि भारत लंबे समय तक अंग्रेजों का गुलाम रहा क्योंकि भारतीय लोग इतने ज्यादा समझदार व पढ़े-लिखे नहीं थे और ब्रिटिश लोगों ने इसी चीज का फायदा उठाया और धीरे-धीरे भारतीय लोगों को अपने कब्जे में लेने लगे कुछ ही सालों में भारत के ऊपर नियंत्रण पा लिया और धीरे-धीरे ब्रिटिश शासन की ताकत बढ़ती गई व भारत के साथ-साथ दूसरे कई देशों पर भी कब्जा कर लिया.

क्योंकि ब्रिटिश सरकार का कामकाज दुनिया के कई देशों में चलता था और वह दुनिया के कई देशों में अपनी दुकान चलाता था इसलिए उसके पास पैसे कि बिल्कुल भी कमी नहीं थी और फिर एक समय ऐसा आया जब सभी देश ब्रिटिश गुलामी को सहना बंद करने लगी और 200 साल की लंबी लड़ाई के बाद भारत आखिरकार आजाद हुआ लेकिन भारत को आजादी दिलाने में बहुत बड़े-बड़े लोगों का हाथ था आज जिस आजादी से हम सांस ले रहे हैं उसके बहुत सारे लोगों की कुर्बानियों है.

लेकिन बहुत सारे लो इतना ज्यादा महत्व नहीं देते एक समय ऐसा था जब भारतीय लोग 15 अगस्त को बहुत धूमधाम से मनाते थे लेकिन बहुत सारे लोग हमारी इस आजादी को इतना ज्यादा महत्व नहीं देते क्योंकि उनको हमारे इतिहास के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है तो इस ब्लॉग में हम आपको हमारे इतिहास और हमारी आजादी से जुड़ी हुई ऐसी ही बातें बताने वाले हैं इस ब्लॉग में हम आपको 15 अगस्त के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं 15 अगस्त क्या है यह दिन क्यों मनाया जाता है और इसका हमारे इतिहास में क्या महत्व रहा है.

15 अगस्त

जब भी 15 अगस्त का नाम आता है तब हमारे दिमाग में सबसे पहले 15 अगस्त 1947 याद आता है क्योंकि यही वह दिन है जब भारत को अंग्रेजों से आजादी मिली थी और यह दिन हमारे इतिहास में बहुत महत्व रखता है 15 अगस्त से पहले भारत में बहुत लड़ाइयां आंदोलन हुए तब जाकर हमें आजादी नसीब हुई क्योंकि भारत एक खुशहाल देश था लेकिन भारत के ऊपर अंग्रेजों ने कब्जा किया और भारत को लगभग 200 साल तक गुलाम रखा और आखिरकार भारतीय लोगों ने अंग्रेजो के खिलाफ आवाज उठाई भारत के बहुत सारे वीर जवानों ने आजादी की लड़ाई में जान की बाजी लगाइए तब जाकर हमें आजादी मिली इसी आजादी की खुशी में हम हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं.

जब 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ उसके बाद में हर साल 15 अगस्त के दिन को एक त्योहार के रूप में मनाया जाने लगा क्योंकि इस दिन भारत आजाद हुआ था यह दिन किसी त्योहार से कम नहीं था और आजादी के कुछ सालों तक तो 15 अगस्त के दिन को बहुत धूमधाम से मनाया गया लेकिन जैसे-जैसे साल साल व दशक बीतते गए वैसे ही आजादी के इस दिन का रंग फीका पड़ने लगा क्योंकि आजकल की युवा पीढ़ी हमारी आजादी के महत्व को नहीं समझती इसलिए 15 अगस्त के दिन को इतना ज्यादा महत्व नहीं देते और और तेजी से बदलते समय के कारण 15 अगस्त के दिन को सभी लोग एक नॉर्मल दिन की तरह ही निकाल देते हैं.

अगर हम स्वतंत्रता दिवस को याद रखते हैं या उसको सेलिब्रेट भी करते हैं तो इस तेजी से बदलते हुए दौर में सोशल मीडिया एक बहुत बड़ा प्लेटफार्म बन चुका है जिसके जरिए हम हर प्रकार के कंटेंट को एक दूसरे तक भेज सकते हैं इसी प्रकार से सभी लोग 15 अगस्त वाले दिन की सोशल मीडिया के जरिए ही एक दूसरे को 15 अगस्त की बधाइयां देते हुए और 15 अगस्त से जुड़ी हुई फोटो वीडियो आदि को एक दूसरे के पास भेजते हैं.

15 अगस्त क्यों मनाते हैं

भारत एक ऐसा देश है जहां पर अलग-अलग धर्मों के बहुत सारे लोग रहते हैं और इतने धर्मों के अलग-अलग लोग रहने के बाद भी भारत एक बहुत ही खुशहाल देश है भारत में हर प्रकार के हर एक कोने में आपको अलग-अलग संस्कृति में अलग-अलग रीति रिवाज के लोग मिल जाएंगे और अलग अलग संस्कृति और रीति-रिवाजों के होने के बावजूद भी भारत में कुछ ऐसे त्योहार हैं जो कि सभी लोग मिलकर सेलिब्रेट करते हैं क्योंकि इन त्योहारों का या इन विशेष दिनों का महत्व सिर्फ भारत के लोगों से नहीं बल्कि यह सभी भारत के इतिहास से जुड़े हुए दिन होते हैं इसीलिए इन सभी दिनों को सभी लोग मिलकर सेलिब्रेट करते हैं 15 अगस्त भी उन्हीं में से एक ऐसा दिन है जिसको भारत के हर एक कोने में बहुत ही धूमधाम है खुशी के साथ मनाया जाता है.

क्योंकि जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया 15 अगस्त 1947 को भारत आजाद हुआ था और यह आजादी हमारे देश के बहुत सारे वीर जवानों और वीर सपूतों की कड़ी मेहनत और लड़ाई के बावजूद मिली भारत की आजादी में भारत की बहुत सारे सैनिकों और अन्य महान लोगों ने अपनी जान की कुर्बानियां दी और उसके बाद जाकर आखिरकार भारत को 200 साल बाद आजादी मिली भारत लगभग 200 साल तक अंग्रेजों का गुलाम रहा अंग्रेजों ने भारतीय लोगों के ऊपर अत्याचार की हदें पार कर दी तब भारतीय लोगों ने अंग्रेजों की गुलामी को सहना बंद कर दिया उसके बाद में भारत के हर एक कोने में भारत की आजादी की आग जलने लगी और यह आग धीरे-धीरे बढ़ती गई और आखिरकार यह आजादी की आग भारत के लोगों के अंदर इतनी भयानक जलने लगी जिससे अंग्रेजों को भारत छोड़कर जाना पड़ा.

और भारत के लोगों और भारत के वीर जवानों की इतनी कड़ी मेहनत और उनकी जान की कुर्बानियों को आज भी भारत के लोग सलाम करते हैं और उनकी ही याद में भारत में हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है 15 अगस्त के मौके पर भारत के हर एक कोने में अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिसमें भारतीय वीर सपूतों की गाथाओं के बारे में लोगों को रूबरू कराया जाता है 15 अगस्त का दिन हमारे दिल के इतने करीब है जितना शायद ही कोई और दिन होगा यह दिन हमारे देश के इतिहास में एक अलग महत्व रखता है इस दिन को सभी लोग एक दूसरे के साथ खुशी से सेलिब्रेट करते हैं.

15 अगस्त कैसे मनाया जाता है

वैसे तो भारत के हर एक कोने में 15 अगस्त के दिन को बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन भारत अलग अलग संस्कृति व रीति-रिवाजों का देश है भारत में अलग अलग संस्कृति व रीति रिवाज के लोग रहते हैं इसलिए 15 अगस्त के दिन को सेलिब्रेट करने का सभी लोगों की अलग सोच होती है लेकिन ज्यादातर भारतीय स्कूलों कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में 15 अगस्त के दिन को एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है जिसमें बच्चे अलग-अलग प्रकार की झांकियां निकालते हैं वह हमारे देश की आजादी की लड़ाई में शहीद हुए लोगों को नमन करते हैं उनकी मूर्तियों पर माला व फूल अर्पण किए जाते हैं और कुछ समय के लिए उनकी मूर्तियों के सामने मोन होते हैं और छोटे बच्चे उनके रूप में अलग प्रकार के नाटक करते हैं बहुत सारी जगहों पर हमारे भारत के बहादुर सैनिकों के नाम से अलग-अलग चौक इमारत सड़क व  हॉस्पिटल आदि का भी निर्माण किया जाता है इस दिन हर एक स्कूल कॉलेज और यूनिवर्सिटी में तिरंगा फहराया जाता है राष्ट्रीय गान गाया जाता है इसके अलावा अलग-अलग देश भक्ति के गीत संगीत गुनगुनाए जाते हैं.

15 अगस्त कब मनाया जाता है

वैसे तो भारत में मनाए जाने वाले सभी त्योहार व विशेष दिन भारतीय कैलेंडर के अनुसार ही मनाए जाते हैं लेकिन 15 अगस्त का दिन एक ऐसा दिन है जो कि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है क्योंकि जब भारत अंग्रेजों का गुलाम था तब भारत के लगभग सभी हिस्सों में अंग्रेजी में ही काम होता था और उस समय में भारत में अंग्रेजी कैलेंडर की चलते थे इसीलिए जब भारत आजाद हुआ तब अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 15 अगस्त 1947 का दिन था इसी वजह से हर साल भारत के लोग 15 अगस्त को मनाते हैं आजादी के समय भारत पाकिस्तान एक ही देश हुआ करते थे और जब अंग्रेज भारत से गए तब पाकिस्तान का निर्माण हुआ और इसीलिए हर साल 14 अगस्त को पाकिस्तानी लोग अपना स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं.

लक्ष्य

वैसे तो 15 अगस्त को मनाने का कोई मुख्य लक्ष्य नहीं है लेकिन यह हमारे इतिहास का सबसे बड़ा दिन है और यह दिन हम भारतीयों के दिल के बहुत ज्यादा करीब है लेकिन आजादी के महान दिन कि पिछले कुछ सालों से चमक फीकी हो गई है क्योंकि आजकल की युवा पीढ़ी हमारी आजादी के इस दिन का महत्व नहीं समझती इसलिए कुछ जगहों पर 15 अगस्त के दिन को मनाने का लक्ष्य भारतीय लोगों को इस दिन के प्रति जागरूक करना है.

ताकि भारतीय युवा लोगों को यह समझ आ सके कि आज जिस आजादी से हम रह रहे हैं उसके पीछे कितने लोगों ने अपनी जान की बाजी लगाई उन लोगों ने अपने परिवार व अपने बच्चों तक को छोड़ दिया उन्होंने कितनी कठिनाइयों व अत्याचारों के बाद हम लोगों को आजादी दिलाई इसलिए हमारा फर्ज बनता है कि हम उन लोगों की इतनी महान शहादत के लिए हर साल एक दिन उनको जरूर याद करें.

Leave a Comment