लक्ष्मी पूजा कब कैसे और क्यों की जाती है लक्ष्मी पूजा का महत्व

लक्ष्मी पूजा कब कैसे और क्यों की जाती है लक्ष्मी पूजा का महत्व

भारत एक बहुत सारी अलग-अलग रीति-रिवाजों और संस्कृति से संपन्न देश है.भारत में सभी अलग-अलग धर्मों के लोग रहते हैं जिनमें से मुख्य हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई और क्रिश्चियन जैसे धर्म के लोग रहते हैं सभी लोग धर्म के लोग एक जगह पर इकट्ठा रहते हैं इसीलिए भारत में इतने अलग-अलग रीति रिवाज व संस्कृति है.लेकिन भारत की संस्कृति की बातें दूसरे देशों में भी होती है.क्योंकि भारत में सभी सभ्य तरीके से रहते हैं और भारत की रीति रिवाज व संस्कृति इतनी पवित्र है.कि दूसरे देशों के लोग इस से प्यार करते हैं आपने बहुत बार देखा होगा कि दूसरे देशों के लोग भारत में रहने के लिए आते हैं और कुछ ऐसे लोग भी है.

जो कि अपना धर्म छोड़कर हिंदू धर्म अपना लेते हैं आपने बहुत से विदेशी कृष्ण भक्त व श्री राम भक्त देखे होंगे जो कि हमारे देश में आकर भगवान श्री राम और कृष्ण के रंग में रंग जाते हैं और जब भी कोई खुशी का अवसर या हम कोई शुभ काम करने के लिए जाते हैं तब हम से पहले भगवान की पूजा करते हैं और दिया जलाते हैं क्योंकि हम सभी भगवान के ऊपर ज्यादा विश्वास करते हैं इसीलिए और भारत में हर साल अनेक प्रकार के अलग-अलग त्यौहार मनाए जाते हैं और जितने भी त्यौहार मनाए जाते हैं उन सभी त्योहारों के मौके पर हमारे देश में किसी न किसी देवी देवता की पूजा जरूर की जाती है.

इसी तरह से हर साल हमारे देश में दिवाली का त्यौहार मनाया जाता है.जो कि हमारे हिंदू धर्म का एक सबसे बड़ा त्यौहार मारा जाता है.लेकिन इस त्यौहार के मौके पर हम सिर्फ भगवान श्रीराम को ही याद नहीं करते बल्कि दिवाली के मौके पर शाम के समय पर लक्ष्मी पूजन भी किया जाता है.शायद आप सभी इस पूजन के बारे में जानते होंगे लेकिन बहुत सारे लोगों को इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं है.तो इस ब्लॉग में हम आपको लक्ष्मी पूजन के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं.

लक्ष्मी पूजन

हमारे देश में हर साल बहुत सारे त्योहार मनाए जाते हैं हिंदी कैलेंडर में आपको हर महीने कोई ना कोई त्यौहार जरूर देखने को मिलेगा और इसके अलावा भी कई पूर्व ऐसी खुशी के अवसर होते हैं जिन पर हम अपने देवी देवताओं की पूजा करते हैं और जितने भी त्योहारों को मनाया जाता है.उन सभी त्योहारों के मौके पर भी हम देवी देवताओं की पूजा जरूर करते हैं इसी तरह से हमारे देश में हर साल दिवाली का पर्व मनाया जाता है.जो कि हिंदू धर्म में मनाए जाने वाले सभी त्योहारों में से सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण त्योहार माना जाता है.यह त्यौहार एक बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाने वाला त्यौहार है.इस त्यौहार को हमारे देश की हर एक कोने में मनाया जाता है.इस त्यौहार के मौके पर भगवान श्रीराम को भी याद किया जाता है

क्योंकि जब भगवान श्री राम 14 वर्ष का वनवास काटकर घर वापस आते हैं तब सभी अयोध्यावासी भगवान श्री राम के आगमन पर खुशी से घी के दिए जलाते हैं और इसीलिए दिवाली के मौके पर सभी लोग अपने घरों में दिए जलाते हैं लेकिन दिवाली के त्योहार के मौके पर शाम के समय लक्ष्मी पूजन भी किया जाता है.लक्ष्मी पूजा भी हर उस घर में की जाती है.जिस घर में दिवाली मनाई जाती है.और यह पूजा एक बहुत ही महत्वपूर्ण पूजा मानी जाती है.क्योंकि सभी लोगों का मानना है.कि लक्ष्मी पूजा करने से घर में धन की वर्षा होती है.इसके अलावा भी लक्ष्मी पूजा को लेकर बहुत सारी और अलग-अलग रोचक कहानियां जुड़ी हुई है.जितना हिंदू धर्म में दिवाली महत्व रखती है.उतना ही महत्व लक्ष्मी पूजा भी रखती है

दिवाली हमारे देश के साथ साथ पाकिस्तान नेपाल भूटान जैसे देशों में भी बहुत ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाई जाती है.क्योंकि इन देशों में भी हमारे हिंदू धर्म के लोग रहते हैं इन सभी देशों की प्राचीन सभ्यता लगभग एक जैसी ही है.इसीलिए इन देशों में भी बहुत सारी जगह पर दिवाली के त्यौहार को मनाया जाता है.और लक्ष्मी पूजन किया जाता है

लक्ष्मी पूजन कैसे किया जाता है

जब भी हम किसी भी देवी देवता की पूजा करते हैं तब हम मंदिर में जाकर भगवान के दर्शन करते हैं और वहां पर प्रसाद फूल और दूध या दूसरी चीजें चढ़ाकर पूजा करते हैं लेकिन लक्ष्मी पूजा एक ऐसी पूजा है.जो कि पूर्ण रूप से की जाए तो वही विशाल पूजा होती है.क्योंकि लक्ष्मी पूजन में बहुत सारी चीजों का इस्तेमाल किया जाता है.इसके साथ ही मां सरस्वती पूजा,कुबेर पूजा,भगवान गणेश पूजा, भगवान कृष्ण, पूजा तथा श्री राम पूजा भी की जाती है.इन सभी की पूजा के बाद ही यह पूजा पूर्ण मानी जाती है.सबसे पहले भगवान श्री गणेश की पूजा की जाती है.और फिर उसके बाद में मां लक्ष्मी पूजा को आरंभ किया जाता है.और सभी परिवार के सदस्य लक्ष्मी पूजा के समय एक साथ इकट्ठा होते हैं और पूजा के दौरान मां लक्ष्मी की तस्वीर स्थापित की जाती है.और उसके आगे अलग-अलग प्रकार की मिठाइयां गन्ने व पूजा से जुड़े हुए दूसरे सामान को रखा जाता है.

फिर मां लक्ष्मी के आगे दिए जलाए जाते हैं सभी लोग मिलकर मां लक्ष्मी की आरती भी गाते हैं इसके अलावा भी बहुत सारी जगह पर अलग अलग तरीके से लक्ष्मी पूजन किया जाता है.और लक्ष्मी पूजन में कई प्रकार की अलग-अलग रीति रिवाज होते हैं लक्ष्मी पूजन करने के लिए पूर्ण जानकारी होना बहुत जरूरी है.इसके लिए आपको किसी पंडित या किसी पुस्तक का सहारा जरूर लेना चाहिएलक्ष्मी पूजा के लिए सभी लोग दिवाली से बहुत समय पहले की लक्ष्मी पूजा के सामान के लिए मार्केट जाते हैं वह लक्ष्मी पूजा का सामान लाते हैं और इसके अलावा इस पूजा के लिए बहुत समय पहले की तैयारियां शुरू कर दी जाती है.और यह पूजा भारत के अलावा दूसरे देशों में भी बहुत ही धूमधाम से की जाती है.बहुत सारी लड़कियां और महिलाएं ऐसी भी होती है.जो कि लक्ष्मी व्रत रखती है.इस व्रत को रखते समय महिलाएं व लड़कियां अपने भविष्य में अच्छे पैसे व धन के लिए मनोकामना मांगती है.

लक्ष्मी पूजा क्यों की जाती है

हिंदू धर्म में बहुत सारी देवी देवताओं की पूजा की जाती है.क्योंकि हिंदू धर्म के लोग भगवान के प्रति बहुत आस्था रखते हैं सभी का ऐसा मानना होता है.कि अगर सच्चे मन से भगवान से प्रार्थना की जाए तो भगवान हमेशा कुछ ना कुछ जरूर देते हैं इसीलिए लक्ष्मी पूजा भी की जाती है.क्योंकि मां लक्ष्मी के भक्तों का मानना है.कि सच्चे मन से मां लक्ष्मी की पूजा करने पर मां लक्ष्मी धन वर्षा करती है.और कभी भी किसी भी प्रकार की पैसे की कमी नहीं होने देती इसीलिए दिवाली के दिन शाम के समय में सभी लोग मां लक्ष्मी, कुबेर, भगवान गणेश, कृष्ण और श्री राम की पूजा करते हैं ताकि उनको भविष्य में कभी भी पैसे की कमी ना आए उनका कारोबार हमेशा अच्छे तरीके से चले और उसे हमेशा जीवन में कामयाबी मिले

लक्ष्मी पूजा कब की जाती है

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया लक्ष्मी पूजा हर साल दिवाली के शुभ अवसर के मौके पर की जाती है.जिस दिन दिवाली होती है.उस दिन शाम के समय सभी लोग लक्ष्मी पूजा करते हैं और आप सभी को पता होगा कि दिवाली का त्योहार भारतीय कैलेंडर के अनुसार मनाया जाता है.इस त्यौहार को भारतीय कैलेंडर के अनुसार कार्तिक मास की अमावस के दिन मनाई जाती है.और इसी दिन लक्ष्मी पूजन होता है.लेकिन अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार हर साल लक्ष्मी पूजन व दिवाली का दिन अलग-अलग तारीख को आता है

लक्ष्मी पूजा का महत्व

हिंदू धर्म में शायद ही ऐसा कोई इंसान होगा जिसकी लिए उसके देवी देवता व त्यौहार महत्व नहीं रखते होंगे इसी तरह से हर हिंदू धर्म के इंसान के लिए लक्ष्मी पूजा भी महत्व रखती है.क्योंकि लक्ष्मी पूजा से जुड़ी हुई इतिहास में बहुत सारी अलग-अलग कहानियां हैं और लक्ष्मी पूजा का जिक्र बहुत सारी अलग-अलग किताबों में भी किया गया है.कि अगर सच्चे मन से लक्ष्मी पूजा की जाए तो मां लक्ष्मी हमेशा धन की वर्षा करती है.इसीलिए सभी इंसान मां लक्ष्मी की पूजा करते हैं और यह पूजा हर भारतीय के लिए बहुत महत्व रखती है.

Leave a Comment