टाइफाइड क्या है इसके कारण लक्षण बचाव व उपचार

टाइफाइड क्या है इसके कारण लक्षण बचाव व उपचार

वैसे तो हमारे आस पास बहुत सारी खतरनाक बीमारियां फैली हुई है जो कि हमारे शरीर में किसी चीज की कमी या किसी चीज की अधिकता के कारण उत्पन्न होती है लेकिन कुछ ऐसी बीमारियां भी होती है जो कि बदलते मौसम के कारण उत्पन्न होती है इसलिए इन बीमारियों से बच कर रहना बहुत जरूरी होता है क्योंकि इन बीमारियों के विषाणु या जीवाणु हमारे आसपास की हवा या जमीन में रहते हैं और बदलते मौसम के साथ ही वे बाहर निकलने लगते हैं

और फिर उनसे हमारे आसपास के क्षेत्र में बीमारी फैल जाती है इसी तरह से टाइफाइड भी एक ऐसी खतरनाक बीमारी है जो कि एक जो कि बदलते मौसम के कारण होती है तो आज की तो आज किस ब्लॉक में टाइफाइड होने के कारण लक्षण इसके बचाव व उपचार आदि के बारे में बात करेंगे

टाइफाइड क्या है

टाइफाइड एक ऐसी खतरनाक मौषमी बीमारी है जो कि हमारे आसपास के बदलते मौसम के कारण तेजी से फैलती है इसलिए हमें बदलते मौसम में इस बीमारी से बचने के लिए बहुत सारी सावधानियों का भी ध्यान रखना पड़ता है और इस समस्या के उत्पन्न होने पर रोगी को लंबे समय तक बुखार रहता है जिससे उसके सिर दर्द पेट दर्द और भूख कम लगने लगती है इसके अलावा रोगी के शरीर में डायरिया रोग के लक्षण दिखाई देते हैं टाइफाइड को आम भाषा में मियादी बुखार भी कहा जाता है

क्योंकि यह बुखार लंबे समय तक रोगी को अपनी चपेट में लेता है टाइफाइड होने पर रोगी को 1 सप्ताह से ज्यादा समय तक बुखार रहता है और इसमें रोगी के शरीर का तापमान 103–104°F (39–40°C) तक हो जाता है इस बुखार की वजह टाइफाइड साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया बनता है जो कि बदलते मौसम में तेजी से फैलता है टाइफाइड होने पर रोगी के शरीर में इंफेक्शन होने लगता है रोगी का इम्यून सिस्टम बिल्कुल कमजोर हो जाता है जिससे रोगी को अन्य समस्याएं भी उत्पन्न होने लगती है.

टाइफाइड के कारण

अगर इस बीमारी के कारणों के बारे में बात की जाए तो इस समस्या का सबसे बड़ा और मुख्य कारण बदलता मौसम होता है इसके अलावा इस समस्या के पीछे और कई कारण होते हैं जैसे दूषित भोजन व पानी का सेवन करना, ज्यादा गंदे क्षेत्र में रहना, बारिश के पानी का सेवन करना बारिश के इकट्ठे हुए पानी के आसपास रहना लंबे समय तक बारिश वाली क्षेत्र में रहना आदि इसके कारण होते हैं क्योंकि बारिश के मौसम में बारिश के जमा हुए पानी में बैक्टीरिया सबसे ज्यादा उत्पन्न होते हैं

और बारिश के साथ ही कई बड़ी-बड़ी जानलेवा बीमारियां आती है इनमें से टाइफाइड भी एक ऐसी बीमारी है जिसका बैक्टीरिया बारिश के पानी में उत्पन्न होता है और फिर यह बीमारी बारिश के पानी वाले पूरे क्षेत्र में तेजी से फैलने लगती है बारिश के मौसम में इस बीमारी से बचाव के लिए आपको उचित ध्यान रखना चाहिए और अपने आसपास के क्षेत्र में गंदगी पैदा नहीं होने देना चाहिए और जितना हो सके बारिश के पानी से दूर रहना चाहिए

टाइफाइड के लक्षण

अगर इस समस्या के लक्षणों के बारे में बात की जाए तो रोग के उत्पन्न होने पर रोगी में कई लक्षण देखने को मिलते हैं सबसे पहला लक्षण अगर किसी इंसान को 1 सप्ताह से ज्यादा तेज बुखार रहता है तो उसको टाइफाइड हो सकता है इसके अलावा रोगी के सिर में तेज दर्द होना, रोगी को भूख प्यास लगना, रोगी के शरीर का वजन कम होना, रोगी को बदन दर्द होना, रोगी के शरीर में एकदम तेजी से बुखार आना जिससे रोगी के शरीर का तापमान बढ़ जाना,रोगी की त्वचा पर धब्बे होना,

रोगी को बेचैनी, घुटन, व कमजोरी होना, रोगी का किसी काम में मन न लगना, रोगी का बेहोश व चक्कर आने की समस्या होना आदि लक्षण होते हैं लेकिन इसके अलावा भी इस समस्या में कई और लक्षण देखने को मिल सकते हैं क्योंकि यह बीमारी रोगी को कई दिनों तक रहती है इसलिए अगर किसी को 1 सप्ताह से ज्यादा बुखार रहता है तब उसको तुरंत डॉक्टर के पास जाकर अपने टेस्ट करवाने चाहिए

क्या करें

अगर आपको इस रोग से बचाना है तब आपको इसके लिए कुछ ऐसी बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है जो कि इस रोग का कारण बनते हैं और इसमें सबसे बड़ा कारण आपकी लापरवाही हो सकता है इसलिए आपको बारिश के समय में अपने आसपास की सफाई रखनी चाहिए और आपको नीचे बताई गई सभी बातों का ध्यान रखना चाहिए

  • बारिश के समय में आपको उबला हुआ पानी पीना चाहिए
  • आपको अपनी खाने पीने की सभी वस्तुओं को ढक कर रखना चाहिए
  • आपको बासी भोजन खाने से बचना चाहिए
  • आपको बाहर से आई हुई खाने की सभी वस्तुओं को धोकर खाना चाहिए
  • आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए
  • रोगी को ज्यादा से ज्यादा अंकुरित अनाज का सेवन करना चाहिए
  • आपको अपने आसपास की साफ सफाई रखनी चाहिए
  • आपको अपने बिस्तर कपड़े और तोलिए आदि को समय-समय पर होते रहना चाहिए
  • आपको बारिश वाले क्षेत्र में जाने से बचना चाहिए
  • आपको अपने शरीर में बुखार के दो-तीन दिन रहने पर तुरंत डॉक्टर से जांच करवानी चाहिए

क्या न करें

  • बारिश के मौसम में आपको अपने घर के आसपास पानी इकट्ठा नहीं होने देना चाहिए
  • आपको दूषित पानी का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको बारिश के समय में बुखार होते ही तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए
  • आपको ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां फल दूध और मांस मछली अंडा आदि का सेवन करना चाहिए
  • आपको ज्यादा से ज्यादा खट्टे फल जैसे नींबू संतरा अंगूर और मौसमी आदि खाने चाहिए
  • आपको बासी भोजन का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए
  • आपको अपने शरीर में पानी की कमी बिल्कुल भी नहीं होने देनी चाहिए

लेकिन फिर भी अगर आपके शरीर में इस समस्या के कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए और टेस्ट करवाकर लंबे समय तक दवाइयां लेनी चाहिए क्योंकि यह एक खतरनाक बीमारी है इससे आप की मौत भी हो सकती है इसलिए इस बीमारी में देर करना आपके लिए महंगा पड़ सकता है

टाइफाइड बुखार की दवा पतंजलि टाइफाइड का आयुर्वेदिक इलाज टाइफाइड को जड़ से खत्म करने का इलाज टाइफाइड की टेबलेट टाइफाइड कितने दिन तक रहता है बार बार टाइफाइड होने के कारण बच्चों में टाइफाइड के लक्षण टाइफाइड की इंग्लिश दवा

Leave a Comment