आलू की खेती से कमाई के बारे में जानकारी

आलू की खेती से कमाई के बारे में जानकारी

जैसा कि हम जानते हैं पोटैटो को आलू कहा जाता है हिंदी भाषा में आलू के बिना पोटैटो के बिना किसी भी सब्जी की बात करना बेमानी होती है क्योंकि आलू एक ऐसी चीज है जो हर सब्जी में प्रयोग किया जाता है आलू के बिना कभी नहीं बन सकती ऐसा कहे तो गलत नहीं होगा आलू को खाना  देखकर पसंद करता है।आलू कई प्रकार के पोषक तत्वों की कमी को भी दूर करता है। यह सब्जियों में सबसे विशेष सब्जी और अपने आप में सब्जियों के किंग के नाम से महसूस होता है।लोग आलू को खाना कई तरीके से पसंद करते हैं सब्जी के साथ भोजन में प्रयोग करते हैं।

तथा आलू के मौसम में कई प्रकार के चटपटे दार कचालू बनाकर भी आलू को खाया जाता है आलू का प्रयोग रेडी पटरी में चाट समोसे पकोड़े और कई प्रकार के स्ट्रीट फ़ूड में किया जाता है। आलू का प्रयोग होटल्स में ढाबों में बड़ी मात्रा में सब्जियां बनाने में किया जाता है शादी विवाह फंक्शन में आलू की सब्जी सबसे मेन सब्जियों में मानी जाती है। इसमें बहुत खपत होती है आलू की सब्जी कि यदि आप आलू फार्मिंग बिजनेस शुरू करने पोटैटो फार्मिंग बिजनेस शुरू कर दें।

 

तो आप यकीन मानिए 12 महीने इनकम कर सकते हैं केवल आलू की आड़ में कितने ही लोग केवल आलू की खेती करते हैं और अच्छी खासी कमाई 12 महीने कमाते हैं। यदि आपको कोटा टफ आर्मी के बारे में कोई जानकारी नहीं आपको करना ही पता कि कैसे पैसे कमाए जा सकते हैं इस बिजनेस को करके तो आज हम आपको बताने वाले हैं कि आप ऐसे पोटैटो फार्मिंग बिजनेस करते अच्छे खासे पैसे कमा सकते हैं और 12 महीने घर बैठे एक बिजनेसमैन की तरह जिंदगी जी सकते हैं जानने के लिए बने रहे हमारे साथ चलिए शुरू करते

क्या है आलू की खेती बिजनेस प्लान

what is potato farming business plan – आलू फार्मिंग पोटैटो फार्मिंग की व्याधि बात करें तो आलू हमारे देश में तथा अन्य देशों में खूब मात्रा में खाया जाता है 12 महीने का जाता है इसकी बुवाई की जाती है साल में एक बार आलू की बुवाई की जाती है और साल के 12 महीने से बैठकर मार्केट में पैसे कमाए जाते पोटैटो फार्मिंग आलू  की खेती से जुड़ा बिजनेस होता है

आलू एक ऐसी चीज है जो 12 महीने खाई जाती है और 12 महीने इसकी डिमांड बनी रहती है इसलिए यदि आपका बिजनेस शुरू कर दें तो कमाई कमाई करने से आपको कोई नहीं रोक सकता लंबी कमाई आप करेंगे 12 महीने आपको कहीं कमाई करने के लिए नहीं जाना पड़ेगा आलू को लंबे समय तक रखने के लिए कोल्ड स्टोरों में रखा जाता है। जिससे कि मार्केट में आलू की कमी ना हो और आलू खराब ना हो कोल्ड स्टोर में रखरखाव के लिए आलू लंबे समय तक रखा जाता है।

और सारे महीने इसकी आपूर्ति की जाती है मार्केट में यदि आप अच्छे लेवल पर आलू का बिजनेस शुरू कर दें पोटैटो शुरू कर दे तो थोड़े दिन साल के 12 महीने अच्छी कमाई करने लगेंगे। क्योंकि आलू का प्रयोग केवल घर की सब्जियों में ही नहीं किया जाता आलू का प्रयोग घर-घर की जरूरत है से जुड़ा होने के अलावा मार्केट में कई तरह से प्रयोग किया जाता है। जितने भी फास्ट फूड मार्केट में मिलते हैं उनमें आलू का प्रयोग किया जाता है.

टिकिया में पकोड़े में तरह तरह की सब्जियों में बिना इसके कोई भी सब्जी नहीं बनाई जा सकती। यदि आप ऐसा करें तो गलत नहीं आलू के बजे से कितने लोगों के रोजगार चलते हैं। आलू के वजह से कितने लोग ठेले पर टिकिया समोसा पकोड़े बेचकर अपना रोजगार चलाते हैं। और अच्छी रकम कमाते हैं केवल आलू का उपयोग करके बड़े-बड़े लोग मशहूर हो गए अपनी टिकिया चाट  समोसे की वजह से इसमें आलू का ही प्रयोग होता है।

आलू की खेती बिजनेस से लाभ

benefit from potato farming business plan

  • यदि पोटैटो फार्मिंग बिजनेस से लाभ की बात करें तो या एक ऐसा बिजनेस प्लान है जिसकी डिमांड 12 महीने बनी रहती है। सब्जियों में सबसे विशेष आलू ही माना जाता है।
  • सब्जियों का राजा माना जाता है आलू बिना आलू के कोई सब्जी बनाई नहीं जा सकती आलू के स्वाद का हर कोई दीवाना है इसे 12 महीने उसी प्रकार खाया जाता है। जिस प्रकार इसे आलू के मौसम में खाते हैं लोग
  • घर घर की जरूरतों से जुड़ा होने के साथ ही या मार्केट में कई तरह से प्रयोग किया जाता है इसलिए इसकी डिमांड 12 महीने बनी रहती है।
  • और यह इतना खास बिजनेस होता है कि आप समझ सकते हैं कि कोई भी सब्जी बिना आलू के नहीं बनती बिना पॉटटो के नहीं बनती आलू एक ऐसा ऐसी सब्जी है जिसका प्रयोग कई तरह से किया जाता है।
  • मार्केट में भी घर में भी तथा कई प्रकार के बिजनेस में भी कई प्रकार से आलू का प्रयोग किया जाता है मार्केट में अच्छी खासी इनकम करने के लिए एक अच्छा बिजनेस है।
  • इसे करना बेहद ही आसान है ज्यादा कठिन काम नहीं है आप तो 4 लोगों की मदद लेकर अच्छे से इस बिजनेस को कर सकते हैं केवल आलू के बिजनेस से लाखों रुपए लोग कमाते हैं।
  • और 12 महीने इसमें कमाई होती है हम सब जो चिप्स खाते हैं पैकेट बंद ये भी आलू से ही बने होते हैं। पोटैटो फार्मिंग के बिजनेस में सबसे अच्छी बात यह होती है कि फसल हो जाने के बाद आपको इसे बेचने की चिंता नहीं करनी पड़ती।
  • बड़ी-बड़ी कंपनियां भी आपके पास संपर्क करने के बाद आसानी से आपके खेत में आलू खरीद कर ले जाते हैं आपको मार्केट भी जाना पड़ता।
  • यहां तक कि आलू की डिमांड 12 महीने कभी कम नहीं होती की खपत उतनी ही होती है जितनी मौसम में होती है ।उतनी ही मात्रा में आलू बिकता है।
  • साल के बीच के कई महीनों में आलू के दाम भी बढ़ जाते हैं तो अपने फायदे होते हैं।

कैसे शुरू करें आलू की खेती बिजनेस  प्लान

how to start potato farming business plan – पोटैटो फार्मिंग बिजनेस करने के लिए पहले  फार्मिंग करनी पड़ती है मतलब आलू की खेती करने पड़ते हैं फसल तैयार हो जाने के बाद भी हमें इनकम होनी स्टार्ट होती है पोटैटो फार्मी आलू की खेती को करने के लिए बहुत ज्यादा परेशानी नहीं करनी पड़ती एक ही बार हमें खेती में मेहनत करनी पड़ती है उसके बाद थोड़ा बहुत देख रेख कर के हम आसानी से फसल को तैयार कर सकते हैं।

आलू की खेती के लिए जगह

जहां भी हम पोटैटो फार्मिग आलू की खेती कर रहे वहां ऐसी जगह होनी चाहिए कि पानी की समस्या ना आने पर पानी बिजली आसानी से प्राप्त हो जाए ऐसी जगह हमें आलू की खेती करने चाहिए तालाब या नहर भी यदि पास में हो तो भी बहुत अच्छा रहता है। आलू की खेती करने के लिए तो खेत में पानी की समस्या में नहीं आती।

आलू की खेती की अच्छी पैदावार के लिए महत्वपूर्ण बातें

पोटैटो फार्मिंग में मिट्टी से लेकर बुवाई तक सारा काम करने के लिए ध्यान देना पड़ता है अच्छी पैदावार के लिए इसलिए विशेष रूप से कई तरह से तकनीकी अपनाई जाती है। आलू की खेती दोमट तथा चिकनी मिट्टी में की जाती है। यदि आपको अच्छी पैदावार चाहिए तो आपको इन्हीं दो मिट्टियों में आलू की फसल तैयार करनी होगी इस इन दोनों मिट्टियों में हमेशा ज्यादा आलू की फसल में तैयार होती है।

अच्छी पैदावार के लिए अच्छी आलू की किस्में

हर क्षेत्र में अच्छी पैदावार सबसे महत्वपूर्ण चीज होती है आलू की अच्छी पैदावार के लिए आपको अच्छे बीजों का भी चयन करना पड़ेगा मार्केट में बहुत सी ऐसी बीजोबीजों उपलब्ध है। अच्छी बीजों से अच्छी पैदावार होना कई प्रकार से बढ़ जाता है बाजार में इस समय अच्छी किस्म की बात की जाए पोटैटो पर तो उसमें दो सबसे ज्यादा किसमें बाजार में उपलब्ध है।

  • जिसमें कुफरी ज्योति
  • कुफरी बाहर
  • कुफरी बादशाह
  • कुफरी अशोका
  • कुफरी स्वर्णा
  • कुफरी पुखराज
  • कुफरी चंद्रकांता
  • कुफरी सिंदूरी
  • कुफरी कंचन

केसरी किस में कुछ विशेष किसमें हैं 200  किस्मों में से इन्हें बोलने से ज्यादा पैदावार होती है पोटैटो आलू  की।

आलू की खेती के लिए जलवायु

आलू की खेती में पोटैटो फार्मिग में जलवायु का विशेष महत्व योगदान रहता है यदि जलवायु अच्छी नहीं रहती तो आलू की फसल भी उतनी अच्छी नहीं आती इसलिए जलवायु विशेष तौर पर ध्यान देना पड़ता है पोटैटो फार्मिंग के लिए जलवायु तापमान 30 डिग्री का होना चाहिए कितने तापमान में आसानी से अच्छी फसल उगाई जा सकती है।

आलू की खेती कब की जाती है

पोटैटो फार्मिंग के लिए अच्छे मौसम की भी सबसे महत्वपूर्ण योगदान होता है क्योंकि हर समय पोटैटो की बुआई नहीं की जा सकती इसके लिए विशेष तौर पर महीने होते हैं। जिनमें जरूरी होता है कि पोटैटो फार्मिंग कर ली जाए सबसे अच्छा पटेटो फार्मिंग के लिए महीना माना जाता है। सितंबर से अक्टूबर के महीने में आलू की बुवाई हो जानी चाहिए पोटैटो की बोवाई हो जानी चाहिए। 25 सितंबर से 10 अक्टूबर तक बुवाई हो जाती है आलू की तो पैदावार की अच्छी उम्मीद होती है और समय पर फसल भी तैयार हो जाती है बिकने के लिए मार्केट में भेजने के लिए फसल समय पर तैयार हो जाती है।

आलू खेती करने के लिए मशीनरी व हेल्पर

खेती करने में आलू की खेती करने के लिए हमें दो-चार लोगों की जरूरत ही पड़ती है। किंतु आजकल ऐसे तकनीकी आ गई मार्केट में हमें लोगों की जरूरत नहीं पड़ती। मशीनों के द्वारा आसानी से पोटैटो फार्मिंग कर सकते हैं और बहुत ही कम आलू की बुवाई जोताई सारा काम करके आपको फसल तैयार करके दे देती है। आलू बुवाने के लिए भी मशीन आती है। आलू को खोदवाने के लिए भी मशीन आलू की बुवाई जोताई सारा काम करके आपको फसल तैयार करके दे देती।

पोटैटो ने के लिए मसीनरी की गई हैं आपको ज्यादा लोगों की जरूरत ही नहीं पड़ेगी आसानी से  सारा काम निपटा देंगे  पोटैटो  फार्मिग का बिजनेस शुरू किया है वह 12 महीने बैठकर खाता है उसे कहीं बाहर जाने क्या पता नहीं पड़ती यदि अखाड़ा रखी हुई और ज्यादा मात्रा में हुई है। तो उसी हिसाब से पैसे भी मिलते रहते हैं आलू को लंबे समय तक रखने के लिए कोल्ड स्टोर का प्रयोग किया जाता है।

कैसे होती है कमाई

कमाई की बात करें तो कमाई एक बार फसल तैयार हो जाने के बाद आपको कमाई की चिंता नहीं करनी पड़ती आलू एक ऐसी चीज है। इसमें कमाई के लिए हर तरह से साधन उपलब्ध है आप घर बैठे भी एक फोन कॉल के द्वारा अपनी सारी आलू की फसल भेज सकते हैं। तथा आप कोल्ड स्टोर में रखवा कर साल भर आलू को बेचकर अपना बिजनेस के तौर पर काम कर सकते हैं।

आलू की जरूरत हर उस आदमी को है जो खाना खाता है और कोई भी ऐसा प्राणी नहीं है जो खाना नहीं खाता खाने में आलू की सब्जी नहीं खाता। हर घर की जरूरत है इसलिए यदि आप मौसम में मार्केट में बेचना शुरू कर दें रिटेल तथा थोक दामों में तो आपको इनकम बढ़िया हो जाएगी बड़े बड़े व्यापारी आलू की खरीद करते हैं जिनके पास पोटैटो चिप्स बनाने का धंधा होता है जिनके पास आलू टिकिया ब्रेड पकोड़ा बनाने के धंधे होते जिनके पास बड़े-बड़े होटल होते हैं जिनके पास ढाबे होते हैं रिस्ट्रो होते हैं उन्हें आलू की बड़ी मात्रा में जरूरत पड़ती वह अच्छे उचित दाम में आलू की खरीद के लिए रिसर्च करते रहते हैं।

आप ऑनलाइन भी अपने आलू को ऐसे लोगों को भेज सकते हैं जो आपके खेत पर आकर आप की फसल को ले जाएंगे। और आप का तय किया तथा मार्किट में चल रहे रेट के हिसाब से आपको पैसा आपको दे जाएंगे सीजन में आलू की कीमत हजार रुपए प्रति कुंटल होती है तथा सीजन के बाद महीने के 8 महीने में आलू बीस से पच्चीस ₹30 प्रति कुंटल बिकता है आप इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि आप कितनी कमाई कर सकते हैं आलू के बिजनेस से पोटैटो फार्मिंग बिजनेस प्लान कमाई कितनी होगी या आपको आर्टिकल को पढ़ने के बाद समझ में आ गया होगा।

मुझे उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल पोटैटो फार्मिंग बिजनेस प्लान को पढ़कर जानकारियां समझ में आ गई होंगी यदि आपको पोटैटो फार्मिंग बिजनेस प्लान समझ में आया और आपको अच्छा लगा बिजनेस प्लान तो आप भी शुरू कर सकते हैं यदि आप कोई दूसरी खेती भी कर रहे हैं एक बार पोटैटो आलू की खेती भी करके देखिए आपको कई गुना फायदे मिलेंगे से 12 महीने आपको एक जगह बैठकर अच्छी खासी कमाई करने का एक अच्छा माध्यम मिल जाएगा।

Leave a Comment