Fl Studio की सारी जानकारी हिंदी में Fl Studio In Hindi

Fl Studio की सारी जानकारी हिंदी में Fl Studio In Hindi

FL studio दुनिया का सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला DAW सॉफ्टवेयर है जिसके अंदर हम किसी भी सॉन्ग को बना सकते हैं या किसी भी सॉन्ग को रीमिक्स कर सकते हैं. यह सॉफ्टवेयर काफी बड़ा है और इसके अंदर ऐसे बहुत सारे ऑप्शन दिए गए हैं जिनकी मदद से आप काफी आसानी से किसी भी सॉन्ग को क्रिएट कर सकते हैं.

लेकिन किसी भी सॉन्ग को बनाने से पहले आपको म्यूजिक के बारे में होना चाहिए तभी आप इस सॉफ्टवेयर के अंदर अच्छा म्यूजिक बना सकते हैं. हालांकि आप इस सॉफ्टवेयर को बड़े ही आसानी से चलाना सीख सकते हैं जिसके बारे में कुछ पॉइंट हमें नीचे बताए हैं लेकिन अगर आपको म्यूजिक की नॉलेज नहीं है तो आप एक अच्छा म्यूजिक नहीं बना सकते हैं तो सबसे पहले आप म्यूजिक की नॉलेज लीजिए और फिर एफ एल स्टूडियो का उपयोग कीजिए.

एफ एल स्टूडियो को अपने कंप्यूटर पर इंस्टॉल करने से पहले आपको अपने कंप्यूटर में देखना होगा कि जो इस सॉफ्टवेयर की मिनिमम सिस्टम रिक्वायरमेंट्स है वह आपके सिस्टम में है या नहीं उसके बाद में ही आप इस सॉफ्टवेयर को अपने सिस्टम में इनस्टॉल कर सकते हैं और नीचे इसकी ऑफिशियल वेबसाइट का लिंक दिया गया है जहां से आप इस सॉफ्टवेयर को डाउनलोड कर सकते हैं.

System Requirements:

  • Windows Ya MAC
  • 1 Gb or more RAM recommended
  • 1 Gb free disk space
  • Soundcard with Direct Sound drivers

Fl Studio Free Download Here

Fl Studio की सारी जानकारी हिंदी में

एक छोटी सी पोस्ट में FL स्टूडियो के बारे में पूरी जानकारी देना नामुमकिन है लेकिन फिर भी हम इसके जो खास ऑप्शन और फीचर हैं उसके बारे में आपको इस पोस्ट में बताएंगे. जिससे कि आपको अंदाजा हो जाएगा कि इस सॉफ्टवेयर के अंदर कहां पर कौन सा ऑप्शन है और उसे आप कहां से ढूंढ सकते हैं.

लेकिन इन ऑप्शन का उपयोग करने के लिए आपको इसका वीडियो देखना चाहिए जिसका लिंक आपको हमारी वेबसाइट पर मिल जाएगा जिससे कि आप इस सॉफ्टवेयर को पूरा बड़े ही आराम से सीख सकते हैं.


तो यहां पर ऊपर आपको जो फोटो दिखाई दे रही है इसमें एप्पल स्टूडियो सॉफ्टवेयर के 6 भाग दिखाएं गए हैं जिससे कि आपको अलग-अलग भाग का काम पता चल जाएगा कि किस भाग में क्या काम होता है और जब आप पहली बार इसे शुरू करेंगे तो आपको पता रहेगा कि कहां से से शुरू करना है.

1. Basic Options

हर सॉफ्टवेर के बेसिक ऑप्शन होते है वैसे ही FL स्टूडियो में भी कुछ बेसिक ऑप्शन है .

  • इन ऑप्शन में से कुछ ही ऑप्शन का इस्तेमाल किया जाता है जब मिक्सिंग करते है
  • ऐड के ऑप्शन से Effect Plugins को ऐड किया जाता है लेकिन ये सब हम डायरेक्ट भी ऐड कर सकते है .
  • जैसे ओप्तिओंस में इसकी जरनल सेटिंग है वंहा से कुछ ऑप्शन का इस्तेमाल होता है .
  • या फिर टूल्स में से कुछ ऑप्शन का इस्तेमाल होता है

2. Play Control Panel

प्ले कंट्रोल पैनल में से आप सांग को प्ले पॉज स्टॉप कर सकते है.

लेकिन इसमें कुछ खास ऑप्शन भी है जैसे BPM को एडिट कर सकते है Patterns बनाते समय या से Patterns के स्टेप की सेटिंग भी की जाती है .सॉन्ग की रिकॉर्डिंग भी की जाती है

3. Tab Controller Options

ये ऑप्शन में इस सॉफ्टवेर में जो मैं टैब्स है वो सारी यही से देखि जाती है

Playlist – प्ले लिस्ट के अंदर आप जितने भी ऑडियो क्लिप को ऐड करते हैं वह सभी प्ले लिस्ट में दिखाई देती है. और प्ले लिस्ट के अंदर ही अलग अलग Sample File को Add कर के म्यूजिक तैयार किया जाता है. प्ले लिस्ट के अंदर आपको 500 Tracks देखने को मिलते हैं जिनके अंदर आप अलग अलग Sample फाइल को रख सकते हैं जैसे कि Kick, Clap, Snare, Hihat इत्यादि.

Channel Rack – चैनल रख के अंदर आप को वह सैंपल फाइल या Plugin ऐड करना है जिसकी मदद से आप अपना म्यूजिक तैयार करना चाहते हैं जैसे कि Kick , Snare , Clap इत्यादि इसके अलावा आप अगर मेलोडी बनाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको Plugins का उपयोग करना पड़ेगा. और Piano Roll में आप उस Plugin की मेलोडी को तैयार कर सकते हैं

Piano Roll – पियानो रोल के अंदर आपको अलग-अलग Keys देखने को मिलेंगी जो कि आपको एक Real पियानो पर देखने को मिलती है. तो आप इस पियानो रोल पर भी वैसे ही म्यूजिक तैयार कर सकते हैं जैसे अपने रियल पियानो पर बजाते हैं. और अगर आपने अपने सिस्टम के साथ में पियानो को कनेक्ट किया है तो उस बयानों का जो भी म्यूजिक है वह आप पियानो रोल में ला सकते हैं.

Browser – ब्राउज़र के अंदर आपको कुछ फोल्डर देखने को मिलते हैं जिनके अंदर सिंपल फाइल भी आपको देखने को मिल जाती है इसके अलावा आपको कुछ डेमो प्रोजेक्ट देखने को मिलते हैं और अगर आप अपने कंप्यूटर का कोई भी फोल्डर यहां पर दिखाना चाहते हैं तो उसे भी यहां पर ड्रैग एंड ड्रॉप करके दिखा सकते हैं. और ब्राउजर फाइल में जितने भी सैंपल होते हैं उन्हें आप प्ले लिस्ट में ड्रैग एंड ड्रॉप करके अपने म्यूजिक में उपयोग कर सकते हैं.

Mixer – मिक्सर के अंदर आपको सभी ट्रैक को सैंपल फाइल को मिक्स करने का ऑप्शन मिल जाता है अपने जितने भी सैंपल फाइल का उपयोग किया है उन सभी की आवाज को सुधारने के लिए आप उन्हें Mixer में ऐड कर सकते हैं और जरूरत के अनुसार किसी भी आवाज पर इफेक्ट लगाकर उसे बदल सकते हैं जिससे कि आप के म्यूजिक की आवाज और भी बेहतर हो जाती है.

Plugin Picker – आपके सॉफ्टवेयर के अंदर जितने भी पलक दिन म्यूजिक बनाने के लिए होते हैं वह Plugin Picker पर क्लिक करते ही आपको दिखाई देने लगते हैं और जिस भी प्लगइन को आप Channel Rack में ऐड करना चाहते हैं तो उस प्लगइन पर क्लिक कर दीजिए और वह प्लगइन आपके Channel Rack में आ जाएगा. और Channel Rack में उस प्लगइन के पियानो रोल को ओपन करके आप उस में अपनी मनपसंद का म्यूजिक तैयार कर सकते हैं.

Project Picker – Project Picker पर आप जब क्लिक करेंगे तो आपके प्रोजेक्ट में जितने भी सैंपल अपने उपयोग में लिए हैं वहां पर दिखाई देने लग जाएंगे और जिस भी सैंपल का उपयोग आप करना चाहते हैं उस पर क्लिक करके उसे प्ले लिस्ट में ऐड कर सकते हैं.

Tempo Tapper – यह Tool उन लोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद है जो कि किसी सॉन्ग को रीमिक्स करना चाहते हैं. इस टूल की मदद से आप किसी भी ट्रैक की BPM (Beats Per Minute) का पता कर सकते हैं और उसके बाद में उसे बड़े ही आराम से रीमिक्स कर सकते हैं.

तू यहां पर आपको ऐसे स्टूडियो के अलग-अलग ऑप्शन के बारे में बताया गया है लेकिन यह बहुत ही थोड़ा बताया गया है क्योंकि एक पोस्ट के अंदर हम ज्यादा कुछ नहीं बता सकते हैं इसके लिए आपको इसका वीडियो देखकर इस सॉफ्टवेयर को चलाना सीखना होगा और बार-बार प्रैक्टिस करने पर आपको यह सॉफ्टवेयर चलाना आ जाएगा.

इसके अलावा आप इस सॉफ्टवेयर का कोर्स करके भी इसे बड़े ही आराम से और काफी जल्दी सीख सकते हैं जिससे कि आप अपना खुद का म्यूजिक Produce कर सकते हैं अपने खुद के सॉन्ग बना सकते हैं.

Shortcuts Keys

हर एक सॉफ्टवेयर की कोई ना कोई शॉर्टकट की होती है जिसकी मदद से आप उस सॉफ्टवेयर के अंदर काफी जल्दी काम कर सकते हैं. तो इसी प्रकार एफ एल स्टूडियो की भी कुछ शॉर्टकट की है जिसके बारे में नीचे आपको बताया गया है और इन शॉर्टकट की का उपयोग करके आप अपने सॉफ्टवेयर को जल्दी चला सकते हैं

Keys/Action File Operations
Ctrl+O Open file
Ctrl+S Save file
Ctrl+N Save new version
Ctrl+Shift+S Save As…
Ctrl+R Export wave file
Ctrl+Shift+R Export mp3 file
Ctrl+Shift+M Export MIDI file
Alt+0,1..9 Open recent files 0..9
Ctrl+Shift+H (Re)arrange windows
Keys/Action Record / Playback / Transport
Backspace Toggle Line/None Snap
Space Start/Stop Playback
Ctrl+Space Start/Pause Playback
L Switch Pattern/Song mode
R Switch On/Off recording (This also works during playback)
0 (NumPad) Fast forward
/ (NumPad) Previous bar (Song mode)
* (NumPad) Next bar (Song mode)
Ctrl+E Toggle Step Edit mode
Ctrl+H Stop sound (panic)
Ctrl+T Toggle typing keypad to piano keypad
Ctrl+B Toggle blend notes
Ctrl+M Toggle metronome
Ctrl+P Toggle recording metronome precount
Ctrl+I Toggle wait for input to start recording
Keys/Action Window Navigation
Tab Cycle nested windows
F8 Open Plugin Picker
Enter Toggle Max/Min Playlist
Esc Closes a window
F1 This Help
F5 Toggle Playlist
F6 Toggle Step Sequencer
F7 Toggle Piano roll
Alt+F8 Show/hide Sample Browser
F9 Show/hide Mixer
F10 Show/hide MIDI settings
F11 Show/hide song info window
F12 Close all windows
Ctrl+Shift+H Arrange windows

ये भी देखे

  1. Hindi Female Dj Voice Tag कैसे बनाए
  2. FL Studio में Bollywood Song Remix कैसे करे
  3. Fl Studio Me में सांग का म्यूजिक कॉपी कैसे करे
  4. सांग से म्यूजिक और Vocal अलग कैसे करे
  5. Old सांग की BPM कैसे पता करे
  6. FL Studio में Vocal Mono से Stereo कैसे बनाये
  7. FL Studio में Punjabi Dhol Beat कैसे बनाये

इस पोस्ट में आपको fl studio 12 tutorial in hindi download fl studio hindi remix fl studio hindi project files fl studio hindi video fl studio 12 tutorial in hindi pdf fl studio tutorial in hindi pdf fl studio tutorial pdf download how to remix a hindi song in fl studio 11 के बारे में बताया गया है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें. और इस पोस्ट को शेयर जरूर करें ताकि दूसरे भी इस जानकारी को जान सकें.

57 Comments

Leave a Comment