Fingerprint Scanner कैसे काम करता है

Fingerprint Scanner कैसे काम करता है

आजकल लगभग जितने भी मोबाइल आ रहे हैं उन सभी में Fingerprint सेंसर आपको देखने को मिल जाएगा और आपने यह जरूर सोचा होगा  यह कैसे हमारे उंगली को स्कैन करके फोन में बहुत से काम करता है और जब हम दूसरे किसी का हाथ का उंगली इस्तेमाल करते हैं तब हमारा फोन अनलॉक नहीं होता है। Fingerprint स्कैनर से आपके मोबाइल की सिक्योरिटी और बढ़ जाती है। आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि Fingerprint सेंसर कैसे काम करता है और ये कितने टाइप के होते हैं।

Fingerprint सेंसर कैसे काम करता है

यह साधारणता तीन प्रकार के होते हैं।

1. Optical Fingerprint Scanner

2. Capacitive Fingerprint Scanner

3. Ultrasonic Fingerprint Scanner

Optical Fingerprint Scanner

इसमें आपके उंगली की फोटो केप्चर की जाती है और उससे जब भी आप अपने मोबाइल को अनलॉक करने के लिए अपनी उंगली लगाते हैं तो आपके फिंगर के जो निशान और लाइन को उस फोटो से मैच करा कर फोन को अनलॉक किया जाता है। साधारणता यह Technology हमारी उंगली की फोटो लेकर और उससे Compare करा कर फिर हमारे Fingerprint को वेरीफाई करती है। तो इस तरह से Optical Fingerprint Scanner काम करता है।

जैसा के ऊपर फोटो में दिखाया गया है वहां पर आप देख सकते हैं एक तरफ LED लाइट है और दूसरी तरफ एक लेस लगाया गया है जिससे जब भी आप किसी Fingerprint सेंसर के लिए अपनी उंगली का निशान वेरीफाई करते हैं तब लाइट सोर्स की मदद से कैमरा सेंसर एक फोटो ले लेता है जिससे वह बाद में वेरिफाई करके आपके फोन को अनलॉक कर सके। यह बहुत ही पुरानी Technology है जो कि सो प्रतिशत सिक्योर नहीं है। इसमें कोई भी Fingerprint की इमेज का इस्तेमाल करके आपके फोन को अनलॉक कर सकता है और इसका इस्तेमाल आजकल किसी भी स्मार्टफोन में नहीं किया जाता है।

Capacitive फिंगर प्रिंट Scanner

यह काफी एडवांस Technology है जिसमें इमेज कैंसर की जगह Capacitive प्लेट और कैपेसिटर का उपयोग किया जाता है। जैसा कि आप ऊपर फोटो में देख सकते हैं। आसान भाषा में कहें तो यह आपकी Fingerprint की लाइन और आपके लाइनों के बीच में जगह को इलेक्ट्रॉनिक चार्ज capacitor में स्टोर कर लेता है जैसे आप जब भी अपनी फिंगर Capacitive प्लेट पर रखते हैं तो उस समय कंडक्टर प्लेट आपके फिंगर की लाइन और आपके लाइन के बीच में स्पेस को अलग अलग इलेक्ट्रॉनिक्स चार्ज स्टोर करेगा जिसको जिसको वह बाद में स्टोर चार्ज से वेरीफाई करके आपके फोन को अनलॉक कर देगा। इस तरह के Scanner में बहुत से capacitor लगाए जाते हैं जिनकी मदद से आपके Fingerprint को सेव रखा जा सके और ज्यादा का capacitor इसकी हाई एक्यूरेसी भी देता है। ताकि आपके मोबाइल की सिक्योरिटी और ज्यादा बढ़ सके। यह Technology बहुत ही खर्चीली है और आजकल के मोबाइलों में इसी का इस्तेमाल किया जाता है।

Ultrasonic Fingerprint Scanner

यह सबसे लेटेस्ट Technology है जिसको की क्वालकॉम स्नैपड्रैगन की कंपनी ने बनाया है। यह एक 3D Fingerprint Technology है जिसका उपयोग Le Max Pro स्मार्टफोन में किया गया है। इस Technology में हार्डवेयर में Ultrasonic ट्रांसमीटर और रिसीवर लगा हुआ होता है जब आप Scanner पर उंगली रखते हैं तो Ultrasonic ट्रांसमीटर कुछ सिग्नल भेजता है। जो आपके उंगली को टच करती है जिसमें से कुछ सिग्नल उंगली पर रह जाते है और बची हुई सिग्नल वापस आ जाती है और यही वापस आने वाले सिग्नल को रिसीवर रिसीव करके उससे 3D इमेज बनाता है। इस तरह से ही आपके मोबाइल में आपका Fingerprint store और वेरीफाई होता है और उसके बाद आपका फोन अनलॉक हो जाता है।

तो यह तीन प्रकार की Technology है जिसके बारे में हमने आपको बताया है कि Fingerprint सेंसर कितने प्रकार के होते हैं और यह कैसे काम करते हैं और यह किस तरह से आपकी उंगली को स्कैन करके आपके मोबाइल को अनलॉक करते हैं। तो इसके बारे में अगर आपको कुछ और जानना है तो आप नीचे हमारे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

4 Comments
  1. Prince kumar aditya says

    Meri puri jankari mil chuki hain !Dhanyavad

  2. Prince kumar aditya says

    Meri puri jankari mil chuki hain !Dhanyavad

  3. Prince kumar aditya says

    Meri puri jankari mil chuki hain !Dhanyavad

  4. Aravsingh says

    Sir kiya hum khud phone mai fingerprint sensor laga sakte hai kiya mai chata hnu ki apne phone mai finger print lagaker dakhnu kiya yeh possible hai Plz just reply

Leave A Reply

Your email address will not be published.