Answer for महात्मा गांधी के रामराज्य के युगल सिद्धांत कौन-से थे?

गांधीजी के रामराज्य के युगल सिद्धान्त सत्य, अहिंसा में निहित है। गांधीजी सत्य एवं अहिंसा दोनों को ही किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति में महत्वपूर्ण मानते थे। सत्य एवं अहिंसा समाज में भेदभाव को समाप्त करता है। भेदभाव जैसी करीति के दूर होते ही समाज रामराज्य जैसी अवधारणा की ओर आगे बढ़ता है। रामराज्य की स्थापना का उद्देश्य ही समाज को सभी प्रकार की कुरीतियों, कष्टों व आर्थिक कमजोरियों से निजात दिलाकर आत्मनिर्भरता की प्राप्ति है।