Answer for बौद्ध धर्म तथा जैन धर्म दोनों किसमें विश्वास करते हैं ?

जैन धर्म और बौद्ध धर्म दोनों ही कर्म तथा पुनर्जन्म में विश्वास करते थे। इसके अलावा बौद्ध धर्म मध्यम मार्ग का उपदेश देता है तो जैन धर्म मोक्ष के लिए घोर तपस्या तथा शरीर त्याग का आदेश देता है। बौद्ध धर्म आत्मा के अस्तित्व में विश्वास नहीं करता था वही महावीर आत्मा में विश्वास करते थे। कर्मवाद तथा मोक्ष सम्बन्धी दोनों धर्मों के विचार भिन्न भिन्न हैं। जैन धर्म कर्म को एक भौतिक तत्व के। रूप में मानता है जबकि बौद्ध धर्म इच्छा द्वारा किये गये कार्य को ही कर्म कहता है। इसी प्रकार जैन मत के अनुसार मोक्ष का अर्थ शरीर विनाश है। जबकि बौद्ध मत के अनुसार निर्वाण इस जीवन में भी प्राप्त हो सकता है। स्वयं बुद्ध का जीवन इसका प्रमाण है। गौतम बुद्ध ने जाति-पाँति जैसी सामाजिक कुरीतियों का जितने प्रबल शब्दों में खण्डन किया, महावीर ने नहीं किया। सामाजिक विषयों में महावीर के विचार ब्राह्मणों से बहुत मिलते-जुलते थे। इस प्रकार देखा जाय तो ये दोनों धर्म वैदिक धर्म के सुधारवादी स्वरूप थे।