Answer for फराजी विद्रोह का नेता कौन था?

फरैजी लोग बंगाल के फरीदपुर के वासी हाजी शरीयतुल्ला द्वारा चलाए गए सम्प्रदाय के अनुयायी थे। ये लोग अनेक धार्मिक सामाजिक तथा राजनैतिक आमूल परिवर्तनों का प्रतिपादन करते थे। शरीयतुल्ला के पुत्र दादू मियाँ (1819-60 ई.) ने बंगाल से अंग्रेजी को निकालने की योजना बनाई। यह सम्प्रदाय भी जमींदारों द्वारा अपने मुजारों पर अत्याचारों के विरोध में था। फरैजी उपद्रव 1838 से 1857 तक चलते रहे। तथा अंत में इस सम्प्रदाय के अनुयायी वहाबी दल में सम्मिलित हो गये।