Answer for गुरुत्वीय त्वरण से आप क्या समझते हैं ?

जब कोई वस्तु पृथ्वी की ओर गिरती है तब त्वरण कार्य करता है। यह त्वरण पृथ्वी के गुरुत्वीय बल के कारण होता है। इस त्वरण को पृथ्वी के गुरुत्वीय बल के कारण गुरुत्वीय त्वरण कहते हैं। इसे ‘G’ से निर्दिष्ट करते हैं। ‘G’ के मात्रक M S2 हैं।
गति के दूसरे नियम के अनुसार द्रव्यमान तथा त्वरण का गुणनफल है। यदि किसी पत्थर का द्रव्यमान M है और उस पर गुरुत्वीय बल के कारण त्वरण लगता है तो गुरुत्वीय बल का परिमाण F, द्रव्यमान तथा गुरुत्वीय त्वरण के गुणनफल के बराबर होगा,
F = Mg
समीकरणों से हमें प्राप्त होता है।

या

जहां पर M पृथ्वी का द्रव्यमान है तथा D वस्तु तथा पृथ्वी के बीच की दूरी है।
यदि कोई वस्तु पृथ्वी पर या इसकी सतह के पास है तो दूरी 4, पृथ्वी की त्रिज्या R के बराबर होगी। जिस कारण पृथ्वी की सतह पर या इसके समीप रखी वस्तुओं के लिए,