Answer for किसने भारत में अंग्रेजों का सर्वाधिक विरोध किया ?

भारत में अंग्रेजों का सर्वाधिक प्रबल विरोध मराठों द्वारा प्रस्तुत किया गया। परंतु पानीपत के तृतीय युद्ध के पश्चात् भारत में मराठों की श्रेष्ठता समाप्त ही हो गई, और अंग्रेजों के पैर मजबूती से जम गये। वेलेजली ने 1802 में पेशवा को बसीन की सहायक संधि करने के लिए बाध्य किया और 1818 में लार्ड हेस्टिंग्स ने मराठों की रही सही शक्ति को समाप्त कर भारत में ब्रिटिश सर्वोच्चता की स्थापना की।