Answer for ‘करो या मरो’ का नारा किसने दिया ?

महात्मा गाँधीजी के भाषण का बिजली जैसा असर हआ। सबसे पहले तो उन्होंने स्पष्ट किया कि ‘असली संघर्ष इसी क्षण से शुरू नहीं हो रहा है। आपने सिर्फ अपना फैसला करने का अधिकार मुझे सौंपा है। अब मैं वायसराय से मिलँगा और उनसे कहँगा कि वे कांग्रेस का प्रस्ताव स्वीकार कर लें। इसमें दो या तीन हफ्ते लग जायेंगे। लेकिन इतना आप निश्चित जान लें कि मैं मंत्रिमण्डलों आदि पर वायसराय से कोई समझौता नहीं करने जा रहा हैं। सम्पर्ण आजादी से कम किसी भी चीज से मैं संतुष्ट होने वाला नहीं हूँ। लेकिन मेरे शब्द होंगे, ‘आजादी से कम कुछ भी नहीं इसके तुरंत बाद ही उन्होंने यह ‘करो या मरो’ का नारा दिया था ।