Apple के Iphone इतने महंगे क्यों होते हैं

Apple के Iphone इतने महंगे क्यों होते हैं?

Apple एक अमेरिकन कंपनी है जो हर साल अपना नया एप्स मोबाइल मार्केट में बेचने के लिए लाती है। परंतु उसकी कीमत बहुत ज्यादा होती है तभी आपके मन में एक सवाल आता होगा कि आईफोन इतने महंगे क्यों होते हैं? कौन से कारणों की वजह से एंड्रॉयड के मामले में आईफोन इतने महंगे होते हैं इन सारे प्रश्नों का हम जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Iphone हमको एंड्राइड से दुगनी कीमत में मिलते हैं। आईफोन महंगा होने का बहुत सारे कारण निर्भर करते हैं परंतु आईफोन में बहुत सारे लिमिटेशंस होती है। आप जो एंड्राइड में कर सकते हैं वह आईफोन में नहीं कर सकते परंतु फिर भी आईफोन एंड्राइड से ज्यादा महंगे हैं उसके बहुत सारे कारण हैं जो आपको हम नीचे समझाने की कोशिश करेंगे।

आईफोन एप्पल के द्वारा बनाए जाते हैं और एप्पल एक अमेरिकन कंपनी है जिसकी शुरुआत आज से 44 वर्ष पहले 1976 में हुई थी। पहले एप्पल कंपनी कंप्यूटर का काम करती थी परंतु धीरे-धीरे करके यह स्मार्टफोन की तरह आ गई।

एप्पल की स्थापना स्टीव जॉब्स और अन्य दो व्यक्ति ने मिलकर की थी और आज भारत में सबसे ज्यादा महंगे फोन एप्पल के ही होते हैं।

एप्पल अपने आईफोन पूरे विश्व में भेजती है जिसमें 510 रिटेलर शॉप भी शामिल है और इस कंपनी में 137000 लोग काम करते हैं।

आईफोन क्यों महंगे होते हैं?

1 Security and Privacy

आईफोन महंगा होने का यह मुख्य कारण है कि आईफोन में उसकी सिक्योरिटी बहुत ज्यादा तेज होती है और आईफोन को बहुत आसानी से Hack करना भी बहुत मुश्किल होता है। ज्यादातर लोग एंड्राइड को रूट करके उसमें छेड़छाड़ करते हैं परंतु आईफोन में यह करना मुश्किल है।

सभी लोग अपनी प्राइवेसी को छुपा के रखना चाहते हैं उनके लिए एप्पल एक महत्वपूर्ण साधन है क्योंकि एप्पल को हैक करना इतना आसान नहीं है जितना आप एंड्रॉयड में कर सकते हैं।

आईफोन में iOS नाम की उनकी अलग ऑपरेटिंग सिस्टम है। जो आईफोन को सुरक्षित और तेज बनाती है और आईफोन एंड्राइड की मात्रा में बहुत ज्यादा तेज होते हैं। दरअसल एंड्राइड सिस्टम गूगल के द्वारा बनाई गई है और यह एक ओपन सोर्स होने के कारण उसे अन्य कंपनियां इस्तेमाल कर सकती है जैसे कि एमआई, विवो, ओप्पो एंड्राइड का उपयोग करती है। परंतु एप्पल में उसका खुद का है ऑपरेटिंग सिस्टम है जो सिर्फ आईफोन में और एप्पल के लैपटॉप में प्रयोग में किया जाता लिया जाता है।

2 Processing Power and Operating System

अगर हम आईफोन और एंड्रॉयड की तुलना करें तो आईफोन एंड्राइड से कहीं मात्रा में उनसे बहुत तेज होते हैं उसकी मुख्य वजह उनकी ऑपरेटिंग सिस्टम और उनका processor है।

अगर आप वीडियो एडिटिंग के लिए आईफोन को यूज करते हैं तो एंड्राइड के मुकाबले आई फोन में वीडियो एडिटिंग की रेंडरिंग फाइल तुरंत बन जाती है। इसके साथ-साथ आई फोन के प्रोसेसर एंड्राइड से बहुत तेज होते हैं उसकी वजह से इसमें गेम खेलने में भी मजा आता है।

एंड्राइड में जो प्रोसेसर लगा होता है वह एंड्राइड वाले थर्ड पार्टी से लेते हैं परंतु आईफोन में उसका खुद का प्रोसेसर होता है। इसकी वजह से वह एंड्राइड के मुकाबले बहुत ज्यादा फास्ट होता है।

एंड्राइड की जो ऑपरेटिंग सिस्टम है वह गूगल की है जो एक open-source है और उसे हर कोई भी मैन्युफैक्चर कंपनी यूज कर सकती है। परंतु आईफोन में उसका कस्टम और खुद का ios है जो आपके मोबाइल को सुरक्षित और तेज बनाने में मदद करता है।

3 Display And Camera Quality

अगर कभी आपने भी आईफोन का इस्तेमाल किया होगा तो आपको भी एंड्रॉयड के डिस्प्ले और आईफोन डिस्प्ले में जमीन आसमान का फर्क आपको देखने को मिला होगा।

आईफोन की एक और खासियत है जिसमें डिस्प्ले और कैमरा क्वालिटी का समावेश होता है। आपने कहीं बार देखा होगा कि आईफोन की कैमरा क्वालिटी एंड्रॉयड के मुकाबले बहुत अच्छी होती है और फोटो बहुत अच्छे आते हैं।

दरअसल एप्पल के कैमरा में प्रयोग होने वाले लेंस बहुत महंगे होते हैं। इसकी वजह से उस में आने वाली इमेज की clarity एंड्राइड से बहुत ज्यादा मजबूत होती है।

इसे के साथ-साथ अगर हम एप्पल आईफोन के डिस्प्ले की बात करें तो वह भी बहुत क्लियर और कम बेजल्स वाली होती है। इसकी वजह से उसकी डिस्प्ले एंड्रॉयड के मुकाबले साफ दिखाई देती है।

अगर अभी के समय की बात करें तो आजकल एंड्राइड के मोबाइल भी बहुत अच्छी-अच्छी डिस्प्ले बनाने लगे हैं जिन वजह से उनकी सेल में बहुत बढ़ोतरी हुई है।

4 Brand Value and Trust

अगर हम एंड्राइड मोबाइल की तुलना आईफोन से करें तो आईफोन की ब्रांड वैल्यू बहुत ज्यादा है हर कोई आईफोन को खरीदना चाहता है। आईफोन के महंगे होने के तीन कारण तो आपको हमने ऊपर समझा है। परंतु अन्य कंपनियों की मात्रा में आईफोन की ब्रांड वैल्यू और उसका भरोसा लोगों में ज्यादा देखने को मिलता है। इसकी वजह से आई फोन की कीमत में बहुत ज्यादा उछाल देखने को मिलता है।

आजकल के लोग आईफोन को सिर्फ दिखाने के लिए खरीदते हैं क्योंकि आईफोन के मोबाइल बहुत महंगे आते हैं इसकी वजह से शोऑफ करने में आईफोन का ज्यादातर इस्तेमाल किया जाता है। और इसकी वजह से आईफोन की brand value में बढ़ोतरी होती है और आईफोन दिन प्रतिदिन महंगे होते जाते हैं।

आईफोन एक बहुत बड़ी कंपनी है और उसकी सुरक्षा और प्राइवेसी को हर कोई जानता है। इसकी वजह से लोगों में आएफोन पर एक भरोसा बन गया है। और उस भरोसे के कारण आईफोन के मोबाइल कंपनी और महंगे कर देती है क्योंकि जिनको जरूरत है वह इस मोबाइल को जरूर खरीदगे।

निष्कर्ष:

मुझे उम्मीद है कि आप समझ गए होंगे कि एंड्राइड के मुकाबले आईफोन महंगे क्यों होते हैं? हमने आपको 4 पॉइंट दिए हैं जिसमें आपको पूरा समझाने की कोशिश की है कि आईफोन महंगी क्यों होते हैं? परंतु अभी भी आपके मन में कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं जिसको हम जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले। और नीचे कमेंट करके एक बात है जरूर हमें बताएं कि आप एंड्रॉयड और आईफोन में से कौन सा मोबाइल ज्यादा पसंद करते हैं धन्यवाद।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

2 Comments
  1. LARENSH PAHADIA says

    iPhone main paid service kon kon se hoti hai sabhi paid service

  2. daily new things says

    v nice imformation sir kafi zaankari milti hai

Leave A Reply

Your email address will not be published.