Online Transition करते समय किन किन बातों का ध्यान रखे

Online Transition करते समय किन किन बातों का ध्यान रखे

नोटबंदी के बाद कैशलेस का ट्रेंड बन गया है कैशलेस का मतलब है आप आपने अकाउंट से दूसरे के अकाउंट मे पैसे भेजना वो भी बिना बैंक जाए। इसके लिए सरकार ने बहुत ज़ोर लगा रही है की इंडिया को कैशलेस देश बनाए। अगर आप अपने अकाउंट को सुरक्षित रखना चाहते है तो कुछ बाते जरूर ध्यान मे रखे जिससे आप आजकल होने वाले साइबर क्राइम का शिकार होने से बच सकते है।

यहा हम आपको कुछ कैशलेस देश के नाम बता रहे है जिनमे से सबसे पहले नंबर आता है सिंगापुर का जिसमे के 61% ऑनलाइन पैसे ट्रान्सफर होते है। इसके बाद nether land, France, Sweden, Canada, Belgium, UK, USA, Spain और भी बहुत से देश है जिनमे ऑनलाइन ट्रान्सफर सबसे ज्यादा होता है। और इस सब के बाद इंडिया मे सिर्फ 2% ऑनलाइन मनी ट्रान्सफर होते है।

Online पैसे भेजते समय किन किन बातों का ध्यान रखे

 ऑनलाइन पैसे भेजते समय हमें काफी बातों का ध्यान रखना पड़ता है जैसे कि अपना कार्ड इस्तेमाल करने को किसी दूसरे को कभी न दे। कार्ड इस्तेमाल करते वक़्त अपना पिन छुपा कर ही इस्तेमाल करे। ट्रान्सफर होने के बाद रसीद जरूर ले ले। आप अपने कार्ड का पिन किसी को ना बताए। इसके अलावा और भी काफी बातें हैं जिनका ध्यान हमें रखना बहुत जरूरी है तो नीचे आपको वैसी ही कुछ जरूरी बातें बताई गई है जो कि आपको ऑनलाइन पैसे भेजते समय है या कोई भी ट्रांजैक्शन करते समय ध्यान में रखनी बहुत ही जरूरी है इन बातों को ध्यान में रखकर आप अपनी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को ज्यादा सुरक्षित बना सकते हैं.

1.Official App Or Website का USE करे

आपको ऑनलाइन ऐसी बहुत सारी वेबसाइट और Phoneky ऐप मिलेंगी जिसकी मदद से आप किसी के भी पास ऑनलाइन बड़ी ही आसानी से वह भी 1 मिनट में पैसे भेज सकते हैं लेकिन सभी वेबसाइट और ऐप सही नहीं होती कुछ ऐप्स और वेबसाइट फ्रॉड होती है. जो सिर्फ आपके पैसे ले लेते हैं. और वह कहीं पर भी आपका पैसा ट्रांसफर नहीं करता ऐसे में आप अपने सारे पैसे गंवा बैठते हैं .तो इन्हीं सभी वेबसाइट और एप्प से आपको बचना है आपको अपने बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट और एक को ही इस्तेमाल करना है चाहे आप ऑनलाइन पैसे भेजे या ऑनलाइन रिचार्ज करें ऑनलाइन जो भी ट्रांजैक्शन आप करते हैं उसके लिए आप अपने बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट या ऐप का ही इस्तेमाल करें.

अगर आप हमारी सलाह मानें तो आप ऑनलाइन पैसे भेजने के लिए यूपीआई ऐप का इस्तेमाल करें कुछ दिन पहले हमने Google Tez Payment App के बारे में बताया था यह Google कंपनी की तरफ से है और बहुत ही सुरक्षित ऐप है इस ऐप की मदद से आप किसी के भी बैंक में सीधा अपना पैसा भेज सकते हैं वह भी 1 मिनट में और इसके लिए आपको सिर्फ एक बार अपने बैंक की जानकारी इस ऐप में पानी है फिर आपको कहीं पर भी आपके बैंक की जानकारी बताने की जरूरत नहीं पड़ेगी किसी एक की मदद से आप किसी के भी बैंक में चाहे किसी भी कंपनी का बैंक हो आप बड़ी ही आसानी से पैसे भेज सकते हैं.

2. अपने बैंक और कार्ड की जानकारी को सुरक्षित रखे

जब हम ऑनलाइन कोई भी ट्रांजैक्शन करते हैं तो हमसे हमारे बैंक और हमारे क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की डिटेल पूछी जाती है और यह डिटेल बहुत ही गोपनीय होती है तो किसी भी दूसरे व्यक्ति से अपने बैंक से पैसे ट्रांसफर ना करवाएं या अपने बैंक या क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की जानकारी किसी भी व्यक्ति को ना दें अगर आपने अपने क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की डिटेल किसी भी व्यक्ति को दे दी तो आपके बैंक अकाउंट से पैसे निकालना बहुत ज्यादा आसान हो जाता है तो यह जानकारी आप किसी भी व्यक्ति को ना दें और ना ही किसी व्यक्ति को अपने क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड का पिन नंबर बताएं.

3. सावधानीपूर्वक कार्ड का इस्तेमाल करे

आज कल बैंकों में पैसे भेजने की सुविधा और भी आसान हो गई है आप अपने कारण से ही सीधे किसी के भी अकाउंट में पैसे भेज सकते हैं तो जब भी आप किसी बैंक में अपने कार्ड की मदद से पैसे भेज रहे हो तब अपने कार्ड की जानकारी को छुपाकर भरें और किसी भी अन्य व्यक्ति को अपने पास खड़ा ना होने दें और अपने क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड का पिन भरते समय उसे भी छुपा कर भरी ताकि उसे कोई देख ना ले.

4.Credit Card और Debit Card का पिन बदले

हमारे क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड पर पूरी जानकारी होती है उसका नंबर उसकी एक्सपायरी डेट और उसका सीवीवी नंबर इन्हीं तीनों की मदद से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन की जा सकती है लेकिन इसी के साथ हमें एक दिन की भी जरूरत पड़ती है और हर एक क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड का पिन नंबर होता है जो कि हमेशा गोपनीय रखा जाता है तो इस पिन नंबर को हमें समय-समय पर बदलते रहना चाहिए .अगर आप का पिन नंबर किसी को पता भी चल जाए तो अगर आपने वह बदल लिया है तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है जहां तक संभव हो आप अपने पिन को 1 महीने में या 2 महीने में एक बार जरूर बदलने.

5. सावधानीपूर्वक Internet Banking का इस्तेमाल करे

ऑनलाइन पैसे भेजने के लिए या कोई भी ट्रांजैक्शन करने के लिए इंटरनेट बैंकिंग बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल की जाती है इंटरनेट बैंकिंग में आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड दिया जाता है जो कि आपके बैंक अकाउंट के साथ में जुड़ा होता है जैसे कि हमारा Facebook अकाउंट होता है वैसे ही आपका इंटरनेट बैंकिंग का अकाउंट काम करता है इंटरनेट बैंकिंग वैसे तो बहुत ज्यादा सुरक्षित बनाई गई है लेकिन इसके हक होने की संभावना भी बहुत ज्यादा होती है इंटरनेट बैंकिंग में आपको एक पासवर्ड दिया जाता है.

जिससे आप लोग इन करते हैं वह पासवर्ड आप समय-समय पर बदलते रहें और इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल आप किसी दूसरे कंप्यूटर या मोबाइल पर ना करें आजकल ऐसे बहुत सारे सॉफ्टवेयर आते हैं जो कि आपके इंटरनेट बैंकिंग का पासवर्ड बड़ी आसानी से हैक कर लेते हैं और आपको पता भी नहीं चलता तो इसीलिए आप अपने इंटरनेट बैंकिंग का पासवर्ड समय-समय पर बदले और इस्तेमाल करते समय जहां तक संभव हो अपने कंप्यूटर या अपने पर्सनल मोबाइल पर ही इसका इस्तेमाल करें.

6. Internet Banking URL की जाँच करे

जब आप इंटरनेट बैंकिंग की मदद से किसी भी दूसरी वेबसाइट पर ट्रांजैक्शन करते हैं जैसे कि अगर मान लो आप ऑनलाइन कोई शॉपिंग कर रहे हैं तो वहां पर आप अपने इंटरनेट बैंकिंग की मदद से पेमेंट करेंगे तो आपको वह पेमेंट के लिए आपके बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट पर भेजेंगे तो वहां पर आपको जो ऊपर दिया गया यूआरएल है वह देखना है कि आपके बैंक के नाम से ही है या किसी और नाम से जैसे कि onlinesbi.com  यह SBI बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट है इसी तरह दूसरे बैंकों के भी ऑफिशियल वेबसाइट होती है और जब हम कोई भी ट्रांजैक्शन करते हैं तो इन ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ही वह पेमेंट पूरी कर सकते हैं अगर आपको लगे कि आप की पेमेंट किसी दूसरे url पर करवाई जा रही है तो तुरंत उस वेबसाइट को बंद कर दें और वह पेमेंट पूरी ना करें.

7. Anti-virus का इस्तेमाल करे

एंटीवायरस का नाम तो आपने जरूर सुना होगा यह हमारे कंप्यूटर में ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से काम करता है अगर आपके कंप्यूटर में किसी पेन ड्राइव या किसी दूसरे स्टोरेज डिवाइस से कोई वायरस आपके कंप्यूटर में आता है तो वह एंटीवायरस द्वारा रोक दिया जाता है तो इसी तरह जब हम ऑनलाइन किसी वेबसाइट पर जाते हैं और उस वेबसाइट पर कोई वायरस या हैकिंग टूल इस्तेमाल किया जाता है. जिससे हमारी प्राइवेट जानकारी है की जा सके ऐसी टूल को एंटीवायरस रोक देता है तो अपने कंप्यूटर को ऑनलाइन हैक होने से बचाने के लिए आप एंटीवायरस का इस्तेमाल जरुर करें जिससे कि आप अपनी पर्सनल जानकारी को ज्यादा सुरक्षित रख सकते हैं.

8.Public Computers का इस्तेमाल न करे

हमारी पर्सनल जानकारी और बैंक से संबंधित कोई भी जानकारी हैक होने का खतरा पब्लिक कंप्यूटर से होता है पब्लिक कंप्यूटर पर कोई भी व्यक्ति आकर उसे इस्तेमाल कर सकता है तो अगर आपको कभी भी पब्लिक कंप्यूटर का इस्तेमाल करना पड़े तो आप अपनी कोई भी पर्सनल जानकारी उस कंप्यूटर में ना डालें और खासकर अपने बैंक की डिटेल या ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कभी भी किसी पब्लिक कंप्यूटर से ना करें.

यहा बताए गए कुछ बाते आगर आप ध्यान मे रखते है तो आपको अपने अकाउंट के हेक होने वाली प्रोब्लम से बच सकते है। तो इन बातो को ध्यान मे रखे और इंडिया को कैशलेस देश की नंबर एक स्थान पर लाने मे अपना सहयोग जरूर दे।

internet Banking
Comments (0)
Add Comment