क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड क्या होता है डेबिट और क्रेडिट कार्ड में अंतर

क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड क्या होता है डेबिट और क्रेडिट कार्ड में अंतर
आज  डिजिटल पेमेंट का ट्रेंड बहुत चल रहा है हर कोई हर कोई कैशलेस ट्रांजैक्शन करना चाहता है क्योकि इस से केश पॉकेट में  रखने की समस्या कम हो जाती है और डिजिटल पेमेंट से किसी को भी पेमेंट कर सकते हैं और शॉपिंग भी आसानी से कर सकते हैं और डिजिटल पेमेंट से शॉपिंग में बहुत सी छुट मिलती है जब कोई डिजिटल पेमेंट करना चाहता है तो पेमेंट उसके बैंक अकाउंट से कटती है  यानी कि यदि डिजिटल पेमेंट करना चाहते हैं तो आपका बैंक अकाउंट होना बहुत जरूरी है जो कई प्रकार का अकाउंट हो सकता है जैसे सैलरी अकाउंट ,सेविंग अकाउंट ,करंट अकाउंट, या जॉइंट अकाउंट, कोई भी बैंक अकाउंट हो आप उससे डिजिटल पेमेंट कर सकते हैं. आप एक अकाउंट पर डेबिट और क्रेडिट कार्ड दोनों ले सकते है
और जब आप बैंक में अकाउंट खुलवाने जाते हैं तो आपको अकाउंट ओपन करने के साथ एक कार्ड दिया जाता है जिसे ATM कार्ड कहते है और इसे डेबिट कार्ड भी करते हैं  डेबिट कार्ड से आप डिजिटल ट्रांजैक्शन कर सकते हैं लेकिन इस कारण से पेमेंट करने के लिए आपके बैंक अकाउंट के अंदर बैलेंस होना जरूरी है लेकिन आपको बता दें कि डेबिट कार्ड से अलग एक और कार्ड बैंक द्वारा दिया जाता है जिसे क्रेडिट कार्ड कहते हैं इस कार्ड से भी डिजिटल ट्रांजैक्शन कर सकते हैं लेकिन यह कार्ड सभी को नहीं दिया जाता है केवल कुछ ही लोग इस कारण को बनवा सकते हैं जिनकी सैलरी हर महीने आती हो या वह हर महीने बहुत ज्यादा पैसों की ट्रांजैक्शन करते हो कार्ड का काम दोनों का एक ही होता है लेकिन इनमें कुछ खास अंतर भी होता है.

अगर आसान भाषा में कहे क्रेडिट कार्ड पोस्टपेड होता है .मतलब अगर आपके अकाउंट में पैसे नहीं है .आप फिर भी शॉपिंग कर सकते है , और बाद में जब आप अकाउंट में पैसे डालोगे तो आपके एकाउंट से पैसे काट लिए जाएँगे जीतने की आपने शॉपिंग की है , और डेबिट कार्ड प्रीपेड होता है. आपके अकॉउंट में पैसे है तो ही आप कुछ खरीद सकते है या पैसे निकलवा सकते है लेकिन क्रेडिट कार्ड एक और ऐसा काम कर सकता है जो डेबिट कार्ड नहीं कर सकता  वो है आटोमेटिक पेमेंट . अगर आपने कंही ऑनलाइन अपना क्रेडिट कार्ड सेव किया है और आटोमेटिक पेमेंट का आप्शन सेलेक्ट किया है तो आपकी पेमेंट अपने आप हो जाएगी,आपको नीचे आपको क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान के बारे में बताऊंगा और आप कैसे क्रेडिट कार्ड बनवा सकते है .

डेबिट कार्ड क्या है

What is debit card in Hindi ? डेबिट कार्ड को बैंक कार्ड या चेक कार्ड  भी कहा जाता है एक प्लास्टिक कार्ड है और यह बैंक के दिया जाता है  जब आप बैंक के अंदर अपना अकाउंट खुलवाने जाएंगे तो बैंक द्वारा अकाउंट ओपन करने के साथ आपको एक प्लास्टिक का कार्ड  दिया जाएगा जिसे ATM या डेबिट कार्ड कहा जाता है आप डेबिट कार्ड की सहायता से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन या शॉपिंग  या ATM मशीन से कैश कलवा सकते हैं
और Debit Card से हम उतने ही अपने Account से पैसे निकाल सकते है जितना की हमारे Account में Balance Available होता है लेकिन आप डेबिट कार्ड से उतना ही कैसे निकलवा सकते हैं जितना आपके बैंक अकाउंट में अवेलेबल होता है  और डेबिट कार्ड को इलेक्ट्रॉनिक चेक भी कहा जाता है क्योंकि इससे अकाउंट से सीधे पैसे निकलवा सकते हैं

डेबिट कार्ड के प्रकार

बैंक द्वारा कस्टमर को कोई एक प्रकार का क्रेडिट कार्ड नहीं दिया जाता बल्कि कई प्रकार के क्रेडिट कार्ड दिए जाते हैं जो  card service provider द्वारा  दिए जाते है बैंक इन कंपनियों के साथ जुड़ा हुआ होता है ताकि कस्टमर को अलग-अलग प्रकार के डेबिट कार्ड प्रोवाइड कर सके जैसे ;

  • MasterCard Debit Card
  •  Rupay debit card
  • Maestro debit card
  • Visa debit card

डेबिट कार्ड के क्या क्या फायदे

  • डेबिट कार्ड हो तो आपको पैसे कॅश में रखने की जरुरत नही है क्योकि आप इस से कभी भी पैसे निकल सकते है
  • डेबिट कार्ड को एटीएम की तरह इस्तेमाल कर सकते है .
  • यदि डेबिट कार्ड है तो लिमिट में पैसे इस्तेमाल कर सकते है इस  से खर्चा भी बाख जाता है
  • यह आपके एक सेफ वॉलेट का काम करता है
  • डेबिट कार्ड के अन्दर कोई इंटरेस्ट रेट नही लगता है बल्कि इसके अन्दर अकाउंट डिपाजिट पे इंटरेस्ट मिलता है

डेबिट कार्ड के क्या क्या नुकसान है

  • डेबिट कार्ड में जितने पैसे आपके अकाउंट में है उतने ही पैसे निकलवा सकते है
  • यदि अकाउंट के अन्दर पैसे न हो तो डेबिट का इस्तेमाल नही होता है

 

क्रेडिट कार्ड क्या है

what Is credit Card  in Hindi ? क्रेडिट कार्ड  एक छोटा प्लास्टिक कार्ड है यह कार्ड भी बैंक द्वारा कस्टमर को दिया जाता है या कुछ लोन देने वाली कंपनियां भी यह कार्ड कस्टमर को देती है लेकिन इस कारण की सहायता से भी डिजिटल ट्रांजैक्शन कर सकते हैं या ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं लेकिन यह कार्ड सभी कस्टमर को नहीं दिया जाता केवल कुछ ही कस्टमर को यह कार्ड बैंक द्वारा दिया जाता है  जिस कस्टमर  की सैलरी आती है हर महीने बैंक अकाउंट के अंदर या जो कस्टमर हर महीने बहुत पैसो की ट्रांजैक्शन बैंक अकाउंट के द्वारा करता है
लेकिन हम डेबिट कार्ड की तरह क्रेडिट कार्ड से पैसे नहीं निकलवा सकते है इससे केवल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन शॉपिंग या फंड ट्रांसफर कर सकते हैं लेकिन यदि आपके बैंक अकाउंट के अंदर बिल्कुल भी बैलेंस नहीं है तो भी आप क्रेडिट कार्ड की सहायता से  एक लिमिट तक ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कर सकते हैं यह लिमिट बैंक द्वारा सेट की जाती है यह लिमिट अलग-अलग क्रेडिट कार्ड के हिसाब से अलग अलग होती है जैसे एक महीने में एक लाख रुपए या इससे और कम भी हो सकती है
जब आप क्रेडिट कार्ड से लिमिट के अंदर पैसे खर्च करते हैं तो महीने के आखिर में आपको सारे पैसे चुकाने पड़ते हैं जितना आपने क्रेडिट कार्ड से इस्तेमाल करके खर्च किए हैं किया है पैसे चुकाने की तारीख बैंक द्वारा दी जाती है यदि आप उस तारीख को पैसे नहीं चुकाते तो आपको खर्च किए हुए पैसे के साथ-साथ उसका जुर्माना भी भरना पड़ सकता है और आपको बता दें कि क्रेडिट कार्ड का जुर्माना बहुत ज्यादा होता है इसके ऊपर हाई रेट ऑफ इंटरेस्ट लगता है |

क्रेडिट कार्ड के प्रकार

क्रेडिट कार्ड भी डेबिट कार्ड की तरह कई प्रकार के होते हैं और सभी क्रेडिट कार्ड की लिमिट अलग अलग होती है और बैंक कस्टमर कोर्स क्रेडिट कार्ड सुविधा देने के लिए क्रेडिट कार्ड सर्विस प्रोवाइडर कंपनी  के साथ जुड़ा हुआ होता है जो कस्टमर को कई प्रकार के क्रेडिट कार्ड देती है जैसे ;

  • Visa credit card
  • American Express credit card
  • British Airway classic credit card
  • Carbon credit card

क्रेडिट कार्ड के क्या क्या फायदे

  • क्रेडिट कार्ड का फायदा ये है कि बिना पैसे भी शॉपिंग कर सकते है
  • क्रेडिट कार्ड का नुकसान ये है अगर आपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल नहीं किया तो भी आपको उसकी फीस देनी पड़ेगी
  • क्रेडिट कार्ड का फायदा ये है की आप अपने सैलरी के हिसाब से क्रेडिट कार्ड की लिमिट ज्यादा करवा सकते है
  • क्रेडिट कार्ड का फायदा ये है की आप 0% एमी पर कुछ भी खरीद सकते है अगर ऑफर हो तो
  • क्रेडिट कार्ड का नुकसान ये है की अगर आपने समय पर आपने अकाउंट में पैसे नहीं डाले तो आपको जितने रूपए की शॉपिंग की है उसका ब्याज देना पड़ेगा और ये ब्याज कितना भी हो सकता है 5-20 % तक भी
  • Emergency में पैसो की जरूरत को पूरा करता है

क्रेडिट कार्ड के क्या क्या नुकसान है

  •  यदि टाइम पे क्रेडिट कार्ड का बिल नही भरा गया तो हाई रेट इंटरेस्ट लगता है
  • यदि क्रेडिट कार्ड का महीने का भुगतान नही किया जाता है तो कार्ड बंद भी किया जा सकता है
  • क्रेडिट कार्ड के लिए आपको अपने अकाउंट को रेगुलर ओपन रखना पड़ता है वरना तो क्रेडिट बंद कर दिया जायेगा .
  • क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने के लिए आपको कुछ भुगतान भी करना पड़ता है .

क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड कैसे बनवाये

  • डेबिट कार्ड आप आसानी से बैंक में जाकर फॉर्म भर के देंगे तो बैंक आपको हाथों हाथ डेबिट कार्ड दे देगा
  • लेकिन क्रेडिट कार्ड के लिए आपके एकाउंट में हर महीने ट्रांजीशन होनी जरूरी है
  • और ट्रांजीशन भी कम से कम 8000 -10000 रूपए की होनी चाहिए .
  • क्रेडिट कार्ड आप ऑनलाइन भी बनवा सकते है .
  • क्रेडिट कार्ड बनवाने की बहुत सी वेब्सीटेस है .

यह भी देखे 

इस पोस्ट में आपको बताया गये क्रेडिट कार्ड क्या होता है , डेबिट और क्रेडिट क्या होता है, डेबिट कार्ड के प्रकार, डेबिट क्रेडिट क्या है, डेबिट कार्ड फायदे, डेबिट कार्ड का उपयोग अगर आपको हमारी साइट पसंद आती है तो या आपको कोई सवाल या सुझाव देना चाहते है तो आप हमारी साइट पर या हमारी fb पेज पर कमेंट कर सकते है।

Mahatvapurn Jankari
Comments (4)
Add Comment
  • Ashik parihar

    Ashik parihar

  • Ashik parihar

    ATM kard

  • Nandkishor

    ATM

  • Nandkishor

    Rtibndr