प्रधानमंत्री कुसुम योजना लोन कैसे प्राप्त करें सब्सिडी आवेदन

प्रधानमंत्री कुसुम योजना लोन कैसे प्राप्त करें सब्सिडी आवेदन

आत्मनिर्भर भारत के तहत केंद्र सरकार हर सेक्टर में लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के अवसर प्रदान कर रही है उसमें योजना भी इसी बात को ध्यान में रखते हुए कृषि के लिए बंजर भूमि में खेती का में भी खेती करने के आशा प्रदान करने के लिए भारत सरकार ने कुसुम योजना की शुरुआत की है।

जो किसानों को बंजर भूमि में पानी की व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए सोलर पैनल से उर्जा उत्पन्न करने की तकनीक के माध्यम से समरसेबल को चलाने के लिए योजना शुरू की है। किसानों के लिए बिजली का उपयोग करना कठिन पड़ रहा है या पहुंच से बाहर है।

उनके लिए सोलर पैनल ऊर्जा संयंत्र के माध्यम से उर्जा उत्पन्न की जाएगी और समरसेबुल से बन जाए खेतों तक पानी पहुंचाने की योजना तैयार है। आज हम इस आर्टिकल में कुसुम योजना की योजना से लाभ उठाया जाए इसके बारे में जितने भी जानकारियां या आपके मन मे जितने भी सवाल उठ रहे हैं। उन सभी प्रश्नों का जवाब मिलेगा जानने के लिए आर्टिकल में बने रहे चलिए शुरू करते है

Source : https://www.flickr.com/photos/iwmi/16004090285

क्या है प्रधानमंत्री कुसुम योजना

What is pm kusum yojana in Hindi – प्रधानमंत्री कुसुम योजना आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा कृषियों के लिए सौर ऊर्जा संयंत्र से उर्जा प्राप्त करके बंजर भूमि को जहां बिजली नहीं की जा सकती। वहां समरसेबल पंप या ट्यूबेल को सौर ऊर्जा के माध्यम से चला कर पानी की व्यवस्था करने की योजना सरकार द्वारा बनाई गई है।

2019 में नवीनीकरण ऊर्जा मंत्रालय (mnri) पूरे देश में शुरू की गई यह ऊर्जा संयंत्र योजना सोलर पंप प्लांट लगाना इसका मुख्य उद्देश्य है ।यदि कोई किसान सोलर ऊर्जा से जुड़कर इसका लाभ लेना चाहता है ।

तो वह कुसुम योजना का लाभ उठा सकता है। दूरदराज इलाकों में जहां बिजली की आपूर्ति नहीं हो पाती है इस वजह से खेत बंजर पड़े रह जाते हैं। किसानों के लिए सबसे बड़ी समस्या का कारण बना रहता है। कुसुम योजना के तहत किसान इससे जुड़कर अपने बंजर खेतों में पानी की व्यवस्था सुलभ कर सकता है।

इसके लिए किसानों को या सौर ऊर्जा संयंत्र द्वारा द्वारा सिंचाई का साधन तैयार करने का बहुत ही कामयाब तरीका इजाद किया गया है इस तरीके से सोलर प्लांट लगाकर बंजर खेत को को उपजाऊ बना सकता है और पानी की समस्या से निजात पा सकता है

क्या लाभ है कुसुम योजना से

what is benifite of kusum yojana in Hindi – • एक जैसे बिजली का खर्च कम होगा साथ ही डीजल केरोसिन का पैसा बचेगा बिजली फ्री में मिलेगी।
• बंजर खेत में भी हरियाली आएगी काम करेगी जो किसानों को दुगना आय देने का काम करेगी ।
• किसान इस योजना से अपने बंजर खेत में पानी की व्यवस्था सुलभ करा सकता है केंद्र सरकार ने यह योजना केरोसिन और डीजल पर निर्भर होने वाले किसानों की परेशानी को दूर करने के लिए सोलर प्लांट की व्यवस्था बनाई है।
• इसको यूज़ करने से किसान केरोसीन डीजल और बिजली पर निर्भर होना नहीं पड़ेगा।
• कई बार बिजली समझना में पानी के वजह से या बिजली आपूर्ति ठप होने की वजह से किसानों के सामने फसल की बर्बादी की बहुत समस्या आती है।इस योजना से सौर ऊर्जा से प्राप्त ऊर्जा का लाभ किसान ले पाएंगे।
• किसान अपनी जमीन पर सोलर पैनल उपकरण लगाकर गांव में बिजली की आपूर्ति भी कर सकते हैं।
• सोलर पैनल प्लांट छोटा-मोटा कोई प्लांट नहीं है। यह ठीक-ठाक बिजली उत्पन्न करने के लिए बनाया गया है।
• जिससे सिंचाई तो होगी ही ।साथ ही इसमें से जो ऊर्जा इकट्ठा की जाएगी। उसे आस-पास के गांव में बिजली भी दी जा सकती है।
• किसानों की डीजल, केरोसिन बिजली आपूर्ति पर निर्भर रहने की समस्या से उनको निकाला है।
• किसान पैदा की हुई बिजली को बिजली आपूर्ति ग्रिड में बेचकर पैसे भी कमा सकते हैं। सरकार की यह नीति बहुत हद तक कारगर भी साबित हुई है ।
• इसीलिए आज हर किसान जो अपनी जमीन में पानी नहीं पहुंचा पाता था उसके लिए पानी पहुंचाना सुलभ हो गया इस योजना से

कब से शुरू हुई है योजना

when from start kusum yojana : 2019 में वित्त मंत्रालय की सुविधा को किसानों के लिए शुरू किया था बाद में इसकी मांग को देखते हुए। वित्त मंत्रालय ने इसमें व्यापक रूप से बदलाव और अवसर प्रदान करने के लिए इसमें नई तकनीकी को भी जोड़ा गया है ।2019 में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने किसानों की डीजल, केरोसिन बिजली आपूर्ति पर निर्भर रहने की समस्या से उनको निकाला है।

भविष्य का प्लान

2022 तक किसानों की आय दोगुना करने की केंद्र सरकार की नीति बनाई है। दिन प्रतिदिन जमीन पर पानी का वाटर लेवल नीचे गिरने की वजह से बिजली की आपूर्ति में अक्सर गर्मी में दिक्कत आ जाती है । पीने का पानी भी सहजता से नहीं मिल पाता । सोलर पैनल से ऊर्जा लेने से बिजली की आपूर्ति पर निर्भर रहना कम होगा। लोग सूर्य से एनर्जी लेना स्टार्ट कर देंगे तो बिजली आपूर्ति पर लोड कम पड़ेगा जिससे पानी की समस्या का भी समाधान देश के प्रत्येक नागरिक होगा।
इस योजना से भविष्य में किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य है 2022 तक देवघर के सभी किसानों तक इस व्यवस्था को देने का लक्ष्य सरकार के वित्त मंत्रालय ने किया है।

सरकार की क्या है योजना

what is plan of Government – जिस भी क्षेत्र में बिजली की ग्रेट नहीं है वहां पर सोलर पंप 17.5 लाख सोलर पंप दिए जाएंगे। जिन जिन इलाकों में बिजली ग्रेड की व्यवस्था है बिजली की आपूर्ति सुचारू रूप से है उन इलाकों के लिए 1000000 सोलर पंप देने का प्रावधान है सरकार का 2022 तक।

सरकार का लक्ष्य है कि देश भर में 27.5 लाख सोलर पैनल किसानों को मुक्त किया जाए जिस का बजट भी लगभग पास ही हो गया है।
तीन करोड़ डीजल या केरोसिन से चलने वाले ट्यूबवेल या समरसेबल को 2022 तक सौर ऊर्जा से चलाने का सरकार का लक्ष्य है इस लक्ष्य को पूरा करने में सरकार का 1 दशमलव 40 लाख करोड रुपए का खर्च आएगा
लक्ष्य पूरा होने के बाद 28000 मेगा वाट की बिजली देशभर में अतिरिक्त उत्पन्न होगी कभी भी ऐसी स्थित आएगी। बिजली आपूर्ति करना मुश्किल पड़ रहा है ।तो इस सौर ऊर्जा प्लांट से उत्पन्न ऊर्जा से बिजली की कमी की पूर्ति की जा सकेगी भविष्य में। जोकि सराहनीय पहल और सराहनीय योजना है भविष्य को ध्यान में रखते हुए।

कितनी लागत लगेगी कुसुम योजना को लेने में

how much investment to take kusum Yojana – सोलर प्लांट लगाने के लिए आपके पास कम से कम 10 प्रतिशत ही किसानों को सरकार को देना होगा बाकी का खर्च सरकार किसानों को सब्सिडी के रूप में उनके बैंक खाते में

लाख का बजट होना ही चाहिए साथ ही सरकार इसके लिए लोन का भी प्रावधान किया है सरकार आपकी क्या मदद करेगी कुसुम योजना के तहत बैंक किसानों को इस परसेंट का लोन देगी । और सरकार सोलर पैनल उपकरण को लगाने की लागत का 60 परसेंट अपनी तरफ से किसानों को देगी।
बाकी का बचा 10 परसेंट किसान को खुद इस प्लांट को लगाने के लिए देना पड़ेगा। ज्यादा जानकारी के लिए आप उसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
इनकी वेबसाइट है। http//mnre.gov.in/# पर विजिट करके अपने सवालों के जवाब जान सकते हैं

कैसे जुड़े कुसुम योजना से

how to join kusum Yojana – कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए या उनसे जुड़ने के लिए आपको उनकी ऑफिशियल वेबसाइट http//mnre.gov.in/# मैं जाकर विजिट करना होगा जॉब जो भी डाक्यूमेंट्स रिक्वायरमेंट होगी। उसे इकट्ठा कर ले और जब फार्म को अप्लाई करने जाएं। तो सारे डाक्यूमेंट्स को फिल अप करें और इनकी वेबसाइट या उनके पते पर सबमिट कर दें । कुछ दिनों बाद आपसे खुश संपर्क किया जाएगा और आपको बताया जाएगा कि आपको यह सुविधा दी जाएगी अथवा नहीं डाक्यूमेंट्स इंपॉर्टेंट हैं। वेबसाइट पर जाकर आप जो जो भी जरूरी है सारे डॉक्यूमेंट को अपने साथ रखें।

आज इस आर्टिकल को किसान की समस्या को ध्यान में रखते हुए लिखा गया है। ऐसे किसानों के लिए जिन्हें अपने खेतों में पानी की किल्लत का सामना करना पड़ता है। या जिन किसानों के खेत पानी की वजह से बंजर पड़े हैं ।उन पर खेती नहीं कर पाते केवल पानी की दिक्कत के चलते ।पानी की दिक्कत ज्यादातर बिजली आपूर्ति के कारण आती है ।जिस स्थान पर बिजली की आपूर्ति करना संभव नही होता है वहां ज्यादातर किसानों के खेत बंजर पड़े रहते हैं ।ऐसे में सरकार ने इस समस्या को ध्यान में रखते हुए कुसुम योजना की शुरुआत की है कुसुम योजना क्या है ।कुसुम योजना से कैसे लाभ उठाएं या कितना लाभ होगा यह सारी चीजें हम अपने पोस्ट में जान चुके हैं।

मुझे आशा है कि आप को यह आर्टिकल पढ़कर कुसुम योजना से जुड़ी सारी जानकारियां मिली होंगी। यदि आप कोई आर्टिकल पढ़कर अच्छा लगा अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें। और जो ऐसे इंसान है जो कृषि से जुड़े हैं ।उनको भी ऑडिटर भेजें ताकि वह इस योजना से लाभ उठा सकें और यदि आपको कोई डिटेल से संबंधित कोई प्रश्न या डाउट है। तो उसे अपनी कमेंट के माध्यम से हम से पूछ सकते हैं ।

कुसुम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन Rajasthan कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन mp कुसुम योजना राजस्थान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कुसुम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन उप कुसुम योजना की पात्रता कुसुम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन २०२० up कुसुम योजना टोल फ्री नंबर कुसुम योजना की पात्रता up

Yojna
Comments (0)
Add Comment