एयरटेल वोडाफोन आईडिया सिम को Jio 4G में पोर्ट कैसे करे

एयरटेल वोडाफोन आईडिया सिम को Jio 4G में पोर्ट कैसे करे

अगर आप अपने सिम ऑपरेटर से खुश नहीं हैं तो आप भी अपनी सिम को किसी दूसरी कंपनी मैं बदलवा सकते हैं मान लीजिए आपका SIM Airtel कंपनी का है और आप किसी कारण से Airtel कंपनी से खुश नहीं है तो आप अपने नंबर को किसी दूसरी कंपनी में बदलवा सकते हैं वह भी अपना मोबाइल नंबर बदले बिना.इसके लिए आपको एमएनपी सर्विस का इस्तेमाल करना पड़ेगा. MNP की फुल फॉर्म है “Mobile Number Portability” यह सर्विस बहुत पुरानी है और कई सालों से इसका इस्तेमाल भी किया जा रहा है तो यही सर्विस आप भी इस्तेमाल करके अपने मोबाइल नंबर को किसी भी दूसरी कंपनी में बदल सकते हैं.

MNP सर्विस को इस्तेमाल करने के लिए कुछ शर्तें होती है तभी आप MNP सर्विस को इस्तेमाल कर पाते हैं. नंबर 1 आपका नंबर कम से कम 3 महीने पुराना होना चाहिए मतलब अगर आपने नया सिम लिया है तो पहले आपको वह 3 महीने तक इस्तेमाल करना पड़ेगा उसके बाद ही आप किसी दूसरी कंपनी में उसे बदलवा सकते हैं नंबर 2 आपके sim कार्ड में बैलेंस होना जरूरी है क्योंकि MNP सर्विस के लिए आपको एक Port नंबर चाहिए होता है जो की SMS की मदद से आपको मिलेगा तो उस SMS को भेजने के लिए आपके सिमकार्ड में बैलेंस भी होना चाहिए.अगर आप का मोबाइल नंबर तीन महीने पुराना है और आपके मोबाइल में बैलेंस भी है. तो आप idea sim ko port kaise kare, airtel me port kaise kare, port karne ke liye  , sim port kaise kare  कैसे अपने सिम कार्ड को कैसे बदलवा सकते हैं .इसकी पूरी जानकारी नीचे आपको स्टेप बाय स्टेप दी गई है.

Idea Vodafone Airtel की 3G Sim को फ्री में 4G कैसे बनवाए

 सिम को में पोर्ट कैसे करे

Step 1.

जैसा की हमने पहले बताया आपको SMS करके और अपने मोबाइल नंबर का कोड नंबर लेना पड़ेगा तो उसके लिए सबसे पहले आपको अपने मैसेज बॉक्स में टाइप करना है पोर्ट और आपका मोबाइल नंबर.
Example – PORT 9876543210
और इसे भेज देना है 1900 पर

मैसेज भेजने के बाद में आप के मोबाइल नंबर पर आपको एक UPC code  मिलेगा इस UPC code को आपको सेव कर लेना है और यह ध्यान रखें कि यह यूनिकोड सिर्फ और सिर्फ 15 दिनों के लिए ही वैलिड होगा.

Step 2

अब आपको जिस कंपनी में भी आपकी सिम पोर्ट करवानी है उसके रिटेलर ऑफिस में जाना है और वहां पर आपको MNP फॉर्म भरना है और अपना UPC code भी भरना है .

फॉर्म भरने के साथ साथ आपको अपना एक फोटो और एक आईडी प्रूफ की फोटो कॉपी रिटेलर को दे देनी है रिटेलर आपको एक नया SIM देगा जोकि ब्लेंक SIM होगा जब आपकी SIM एक्टिवेट हो जाएगी तो उस ब्लैक सिम को आपको अपने फोन में डालना है और आपकी जो पुरानी सिम है वह आपको वहां से निकाल लेनी है.

न्यू SIM शुरू होने में 7 से 10 दिन तक लग सकते हैं जैसे ही आपकी न्यू SIM शुरू होगी आपकी पुरानी SIM बंद हो जाएगी और आपको नई सिम का एक्टिवेशन करना है .

सिम को पोर्ट करने के फायदे

♦  सिम को पोर्ट कराने से आपको नई सिम कंपनी अच्छी सुविधा देगी और आपको जो भी दिक्कत पुरानी सिम कंपनी से आ रही थी वह दिक्कत आपको नई सिम कंपनी में नहीं मिलेगी.

♦  सिम पोर्ट कराने की सर्विस से आप कंपनी से अच्छे ऑफर भी पा सकते हैं जैसे अगर आप अपने पुराने सिम से पर मैसेज का मैसेज भेजते हैं तो पुरानी सिम कंपनी वाले आपको अपनी कंपनी में बनाए रखने के लिए आपको अच्छे अच्छे ऑफर देंगे तो इससे आप अच्छे और सस्ते ऑफर  भी पा सकते हैं.

♦ सिम पोर्ट कराने से आपको नया सिम भी मिल जाता है अगर मान लीजिए आपका पुराना सिम टूटने वाला है या बिल्कुल खराब हो गया है तो आप सिर्फ एक मैसेज की मदद से नया SIM पा सकते हैं

सिम को पोर्ट करने के नुकसान

♦ सिम पोर्ट कराने से आपके पुराने सिम में जो भी बैलेंस है या इंटरनेट डाटा है वह सारा नई सिम में आपको नहीं मिलेगा तो एक तरह से आपका बैलेंस  या इंटरनेट डाटा खराब हो जाएगा.

♦  अगर आपने गलती से किसी कंपनी में अपना सिम पोर्ट करवा लिया तो आप 3 महीने के लिए फंस जाएंगे और आप 3 महीने से पहले अपना नंबर पोर्ट नहीं करवा पाएंगे

इस पोस्ट में  आपको  switch to airtel, how to port mobile number, mobile number portability vodafone, airtel mnp offer सिम पोर्ट कराने की पूरी जानकारी मिल गई होगी और इसके फायदे और नुकसान भी आपको पता चल गए होंगे अगर अभी भी इसके बारे में कोई जानकारी चाहिए तो नीचे कमेंट करके हम से जरूर पूछें.

99 Comments

Leave a Comment