हर्बल औषधियों के फायदे Benefit Of Herbal Medicine

हर्बल औषधियों के फायदे benefit of herbal medicine

आज कल की जनरेशन एलोपैथ में ज्यादा विश्वास करती है जल्दी फायदा मिल जाने के कारण आजकल के लोग एलोपैथ पर ज्यादा विश्वास रखते हैं। किंतु यह फायदा कुछ ही देर के लिए होता है और फिर से वही तकलीफ हमें आने लगती है। किंतु हम अंधविश्वास में या दिमागी तौर पर कन्फ्यूजन की वजह से एलोपैथी दवाएं खाते रहते हैं। और अपने शरीर को खराब करते रहते हैं हमारे भारत देश में औषधियों का विशेषता पर महत्व रहा है। यह युगों योग से चला आता है आता रहा है हमारे देश को ऋषि ऋषि मुनियों का देश कहा जाता है।

ऋषि मुनि डेढ़ सौ साल जीते थे बिना किसी रोग के बिना किसी दवाई के यदि उनको कोई भी दिक्कत आती हुई थी। तो वह हर्बल उपचार लेकर अपने आप को ठीक कर लेते थे ऐसा लंबे समय तक उनको कोई भी दिक्कत नहीं होती थी। किंतु आज कल का समय ऐसा हो गया है एलोपैथ हो या कोई दूसरी दवाई खाकर हम अपने जीवन को इतना कम कर दिए हैं। आजकल के यदि हम लोग अपनी आयु सीमा की बात करें तो 60 वर्ष बहुत माना जाता है 60 वर्षो के अंदर हर आदमी अपने प्राण त्याग देता है।

60 वर्ष तक जीना भी आजकल के जमाने में बहुत कठिन होता जा रहा है इसका मेन कारण है और उल्टा सीधा दवाओं का सेवन करना तथा उटपटांग बने भोजन का इस्तेमाल करना घर के भोजन को तकदीर देना वह हमारे देश में ऐसी  मुनियों के  चली आ रही। परंपरा हर्बल औषधियों का उपयोग से दूरी बनाना यही सारी समस्याएं हैं।

जो हमें ज्यादा लंबे समय के लिए जीने के से दूर कर रहे हैं। इसलिए हम हर्बल औषसधी आजमाने के लिए आज हम आपके लिए हर्बल औषसधी से जुड़े फायदे व इनके औषधि लाभ बताइए जो ऋषि मुनि हमारे उपयोग करते थे। और लंबा जीवन जीते थे यह सारी चीजें जानने के लिए बने रहे हमारे साथ चलिए शुरू करते हैं.

क्या है हर्बल औषधि के फायदे

what is benefit of herbal medicine – हर्बल औषधि यदि हम बात करें तो हर्बल औषधि उसे कहा जाता है जो जड़ी बूटियां होती है पत्ते होते हैं उनमें औषधीय गुण होते हैं यह हमारे शरीर में अमृत का काम करते हैं। और हमें हमारे रोगों से जल्दी छुटकारा दिलाने में हमारी मदद करते हैं। साधारण से दिखने वाले के पत्ते और जड़ी पर हम लोगों का ज्यादा ध्यान नहीं जाता ना ही हम लोग ज्यादा महत्व देते हैं। किंतु इन्हीं जड़ी बूटियों की वजह से हमारे ऋषि मुनि लंबा जीवन जीते थे और लंबे समय तक स्वस्थ रहते थे।

आज कल के व्यक्ति 60 साल भी नहीं जीते हैं ठीक से जिसका कारण है भारत की परंपरा को तोड़ना या उससे दूर जाना आजकल लोग अंग्रेजी दवाओं पर ज्यादा निर्भर हो गए हैं। भारत की पद्धति पर ध्यान नहीं देते जिसका कारण है वह ना तो लंबी उम्र जी पाते हैं और ना लंबे समय तक स्वस्थ रह पाते हैं हर्बल औषधियों का उपयोग यदि हम जान जाए तो हमें एलोपैथ अंग्रेजी दवाओं की जरूरत ही नहीं पड़ेगी।

 क्यों करें हर्बल औषधियों का उपयोग

  • औषधियों का उपयोग करने का सबसे बड़ा कारण यह है कि हमारे शरीर में किसी भी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं पैदा करती जबकि अंग्रेजी दवाएं एक मर्ज को ठीक करने के लिए 4 मर्ज हमारे शरीर में छोड़ जाती है।
  • हर्बल औषधि के इतने गुण हैं कि आप को गिनाते गिनाते बहुत लंबा आर्टिकल हो जाएगा हर्बल औषधि भले थोड़ा देर में फायदा करें किंतु यह हमेशा के लिए हमारे शरीर से रोगों को खत्म कर देती है।
  • जबकि एलोपैथ थोड़ी देर के फायदे के बाद फिर वही कंडीशन हमारे शरीर में उत्पन्न होने लगती है।
  • और सदियों का प्रयोग हमारे ऋषि मुनि करते आए हैं और सौ से ज्यादा वर्षों तक बिना किसी रोग के जीते थे और आजकल के युवा प्राणी 60 वर्ष ऐसा कभी नहीं जी पाते हैं।
  • क्योंकि वह अंग्रेजी दवाओं का पूर्व पटांग दवाओं का सेवन करते हैं जिसकी वजह से उनके शरीर में कई प्रकार के दुष्प्रभाव आने लगते हैं। शरीर कमजोर होने लगता है। ज्यादा जीवन जीने के लिए वह सक्षम नहीं रह पाता।
  • इसलिए यदि हम हर्बल औषधि का उपयोग करें अपने रोगों को ठीक करने के लिए शरीर को मजबूत करने के लिए तो हम लंबा जीवन जी सकते हैं। हमारे देश के ऋषि मुनियों की तरह जैसा जीवन जीते थे वैसा हम भी अधिक अपने जीवन में फॉलो करें तो हम भी लंबी उम्र जी  सकते हैं।
  • हर्बल औषधि भारत की चिकित्सा पद्धति है जिसे हम छोड़ते जा रहे हैं यही कारण है कि हम 60 वर्ष के ज्यादा नहीं जी पाते हैं। हमें आज ही संज्ञान लेना होगा और अपने चिकित्सा पद्धति में बदलाव लाना होगा तभी हम लंबा और स्वस्थ जीवन जी पाएंगे इसलिए हमें हर्बल औषधि का प्रयोग करना चाहिए।

हर्बल औषधि के प्रकार व लाभ

गिलोय के फायदे

गिलोय के औषधीय हर्बल औषधि है जिसका उपयोग करके हम अपनी प्रतिरोधक क्षमता को कई गुना बढ़ा सकते हैं। गिलोय का फायदा रामदेव बताते हैं तथा बड़े-बड़े आयुर्वेदाचार्य गिलोय के फायदे बताते हैं। यह एक ऐसा इम्यूनिटी बूस्टर है जो हमारे शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता कई गुना बढ़ा देता है। गिलोय का सेवन जीवन यदि हम अपने कमजोर प्रतिरोधक क्षमता के लिए करते हैं तो बहुत जल्दी हमें इससे लाभ मिलना शुरू हो जाता है। और लंबे समय तक हमें किसी भी बीमारी के चक्कर में नहीं पड़ना पड़ता यह सदियों से इस्तेमाल होते आया है और हमेशा है आयुर्वेदिक डॉक्टर का सबसे बड़ा हथियार रहा है। किसी भी प्रकार के सर्दी जुकाम बुखार वायरल इनफेक्शन में गिलोय का उपयोग किया जाता है। यह बहुत जल्दी हमारे शरीर में रिकवरी की क्षमता को तेज कर देता है और प्राकृतिक रूप से हमें लाभ पहुंचाने में हमारी मदद करता है।

रोगों से लड़ने में सबसे अच्छे औषधियों में से एक माना जाता है  गिलोय इसका सेवन हमें अपने जीवन में करना चाहिए स्वस्थ रहने के लिए यह बहुत ही फायदेमंद है।

 ग्वारपाठा का उपयोग

ग्वारपाठा एक ऐसी औषधि है हर्बल औषधि आयुर्वेदिक औषधि है जो बालों से संबंधित किसी भी समस्या को ठीक करने में हमारी कई गुना मदद करती है। ग्वारपाठा बालों को झड़ने से बचाता है। बालों में होने वाले डैंड्रफ को ठीक करता है आजकल के खराब खानपान में लोगों का समस्या रहती है। लोगो का बाल बहुत तेजी से झड़ रहा है छोटी उम्र में भी उनके बाल सफेद हो रहे हैं। बालों में रूसी उत्पन्न हो रही है बाल कमजोर होते जा रहे हैं जिसकी वजह से वह समय से पहले ही झड़ने लगते हैं। इसके लिए ग्वारपाठा सकते अचूक एवं रामबाण औषधि मानी जाती है जिसका सेवन सदियों से हमारे ऋषि मुनि करते हैं। और आयुर्वेदाचार्य इसको बाल की समस्या के लिए  उपयोग करने के लिए हमें बताते हैं।

पत्थरचट्टा का उपयोग

पत्थर जैसा भी एक और आयुर्वेदिक औषधि हर्बल औषधीय इसका उपयोग आयुर्वेदाचार्य में पेशाब में जलन गुर्दे की पथरी तथा किसी भी प्रकार की पथरी को ठीक करने के लिए देते है।पथरी का इलाज वैसे कराने जाए तो बहुत महंगा इलाज होता है लेकिन केवल पत्थरचट्टा के उपयोग से पथरी को भयानक से भयानक पथरी को ठीक कर सकते हैं। महज कुछ ही हफ्तों में क्योंकि पथरी ठीक करने के लिए पत्थरचट्टा में इतने औषसधी गुण है आप इसका इस्तेमाल  कीजिए उपयोग करने के बाद आप कुछ ही दिनों में देखेंगे कि आपकी पत्नी छूमंतर हो गई और आप पहले की अपेक्षा बहुत ही राहत महसूस कर रहे हैं।

 हरसिंगार का उपयोग

हर सिंगार हर्बल औषधीय है जिसका उपयोग हमारे आयुर्वेदाचार्य हमें हमारे जोड़ों के दर्द तथा जोड़ों की गंभीर बीमारी गठिया को ठीक करने के लिए हमें देते हैं। यह हड्डियों से जोड़ों को मजबूत करने और ठीक करने के लिए उपयोग किया जाता है। यह एक प्रकार का पत्ता होता है जो हर घर में फूलों की सुगंध के लिए लगाया जाता है किंतु बहुत ही कम लोगों को पता है कि इसका उपयोग  गठिया तथा जोड़ों के दर्द को ठीक करने के लिए किया जाता है। यह एक ऐसी हर्बल औषधि है जो बिना किसी साइड इफेक्ट के हमारे शरीर में होने वाले भयंकर दर्द को ठीक करने के लिए उपयोग की जाती है। यह घर घर में सजावट के काम में तथा सुगंध के लिए लगाई जाती है। जिसका उपयोग लोग जानते नहीं है। किंतु औषधि गुण इसमें इतना है कि आप विश्वास नहीं कर पाएंगे।

निष्कर्ष मुझे उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल हर्बल औषधि के फायदे ओपन सेक्स आजकल में दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी यदि आपको जानकारी अच्छी लगे तो आप भी अपने जीवन में इनको फॉलो कर सकते हैं और हर बार औषधियों का उपयोग करके दुष्प्रभाव से बच सकते हैं।

बाकी यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया है पिक्चर अपने यार दोस्तों के साथ सोशल  मीडिया पर शेयर करें ताकि उन्हें भी इससे लाभ मिल सके और यदि आपकी कोई भी समस्या है प्रश्न में डाउट है इस आर्टिकल से संबंधित तो उसे अपने कमेंट के माध्यम से हम से पूछ सकते हैं।

Leave a Comment