शरीर में पानी की कमी होने के कारण लक्षण बचाव व उपचार

शरीर में पानी की कमी होने के कारण लक्षण बचाव व उपचार

हमारे शरीर के संतुलन को बनाए रखने के लिए हमारे शरीर में उचित मात्रा में पोषक तत्व व इसके अलावा दूसरी चीजों का होना बहुत जरूरी है क्योंकि आप सभी को पता होगा कि जब भी हमारे शरीर में किसी प्रकार के पोषक तत्व या शरीर में पानी की कमी हो जाती है तब रोगी को कई प्रकार की अलग-अलग बीमारियां होने लगती है तो इसी तरह से कई बार हमारे शरीर में पानी की कमी आ जाती है जिससे हमें बीमारियां व अन्य समस्याएं उत्पन्न होने लगती है तो इस ब्लॉग में हम शरीर में पानी की कमी होने के बारे में ही बात करने वाले हैं इस ग्रुप में हम आपको शरीर में पानी की कमी होने के कारण, लक्षण, बचाव इसके कारण उत्पन्न होने वाली अन्य बीमारियों आदि के बारे में बताने वाले हैं.

शरीर में पानी की कमी

हम सभी जानते हैं हमारे लिए पानी बहुत जरूरी है इसलिए जल ही जीवन है का नारा भी दिया गया है क्योंकि बिना पानी के हमारे शरीर में किसी भी प्रकार की गतिविधि नहीं होती हमारे शरीर में कुछ ऐसी समस्याएं होने लगती है जिन से हमारे शरीर में पानी की कमी हो जाती है क्योंकि हमारे शरीर का लगभग दो तिहाई भाग पानी से बना हुआ है एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर हमारे शरीर में 2% पानी की कमी आ जाती है तब हमारे शरीर का संतुलन बिगड़ने लगता है और हमारे शरीर में बीमारियां दस्तक देने लगती हैं हमारे शरीर के कई ऐसे अंग भी हैं जिनके लिए पानी की उचित मात्रा होना बहुत जरूरी है एक स्वस्थ इंसान को हर रोज लगभग 8 से 10 गिलास पानी पीना बहुत जरूरी है जिससे हमारे शरीर में पनप रही छोटी बड़ी बीमारियां व विषैले पदार्थ के द्वारा बाहर निकल सके हैं अगर हमारे शरीर में पानी की कमी आ जाती है तब तुरंत इककी पूर्ति करना बहुत जरूरी है क्योंकि कुछ ही समय के बाद इससे रोगी को बड़ी बड़ी बीमारियां लगने लगती है और पानी भी हमारे शरीर के लिए उतना ही आवश्यक है जितना हमारे शरीर के लिए भोजन आवश्यक है क्योंकि पानी भी हमारे शरीर में भोजन की तरह ही काम करता है

कारण

अगर हमारे शरीर में पानी की कमी होने के कारणों के बारे में बात की जाए तो इस समस्या के पीछे कई अलग-अलग कारण हो सकते हैं क्योंकि कई बार यह समस्या हमारे शरीर में कई दूसरी बीमारियों के कारण उत्पन्न होने लगती है इसके अलावा भी कई ऐसे और कारण है जिससे यह समस्या हो सकती है जैसे ठण्ड के मौसम में कम पानी का पीना, ज्यादा कठोर परिश्रम करना, हमारे शरीर में बैक्टीरियल वायरल संक्रमण होना जिनसे दस्त उल्टी की समस्या होना, शरीर में ज्यादा पसीना आना क्योंकि कई बार हमारे शरीर का तापमान बढ़ जाता है जिससे हमारे शरीर में अचानक तेज पसीना आने लगता है, ज्यादा एलोपैथिक दवाओं आदि का सेवन करना,ज्यादा सुखे खाद्य पदार्थों का सेवन करना ज्यादा मिर्च मसालेदार भोजन का सेवन करना, ज्यादा गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करना, इसके अलावा बुखार होना या लंबे समय तक ठन्डे क्षेत्र में रहना आदि की समस्या के कारण होते हैं इसके अलावा भी अलग-अलग रोगियों में इस समस्या के अलग-अलग लक्षण होते हैं लेकिन ज्यादा यह समस्या उल्टी दस्त की समस्या उत्पन्न होने के कारण ही होती है

लक्षण

अगर शरीर में पानी की कमी होने के लक्षणों के बारे में बात की जाए तो यह एक ऐसी समस्या है जिसमें बहुत सारे लक्षण दिखाई देते हैं क्योंकि अगर इस समस्या में 1% शरीर में पानी की कमी आती है तो अलग अलग से मिलते हैं 2% होने पर अलग अलग से मिलते हैं जैसे रोगी को सिर दर्द रहना, रोगी के शरीर का तापमान बढ़ना, रोगी की मांसपेशियां ढीली होना, रोगी की त्वचा सिकुड़ जाना, रोगी को उल्टी दस्त डायरिया जैसी बीमारियां होना, रोगी को हैजा होना, रोगी के हाथ पैरों के जोड़ों में दर्द रहना, रोगी की जीभ सूखना, सोते वक्त आंसू निकलना, रोगी की आंखें सूखी हुई व धसी हुई नजर आना, रोगी को चिंता, भरम, चिड़चिड़ापन, गुस्सा व नींद न आने की समस्या होना, रोगी को आलस रहना, रोगी को चक्कर आना, रोगी की त्वचा शुष्क हो जाना, रोगी का पेशाब बंद हो जाना या पेशाब के रंग में बदलाव आना, रोगी की मांसपेशियों में ऐंठन होना, रोगी को कब्ज की समस्या उत्पन्न होना, रोगी का मुंह सूख जाना, रोगी को उच्च रक्तचाप की समस्या होना, रोगी के शरीर में पीलिया, बुखार, कमर दर्द जैसी समस्याएं हो ना इसके अलावा इस समस्या के और बहुत सारे लक्षण होते हैं

बचाव

अगर आप इस समस्या से बचाना चाहते है तब आपको कुछ ऐसी बातों का ध्यान रखना चाहिए जो कि आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होने देगी और आपके शरीर का संतुलन बिल्कुल ठीक रहेगा जैसे

  • आप को नियमित रूप से व्यायाम करने चाहिए
  • आपको हर रोज 8 से 10 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए
  • आपको अपने भोजन के साथ दूध लस्सी जैसी चीजों का सेवन जरूर करना चाहिए
  • आपको मौसमी संतरे खरगोश तरबूज पपीता जैसी चीजों का सेवन करना चाहिए
  • आपको ज्यादा से ज्यादा जो जूस, सुप, नारियल का पानी आदि का सेवन करना चाहिए
  • आपको ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए
  • आपको अपने भोजन के साथ ज्यादा से ज्यादा सलाद खाना चाहिए
  • आपको अधिक मीठे अधिक नमकीन खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको अपने शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए नींबू, खीरा, पुदीना आदि को पानी में मिलाकर पीना चाहिए
  • आपको उनको चीनी और नमक के साथ पानी का घोल मिलाकर पीना चाहिए
  • अगर आपके शरीर में पानी की कमी हो जाती है तब आपको ओआरएस (ORS) का घोल जरूर लेना चाहिए
  • आपको अधिक गर्म तासीर वाले खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको ज्यादा सुखी और कठोर भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको ज्यादा मिर्च मसालेदार भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको बीड़ी शराब तंबाकू सिगरेट आदि का सेवन नहीं करना चाहिए

लेकिन फिर भी अगर आपके शरीर में पानी की कमी से होने वाली बीमारी के लक्षण दिखाई देते हैं तब आपको तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर के पास जाना चाहिए क्योंकि यह एक ऐसी समस्या है जो कि आपके शरीर को बिल्कुल कमजोर बना देती है और आपको इससे कई और खतरनाक बीमारियां लग सकती है

शरीर में पानी की कमी होने के कारण लक्षण बचाव व उपचार शरीर में पानी की कमी होने के लक्षण पानी की कमी के नुकसान पानी की कमी होने पर लोगों को क्या-क्या परेशानी होती है पानी की कमी से अपने शरीर को बचाने के 10 आसान टिप्स डिहाइड्रेशन से बचने के उपाय पानी की कमी क्यों होती है डिहाइड्रेशन के कारण डिहाइड्रेशन के लक्षण क्या है

Leave A Reply

Your email address will not be published.