लू क्या है लू से बचने के लिए क्या खाना चाहिए

लू क्या है लू से बचने के लिए क्या खाना चाहिए

जैसा कि आप सभी जानते हैं सर्दियां पूरी तरह से जा चुकी है और गर्मियों का सीजन शुरू हो चुका है और जैसे ही गर्मियों का सीजन आता है तब अपने साथ कई प्रकार की बीमारियां लेकर आता है वैसे तो ज्यादातर बीमारियां मौसम के बदलने के कारण ही आती है और उन सभी बीमारियों में लू लगना भी भयंकर बीमारी है .

क्योंकि जब गर्मी बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ती है और किसी भी इंसान को लू लगना बहुत ही घातक साबित हो सकती है क्योंकि यह एक ऐसी बीमारी है जिससे इंसान की बहुत ही जल्द मृत्यु भी हो सकती है और इसके अलावा लगने से किसी भी इंसान के शरीर में और भी कई प्रकार की बीमारियां उत्पन्न हो सकती है आज की इस ब्लॉग में हम बात करेंगे कि लोग कैसे लगती है इससे कैसे बचा जा सकता है और लू लगने पर क्या करना चाहिए.

लू लगना क्या है और यह कैसे लगती है

जब गर्मियों के दिन में दोपहर के समय में गर्मी अपने पूरे चरम पर होती है तब उस समय पर चलने वाली गर्म हवाओं के बीच कोई व्यक्ति आ जाता है तब उसके शरीर का संतुलन बिगड़ जाता है और उसी को लू लगना कहते हैं और इससे उस इंसान के शरीर में कई प्रकार की अलग-अलग तकलीफ महसूस होती है और लू लगने के बाद उस इंसान के शरीर का तापमान बिल्कुल भी कंट्रोल में नहीं रहता है ज्यादा गर्मी के मौसम में शरीर से भारी मात्रा में पसीना निकलने के कारण शरीर में लवणों और स्निग्धता की कमी हो जाती है और इससे शरीर के रक्त संचार में दिक्कत पैदा होती है

इसके साथ ही शरीर का तापमान एकदम से बढ़ जाता है जिससे एक अच्छे खासे स्वस्थ व्यक्ति के शरीर का संतुलन बिगड़ सकता है और वह आदमी बीमार पड़ जाता है और यह लू उन इंसानों को ज्यादा लगती है जो ज्यादा बूढ़े, शराबी, मधुमेह के रोगी या ज्यादा दुबले और मोटे होते हैं और आम तौर पर देखा जाए तो लू लगने की ज्यादा समस्या हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और इसके आसपास के इलाकों में होती है क्योंकि यहां पर गर्मियों के मौसम में बहुत ज्यादा तेज गर्मी पड़ती है कई कई बार राजस्थान और हरियाणा के कुछ इलाकों में तो तापमान 48 से 50 डिग्री के आसपास भी चला जाता है

लू लगने के कारण

गर्मियों के मौसम में लू लगने के कई कारण होते हैं और इनमें से कुछ मुख्य कारण होते हैं जैसे गर्मियों के दिन में नंगे पैर बाहर जाना, खुले बदन बाहर घूमना, ज्यादा गर्मी के दौरान काम करना, सिर पर टोपी पगड़ी छाता या बिना किसी कपड़े के बाहर घूमना या बैठना, गरम चीजों के सामने बैठना या काम करना, भूखे प्यासे रहना, एकदम गर्मी से आकर ठंडा पानी पीना, AC कूलर के रूम से निकलकर बाहर जाना या बाहर से किसी ठंडे कमरे में आना, किसी कुएं, नहर आदि में स्नान करना, ज्यादा गर्मी में शारीरिक संबंध बनाना या हस्तमैथुन करना, करने से लू लग सकती है

लू लगने के लक्षण

यह जानना भी बहुत ही जरूरी है कि आपको कैसे पता चलेगा कि आपको लू लगी है वैसे तो लू लगने के बाद आपको कई लक्षण देखने को मिलेंगे जैसे लू लगने के बाद आपको बार-बार प्यास लगेगी, आपका मुंह में गला बिल्कुल सूखा रहने लगेगा, गले में चुभन होने लगेगी, आपकी आंख ,हाथ पैर में तलवों में जलन महसूस होगी, और शरीर का तापमान बढ़ जाएगा, आपके शरीर से पसीना नहीं आएगा, बहुत तेज बुखार हो जाएगा, आपकी नाड़ी की गति व श्वास क्रिया तेज हो जाएगी जिससे आपका शरीर बिल्कुल टूटने लगेगा और दर्द महसूस होने लगेगा, आपको बेचैनी, घबराहट होने लगेगी, आपकी आंखें बिल्कुल अंदर की तरफ चली जाएगी और आंखों के चारों तरफ कालापन महसूस होगा, आपका शरीर बिल्कुल कमजोर हो जाएगा वह चेहरा लाल हो जाएगा तो यह कुछ ऐसे लक्षण है जो कि लू लगने के बाद देखने को मिलते हैं

लू क्या-क्या खाएं

लू लगने के बाद उस इंसान को खान-पान का बहुत ज्यादा ध्यान रखना पड़ता है क्योंकि कई बार गलत खान-पान से उसके शरीर की हालात और भी बिगड़ सकती है और आप सही चीज़े खाने से लू लगने के बाद ठीक भी हो सकते हैं

  • आपको हल्का फुल्का खाना खाना चाहिए जैसे चावल का मांड, पतली खिचड़ी, मसूर की दाल का सूप पीना चाहिए
  • कच्चा आम भून कर उसका गूदा पानी में मसलें । तैयार पने में गुड़, जीरा, नमक मिलाकर दिन भर में 3-4 बार पिएं
  • प्याज के रस को निकालकर अपनी छाती हाथ पैर के तलवे आदि पर लगाना चाहिए और पीना चाहिए
  • भोजन में ज्यादा से ज्यादा प्याज का सेवन करना चाहिए और दिन में दो-तीन बार प्याज के सुप को भी पीना चाहिए
  • बार-बार प्यास लगने पर कच्चे नारियल का पानी पीना चाहिए
  • नींबू के रस की शिकंजी, दही लस्सी आदि ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पीनी चाहिए
  • आंवले का मुरब्बा, ककड़ी, तरबूज, संतरा, शहतूत , खरबूजा आदि खाना चाहिए
  • शुद्ध शहद और गुलकोज को पानी में मिलाकर बार-बार पीना चाहिए

क्या नहीं खाना चाहिए

  • ज्यादा कठोर खाना नहीं खाना चाहिए और तले भुने मिर्च मसाले आदि नहीं खाने चाहिए
  • भूख से ज्यादा और बासी भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको चाय, काफी, शराब, भांग ,तमाकू व ज्यादा उत्तेजना पैदा करने वाली चीजों से परहेज करना चाहिए
  • आपको आम का अमचूर व ज्यादा खट्टे पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए

लू लगने पर क्या करना चाहिए

  • दिन में बार बार ठंडा पानी पीना चाहिए
  • खाली पेट बाहर नहीं जाना चाहिए और ज्यादा देर तक गर्मी में नहीं रहना चाहिए
  • बाहर जाते समय सिर पर टोपी पगड़ी, छाता या किसी कपड़े को रखना चाहिए
  • रोगी को आराम से लेटना चाहिए वह सिर पर ठंडे पानी की पट्टियां लगानी चाहिए
  • नंगे पैर व नंगे बदन बाहर नहीं जाना चाहिए
  • ज्यादा गर्म हवाओं से बचना चाहिए

क्या नहीं करना चाहिए

  • ज्यादा देर तक मल मूत्र को नहीं रुकना चाहिए
  • ज्यादा नशीले पदार्थ जैसे बीड़ी सिगरेट शराब तंबाकू का सेवन नहीं करना चाहिए
  • ज्यादा गर्मी में काम करके ठंडे पानी को पीने से बचें और ज्यादा ठंडे कमरे में नहीं जाना चाहिए
  • ज्यादा गर्मी के दौरान बाहर काम नहीं करना चाहिए
  • नदी, नहर, कुएं आदि में स्नान नहीं करना चाहिए

लेकिन अगर फिर भी किसी व्यक्ति को लू लग जाती है तो कुछ ऐसे घरेलू उपाय भी है जो कि आप आसानी से कर सकते हैं और कुछ दवाइयों आदि का भी प्रयोग करके आप जल्दी ठीक हो सकते हैं जिनके बारे में हमने आपको नीचे बताया है यह सभी दवाइयां का इस्तेमाल आप डॉक्टर की सलाह के अनुसार कर सकते हैं.

लू से बचने के लिए आप आयुर्वेदिक उपाय का इस्तेमाल कर सकते हैं. आयुर्वेद के अनुसार हमें गर्मियों के समय में ठंडी तासीर वाली वस्तुएं खानी चाहिए जिससे कि हमारे शरीर में ठंड बनी रहे. तो गर्मियों के समय में आप धनिया पुदीने का जूस पी सकते हैं सब्जियों का सूप बना कर पी सकते हैं और दिन में दो से तीन बार नींबू पानी भी जरूर पीना चाहिए. इसके अलावा अगर आप आयुर्वेदिक औषधियां लेना चाहते हैं तो नीचे आपको कुछ औषधियों के बारे में बताया गया है.

1. सेब का सिरका
2.चंदनासव
3.गिलोय का जूस
4.उशीरासव

लू का अर्थ लू लगना in English लू किसे कहते है लू की परिभाषा लू से बचने के लिए क्या खाना चाहिए हीट स्ट्रोक के लक्षण लू से बचने के उपाय लू लगने पर रोगी को क्या देना चाहिए.

Leave A Reply

Your email address will not be published.