रामनाथ कोविंद का जीवन परिचय रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति कब बने थे

रामनाथ कोविंद का जीवन परिचय रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति कब बने थे

हमारे देश में कई ऐसे महान क्रांतिकारी वनीता पैदा हुई है जिन्होंने भारत निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया क्योंकि जब भारत अंग्रेजों का गुलाम था तब भारत में कई ऐसे महान इंसान पैदा हुए जिन्होंने भारत को आजाद कराने के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर कर दिया और जब भारत आजाद हुआ तब भारत के सामने सबसे बड़ी चुनौती भारत का फिर से निर्माण करना और भारत को तेजी से तरक्की की राह पर ले जाना था.

इसी कड़ी चुनौती का सामना भारत के कई उच्च पदाधिकारी क्रांतिकारी वह राजनेताओं ने डटकर किया भारत में कई ऐसे महान नेता व क्रांतिकारी उच्च पदाधिकारी रहे जिन्होंने भारत को तेजी से तरक्की की राह पर चलाने के लिए बहुत सारे कार्य किए और उन्होंने कई ऐसे निर्णय लिए जिनसे भारत जिनके कारण भारत आज दुनिया में अपनी पहचान बना चुका है दुनिया में शायद दूसरा ऐसा कोई देश होगा.

जो कि इतने सालों की गुलामी के बाद फिर अगले 70 साल में इतना तेजी से विकास किया और उन महान उच्च पदाधिकारी नेताओं के क्रांतिकारियों को हम हमेशा याद रखते हैं लेकिन वर्तमान समय में भी हमारे देश में कई ऐसे महान नेता है जो कि हमारे देश के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहते हैं भारत में कई ऐसे अलग-अलग क्षेत्रों में उच्च पदाधिकारी राजनेता व दूसरे इंसान है. जो कि भारत को हमेशा ऊपर उठाने की कोशिश करते रहते हैं.

ऐसे ही एक इंसान का नाम रामनाथ कोविंद भी है जो कि वर्तमान में भारत के राष्ट्रपति हैं शायद आप और रामनाथ कोविंद को सिर्फ भारत के राष्ट्रपति के रूप में ही जानते होंगे लेकिन रामनाथ कोविंद भारत के एक बहुत जाने-माने न्यायाधीश भी रह चुके हैं आपमें ऐसे बहुत सारे ऐसे लोग होंगे जिनको रामनाथ कोविंद के बारे में नहीं पता है तो इस ब्लॉग में हम आपको भारत के वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पूरे जीवन परिचय के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं

रामनाथ कोविंद

जैसा हमने आपको पहले बताया आप भारत में कई ऐसे महान नेता हुए हैं जिन्होंने भारत को तेजी से तरक्की की राह पर चलाने के लिए अलग-अलग कार्य किए और उन्हें इंसानो की बदौलत आज भारत दुनिया में तेजी से तरक्की की राह पर दौड़ रहा है और भारत के साथ हर दूसरा देश अच्छे संबंध बनाना चाहता है पहले भारत किसी भी चीज को अपने देश में नहीं बना पाता था.

लेकिन शायद हमारे देश के इन महान नेताओं, उद्योगपति और उच्च पदाधिकारियों का ही योगदान रहा है जिनके कारण आज बहुत सारी चीजों को भारत विदेशों में भेज रहा है किसी भी देश को चलाने के लिए उस देश के राष्ट्रपति का समझदार और पढ़े लिखे होना बहुत जरूरी है.भारत के वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी एक ऐसे ही इंसान हैं रामनाथ कोविंद भारत के 14 वें राष्ट्रपति हैं.

देखने में रामनाथ कोविंद आपको एक बहुत ही शांत स्वभाव के साधारण इंसान नजर आएंगे लेकिन रामनाथ कोविंद एक बहुत तेज बुद्धि के इंसान हैं उन्होंने अपने जीवन में बहुत पढ़ाई की और उन्होंने एक न्यायाधीश के रूप में भी कार्य किया और रामनाथ कोविंद ने न्यायधीश के साथ-साथ राजनीतिक पार्टियों के साथ भी काम किया है और वे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता के रूप में भी कार्य कर चुके हैं वे राजनीतिक क्षेत्र में भी कई पदों पर रह चुके हैं

जीवन परिचय

भारत के वर्तमान राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को कानपुर जिले की एक छोटे से गांव में हुआ था रामनाथ कोविंद एक अनुसूचित जनजाति में पैदा हुए इंसान हैं रामनाथ कोविंद के पिता का नाम Maikulal Kori था उनकी माता का नाम कलावती कोविंद है रामनाथ कोविंद भारत के 14 राष्ट्रपति हैं उनके अलावा उनके परिवार में उनकी पत्नी है जिनका नाम सविता कोविंद है.

उनके दो बच्चे हैं जिनका नाम प्रशांत कुमार और बेटी का नाम स्वाति है रामनाथ कोविंद ने अपनी शुरुआती शिक्षा अपने पास के ही स्कूल से प्राप्त की थी उसके बाद भी आगे की पढ़ाई के लिए कानपुर यूनिवर्सिटी में चले गए सबसे पहले रामनाथ कोविंद ने आईएएस की तैयारी करना शुरू किया था और वह एक आईएएस ऑफिसर बनना चाहते थे.

लेकिन कड़ी मेहनत के बाद भी रामनाथ कोविंद आईएएस की परीक्षा को पास नहीं कर पाए और वे लगातार दो बार इस परीक्षा में फेल हुए लेकिन रामनाथ कोविंद भी एक दृढ़ निश्चय के इंसान हैं उन्होंने हार नहीं मानी और तीसरी बार में आईएएस की परीक्षा को पास किया लेकिन रामनाथ कोविंद ने तीसरी बार में आईएएस की परीक्षा को तो पास कर लिया लेकिन उनको इस पद पर नौकरी नहीं मिली.

नौकरी न मिलने के कारण रामनाथ कोविंद ने वकालत की ओर दिलचस्पी दिखाना शुरू किया और उन्होंने एलएलबी की परीक्षा के लिए अभ्यास करना शुरू कर दिया रामनाथ कोविंद ने बीकॉम और एलएलबी की डिग्री कानपुर विश्वविद्यालय से हासिल की है और वकालत की डिग्री लेने के बाद उन्होंने दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत का कार्य शुरू किया 1977 से 1979 तक दिल्ली उच्च न्यायालय में केंद्र सरकार के वकील भी रह चुके हैं रामनाथ कोविंद को एक बहुत तेज बुद्धि का इंसान माना जाता है

उन्होंने अपने जीवन में कई बड़े-बड़े केस लड़े हैं रामनाथ कोविंद ने केंद्र सरकार की तरफ से सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम कोर्ट में भी अभ्यास किया और सन 1994 में उनको पहली बार उत्तर प्रदेश की राज्य से राज्यसभा सांसद के रूप में चुना गया उनके काम करने के तरीके को देखकर उनको लगातार दो बार राज्यसभा सांसद के लिए चुना गया उन्होंने लगातार 12 वर्ष तक राज्यसभा सांसद के पद पर कार्य किया.

रामनाथ कोविंद ने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता के तौर पर भी कार्य किया रामनाथ कोविंद 1999 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे इसके अलावा भी रामनाथ कोविंद ने भारत में कई अलग-अलग पदों के ऊपर है कार्य किया है.रामनाथ कोविंद भारत की तरफ से यूनाइटेड नेशनल जनरल असेंबली में भी प्रतिनिधित्व कर चुके हैं और भी भाजपा दलित मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष और भारतीय कोली समाज के अध्यक्ष भी रह चुके हैं.

उनको सन 1986 में दलित वर्ग के कानूनी सहायता ब्यूरो का महामंत्री भी बनाया गया था रामनाथ कोविंद 2015 में बिहार के राज्यपाल पद के लिए चुने गए इसके बाद 2017 में उनको भारत के राष्ट्रपति के तौर पर चुना गया उनका मुकाबला यूपीए की प्रत्याशी मीरा कुमार जिनको राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 334000 वोटों से हराया और उनको कुल 65% वोट मिले.

इस बड़ी जीत के साथ 20 जुलाई 2017 को रामनाथ कोविंद भारत के 14 राष्ट्रपति बने और उनको उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर ने 25 जुलाई 2017 भारत के राष्ट्रपति पद के लिए शपथ दिलाई .रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति पद के ऊपर रहते हुए कई अलग-अलग महत्वपूर्ण कार्य किए हैं जो कि खासतौर पर गरीब व अनुसूचित जनजाति के लोगों के लिए ज्यादा है.

उन्होंने भारत को दूसरे कई क्षेत्रों में आगे बढ़ाने के लिए भी अलग अलग चीजों के ऊपर दिया है इसके अलावा भी भारत में शिक्षा और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र को भी तेजी से आगे बढ़ाना चाहते हैं रामनाथ कोविंद भारत के एक बहुत ही समझदार और पढ़े लिखे राष्ट्रपति है

F&Q

Q.राम नाथ कोविंद का जन्म कहाँ हुआ था?
Ans. रामनाथ कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को हुआ था

Q.रामनाथ कोविंद भारत के कौन से राष्ट्रपति के रूप में चुना गया?
Ans. रामनाथ कोविंद जी जो कि भारत के 14वें राष्ट्रपति है

Q. रामनाथ कोविंद भारत के राष्ट्रपति कब बने?
Ans. 20 जुलाई 2017 में भारत के 14 राष्ट्रपति बने

Q. राम नाथ कोविंद बेटा और बेटी का नाम क्या है?
Ans. राम नाथ कोविंद के प्रशांत कुमार और बेटी “स्वाति कोविंद” है

Q. राष्ट्रपति का वेतन कितना है?
Ans. भारत के राष्ट्रपति को प्रति माह 1.50 लाख मिलता है

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बताई गई भारत के वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के जीवन परिचय के बारे में यह जानकारी आपको पसंद आई होगी तो यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है और आप ऐसी ही और जानकारियां पाना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट को जरूर विजिट करें

Leave a Comment