भारत की सुरक्षा कंपनी कौन कौन सी है

भारत की सुरक्षा कंपनी कौन कौन सी है

सुरक्षा हमारे लिए बहुत जरूरी है. क्योंकि सुरक्षा चाहे किसी भी चीज की हो वह उसको कुछ भी दिक्कत नहीं होने देती किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत सुरक्षा के होते नहीं हो सकती है. सुरक्षा के लिए अलग-अलग तरह की सिक्योरिटी टीम बनाई गई है. जैसे कि आर्मी ,नेवी, BSF, एयरफोर्स, पुलिस, यह अलग अलग तरह की टीम आम जनता की सुरक्षा के लिए बनाई जाती है. लेकिन इन सभी सुरक्षा टीमों का काम करने का तरीका अलग अलग होता है. और अलग अलग तरह से लोगों को सुरक्षा प्रदान करती है.  और  हमारे देश के बहुत से आदमी जैसे प्रधानमंत्री, जज, गृहमंत्री, राष्ट्रपति, मुख्यमंत्री इन सभी को सुरक्षा के लिए अलग-अलग सुरक्षा कंपनियां इन लोगों को सुरक्षा देती है.

तो आज मैं आपको इस पोस्ट में भारत में किसी विशेष आदमी के लिए उपलब्ध कराए जाने वाली सुरक्षा के बारे में बताऊंगा जैसे कि Z Plus Security, NSG, CRPF, किस तरह से लोगों को सुरक्षा देती है. तो आप इस जानकारी को अच्छी तरह से और ध्यानपूर्वक पढ़ें क्योंकि यह जानकारी आपके लिए भी बहुत ही फायदेमंद है. और शायद आप इस तरह की जानकारी पहले कहीं पर नहीं पढ़ पाए होंगे तो मैं आपको आज इन सभी कंपनियों के बारे में उपलब्ध कराए जाने वाली सिक्योरिटी के बारे में बता रहा हूं कि यह कंपनियां किस तरह से लोगों की सुरक्षा करती है.तो देखिये

सुरक्षा कंपनियां

यदि किसी आदमी या किसी नेता को अपनी जान का खतरा हो तो उसके लिए सरकार सिक्योरिटी उपलब्ध करवाती हैं. वैसे तो यह सिक्योरिटी मंत्रियों को मिलने वाली सिक्योरिटी से अलग होती है लेकिन इस सिक्योरिटी को पाने के लिए जिस आदमी को अपनी जान का खतरा है. उसको अपने बारे में सभी जानकारी सरकार को देनी पड़ती है. और सरकार अपनी खुफिया एजेंसियां अपने किसी विशेष अधिकारी से उस आदमी के बारे में सभी जानकारियां पता लगाती है कि क्या सच में ही इस आदमी को अपनी जान का खतरा है. या इस आदमी की बातों में कितनी सच्चाई है. और यदि वे अधिकारी या खुफिया एजेंसी उस आदमी की जान के खतरे की बात को सच पाती है. और उसकी पुष्टि हो जाती है. तो सरकार द्वारा उसको सिक्योरिटी सिक्योरिटी प्रदान की जाती है. गृह सचिव महासचिव और मुख्य सचिव की समिति इस बात को तय करती है. जिस आदमी को जान का डर है. उसको किस तरह की सिक्योरिटी दी जानी चाहिए.वैसे तो अगर कोई भी आदमी जैसे राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के जज, राज्यों के गवर्नर, कैबिनेट मंत्री इन पदों पर आते ही अपने आप सिक्योरिटी के पात्र हो जाते हैं.

सुरक्षा कौन-कौन सी कंपनियां करती है

जैसे कि मैंने आपको बताया पुलिस के साथ साथ और भी बहुत सी सुरक्षा कंपनियां है. जो VIP और डबल VIP जैसी सुरक्षा उपलब्ध करवा रही है. जैसे स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप(NPG), राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG), भारत तिब्बत सीमा सुरक्षा पुलिस (ITBP) केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल यानी (CRPF) वैसे तो वैसे तो उस विशेष आदमी की सुरक्षा की जिम्मेदारी NSG की ही होती है. लेकिन जिस तरह से Z Plus Security लेने वालों की संख्या बढ़ी है. उस को देखते हुए CISF को भी यह काम दिया जा रहा है. आज के समय में NSG 15 लोगों को सुरक्षा दे रही है. और इसके साथ साथ CISF भी कई लोगों को अपनी सुरक्षा प्रदान कर रही है.

Z Plus Security

Z Plus Security देश की सबसे बड़ी डबल VIP सिक्योरिटी है. इस सिक्योरिटी में डबल VIP के साथ 36 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं. और उसके साथ 10 NSG कमांडो भी डबल VIP के साथ रहते हैं. ऐसा माना जाता है कि यह बहुत ही मजबूत सिक्योरिटी है. इस सिक्योरिटी में परिंदा भी पर नहीं मार सकता है.

Z & Y सिक्योरिटी क्या है

सिक्योरिटी में 22 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं. और 5 एनएसजी कमांडो हर समय तैनात रहते हैं. और उसके साथ Y कैटेगिरी की सिक्योरिटी में 11 पुलिसवाले और दो NSG कमांडो की तैनातगी रहती है. इसके अलावा X कैटेगरी की सिक्योरिटी में 5 या 2 पुलिसवालों की तैनाती की जाती है.

प्रधानमंत्री की सिक्योरिटी

नरेंद्र मोदी भारत के ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनकी जान को सबसे ज्यादा खतरा रहता है. कई आतंकी संगठनों के निशाने पर पीएम होते  हैं. इसलिए पीएम जहां से गुजरते हैं. वहां जमीन से लेकर आसमान तक चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाती है. हम आपको अब उसे सिक्योरिटी कंपनी के बारे में बताएंगे जो कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेती है. आपने यह भी कई बार सुना होगा की किसी पूर्व सरकार के कई नेताओं की सिक्योरिटी, नयी सरकार के बनते ही या तो हटा दी गयी है. और या कम कर दी गयी है. किसको कौन सी श्रेणी की सुरक्षा देनी है. इस बारे में पहले गृह मंत्रालय, राज्य सरकार से विचार विमर्श करती है. इस मामले में गृह मंत्रालय का फैसला होता है.पीएम के काफिले में सबसे पहले दिल्ली पुलिस सिक्योरिटी स्टाफ की गाड़ी सायरन बजाती हुई आती है.

उसके बाद आती है. एसपीजी की गाड़ी और फिर दो गाड़ियां आती हैं. इसके बाद लेफ्ट और राइट साइड से दो गाड़ियां आती हैं. और बीच PM में की गाड़ी रहती  इसके आलावा अगर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का दल अगर आपके आस-पास से गुजरता है. तो 100 मीटर की दूरी पर आपका मोबाइल फोन काम करना बंद कर देगा. ऐसा इसलिए क्यों कि इनके दस्ते में जैमर से लैस एक गाड़ी भी रहती है. वर्तमान में प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में 1000 से जायदा SPG कमांडों तैनात हैं. Y Grade Security इस ग्रेड की सिक्योरिटी में 11 जवान होते हैं. इनमे से एक या दो NSG कमांडों होते हैं. SPG कमांडो सबसे हल्के और मजबूत बुलेट प्रूफ जैकेट पहनते हैं. अगर कोई अचानक से प्रधानमन्त्री पर गोलाबारी कर दे तो यह प्रधानमंत्री के आगे खड़े होकर उनकी रक्षा कर सकते हैं. x Grade Security- इस ग्रेड की सिक्योरिटी में 2 जवान होते हैं. जो स्टेट पुलिस के होते हैं. इन्हें पीएसओ भी कहा जाता है. इस ग्रेड की सुरक्षा विधायकों को दी जाती है. 

आज  आपको इस पोस्ट में एक बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी बताई है. इस पोस्ट में मैंने आपको बताया कि किसी भी विशेष आदमी या नेता की सुरक्षा के लिए कौन-कौन सी कंपनियां जिम्मेदारी लेती है. और उनके बारे में आपको विस्तार से जानकारी दी तो यदि हमारे द्वारा बताई गई यह जानकारी आपको अच्छी लगे तो शेयर करना ना भूलें और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.