Course

फिजियोलॉजी क्या है फिजियोलॉजिस्ट कैसे बने

फिजियोलॉजी क्या है फिजियोलॉजिस्ट कैसे बने

किसी भी जीव, प्राणी या मानव का शरीर अलग-अलग प्रकार की अनेक चीजों से मिलकर बना होता है हमारे शरीर में अलग-अलग बहुत सारी कोशिकाएं व हड्डियां होती है. लेकिन अगर हमारे शरीर में किसी भी कोशिका या हड्डी में जरा सी भी परेशानी आ जाती है.

तब हमारे शरीर में इसके गलत परिणाम दिखाई देने लगते हैं जिसमें दर्द सबसे पहला और मुख्य परिणाम होता है इसलिए हमारे शरीर की पूरी संरचना को समझने के लिए कुछ स्पेशलिस्ट होते हैं जिनका कोर्स करने के बाद ही हमारे शरीर की संरचना के को समझा जा सकता है.

जो लोग इस फील्ड में दिलचस्पी रखते हैं वे इस फिल्ड जाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं तो आज के इस ब्लॉग में हम आपको ऐसी ही एक फील्ड के बारे में बताने वाले हैं.

इस ब्लॉग में हम आपको फिजियोलॉजी के बारे में बताने वाले हैं फिजियोलॉजी क्या होता है, फिजियोलॉजी कैसे बने, फिजियोलॉजी क्या-क्या काम करता है, फिजियोलॉजी क्यों जरूरी है.

फिजियोलॉजी क्या होता है

What is Physiology – हमारा शरीर कई अलग-अलग चीजों से मिलकर बना होता है और इस पूरे शरीर की सरंचना को समझना इतना आसान नहीं होता इसलिए जब भी हमारे शरीर में किसी प्रकार की बीमारी होती है. तो उस बीमारी को शरीर के उस पार या उस बीमारी के स्पेशलिस्ट डॉक्टर ही ठीक करते हैं.

वे डॉक्टर शरीर के किसी खास हिस्से या किसी खास बीमारी के बारे में अध्ययन करके स्पेशलिस्ट बनते हैं. जिनके लिए उनको कई अलग-अलग कोर्स भी करने पड़ते हैं. इसके अलावा भी बहुत सारे ऐसे स्पेशलिस्ट होते हैं. जो कि हमारे पूरे शरीर के बारे में अलग-अलग चीजों का अध्ययन करते हैं.

इसी तरह से फिजियोलॉजी भी एक ऐसा ही स्पेशलिस्ट कोर्स होता है जिसमें छात्र को हमारे पूरे शरीर की सरंचना और क्रिया के बारे में अध्ययन करवाया जाता है. जिसमें कोशिकाएं, टिशू और जीव कैसे कार्य करते हैं इन सभी चीजों के बारे में पढ़ाया जाता है. फिजियोलॉजी हमारे शरीर की हर एक कोशिका के कार्य को समझते हैं.

लेकिन फिजियोलॉजी बनना इतना आसान नहीं होता इसके लिए आपको दिन-रात मेहनत करनी पड़ती है और बहुत सारे अलग-अलग विषयों के बारे में पढ़ना पड़ता है. तभी जाकर एक अच्छा फिजियोलॉजिस्ट बनता है. ऐसा नहीं है कि फिजियोलॉजिस्ट सिर्फ मानव शरीर मानव संरचना के बारे में ही अध्ययन करते हैं.

बल्कि इसके अलावा भी वे पृथ्वी चंद्रमा आबादी पर्यावरण जैसी चीजों के बारे में अध्ययन करते हैं और अपने कैरियर में इन सभी चीजों के सवालों का जवाब भी देने की कोशिश करते हैं. एक अच्छा फिजियोलॉजिस्ट बनने के बाद आप कई अलग-अलग विभागों के साथ जुड़ कर काम कर सकते हैं फिजियोलॉजिस्ट को हिंदी में शरीर क्रिया विज्ञान या कार्यिकी कहा जाता है.

फिजियोलॉजिस्ट कैसे बने

How to Become a Physiologist – जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया फिजियोलॉजिस्ट जीवित प्राणियों से संबंधित प्राकृतिक घटनाओं और उनके वर्गीकरण से संबंधित चीजों का अध्ययन करते हैं अगर आप भी इन सभी चीजों में दिलचस्पी रखते हैं तो आप इस फील्ड में अपना कैरियर बना सकते हैं.

इस फिल्ड में अच्छा फिजियोलॉजिस्ट बनने के लिए आपको सबसे पहले 12वीं क्लास साइंस विषय के साथ पास करनी होती है जिसमें आपको फिजिक्स केमेस्ट्री बायोलॉजी जैसे विषयों को पढ़ना होता है. 12वीं क्लास में आपको कम से कम 60% अंक प्राप्त करने होते हैं.

उसके बाद में आपको बैचलर साइंस ऑफ फिजियोलॉजी का कोर्स करना होता है इस कोर्स को करने के लिए पहले आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होता है इन एंट्रेंस एग्जाम में GSAT, DSAT जैसे एंट्रेंस एग्जाम शामिल है.

अगर आप इन एंट्रेंस एग्जाम को पास कर लेते हैं तो उसके बाद में आपको बीएससी फिजियोलॉजी कोर्स में दाखिला मिल जाता है. फिर आपको बीएससी की डिग्री करनी होती है यह कोर्स 3 से 4 वर्ष का होता है इस कोर्स को करने के बाद में आप इसी फील्ड में आगे भी जा सकते हैं.

जहां पर आप एमएससी फिजियोलॉजी या एमबीए जैसे कोर्स की डिग्री कर सकते हैं यह सभी कोर्स 2 साल के होते हैं लेकिन इन सभी कोर्स को करने के बाद में आपको कुछ समय का एक्सपीरियंस भी लेना होता है. जिसके बाद आप अपनी फील्ड में स्पेशलिस्ट बन जाते हैं.

बीएससी जियोलॉजी कोर्स में आपको अलग-अलग सेमेस्टर के हिसाब से अलग-अलग विषय पढ़ाए जाते हैं जिसमें बायोकेमेस्ट्री, माइक्रोबायोलॉजी, एंडोक्राइन सिस्टम,बायोस्टेटिस्टिक्स, ह्यूमन एक्सपेरिमेंट्स जैसे विषय शामिल हैं.

जरूरी स्किल

किसी भी फील्ड में एक अच्छा स्पेशलिस्ट बनने के लिए आपको सिर्फ डिग्री की ही जरूरत नहीं होती है बल्कि इसके अलावा भी आपको कुछ जरूरी स्किल की आवश्यकता पड़ती है.

इसी तरह से फिजियोलॉजिस्ट बनने के लिए आपके अंदर कुछ जरूरी स्किल होना बहुत जरूरी है जो कि आपको इस फील्ड में आगे जाकर मदद करती है जैसे

  • आपके अंदर एडवांस थिंकिंग स्किल होनी चाहिए ताकि आप आगे की चीजों के बारे में सोच सकेंगे
  • आपको टीमवर्क करना आना चाहिए आपको अलग-अलग परेशानियों से बाहर निकलना आना चाहिए
  • जिसके लिए आपके अंदर problem-solving स्किल होनी चाहिए
  • आपके अंदर एनालिटिकल स्किल होना भी जरूरी है ताकि आप अलग-अलग चीजों का एनालाइज कर सकें
  • आपको लबोटरी से संबंधित कामों में दिलचस्पी होनी चाहिए
  • आपकी पर्सनैलिटी व हाव-भाव अच्छा होना चाहिए
  • आपको अपनी फील्ड से संबंधित सभी उपकरणों की अच्छी जानकारी होनी चाहिए
  • आपके अंदर के क्रिटिकल थिंकिंग होना जरूरी है
  • आपके अंदर कम्युनिकेशन स्किल भी होनी चाहिए
  • आपके अंदर कम्युनिकेशन स्किल का अच्छा होना बहुत जरूरी है
  • आपकी अप्रोच साइंटिफिक होनी चाहिए
  • आपको अपने आप के ऊपर भरोसा कॉन्फिडेंस होना चाहिए

जॉब

How to Become a Physiologistअगर आप एक अच्छे फिजियोलॉजिस्ट बन जाते हैं तो उसके बाद में आपको इस फील्ड में जॉब के बहुत सारे अवसर मिलते हैं जहां पर आप अलग-अलग पदों पर जॉब कर सकते हैं.

इस फील्ड में मुख्य रूप से फिजियोलॉजिस्ट,रिसर्च फिजियोलॉजिस्ट,टीचर,एग्रीकल्चरल रिसर्चर, बायोकेमिस्ट, न्यूट्रिशनिस्ट, एकोकार्डियोग्राफर, एपिडेमियोलोजिस्ट, क्लिनिकल एक्सरसाइज फिजियोलॉजिस्ट,बायोमेडिकल साइंटिस्ट,स्पोर्ट्स फिजियोलॉजिस्ट, पैथोलॉजी,टेक्नीशियन, रिप्रोडक्शन टेक्नोलॉजिस्ट, टॉक्सिकोलॉजिस्ट,वेटरनरी साइंटिस्ट,

फार्माकोलॉजिस्ट, फिजियोथेरिपिस्ट,एपिडेमियोलोजिस्ट, फोरेंसिक साइंटिस्ट, हेल्थ इकोनॉमिक्स स्पेशलिस्ट, ह्यूमन रिसोर्सेज ऑफिसर फॉर गवर्मेंट एंड इंडस्ट्री, माइक्रोबायोलॉजिस्ट, लैब असिस्टेंट, पर्सनल ट्रेनर, रिसर्च असिस्टेंट, मेडिकल कंटेंट राइटर जैसे जॉब के पद शामिल हैं.

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बताइ गई फिजियोलॉजी के बारे में यह जानकारी आपको पसंद आई होगी तो यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है और आप ऐसी ही और जानकारियां पाना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट को जरूर विजिट करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button