औषधियों की एलर्जी के कारण लक्षण बचाव व उपचार

औषधियों की एलर्जी के कारण लक्षण बचाव व उपचार

जब भी हमें कोई परेशानी होती है तब हम सबसे पहले घरेलू चीजों व आयुर्वेदिक औषधियों का इस्तेमाल करते हैं जिनसे हमें किसी भी बीमारी के शुरुआती दिनों में राहत भी मिल जाती है लेकिन कई बार कई लोगों को किसी खास प्रकार की औषधि व आयुर्वेदिक दवाओं से इंफेक्शन व एलर्जी होने लगती है.

जिससे रोगी की त्वचा के ऊपर अलग-अलग प्रकार के चक़ते बनने लगते हैं व खाज खुजली व जलन होने लगती है तो इस ब्लॉग में हम इसी समस्या के बारे में बातें करने वाले हैं इस ब्लॉग में हम आपको इस समस्या के उत्पन्न होने के कारण, लक्षण, बचाव व इसके उपचार आदि के बारे में विस्तार से बताएंगे.

औषधियों की एलर्जी

जब भी हमें किसी प्रकार का संक्रमण व अन्य बीमारी होती है तब हम ज्यादातर औषधियों का ही इस्तेमाल करते हैं लेकिन कई बार हमें सही से जानकारी न होने के कारण ये औषधियां हमारे ऊपर दुष्प्रभाव डाल देती है जिससे रोगी कि त्वचा के ऊपर खाज खुजली, जल,न चकत्ते बनना, एलर्जी होना, लालिमा आना, पीप निकलना त्वचा के ऊपर फोड़े फुंसी होना आदि समस्याएं उत्पन्न होने लगती है लेकिन किसी भी इंसान के ऊपर औषधियों का दुष्प्रभाव उसकी मात्रा, उसके इस्तेमाल का मौसम, उसके इस्तेमाल के तरीके के ऊपर निर्भर करता है क्योंकि कई बार हम अलग मौसम में किसी औषधि का इस्तेमाल करते हैं या कई बार हम औषधि का ज्यादा या कम मात्रा में इस्तेमाल कर लेते हैं और बहुत सारे लोगों को औषधियों के इस्तेमाल करने का भी तरीका नहीं पता होता जिनसे हमें औषधियों के दुष्प्रभाव का सामना करना पड़ता है

इसलिए जब भी आप किसी औषधि का इस्तेमाल करते हैं तब आपको उसके बारे में सबसे पहले पूरी जानकारी व इसके उसके इस्तेमाल करने का तरीका पता होना बहुत जरूरी है जब भी किसी इंसान को किसी प्रकार की औषधि से एलर्जी होती है तब यह अलग-अलग प्रकार की होती है जैसे आशुकारी की एलर्जी, शारीरिक एलर्जी, मानसिक एलर्जी, हारमोंस की ग्रंथियों की एलर्जी, महिलाओं में मासिक धर्म से जुड़ी हुई एलर्जी, रोगों की विकृति की एलर्जी छिपी हुई गुप्त रोगों की एलर्जी आदि

कारण

वैसे तो ज्यादातर लोगों में किसी विशेष प्रकार की औषधि के दुष्प्रभाव का कारण सही से जानकारी न होना होता है और लोगों में किसी औषधि के सामान्य दुष्प्रभाव भी होते हैं और इसके अलावा भी इस समस्या के और कई कारण हो सकते हैं जैसे औषधि के इस्तेमाल का तरीका न पता होना, उसकी की मात्रा के बारे में जानकारी न होना, औषधि के इस्तेमाल करने का सही समय ने पता होना, औषधि के इस्तेमाल के साथ किसी अन्य चीज का इस्तेमाल करना, औषधि लेने के बाद किसी एलर्जी वाली चीजों का सेवन करना, औषधि का इस्तेमाल करने के बाद नशीली चीजों में शराब, बीड़ी, सिगरेट आदि का इस्तेमाल करना, औषधि के इस्तेमाल के बाद किसी एलोपैथिक दवाई का सेवन करना, औषधि के इस्तेमाल के बाद सही से पहरेज न करना आदि इसके मुख्य कारण होते हैं

लक्षण

अगर किसी भी इंसान को किसी भी प्रकार की औषधि से एलर्जी होती है तब रोगी में तुरंत इसके लक्षण दिखाई देने लगते हैं और इसके कई मुख्य लक्षण होते हैं जैसे रोगी की त्वचा के ऊपर खाज खुजली होना, रोगी की त्वचा के ऊपर फोड़े फुंसी निकलना, रोगी की त्वचा में सूजन आना, रोगी की त्वचा लाल हो जाना, रोगी की त्वचा के ऊपर घाव होना, रोगी की त्वचा से पीप निकलना, रोगी की त्वचा के ऊपर चकते बनना, रोगी की त्वचा के ऊपर अलग-अलग प्रकार के धब्बे होना, रोगी की त्वचा नीली हो जाना, रोगी की त्वचा से पानी निकलना, रोगी को पित्त उछलना, रोगी को दमा, बुखार, अनिद्रा जैसी समस्याएं उत्पन्न होना, रोगी की मांसपेशियों में ऐंठन होना, रोगी की त्वचा के ऊपर छाले होना, रोगी की आंखों व नाक से पानी बहना, रोगी को सांस लेने में कठिनाई होना, रोगी को बार बार छींक आना, रोगी को लगातार पसीना आना या रोगी को ठंड लगना यह कुछ ऐसे लक्षण होते हैं जो कि किसी भी इंसान को औषधियों के दुष्प्रभाव के कारण दिखाई देते हैं

बचाव

अगर आप किसी भी प्रकार की औषधियों के दुष्प्रभाव से बचना चाहते हैं तब आपको औषधियों के इस्तेमाल करने से पहले और इस्तेमाल करने के तुरंत बाद कुछ ऐसी बातों में ध्यान रखना बहुत जरूरी है जो कि आप को इस समस्या से बचा सकती है जैसे

  • सबसे पहले आपको औषधि के बारे में पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है
  • आपको औषधि के इस्तेमाल करने का तरीका पता होना चाहिए
  • आपको औषधि के इस्तेमाल करने के समय के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है
  • आपको औषधि के इस्तेमाल करने की मात्रा के बारे में जानना बहुत जरूरी है
  • आपको औषधि के इस्तेमाल के साथ किन-किन चीजों का सेवन करना है इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए
  • आपको औषधियों के इस्तेमाल करने के बाद किन-किन चीजों से परहेज करना चाहिए इसके बारे में जानकारी जरूर लेनी चाहिए
  • आपको औषधियों के इस्तेमाल के साथ किसी दूसरी औषधि व एलोपैथिक दवाओं का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको औषधि के इस्तेमाल करने के बाद किसी नशीली चीज जैसे शराब बीड़ी सिगरेट तंबाकू पान गुटखा खैनी आदि का सेवन नहीं करना चाहिए
  • आपको औषधि के इस्तेमाल के लिए किसी अच्छे डॉक्टर से जानकारी लेना बहुत जरूरी है
  • आपको 2 बीमारियां उत्पन्न होने पर किसी एक औषधि का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए
  • अगर आप औषधि का इस्तेमाल कर रहे हैं और आपको कोई भी दुष्प्रभाव दिखाई देते हैं तब आपको औषधि का सेवन बंद कर देना चाहिए और तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए

उपचार

अगर आप किसी प्रकार की औषधि का इस्तेमाल कर रहे हैं और आपको औषधि दुष्प्रभाव दिखा रही है तब आपको औषधि का सेवन बंद कर देना चाहिए और जिस डॉक्टर से आप औषधि ले रहे हैं तुरंत उसके पास जाना चाहिए क्योंकि कई बार औषधियों का दुष्प्रभाव इतना भयानक होता है कि इससे आपकी त्वचा के ऊपर अलग-अलग प्रकार के चकत्ते, जलन, धब्बे, फोड़े फुंसी, चर्म रोग उत्पन्न हो जाते हैं जो कि लंबे समय तक आपका पीछा नहीं छोड़ते हैं

लेकिन फिर भी अगर आप किसी प्रकार की औषधि का इस्तेमाल करते हैं तब आपको सबसे पहले किसी अच्छे डॉक्टर के पास जाना चाहिए और उस औषधि के बारे में पूरी जानकारी लेनी चाहिए और उसको लेने के तरीका, समय व मात्रा के बारे में जरूर जाना चाहिए

औषधियों की एलर्जी के कारण लक्षण बचाव व उपचार नाक की एलर्जी का आयुर्वेदिक उपचार एलर्जी की टेबलेट बताएं नाक और गले की एलर्जी के लक्षण और उपचार एलर्जी की बेस्ट मेडिसिन एलर्जी: कारण लक्षण एवं उपचार नाक की एलर्जी की टेबलेट सांस की एलर्जी के उपाय एलर्जी की अंग्रेजी दवा

Leave a Comment