Course

ऑक्यूपेशन थैरेपिस्ट क्या होता है ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट कैसे बने

ऑक्यूपेशन थैरेपिस्ट क्या होता है ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट कैसे बने

इस तेजी से बदलते हुए खान-पान के कारण इस आधुनिक समय में कई नई नई बीमारियां उत्पन्न हो रही है जिनका इलाज करवाने के लिए हमें अलग-अलग प्रकार के स्पेशलिस्ट डॉक्टर के पास जाना पड़ता है. लेकिन बहुत सारी बीमारियां ऐसी होती हैं. जिनको ठीक करवाने के लिए हमें डॉक्टर की जरूरत नहीं होती.

बल्कि उन बीमारियों के लिए हमें थेरेपिस्ट की जरूरत पड़ती है कई ऐसी बीमारियां होती है जिनकी थेरेपी की जाती है उन बीमारियों को थैरेपिस्ट ही ठीक करते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि थैरेपिस्ट कैसे बनते हैं तो इस ब्लॉग में आपको ऑक्यूपेशन थैरेपिस्ट क्या होते हैं ऑक्यूपेशन थैरेपिस्ट कैसे बनते हैं वह ऑक्यूपेशन थैरेपिस्ट के लिए कौन-कौन से कोर्स करना पड़ता है इन सभी चीजों के बारे में बताने वाले है.

ऑक्यूपेशन थैरेपिस्ट

What is an occupational therapist – इस आधुनिक समय में अलग-अलग बीमारियों के अलग-अलग स्पेशलिस्ट डॉक्टर होते हैं किसी भी बीमारी को ठीक करने के लिए डॉक्टर अलग-अलग प्रकार के ऑपरेशन, दवाइयां व टेस्ट आदि का सहारा लेते हैं जिनके जरिए किसी भी रोगी को आसानी से ठीक किया जाता है.

लेकिन बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो कि शारीरिक या मानसिक रूप से विकलांग होते हैं और उन सभी लोगों को दवाइयों और ऑपरेशन आदि के जरिए की करना बहुत मुश्किल होता है इसलिए उन लोगों को ऑक्यूपेशनल थेरेपी ठीक करते हैं ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट भी एक प्रकार के डॉक्टर होते हैं.

लेकिन ऑक्यूपेशन थैरेपिस्ट मरीज को थेरेपी के जरिए ठीक करते हैं ताकि शारीरिक और मानसिक रूप से विकलांग लोग अपनी साधारण जिंदगी जी सके और आजकल के समय में ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट काफी चर्चा में है. क्योंकि बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो कि अलग-अलग प्रकार की शारीरिक व मानसिक विकलांगता झेल रहे हैं.

उन सभी के लिए एक अच्छे ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट की जरूरत होती है यदि आप एक अच्छे ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट बन जाते हैं तो आप इस फील्ड में जाकर लोगों की भलाई कर सकते हैं और इस फील्ड में आपको अच्छा पैसा भी मिल जाता है.

ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट कैसे बने

How to become an Occupational Therapist – बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जो कि शारीरिक व मानसिक रूप से विकलांग लोगों की मदद करना चाहते हैं तो यदि आप भी उनमें से है तो आप एक अच्छे ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट बनकर भी विकलांग लोगों की मदद कर सकते हैं यदि आप एक अच्छे ऑक्यूपेशन थैरेपिस्ट बनना चाहते हैं.

तो इसके लिए आपको 12 क्लास से ही शुरुआत करनी पड़ती है क्योंकि 12वीं क्लास में आपको साइंस विषय के साथ कम से कम 50% अंक प्राप्त करने होते हैं उसके बाद में आप जिस जगह से ऑक्यूपेशनल थेरेपी कोर्स करना है. वहां पर एंट्रेंस एग्जाम देना होता है अगर आप एंट्रेंस एग्जाम को पास कर लेते हैं.

तो उसके बाद में आपको आसानी से दाखिला मिल जाता है. फिर आपको यहां से ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी होती है. इस कोर्स में आपको शारीरिक व मानसिक रूप से विकलांग मरीजों की देखरेख करना, उनका इलाज करना, उनको थेरेपी देना, उनको साधारण जिंदगी जीने लायक बनाने से संबंधित सभी चीजों के बारे में सिखाया जाता है.

अगर आप ऑक्यूपेशन थेरेपी में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तो उसके बाद में आप इसी फील्ड में मास्टर की डिग्री भी कर सकते हैं और उसके बाद में पीएचडी भी कर सकते हैं लेकिन अच्छा ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट बनना बहुत मुश्किल होता है इसके लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ती है.

अलग-अलग चीजों के बारे में सीखना पड़ता है ऑक्यूपेशनल थेरेपी 4 साल का एक लंबा कोर्स होता है जिसके साथ आप को कम से कम 6 महीने का एक्सपीरियंस भी लेना होता है यदि आप बैचलर की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तो उसके बाद में आप इस फील्ड में कई और डिग्रियां भी कर सकते हैं.

जरूरी स्किल

यदि आप डॉक्टरी लाइन में जाना चाहते हैं तो इस फील्ड में आपको एक अच्छा डॉक्टर या थैरेपिस्ट बनने के लिए डिग्री के अलावा भी कई जरूरी स्किल की आवश्यकता पड़ती है जो कि आपको एक अच्छा डॉक्टर बनाने में मदद करती है जैसे

  • आपका रहने सहने व बात करने का तरीका अच्छा होना चाहिए
  • आपके अंदर धैर्य व सहनशीलता होना बहुत जरूरी है
  • आपको मरीज को कन्वेंस करने की स्किल होनी चाहिए
  • आपको अलग-अलग मरीज, लोगों से कम्युनिकेशन बनाना आना चाहिए
  • आपको अपने मरीज को नियंत्रण में करने की स्किल भी होनी चाहिए
  • आपको मरीज को यह भरोसा दिलाना आना चाहिए कि वह जल्द ही ठीक हो जाएगा
  • आपको अपने काम से संबंधित सभी जरूरी चीजों की जानकारी होनी चाहिए
  • आपका समय का पाबंद होना बहुत जरूरी है

ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट के कार्य

ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट बनने के बाद में आप अलग-अलग जगहों पर जाकर जॉब कर सकते हैं जहां पर आपको कई अलग-अलग कार्य करने होते हैं जैसे

  • आपको शारीरिक व मानसिक रूप से विकलांग लोगों को कस्टमाइज्ड उपचार देना होता है
  • आपको ट्रामा सेंटर में मरीजों की देखभाल भी करनी पड़ती है
  • आपको उपचार शुरू करने के बाद में मरीज की प्रोग्रेसिव रिपोर्ट भी देखनी पड़ती है
  • आप अलग-अलग अस्पतालों में इमरजेंसी और फै्रक्चर्ड मैनेजमेंट डिपार्टमेंट में भी काम कर सकते हैं
  • आपको शारीरिक और मानसिक रूप से विकलांग लोगों को अलग-अलग प्रकार की की सहायता देनी होती है जो कि उनको साधारण जिंदगी जीने में मदद कर सके
  • आपको अपनी मरीजों को ठीक करने के लिए अलग-अलग प्रकार के व्यायाम व थेरेपी देनी होती हैं

जॉब

Occupational Therapist job in India – यदि आप ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद मैं आपको कुछ समय के एक्सपीरियंस के लिए अलग-अलग जगहों पर आवेदन करना होता है और एक्सपीरियंस लेने के बाद में आप अलग-अलग जगहों पर जॉब कर सकते हैं.

क्योंकि इस फील्ड में एक अच्छे ऑक्यूपेशन थेरेपिस्ट की मांग रहती है जिससे आपको अलग-अलग जगहों पर आसानी से जो मिल जाती है यदि आप प्राइवेट व सरकारी अस्पतालों में भी काम करना चाहते हैं तो इन सभी जगहों पर भी आप को जॉब करने का मौका मिलता है.

आप ऑक्यूपेशनल थेरेपी टेक्नीशियन, कंसल्टेंट, ऑक्यूपेशनल थेरेपी नर्स, रीहैबिलिटेशन थेरेपी असिस्टेंट, स्पीच एंड लैंग्वेज थेरेपिस्ट, स्कूल टीचर, लैब टेक्नीशियन और मेडिकल रिकॉर्ड जैसी जगहों पर भी एक अच्छे ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट के रूप में काम कर सकते हैं.

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बताए गए ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट के बारे में है जानकारी आपको पसंद आई होगी तो यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है और आप ऐसी ही और जानकारियां पाना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट को जरूर विजिट करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button