Course

एनर्जी मैनेजमेंट क्या होता है एनर्जी मैनेजर कैसे बने

एनर्जी मैनेजमेंट क्या होता है एनर्जी मैनेजर कैसे बने

हमारे शरीर को चलाने के लिए हमें ऊर्जा की जरूरत पड़ती है जो कि हमारे खाने पीने वाले भोजन से हमें प्राप्त होती है इसी तरह से हमारी रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल होने वाले अलग-अलग उपकरण व साधनों को चलाने के लिए भी हमें ऊर्जा या पावर की जरूरत पड़ती है.

चाहे वह किसी भी प्रकार की ऊर्जा हो हमारी धरती के ऊपर ऊर्जा के बहुत सारे अलग-अलग स्त्रोत हैं जिनकी ऊर्जा का इस्तेमाल करके हम गाड़ी बस ट्रेन या दूसरी ऐसी चीजें चलाते हैं जिनका हमारे जीवन में इस्तेमाल होता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि एनर्जी या पावर को कैसे तैयार किया जाता है .

कैसे इसको हमारे तक पहुंचाया जाता है तो इस ब्लॉग में हम आपको इसी फिल्ड के बारे में बताने वाले हैं इस ब्लॉग में हम आपको एनर्जी या पावर मैनेजमेंट के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं इस फील्ड में आप अपना अच्छा कैरियर भी बना सकते हैं.

एनर्जी मैनेजमेंट क्या होता है

What is energy management – किसी भी बस गाड़ी का ट्रेन जहाज आदि को चलाने के लिए हमें एनर्जी की जरूरत पड़ती ही है इसके अलावा जितने भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है उनको चलाने के लिए भी हमें ऊर्जा की जरूरत पड़ती है. हालांकि अलग-अलग उपकरणों व साधनों को चलाने के लिए हम अलग-अलग ऊर्जा के स्रोतों का इस्तेमाल करते हैं.

लेकिन ऊर्जा के बिना किसी भी चीज को चलाना नामुमकिन होता है आज के आधुनिक समय में हम ऊर्जा को अनेक स्त्रोतों से प्राप्त कर रहे हैं जिनमें तेल गैस इंजन इंधन प्राकृतिक गैस जल वायु सौर ऊर्जा जैसे स्त्रोत शामिल है.

इन सभी स्त्रोतों से हम अलग-अलग प्रकार की ऊर्जा का ग्रहण करते हैं और फिर उनको अलग अलग तरीके से इस्तेमाल करके उन से काम लेते हैं और इन सभी ऊर्जा के स्त्रोत को मैनेज करना और इनको अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल करना.

इनको इकट्ठा करके इस्तेमाल के लिए भेजना और इनको स्टोर करके इनकी बचत करना आदि काम एनर्जी मैनेजमेंट का होता है क्योंकि दुनिया में तेजी से विकास किया जा रहा है जिसके लिए हमें दिन-रात ऊर्जा की जरूरत उर्जा की जरूरत पड़ती है .

इन सभी ऊर्जा के स्त्रोत का संरक्षण करके ही ऊर्जा की पूर्ति को पूरा किया जाता है. यह सभी काम एनर्जी मैनेजमेंट करता है यदि आप एक अच्छे एनर्जी मैनेजर बन जाते हैं उसके बाद आप इस फील्ड में काफी अच्छा कैरियर की बना सकते हैं.

एनर्जी मैनेजमेंट के काम

हमारी धरती के ऊपर जितने भी प्राकृतिक या कृत्रिम उर्जा के स्त्रोत हैं इन सभी से ऊर्जा प्राप्त करके उसको इस्तेमाल हेतु बनाने और को अलग-अलग जगहों पर पहुंचाने के लिए एक प्रक्रिया बनाई जाती है. उस प्रक्रिया के जरिए ही अलग-अलग जगहों पर उनकी क्षमता के हिसाब से ऊर्जा को भेजा जाता है.

अगर किसी जगह पर ज्यादा ऊर्जा की जरूरत है तो उसको भी मैनेज करने का काम एनर्जी मैनेजमेंट का ही होता है ऊर्जा को सही तरीके से इस्तेमाल करना उसकी मदद करना उसकी बर्बादी को रोकना और उसको सुचारू रूप से चलाए रखने का काम एनर्जी मैनेजर करता है.

जिसके लिए उसको अलग-अलग योजनाएं बनानी पड़ती है जिसके लिए एनर्जी मैनेजर अलग-अलग प्रकार की चीजें व लोगों का इस्तेमाल भी कर सकता है क्योंकि एनर्जी मैनेजर एक बहुत बड़े ऊर्जा के स्त्रोत को संभालता है जिसमें उसको कई अलग-अलग लोगों का सहारा लेना पड़ता है.

एनर्जी मैनेजमेंट कोर्स कैसे करें

How to become an energy manager – अगर आप एनर्जी मैनेजमेंट में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको साइंस विषय के साथ 12वीं क्लास पास करनी होती है जिसमें आपको फिजिक्स केमेस्ट्री मैथ कंप्यूटर साइंस जैसे विषय चुनने होते हैं. इसके बाद में आपको किसी भी कॉलेज में दाखिला लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम देना होता है.

इस एंट्रेंस एग्जाम में आपसे कई अलग-अलग प्रकार की परीक्षाएं ली जाती है जिनको पास करने के बाद में आपको एनर्जी मैनेजमेंट कोर्स में दाखिला मिल जाता है. एनर्जी मैनेजमेंट कोर्स 4 साल का डिग्री कोर्स होता है. जिसमें आपको एनर्जी मैनेजमेंट कॉन्सेप्ट ,फाइनेंशियल अप्रेजल, एग्जास्टिंग एनर्जी सिस्टम्स.

इसके अलावा अलग-अलग एनर्जी स्त्रोतों से जुड़ी हुई चीजों के बारे में पढ़ाया जाता है और इसके साथ ही आपको कई अलग-अलग प्रोजेक्ट्स व प्रैक्टिकल भी बनाने पड़ते हैं अगर आप इस फील्ड में आगे-आगे जाना चाहते हैं.

तो आप प्रोजेक्ट मैनेजमेंट में एमबीए भी कर सकते हैं और इसके बाद में आप इस फील्ड में और भी आगे जा सकते हैं लेकिन एनर्जी मैनेजमेंट फिल्ड कैरियर बनाना इतना आसान नहीं होता बल्कि इसके लिए आपको दिन-रात मेहनत करनी पड़ती है . अलग-अलग विषयो में पढ़ना पड़ता है.

एनर्जी मैनेजमेंट में मुख्य रूप से सप्लाई चैन मैनेजमेंट,बिजनेस स्ट्रेटजी,बिजनेस एंड मनी,वैल्यू एंड मार्केट्स फंडामेंटल्स इन इकॉनॉमिक्स, लीगल, टेक्नोलॉजी एंड बिजनेस,फ्यूचर एनर्जीज Internationalization ऑफ एनर्जी फाइनेंस, बिजनेस मॉडल इनोवेशन,कंटेंपरेरी, इश्यूज इन ऑयल, गैस एंड एनर्जी, कार्बन मैनेजमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप, रिसर्च मेथड्स, एनर्जी नेटवर्क्स जैसे विषयो के बारे में पढ़ाया जाता है.

जरूरी स्किल

अगर आप एनर्जी मैनेजमेंट में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको डिग्री प्राप्त करने से कुछ नहीं होता बल्कि इसके साथ-साथ आपके अंदर कुछ ऐसी जरूरी स्किल होना भी जरूरी है जो कि आपको इस फील्ड में काफी मदद करती है जैसे

  • आपका इंटरेस्ट एनर्जी मैनेजमेंट में होना बहुत जरूरी है
  • आपके अंदर धैर्य व सहनशीलता होना बहुत जरूरी है
  • आपको ऊर्जा के स्त्रोत से जुड़ी हुई पूरी जानकारी होनी चाहिए
  • आपको टीम वर्क करना आना चाहिए
  • आपके अंदर कन्वेंशनल स्किल होना बहुत जरूरी है
  • आपके अंदर कम्युनिकेशन स्किल भी होनी चाहिए
  • आपको नए-नए ऊर्जा स्रोतों के प्रोजेक्ट बनाने आने चाहिए
  • आपको अलग-अलग डिजाइनर को क्रिएट करना आना चाहिए जिसके लिए क्रिएटिव स्किल होना जरूरी है
  • आपके बात करने, रहने सहने व काम करने का ढंग अच्छा होना चाहिए

जॉब

Energy manager Jo in India – अगर आप इस फील्ड में एनर्जी मैनेजमेंट कोर्स कर लेते हैं तो उसके बाद में आपको कुछ समय का अभ्यास करने के लिए अलग-अलग एनर्जी डिपार्टमेंट के साथ जुड़ना होता है फिर आप एनर्जी मैनेजर के तौर पर कार्य कर सकते हैं इस फील्ड में आपके सामने कई ऐसे पद होते हैं जहां पर आप कार्य कर सकते हैं.

जिनमें एनर्जी मैनेजर, सोलर सिस्टम एनर्जी मैनेजर, सब स्टेशन मैनेजर, क्वालिटी कंट्रोल मैनेजर, डिस्ट्रीब्यूटर इंजीनियर ,कमीशन इंजीनियर, मेंटेनेंस इंजीनियर, प्रोजेक्ट मैनेजर, सुपरवाइजर जैसे पद होते हैं.

इसके अलावा हमारे देश में ऐसी बहुत सारी अलग-अलग कंपनियां हैं. जो कि अलग-अलग एनर्जी डिपार्टमेंट का हिस्सा है जिनमें आप आसानी से जॉब कर सकते हैं जहां पर आपको अच्छा सैलरी पैकेज भी मिल जाता है.

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बताई गई एनर्जी मैनेजमेंट के बारे में जानकारी आपको पसंद आई होगी यह तो यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है और आप ऐसी ही और जानकारी आप आना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट को जरूर विजिट करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button