Www का आविष्कार किसने किया

Www का आविष्कार किसने किया

दो तो हम आपको पहले ही बता चुके हैं और आप इस पोस्ट में फिर से आपको बता देंगे और आप यह बातें जानते भी होंगे कि आज की दुनिया में सबसे ज्यादा इंटरनेट का इस्तेमाल किया जाता है और इंटरनेट के बिना आजकल सभी काम अधूरे हैं इंटरनेट के होते हुए हम किसी भी जगह से कुछ भी काम घर बैठकर कर सकते हैं इंटरनेट के कारण ही दुनिया की बहुत बड़ी बड़ी कंपनियां का बिजनेस दूसरे देशों में चलता है और इंटरनेट के कारण हम दुनिया के किसी भी जगह चाहिए कुछ भी सामान ऑर्डर कर सकते हैं पेमेंट डाल सकते हैं या फिर ले सकते हैं किसी भी तरह के डॉक्यूमेंट वीडियो ऑडियो फोटोस कुछ भी मंगवा सकते हैं या बेच सकते हैं इंटरनेट का आविष्कार दुनिया के लिए एक वरदान से कम नहीं है

इंटरनेट दुनिया में बहुत बड़ी क्रांति लाकर खड़ी कर दी हम इंटरनेट के आविष्कार के बारे में पहले भी आपको बता चुके हैं कि इंटरनेट का आविष्कार बहुत पुराना तो नहीं लेकिन ज्यादा अभी हुआ है इंटरनेट अकेला कुछ नहीं कर सकता यह बात सच है लेकिन अगर इंटरनेट नहीं होगा तो उसके बिना भी कुछ नहीं हो सकता तो इंटरनेट के जरिए हम किसी भी तरह की जानकारी पा सकते हैं लेकिन उसके लिए हमारे पास एक जरूरी चीज होना बहुत ही आवश्यक है या तो किसी भी तरह का PC या अपना स्मार्टफोन उसके अंदर हम अपने किसी भी काम को कर सकते हैं आजकल ज्यादातर काम फोन या अपने लैपटॉप से ही किया जाता है तो आज हम आपको बताएंगे कि आप किस तरह से कंप्यूटर, लैपटॉप में जानकारी प्राप्त करते हैं और जानकारी पाने के लिए हमें एक सबसे बड़ी चीज डालनी पड़ती है और वह है www .आज हम आपको इस पोस्ट में www के बारे में जानकारी देंगे. तो नीचे हम आपको www वर्ल्ड के बारे में बता रहे हैं.

Www का पूरा नाम  (World Wide Web) वर्ल्ड वाइड वेब है और यह एक  डेटा बेस है और वर्ल्ड वाइड वेब  एक जानकारियों का भण्डार  है आप कह सकते है की यह जानकारी की दुनिया है इसमें  लगभग सभी जानकारी मिलती है Www के अंदर जानकारी हाइपर टेक्स्ट या लिंक (HYPER TEXT OR LINK)  के अंदर होती है और यह इंटरनेट के माध्यम से काम करता है वर्ल्ड वाइड वेब और इन्टरनेट दोनों एक दुसरे पर निर्भर करते है क्योकि इन्टरनेट का इस्तेमाल करके ही वर्ल्ड वाइड वेब से जानकारी ले सकते है.

वर्ल्ड वाइड वेब इन्टरनेट से दुनिया भर को कंप्यूटर से जोड़े रखता है और वर्ल्ड वाइड वेब ,  वेब ब्राउज़र और वेब सर्वर जैसे HTML , HTTP पर काम करता है जैसे ;जब भी आप कोई वेबसाइट इंटरनेट में ओपन करते है या फिर किसी वेब ब्राउज़र में वेबसाइट को ओपन करते है तो वेबसाइट की एड्रेस पहले वर्ल्ड वाइड वेब से ही शुरू हुआ मिलता है और वर्ल्ड वाइड वेब में  हम वेब ब्राउज़र से ही पहुच सकते है और वेब ब्राउज़र एक प्रकार का सॉफ्टवेयर होता है, जो की वर्ल्ड वाइड वेब या किसी सर्वर पर उपलब्ध  जानकारियों को देखने तथा अन्य इन्टरनेट सुविधाओं के प्रयोग करने के लिए उपलब्ध है.

और वेब पेज HTML कंप्यूटर भाषा मैं लिखे जाते है, तथा वेब ब्राउजर उन HTML पेज  को यूजर के कंप्यूटर पर शो करता है  वेब ब्राउज़र का इस्तेमाल हम कंप्यूटर , मोबाइल पर कर सकते हैं जिस से हम वर्ल्ड वाइड वेब  से  बहुत जानकारी ले सकते है पहला वेब पेज 30 अप्रैल 1993 में सर्न ने बनाया था जो Www को दुनिया के लिए बिलकुल फ्री कर दिया |

 Www का आविष्कार किसने किया

वर्ल्ड वाइड वेब का आविष्कार Tim Berners – Lee और Robert Cailliau ने सन , 1989 में की थी और यह पूरी तरह से सन , 6 अगस्त 1991 में शुरु किया गया था इस दिन आम जनता के लिए वर्ल्ड वाइड वेब शुरू हो गया था और लोग इसका अच्छे से इस्तेमाल करने लगे थे पर लोगों को शुरु-शुरु में इसे दिक्कत का सामना करना  पड़ा क्योंकि शुरू में न ही तो अच्छी तरह वह पेज तैयार  किए गए थे और और ना ही अच्छे वेब  ब्राउज़र थे लेकिन पहली बार इन्टरनेट का प्रदर्शन  क्रिसमस के दिन सन ,1990 में किया गया था |

और यूरोप में पहली बार सर्वर SLAC  के नाम से  दिसम्बर 1991 में बनाया गया था शुरुआत में कुछ दिन वर्ल्ड वाइड वेब को इस्तेमाल करने के लिए पैसे देने पड़ते थे और 30 अप्रैल 1993 को सर्न ने घोषणा की कि  WWW  सबके लिए निःशुल्क कर दिया जायेगा और  पीछे का कोई बकाया नही रहेगा WWW की तरह ही चलने वाले   गोफर (Gopher) प्रोटोकॉल कि एक घोषणा कि की अब उसकी सेवा निःशुल्क नहीं है जिस से लोगों का रुझान बहुत तेज़ी से गोफर की बजाय वेब की तरफ़ हो गया (ViolaWWW) एक शुरुआती लोकप्रिय वेब ब्राउसर था, जो कि हाइपर कार्ड  पर आधारित था

और सन ,2001 के एक सर्वे  के मुताबिक वेब में 550 अरब से भी ज्यादा  डॉक्यूमेंट वर्ल्ड वाइड वेब के उपर डाटा के रूप में पड़े है और सन 2002 के सर्वे  के अनुसार  2024 मिलियन  वेब पेज , अंग्रेजी में थी जो  56.4% से भी ज्यादा है उसके बाद जर्मन भाषा में (7.7%), फ्रेंच (5.6%) और जापानी (4.9%) आदि में है और मार्च 2008 तक 100.1 मिलियन से ज्यादा वेब साइटें WWW में  कार्य कर रही थीं और यह दिन भर इनकी मात्रा बढ़ती जा रही है

 यह भी देखें

तो आज हमने आपको इस पोस्ट में बताया   world wide web ki khoj kisne ki www ki khoj kisne ki thi www ka avishkar kisne kiya world wide web ki khoj kisne ki thi www  वर्ल्ड वाइड वेब के आविष्कार के बारे में इसके बारे में हमने आपको और भी बहुत ही रोचक जानकारी दें यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरुर बताएं और यदि आपको यह जानकारी पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें अगर आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं.

4 Comments
  1. moharam ali says

    और हमको बहुत अच्छा लगा सर और अलाह से प्रथना करेगे की आपको और गयान मिले
    good mornig सर

  2. faishal says

    bahut pasand aya sir

  3. krishna gopal shakya says

    nice sir

  4. bharti sharma says

    bahut accha lga g

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+