ECR और NON ECR पासपोर्ट में क्या अंतर होता है

ECR और NON ECR पासपोर्ट में क्या अंतर होता है

What is the difference between ECR and NON ECR passport in Hindi ? आज हम आपको इस पोस्ट में एक और बहुत ही बढ़िया और महत्वपूर्ण जानकारी बताएंगे यह जानकारी जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी है. इससे पहले हमने एक पोस्ट की थी उसमें बताया था कि आप पासपोर्ट किस तरह से बनवा सकते हैं. लेकिन आज हम आपको इस पोस्ट में बताएंगे कि कितने प्रकार के होते हैं. और यह बात शायद आप नहीं जानते होंगे या जानते होंगे. या इनके बारे में कुछ खास जानकारी आपको नहीं होगी. और वैसे तो बहुत कम ही लोगों को पता है. कि पासपोर्ट दो तरह के होते हैं.

एक पासपोर्ट ECR और दूसरा ENCR दो तरह के होते हैं. तो इन दोनों पासपोर्ट में क्या क्या अंतर होता है. और यह कैसे होते हैं. इसके बारे में हम आपको पूरी और विस्तार से जानकारी कर इस पोस्ट में देंगे.तो आप इस जानकारी को अच्छी तरह से पढ़ें. क्योंकि यह जानकारी आपको पासपोर्ट बनवाते समय बहुत काम आने वाली जानकारी है. आपको पासपोर्ट बनवाते समय इन दोनों के बारे में जानना बहुत जरूरी होता है. तो इस जानकारी को आप अच्छी तरह से पढ़े और उसके बाद ही पासपोर्ट करवाए तो नीचे हम आपको इन दोनों पासपोर्ट के बारे में बता रहे हैं.

ECR पासपोर्ट क्या होता है

सबसे पहले हम आपको बताएंगे कि ECR पासपोर्ट क्या होता है. सबसे पहले हम आपको बता दें कि ECR का मतलब क्या होता है. ECR का मतलब Emigration Check Required Passport होता है.यह पासपोर्ट उन लोगों के लिए बनाया जाता है जो लोग पासपोर्ट बनवाते समय अपने डॉक्यूमेंट में दसवीं की मार्कशीट नहीं लगाते हैं. 

ECNR पासपोर्ट क्या होता है

तो ऊपर आपने जाना ECR पासपोर्ट क्या होता है और हम आपको बता दें कि ECNR पासपोर्ट क्या होता है. सबसे पहले हम आपको बताते हैं. कि ECNR का मतलब क्या होता है. ECNR का मतलब Immigration Check Not Required होता है. यह पासपोर्ट उन लोगों के लिए बनाया जाता है जिन्होंने पासपोर्ट बनवाते समय अपने डॉक्यूमेंट में दसवीं क्लास जा उसके ऊपर किसी भी क्लास की मार्कशीट लगाई हो तो उन लोगों को NON ECR कैटेगरी का पासपोर्ट जारी किया जाता है. तो नीचे हम आपको बताएंगे कि ईसीआर और NON ECR पासपोर्ट में क्या फर्क होता है. यह जानना आपके लिए बहुत ही जरूरी है. क्योंकि सबसे जरूरी चीज पासपोर्ट में यही होती है.

ECR और NON ECR पासपोर्ट में क्या अंतर होता है

वैसे तो आपको इन दोनों पासपोर्ट में कोई अंतर नजर नहीं आएगा क्योंकि यह इसमें ज्यादा बड़ा अंतर है. तो हम आपको बताते हैं. कि इसमें क्या अंतर होता है.यदि आप विदेश में जाना चाहते हैं. अपने काम के अलावा किसी और इरादे से या और चीज के लिए जैसे इलाज के लिए, पढ़ाई के लिए ,या फिर घूमने फिरने के लिए, तो उस समय ECR और NON ECR पासपोर्ट में आपको कोई अंतर नजर नहीं आएगा क्योंकि उस समय यह दोनों एक जैसे ही काम करते हैं.यदि आपका ECR पासपोर्ट है. तो भी आप जा सकते हैं. और यदि NON ECR पासपोर्ट है. तो भी जा सकते हैं. ECR पासपोर्ट वाले के साथ में अगर एक वैलिड वीजा, वैलिड पासपोर्ट और एक रिटर्न टिकट है, तोवह आदमी घूमने के लिए, पढ़ाई के लिए या फिर अपने किसी तरह के इलाज के लिए विदेश में जा सकता है तो उसको कोई दिक्कत नहीं होगी.

लेकिन इन दोनों पासपोर्ट में फर्क वहां साबित होता है. सब यदि आप किसी भी देश में काम करने के लिए जाते हैं. यदि आप काम के लिए विदेश जाना चाहते हैं. और आपके पास ECR पासपोर्ट है. तो आपको Ofice Of Protector Of Emigrants क्लीयरेंस लेना होता है. जब भी आप किसी देश में जाएंगे तो वहां पर एयरपोर्ट के ऊपर ही आपको इमीग्रेशन काउंटर बने होते हैं. और वहां से आपको क्लीयरेंस लेना होता है. यदि आप काम के लिए विदेश में जाते हैं. तो 18 देशों में काम के लिए जाने से पहले इमीग्रेशन काउंटर से क्लीयरेंस लेना होगा उन 18 देशों में शामिल है.

संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब कतर के राज्य, कतर, ओमान, कुवैत, बहरी,न मलेशिया, लीबिया, जॉर्डन ,यमन ,सूडान, अफगानिस्तान, इंडोनेशिया, सीरिया, लेबनान, थाईलैंड या इराक. यदि आप इन 18 देशों में से किसी भी एक देश में काम करने के लिए जाते हैं और आपके पास  ECR श्रेणी का पासपोर्ट है. यानी कि वह ऐसा पासपोर्ट है. जिसमें आपने पासपोर्ट बनवाते समय दसवीं क्लास की मार्कशीट नहीं लगाई थी. तो उस स्थिति में आप को इमीग्रेशन काउंटर से क्लीयरेंस लेना होगा तभी आप दूसरे देश में काम करने के लिए जा सकते हैं. अगर आपके पास नॉन ईसीआर श्रेणी का पासपोर्ट है.

जब आपने पासपोर्ट बनवाते समय अपने पासपोर्ट के डॉक्यूमेंट के साथ दसवीं क्लास की मार्कशीट या उससे ऊपर किसी भी क्लास की मार्कशीट लगाई थी. वह आपके वह पासपोर्ट है. और आप इन 18 देशों में से किसी देश में काम करने के लिए जाना चाहते हैं. तो आपको किसी भी प्रकार के क्लीयरेंस लेने की जरूरत नहीं होती है. तो इन सभी देशों में आप ECNR यानी NON ECR श्रेणी पासपोर्ट के साथ जा सकते है. बिना किसी दिक्कत के दूसरे देश में काम करने के लिए जा सकते हैं. और इन दोनों पासपोर्ट में बस यही सबसे बड़ा एक अंतर होता है. ECR पासपोर्ट जिससे कि आपको दूसरे देशों में काम करने के लिए जाने में दिक्कत हो सकती है. और दूसरे यानी नॉन ईसीआर पासपोर्ट से आपको दूसरे देश में काम करने के लिए दिक्कत नहीं होगी और ना ही आपको किसी तरह की फॉर्मेलिटी को पूरा करना पड़ेगा.

अब आपको पता चल गया होगा कि NON ECR पासपोर्ट और ईसीआर पासपोर्ट क्या होते हैं. और इनका क्या काम होता है.  इन दोनों में क्या अंतर होता है. और अब आप जब भी पासपोर्ट बनवाते हैं तो आपको इन दोनों बातों को ध्यान में रखकर पासपोर्ट बनवाना चाहिए ताकि आपको आगे जाकर किसी भी तरह की दिक्कत ना हो और ना ही आपको बाद में किसी दूसरी फॉर्मेलिटी को पूरी करने की जरूरत हो और आपको अपने पासपोर्ट लेने की जरूरत ना हो.

तो आज हमने आपको इस पोस्ट में एक बहुत ही बढ़िया और आपके लिए फायदेमंद जानकारी बताई है. इस पोस्ट में होने आपको ECR और NON ECR पासपोर्ट क्या होते हैं.  What is the difference between ECR and NON ECR passport in Hindi ? के बारे में पूरी और विस्तार से जानकारी दी है. पहले शायद आपको यह जानकारी कहीं पर नहीं मिली होगी लेकिन आपको यह जानकारी जानना बहुत ही जरूरी था. अगर पासपोर्ट बनवाना चाहते हैं. तो इन दोनों में  किसी तरह के पासपोर्ट को बनवा सकते हैं. लेकिन आपको इन दोनों की बातों को ध्यान में रखना जरूरी है. तो यदि हमारे द्वारा बताई गई जानकारी आपको पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें. और यदि आपके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं.

4 Comments
  1. Khan bhai says

    Sir ecr passport ko ecnr kaise karaye mark sit hai 12 aur 10 ka abhi se hojayega

  2. Pooja Jain says

    Sir muja ECR passport Banya to koi problem too nhi Aya gi gumna jna ka liya banyana ha passport

    1. hindigyanbook says

      koi problem nahi hai

  3. Sanjeet says

    Sir this knowledge is very important
    Thank you so much

Leave A Reply

Your email address will not be published.