VPN क्या है और इसके फायदे नुकसान और Best VPN App कौन से हैं

VPN क्या है और इसके फायदे नुकसान और Best VPN App कौन से हैं

जब इंटरनेट स्पीड कम होने पर हम इंटरनेट की स्पीड देखने के लिए कोई Trick सर्च करते हैं तो VPN का नाम जरूर आता है और तब हम यह सोचते हैं कि यह VPN क्या है और यह काम कैसे करता है. इंटरनेट पर कुछ ऐसी वेबसाइट है जो इंडिया और दूसरे Country में बंद है तो इस तरह की वेबसाइट को अगर Access करना चाहते हैं तो यह ब्लॉक वेबसाइट को ओपन करना चाहते हैं तो आप VPN का यूज कर सकते हैं.

आजकल हर कोई हैकर बना हुआ है. जब आप सोशल मीडिया पर कदम रखते हैं तो हर 3rd person आपको हैकर मिल जाएगा. अगर कोई हैकर आपका पर्सनल डाटा चोरी कर लेता है. तो वह आपको इसके लिए ब्लैकमेल कर सकता है. इसके लिए इंटरनेट पर बहुत से टिप्स और ट्रिक मिल जाएंगे. इन सबके अलावा भी VPN  भी आपकी लोकेशन को छुपाने के काम भी आता है. आज इस आर्टिकल में हम आपको भी VPN के बारे में पूरी information देंगे.

What is VPN in Hindi

VPN की फुल फॉर्म Virtual Private Network है. यह एक तरह का नेटवर्क जिसका इस्तेमाल प्राइवेट नेटवर्क और वाईफाई को सिक्योर करने के लिए किया जाता है. यह बहुत ही बढ़िया टेक्निक है. जिसकी मदद से आप अपने पर्सनल डाटा को हैकर से बचाकर कहीं भी ट्रांसफर कर सकते हैं.

VPN सर्विस का इस्तेमाल ज्यादातर ऑनलाइन काम करने वाले ट्रेडर्स, ऑर्गनाइजेशन, गवर्नमेंट एजेंसी और इस तरह के लोग इस्तेमाल करते हैं जो ऑनलाइन बिजनेस करते हैं. ताकि वह अपना डाटा हैकर से बचा कर रख सके और उनके डॉक्यूमेंट लीक ना हो.

Virtual Private Network सभी प्रकार के डेटा को सिक्योर करता है चाहे डाटा इंपॉर्टेंट हो या न हो. VPN का इस्तेमाल कंप्यूटर और मोबाइल दोनो में इस्तेमाल करके डाटा को सिक्योर किया जा सकता है. इसे आप बिना हैक हुए कहीं पर भी डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं. और कोई भी ब्लॉक वेबसाइट ओपन कर सकते हैं.

How VPN Works In Hindi

VPN का काम इंटरनेट पर हमारी डाटा को सिक्योर करना होता है. इसके अलावा ऐसे app से block वेबसाइट पर भी विजिट कर सकते हैं अब हम बात करते हैं VPN कैसे काम करता है.

जब हम बिना VPN के मोबाइल में इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं. तो हमारा डिवाइस लोकल नेटवर्क पर काम करता है. जैसे हम किसी हैकर के द्वारा आसानी से हैक किए जा सकते हैं और इसके अलावा हम हमारे देश में ब्लाक हुई वेबसाइट भी ओपन नहीं कर पाते है और जब आप अपनी डिवाइस को VPN से कनेक्ट करते हैं तो यहां एक स्पेशल नेटवर्क से कनेक्टेड हो जाता है. जिसकी मदद से आप अपने डाटा को securely कहीं भी भेज सकते हैं और किसी भी block वेबसाइट को ओपन कर सकते हैं.

जब डिवाइस VPN से कनेक्ट होता है और हम किसी ब्लॉक वेबसाइट को ओपन करते हैं तो VPN block वेबसाइट पर यूजर request send करता है और वेबसाइट का सारा डाटा आपके डिवाइस पर दिखा दिया जाता है. जब आपका डिवाइस वेबसाइट की सर्वर पर एक्सेस की रिक्वेस्ट भेजता है तो वहां किसी और IP एड्रेस से tunneling करके डिवाइस की information send करता है जिससे वेबसाइट के सर्वर को देश बदलकर बेवकूफ बना दिया जाता है और आपकी डिवाइस में सारा डाटा show हो जाता है.

जब आपके और आपके क्लाइंट के बीच में VPN सेटअप जो होता तो एक encrypted convert डेटा फाइल को आपके क्लाइंट के पास send की जाती है जिससे आप का डाटा चोरी होने का खतरा नहीं रहता है और इस तरीके से VPN सिस्टम काम करता है.

उदाहरण के तौर पर netflix वेबसाइट जब इंडिया में नहीं आई थी तब VPN का यूज करके ही वेबसाइट को एक्सेस किया जा सकता था. क्योंकि इससे सिर्फ US और UK की नेटवर्क पर ही एक्सेस मिलता था. इस वजह से VPN का इस्तेमाल करके हमारे डिवाइस के नेटवर्क का इस्तेमाल दुसरे देश के लोकल नेटवर्क की तरह show करता था जिससे हम आसानी से किसी भी वेबसाइट को access कर सकते हैं.

VPN किसको इस्तेमाल करना चाहिए?

कोई भी बिजनेस हो चाहे छोटा या बड़ा हमें हमेशा सिक्योरिटी के बारे में ही ध्यान रखना चाहिए. आज इस आर्टिकल में हम ऑनलाइन नेटवर्क और बिजनेस की सिक्योरिटी के बारे में बात कर रहे हैं. जिसमें हम भी आपको VPN के बारे में जानकारी दी है. अब बात  आती है कि VPN को कैसे यूज़ करना चाहिए.

जब भी हम किसी होटल एयरपोर्ट और कॉफी शॉप में कि किसी पब्लिक वाईफाई से इन्टरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं तो कोई हैक कर हमारी लोकेशन और हमारे डिटेल और डेटा इसके निकाल सकता है. लेकिन जब हम VPN का यूज़ करते हैं तो VPN सॉफ्टवेयर हमारे डिवाइस के वास्तविक IP एड्रेस को hide कर देता है जिसे से  कोई भी हमें ऑनलाइन ट्रैक नहीं कर सकता है.

बहुत से VPN service अपने खुद के DNA रिजर्वेशन सिस्टम प्रोवाइड करवाती है. DNS बुक  की तरह किसी भी URL को Text To URL में बनाकर कंप्यूटर के समझने लायक बनाती है जैसे कि हमारी वेबसाइट का URL “hindigyanbook.com”.  जिन लोगों को पास DNS को ट्रैक करने की नॉलेज होती है. वह आसानी से Phishing के जरिये डाटा को आसानी से हैक कर सकते हैं. जब हम VPN का DNA सिस्टम इस्तेमाल करते हैं तो हमारे पास डबल लेयर प्रोटेक्शन हो जाती है और जिससे हमारा डाटा पहले से ज्यादा सिक्योर हो जाता है.

VPN का इस्तेमाल उन लोगों को करना चाहिए जो पर्सनल और प्रोफेशनल डाटा सेफ्टी चाहते हैं जैसे गवर्नमेंट एजेंसी, ऑनलाइन ट्रेडर आदि.

अगर आप Bit Torrent का इस्तेमाल करते हैं तो आप TorGuard और NordVPN जैसी सर्विस का इस्तेमाल कर सकते हैं जिसमें आपको Pear to Pear फाइल शेयरिंग औरBit Torrent शेयरिंग जैसे feature मिलेंगे.

VPN Service कैसे इस्तेमाल करे?

इन कुछ सालों में VPN सर्विस की demand बढ़ने की वजह से इन्टरनेट पर इतनी fake VPN और work VPN सिस्टम आ गए हैं जिसकी वजह से लोगों को बहुत दिक्कत होती है. अगर आप अपना डिवाइस और अपनी कनेक्शन को सिक्योर करना चाहते हैं. तो आपको सही और अच्छा VPN सिस्टम का यूज़ करना होगा.

VPN सिस्टम का यूज़ करने से पहले आपको उस सॉफ्टवेयर के बारे में नीचे बताए गए बातों को ध्यान में रखते हुए ही इस्तेमाल शुरू करना है.

  • reputation
  • performance
  • type of encryption used
  • transparency
  • ease of use
  • support
  • extra features

सभी VPN सर्विस के लिए आपको pay नहीं करना होगा. कुछ सॉफ्टवेयर आपको फ्री में इस्तेमाल करने को भी मिलेंगे लेकिन इसमें आपको अनलिमिटेड features नहीं मिल पाएंगे. अगर आप बेसिक सिस्टम का यूज़ करना चाहते हैं. तो आप tunnel VPN का यूज़ कर सकते हैं. यह एक फ्री और लिमिटेड VPN को सर्विस सॉफ्टवेयर है.

कुछ VPN सॉफ्टवेयर कंपनी अपने सॉफ्टवेयर जो फ्री में ट्रायल देती है जिनमे आप प्रो फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके अलावा आपको कंपनी से मनी बैक guarantees में भी मिलती है जिसे से अगर आपको अपने हिसाब से सॉफ्टवेयर feature और safety नहीं मिलती है तो आप कंपनी से मनी बैक रिक्वेस्ट भी कर सकते हैं. अगर आप ऐसे किसी VPN सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपकी Solid VPN unlimited सॉफ्टवेयर का यूज कर सकते हैं.

क्या VPN Service पर विश्वास किया जा सकता है?

जब आप किसी कंपनी का इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं तो आप उसकी सर्विस प्रोवाइडर पर विश्वास करते हैं और प्रोवाइडर F सिक्योर जैसे  सिस्टम का इस्तेमाल भी करते हैं जिसमें आप बिना सोचे समझे इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन जब आप कोई बहुत ही इंपॉर्टेंट फाइल और डॉक्यूमेंट send करना चाहते हैं तो क्या आप उनके सिक्योर सिस्टम पर विश्वास कर सकते हैं.

मैं कोई cryptographer तो नहीं हूँ इसलिए मैं आपको यहां नहीं बता सकता की सर्विस प्रोवाइडर कैसे encryption सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं और दुनिया में 99% लोगों को इसका अंदाजा भी नहीं होता है. लेकिन हम इसके अलावा अपने सिस्टम को प्रोटेक्ट करने के लिए ad blocking, firewalls, और kill switches जैसे सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं ताकि हमारा डाटा सुरक्षित रह सके.

जब भी आप किसी का VPN सर्विस यूज करना चाहते हो तो आपको सबसे पहले उस कंपनी का प्राइवेसी पॉलिसी और transparency path लेना चाहिए. उसके बाद ही उसके VPN सर्विस को यूज़ करना चाहिए. आप VPN सर्विस के लिए Torgaurd का यूज कर सकते हैं. यह बहुत बढ़िया है और trust-able VPN सर्विस कंपनी है.

यह याद रखना बहुत जरूरी है कि VPN क्या कर सकता है और क्या नहीं. यहां आपके IP को हाईड तो कर देता है लेकिन इसको कोई न कोई तो IP आगे show करना होता है. जब आप किसी और नेटवर्क में लोगिन करते हैं तो आपका इंटरनेट कनेक्शन slow हो जाता है. इसके लिए आप Nord VPN सर्विस का यूज कर सकते हैं. जो एक specific सर्वर को एक्सेस करने के लिए बहुत ही बढ़िया सॉफ्टवेयर है.

Fastest VPN

जब हम किसी VPN सर्विस को इस्तेमाल करते हैं तो हमारे सामने कई सवाल होते है जिनको क्लियर करना बहुत जरुरी होता है. जिनमें सबसे फास्ट VPN सर्विस किसकी है यह भी बहुत जरूरी सवाल है जिसका ध्यान हमें रखना चाहिए. जब लोग फ्री VPN का यूज़ करते हैं. उनको कम स्पीड कनेक्शन की बहुत ज्यादा दिक्कत होती है. जिसकी वजह से कई यूजर VPN का यूज़ करना भी बंद कर देता है.

अब हर टाइप के काम के लिए अलग-अलग VPN सर्विस बेस्ट ही जैसे कि अगर आप स्पेशल गेमिंग के लिए VPN का यूज़ करना चाहते हैं. तो NordVPN सर्विस का यूज़ कर सकते हैं. इसमें आपको 4k वीडियो और स्ट्रीमिंग जैसी सुविधा मिलती है और यह एक trusted VPN सर्विस है जिसका इस्तेमाल आप डाटा ट्रांसफर के लिए कर सकते हैं.

कुछ लोग VPN का इस्तेमाल अपने इंटरनेट की performance बढ़ाने के लिए भी करते हैं तो उसके लिए आप अलग तरह के सॉफ्टवेयर यूज कर सकते हैं जिसके Pure VPN, IPvanish,और Express VPN ये सभी best और trusted VPN सर्विस है. जो आपके इंटरनेट कनेक्शन को improve करने में मदद करता है. और आपको इसमें हाई बैंडविथ information भी मिलता है जिससे आपको कनेक्शन में कोई प्रॉब्लम नहीं होती.

Testing के बाद में सबसे best और fast VPN हम पुरे VPN लगा सकने के बाद हम आपको Express VPN और IP vanish इस VPN सर्विस इस्तेमाल करने की सलाह देंगे.

Mobile VPN

जब भी आप कोई बैंकिंग और कोई बिज़नस अपने फोन से कर रहे हैं तो आप किसी पब्लिक WiFi का इस्तेमाल ना करें. अगर पब्लिक WiFi का यूज कर रहे हैं तो हमेशा VPN सर्विस का इस्तेमाल करें इससे आपको सिक्योरिटी ज्यादा मिलेगी.

हमारे मोबाइल में लगभग हमारा पूरा पर्सनल डाटा होता है और VPN सर्विस का इस्तेमाल अपना डाटा और पर्सनल इंफॉर्मेशन को चोरी होने से  के लिए करना चाहिए. इसलिए हम आपको VPN सर्विस इस्तेमाल करने का सुझाव से रहे हैं. आप हर समय VPN सर्विस का इस्तेमाल ना करें. जब आपको कोई पर्सनल डाटा शेयर करना हो या कोई जरूरी डॉक्यूमेंट send करनी हो तो आप भी VPN सर्विस का इस्तेमाल जरूर करें.

VPN सर्विस आपको एंड्रॉयड और iOS दोनों में मिल जाएगा विंडो फोन के लिए इसके ज्यादा सॉफ्टवेयर नहीं बना हैं क्योंकि window ज्यादा पॉपुलर नहीं हुए थे. आपको VPN सर्विस ब्लैकबेरी के OS में भी मिल जाएंगे क्योंकि IOS और ब्लैकबेरी OS बिजनेस के लिए सबसे ज्यादा यूज़ होता है. आपको मोबाइल पर फ्री VPN और paid VPN भी मिल जाएगा.

सभी मोबाइल के लिए एक जैसे VPN नहीं बनाए जाते हैं. कई बार इनकी सर्विस अलग होती है. कई बार इनकी सर्विस भी different होती है. अगर आप मोबाइल के लिए VPN का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो nord VPN का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर प्राइवेट इंटरनेट एक्सेस जिससे VPN सर्विस का इस्तेमाल करे.  Keepsolid और Nord VPN iPhone के लिए सबसे बढ़िया VPN सर्विस है.

VPN के फायदे

  • फ्री VPN में आपको कोई पेमेंट करने की जरूरत नहीं है. इसे आप वह सारे feature इस्तेमाल कर सकते हैं जो आपको एक VPN सॉफ्टवेयर में चाहिए होगी.
  • अगर आप कोई ब्लॉक वेबसाइट को ओपन करना चाहते हैं तो आप VPN एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर का यूज कर सकते हैं.
  • VPN से आप अपने डेटा को हैकर से सिक्योर कर सकते हैं.
  • Paid VPN सॉफ्टवेयर से आपका डेटा और डिटेल ज्यादा सिक्योर हो जाती है.
  • Paid VPN में आपको फुल बैंडविथ मिलती है जिससे आप हाई स्पीड से डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं.

VPN के नुकसान

  • अगर आप फ्री VPN सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं तो आपको इसमें बहुत ज्यादा ad show होगी.
  • VPN सॉफ्टवेयर में आपको लिमिटेड बैंडविड्थ मिलेगी.
  • High Confidential डाटा के लिए फ्री VPN का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें आपका डाटा लीक होने के chance ज्यादा होते हैं.

कौन सी VPN Service बढ़िया है?

जब कोई भी VPN सॉफ्टवेयर बनाया जाता है या कोई antivirus बनाया जाता है तो उस पर बहुत हार्ड वर्क किया जाता है. लेकिन कई बार हमें जो चाहिए होता है वह सॉफ्टवेयर में नहीं मिल पाता है. जैसे मान ले आपको antivirus यूज़ कर रहे हैं तो वह एक VPN सॉफ्टवेयर की तरह हमें feature प्रोवाइड नहीं करवा सकते. उदाहरण के तौर पर मान लो आपके पास एक स्मार्टफोन है और एक DSLR कैमरा तो  आपके DSLR कैमरा वह काम नहीं कर सकता जो आपका मोबाइल कर सकता है या आपका मोबाइल वह काम उतना परफेक्ट नहीं कर सकता जितना आपका DSLR कैमरा कर सकता है.

हम VPN का हर समय यूज नहीं करते और करना भी नहीं चाहिए लेकिन इसमें कई ऐसे टूल है जो हमे यूज करना चाहिए जैसे की पासवर्ड मेनेजर और ऑनलाइन बैकअप सर्विस. इसकी वजह से एक VPN सर्विस ज्यादा effective और usefull हो जाती है. इसकी ऑनलाइन बैकअप सर्विस का इस्तेमाल हमेशा करना चाहिए क्योंकि अभी जब एक cyber attack हुआ था तो 99% लोगों के पास कोई बैकअप नहीं था.

Best VPN Software

इंटरनेट पर आपको बहुत से ट्रायल फ्री और paid VPN सॉफ्टवेयर मिल जाएंगे जिनका इस्तेमाल आप अपने कंप्यूटर और मोबाइल पर कर सकते हैं तो अब आपको यह तो पता लग गया होगा कि VPN सिस्टम कैसे काम करता है. अब हम आपको मोबाइल और कंप्यूटर में भी VPN सॉफ्टवेयर को कुछ अलग अलग प्रकार है उसके बारे में जानकारी देंगे लेकिन इनके इस्तेमाल से पहले हम आपको कुछ best VPN सॉफ्टवेयर के बारे में में बता देते हैं.

Computer Best VPN Software

IPVanish VPN:– यह कंप्यूटर के लिए सबसे best VPN है जिसको आप 7 day मनी बेक गारंटी के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं. अगर आपको पसंद नहीं आता है तो आप 7 day से पहले मनी बेक की रिक्वेस्ट डाल सकते हैं. जब आप इसको खरीदेंगे तो इसके साथ में आपको नीचे दिए गए feature प्लान में include मिलेंगे.

  • 7-day money-back guarantee
  • Access to the world’s fastest VPN
  • 40,000+ shared IPs, 850+ VPN servers in 60+ countries
  • Unlimited bandwidth
  • 256-bit AES encryption
  • Zero traffic logs
  • Anonymous torrenting
  • Unlimited P2P traffic
  • Access to censored apps & websites
  • OpenVPN, PPTP and L2TP/IPsec VPN protocols
  • User-friendly apps for all of your devices
  • Unlimited server switching
  • 5 simultaneous connections on multiple devices
  • 24/7 customer support

यह सॉफ्टवेयर आपको ऑनलाइन खरीदना होगा. इसको आप 1 month,3 month और 1 year के लिए खरीद सकते हैं.

NordVPN:- यह भी सबसे बढ़िया VPN सर्विस है. जिसका पूरी दुनिया में इस्तेमाल किया जाता है. इस को आप 1 month,3 month और 1 year के लिए खरीद सकते हैं. इस सॉफ्टवेयर के साथ आपको नीचे बताए गए feature भी साथ में मिलेंगे.

  • No Logs Policy
  • P2P Allowed
  • Onion Over VPN
  • Blazing Speeds
  • Easy To Use
  • Bitcoin Accepted
  • Global Network
  • Cancel Anytime
  • Superfast Servers Everywhere
  • Easiest VPN Ever
  • Friendly Support
  • Kill Switch
  • Unlimited Bandwidth
  • Double Encryption

यह सॉफ्टवेयर हमने आपको ऊपर भी कोई अलग अलग तरह की जॉब के लिए recommend किया है.

PureVPN:-यह भी एक best VPN सर्विस है. इसमें आपको एक account से मल्टी-लोगिन का feature भी मिलता है. इसकी सबसे बढ़िया बात यह है कि इसकी हेल्प लाइन 24*7 ओपन रहती है. आपको कभी भी इससे कस्टमर support ले सकते हैं. इसको 10 लाख से ज्यादा लोगों ने इस्तेमाल किया है और उनके हिसाब से इसमें वह सभी feature हैं जो कि एक VPN सर्विस में होनी चाहिए. इसमें भी बहुत ही अच्छी feature है जिसकी लिस्ट आपको नीचे दे रहे हैं.

  • Unbreakable Encryption
  • Antivirus
  • Content Filter
  • Web Filtering
  • IKS (Internet Kill Switch)
  • DNS Leak Protection
  • App Blocker
  • Split Tunnling
  • IDS/IPS
  • Multiport
  • Multiple Modes
  • VPN Hotspot
  • 256 Bit Encryption
  • Wide Range of Protocols

इसमें आपको 7 day की मनी बैक गारंटी भी मिलती है जिसमें आप इसको 7 day तक यूज़ करके देख सकते हैं. और अगर आपको सॉफ्टवेयर पसंद नहीं आता है तो आपके पैसे वापस हो जाएंगे.

Android Best VPN Application

IPVanish Android:- इस सॉफ्टवेयर के feature के बारे में हमने आपको ऊपर बताया हैं इसके सभी फ्यूचर एंड्रॉयड विंडो iOS और बाकी सभी तरह के OS के लिए बराबर है. इसमें आप लगभग सभी तरह के OS में यूज़ कर सकते हैं.

PureVPN:-यह सॉफ्टवेयर भी मोबाइल के लिए बेस्ट सॉफ्टवेयर है जिसका इस्तेमाल आप अपने मोबाइल डाटा को सिक्योर करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

Android Mobile Compatible

Samsung Galaxy Alpha, S6 Edge, Note 4

  • HTC One Mini 2, M9
  • Sony Xperia Z3, Compact
  • Google Nexus 4, 5, 6
  • …or any other Android phone

Android Tablets Compatible

  • Samsung Galaxy Tab S, Note Pro
  • Sony Xperia Z2 Tablet
  • Google Nexus 7, 9, 10
  • …or any other Android tablet

तो यह कुछ सॉफ्टवेयर है जिनके बारे में हमने आपको बताया है अब हम आपको VPN सॉफ्टवेयर को कैसे यूज करते हैं इसके बारे में बताएंगे .हम यहां पर आपको दूसरे ट्रायल और फ्री सॉफ्टवेयर के setup और इस्तेमाल के बारे में बता रहे हैं अगर आप पहली बार VPN का  इस्तेमाल  कर रहे हैं तो नीचे बताए गए स्टेप्स फॉलो करें.

Computer में VPN कैसे Setup/Use करे?

कंप्यूटर में VPN को manually भी स्टेप किया जा सकता है. जिसके लिए आपको एक IP एड्रेस और username और password की जरूरत होती है जो कि आपको इंटरनेट पर फ्री में और payable  दोनों तरह के मिल जाएंगे. यहां पर हम आपको सबसे बढ़िया तरीका बता रहे हैं. जिसका यूज करने पर आप अपने डाटा को सिक्योर कर सकते हैं और यह एक फ्री VPN सर्विस है जिसका opera कंपनी प्रोवाइड करवा रही है.

सबसे पहले आपको अपना कंप्यूटर में Opera का फ्री VPN सॉफ्टवेयर डालना होगा जिसको आप नीचे दिए गए लिंक से डाउनलोड कर सकते हैं. और डाउनलोड होने के बाद में इंस्टॉल कर सकते हैं.

Download Opera Developer Software Here

  • जब आपका सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो जाए तो आप इस को ओपन कर लें और Right Side Menu पर क्लिक करके सेटिंग में चले जाएं
  • सेटिंग में जाने के बाद में आपको पर Privacy & security पर क्लिक करना होगा और इसके बाद में आपको VPN का ऑप्शन दिख जाएगा .
  • यहां पर आप enable VPN पर क्लिक करे और उसको क्लिक करते ही आपको भी VPN एक्टिवेट हो जाएगा.
  • जब आप ऊपर बताए गए प्रोसेस कंप्लीट कर ले तो आप अपने ब्राउज़र को ओपन करे और वहां पर आपको एड्रेस बार में VPN लिखा हुआ मिले तो आपका VPN एक्टिवेट हो गया है. अब आप कोई भी ब्लॉक वेबसाइट ओपन कर सकते हैं.

Mobile में VPN कैसे इस्तेमाल करे?

ऊपर हमने आपको कंप्यूटर में VPN इस्तेमाल करने के बारे में बताया लेकिन दुनिया के 70% लोग मोबाइल पर इंटरनेट का यूज़ करते हैं तो हम आपको मोबाइल में भी VPN कैसे यूज करते हैं इसके बारे में भी बता रहे हैं. जिससे आप अपने मोबाइल में में भी ब्लॉक वेबसाइट ओपन कर सकते हैं और अपने डाटा को स्टोर कर सकते हैं.

  • सबसे पहले आपको टच VPN के नाम से एप्लीकेशन से दिया गया लिंक को ओपन करके डाउनलोड और इंस्टॉल करना होगा.

Download App

  • इंस्टॉल होने के बाद में आप एप्लीकेशन को ओपन कर लें.
  • सबसे ऊपर आपको लोकेशन को सेलेक्ट करना है और इसके बाद में आपको कनेक्ट पर क्लिक करना है.
  • जैसे ही आप कनेक्ट पर क्लिक करेंगे तो आपके VPN अपने आप एक्टिवेट हो जायेगा.

निष्कर्ष

VPN सर्विस का इस्तेमाल आप डाटा encrypt करने, ब्लॉक वेबसाइट ओपन करने और अपना डाटा को secure ट्रांसफर करने के लिए कर सकते हैं. VPN की मदद से आपका Real IP हाइड हो जाता है और IP सर्वर पर show होता है जिससे आप किसी के द्वारा ट्रैक नहीं किया जा सकते हैं. इसका इस्तेमाल लगभग सभी हो ऑपरेटिंग सिस्टम में कर सकते हैं.

1 Comment
  1. Vishal Yadav says

    Very nice

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+