Typewriter का आविष्कार किसने किया

Typewriter का आविष्कार किसने किया

आज हम बात करेंगे टाइपराइटर कि टाइपराइटर एक ऐसी युक्ति है जो कि हमें लिखने के काम आती है अगर हम किसी भी चीज पर लिखते हैं तो उसे टाइपराइटर की जरूरत पड़ती हैआज से बहुत समय पहले टाइपराइटर का आविष्कार हो चुका था लेकिन समय के साथ-साथ इसमें बहुत ही बदलाव की गई और जैसे-जैसे समय बीता उस समय के साथ-साथ इसको बनाते हुए एक ऐसा टाइपराइटर बना दिया गया जो कि आज की दुनिया में मौजूद है टाइपराइटर का बहुत बड़ा महत्व होता है जब किसी चीज पर टाइप करना हो या किसी चीज पर लिखना हो टाइपराइटर की बात करें तो यह जरुरी नहीं कि वह टाइपराइटर ही हो अगर आप किसी भी कंप्यूटर लैपटॉप या टैबलेट की कीबोर्ड देखेंगे तो भी टाइपराइटर के समान ही होती है और आज के समय में तो लगभग सभी चीजों के कीबोर्ड एक जैसे होते हैं और लगभग सभी मोबाइल फोन की कीबोर्ड भी टाइपराइटर जैसी ही होती है आज हम आपको इस पोस्ट में टाइपराइटर के आविष्कार के बारे में बताएंगे

पहला टाइपराइटर था वह आज के टाइपराइटर से बिल्कुल अलग था उसमें आज की टाइपराइटर से कुछ अलग बटन होते थे लेकिन बदलते समय के साथ इन बटन को चयन करते हैं करते आज के टाइपराइटर को बना दिया गया इसमें मिटाने वाला बटन भी लगाया गया.  Shift Key लगायी गयी TAB Keyलगाई गई स्क्रीन की बहुत सी चीजों को इसमें चेंज किया गया और पुराने टाइपराइटर से अलग आज एक नया टाइपराइटर बना दिया गया है जो कि दुनिया में बहुत ही काम आने वाली युक्ति है और आज के समय में तो इलेक्ट्रॉनिक टाइपराइटर का भी आविष्कार हो चुका है.

Typewriter का आविष्कार किसने किया

टाइपराईटर और कंप्यूटर कीबोर्ड के बटन लगभग एक जैसे होते है .और टाइपराईटर का इस्तेमाल कई तरह से और कई जगह पर किया जाता है . लेकिन काम सभी का एक ही होता है फिर चाहे वो कंप्यूटर कीबोर्ड हो या टाइप राईटर . इन दोनों में जो अंतर है तो कुछ बटन का है और कंप्यूटर कीबोर्ड डिजिटली टाइप करने के लिए इस्तेमाल होता है और टाइप राईटर सीधे पेज या कागज पर टाइप करने के लिए .

टाइप राईटर जैसी कई मशीनो का अविष्कार कई अविष्कारक के किया था जो टाइप राईटर की तरह दिखती थी और काम भी करती थी . लेकिन 1870 में  *रासमस मॉलिंग हंसन ने (Rasmus Malling-Hansen) टाइप राईटर का अविष्कार किया था और सबसे पहले जिसके नाम टाइप राईटर का Patent था और जिसने सबसे पहले सबसे ज्यादा टाइप राईटर बनाये थे. इस टाइप राईटर का नाम “writing ball ” था और ये आज के समय के टाइप राईटर से बिलकुल अलग था .

 

जैसा की आप फोटो में देख सकते है ऊपर से इसकी गोलकर आकृति है और नीचे बेलनाकार ड्रम है जन्हा अक्षर छपते है .इसमें एक बार में सिर्फ एक ही बटन दबा कर अक्षर लिखा जाता जाता था . रासमस मॉलिंग के इस अविष्कार की लोगो ने बहुत प्रशंसा भी की थी. और इस मशीन को विश्व प्रदर्शनियों जो वियना में हुई वंहा इसे  अवार्ड भी मिला था .

पहले टाइपराइटर व्यावसायिक रूप से सफल 1868 में बनाया गया था जो की अमेरिकी अविष्कारक Christopher Latham Sholes, Frank Haven Hall, Carlos Glidden and Samuel W. Soule  ने मिल्वौकी, विस्कॉन्सिन में किया था .हालाँकि बाद में Sholes ने इस मशीन को दुबारा इस्तेमाल करने के लिए मना कर दिया था .फिर उसी टाइप राईटर को देख कर इंजीनियर Matthias Schwalbach ने भी एक टाइपिंग की मशीन बनाई .

Sholes और Glidden Type-writer का पेटेंट $12,000 में  Densmore और  Yost को बेच गया और इस मशीन को Sholes and Glidden Type-writer नाम से बाज़ार में लाने के लिए इन्होने  E. Remington and Sons  कंपनी से अग्रीमेंट भी किया .

इसके बाद में टाइप राईटर में बहुत सारे बदलाव आये नए नए  डिजाईन भी आये और टाइप राईटर कई सारी नयी “KEY ” भी लगायी जिस से टाइपिंग को ओर बेहतर बनाया जा सके .

  • Shift Key लगायी गयी
  • TAB Key लगायी गयी
  • ज्यादा अच्छे  से टाइपिंग लिखे और पढने के लिए Character का size में बदलाव किया गया
  • इलेक्ट्रिक टाइप राईटर बनाये गए
  • शोर कम करने वाले टाइप राईटर बनाये गए
  • गलती को सही करने के लिए Eraser लगाया गया .

और ऐसे टाइप राईटर और ज्यादा बढ़िया बनते गए .  और आज हमारे पास बहुत ही बढ़िया टाइप राईटर है .

यह भी देखे

इस पोस्ट में आपको आविष्कार और आविष्कारक का नाम टाइपराइटर इतिहास आविष्कार और आविष्कारक pdf download विज्ञान के आविष्कार आविष्कार और आविष्कारक सूची pdf रडार का आविष्कार के बारे में बताया गया है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें. और इस पोस्ट को शेयर जरूर करें ताकि दूसरे भी इस जानकारी को जान सकें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.