SMPS क्या होता है कैसे काम करता है

SMPS क्या होता है कैसे काम करता है

अगर आप कंप्यूटर लंबे समय से इस्तेमाल कर रहे हैं और आप का कंप्यूटर कभी खराब हुआ है तो आपने उसे खोलकर देखा होगा नहीं तो आप कभी उसको दूकान पर लेकर गए होंगे जहां पर आप को यह बताया गया होगा कि इसका SMPS खराब हो गया.  तो हम आज हम इसके बारे में बात करेंगे कि SMPS क्या चीज है?

वैसे SMPS और भी बहुत सी चीजों में इस्तेमाल होता है जैसे कि फ्रिज, ओवन, डीवीडी प्लेयर या DTH है. तो इस तरह की चीजों में इसका इस्तेमाल किया जाता है. यह सभी 220 से 240 की वोल्टेज पर काम करते हैं. अगर सीधे कंप्यूटर बोर्ड को 240 की सप्लाई दे दी जाए तो वह जल जाएगा और उसका बोर्ड खराब हो जाएगा. इसके लिए एक सिस्टम तैयार किया गया जिससे कि 220 या 240 वोल्ट की सप्लाई देने के बाद में उसको कई वोल्टेज में डिवाइड करके अलग अलग पार्ट में भेजा जा सके. तो उसी को हम SMPS कहते हैं जिसका फुल फॉर्म स्विच मोड पॉवर सप्लाई है.

अगर कंप्यूटर में होने वाले SMPS की बात करें तो आपको दिखाए गए फोटो में पता लग गया होगा कि हम कौनसे बॉक्स की बात कर रहे हैं इसी को हम SMPS कहेंगे. इसमें जितने तारे बाहर निकली हुई है वह अलग अलग वोल्टेज हमारे मदरबोर्ड को मुहया करवाती है. जैसे की RAM को अलग पावर दे रही है प्रोसेसर को अलग पावर दे रही है और जो इसके अंदर पंखा इस्तेमाल हुआ है उसको अलग पावर दे रही है, तो इस हिसाब से इसकी पावर को डिवाइड किया गया होता है. इसके साथ-साथ SMPS जिसको हम स्विच मोड पॉवर सप्लाई करते हैं यह जो इनपुट में हम AC वोल्टेज देते हैं उसको यह DC वोल्टेज में Convert करके आउटपुट देता है. जो कि इसके अंदर लगे हुए कैपेसिटर और रेगुलेटर की मदद से हमें आउटपुट में मिलता है. अगर इसमें 220 से लेकर 240 तक कोई वेरिएशन वोल्टेज इनपुट में दी जाती है तो भी यह Fix आउटपुट वोल्टेज बाहर निकालता है जिस का सबसे बड़ा फायदा है जिससे कि Board के component जलने से बच सकते हैं.

मैं खुद एक इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर हूं तो इसके बारे में थोड़ा सा आपको खोलकर बता रहा हूं कि SMPS कैसे काम करता है? सबसे पहले जब हम इनपुट सप्लाई देते हैं तो वह हमारी वोल्टेज सबसे पहले AC फिल्टर के पास जाती है AC फिल्टर में AC फिल्टर और कैपेसिटर का इस्तेमाल किया जाता है जो कि आउटपुट वोल्टेज को फ़िल्टर करता है और इसके बाद में इसको एक रेक्टिफायर के पास भेज दिया जाता है  यह AC वोल्टेज को DC वोल्टेज में कंवर्ट कर देता है.

इसके बाद में एक और फ़िल्टर का इस्तेमाल किया जाता है जिस से यह हमें एक Smooth DC वोल्टेज देने में मदद करते हैं. इस आउटपुट को एक स्विचिंग ट्रांजिस्टर पर दिया जाता है जो कि दो NPN ट्रांजिस्टर लगे होते हैं और इसके स्विचिंग चार्ज साइकिल के बाद में एक AC आउटपुट में बदल दिया जाता है इस प्रक्रिया इस पूरी प्रक्रिया को SM ट्रांसफार्मर कहा जाता है जिसको के स्विच मोड ट्रांसफार्मर का जाता है. यह प्राइमरी सर्किट है किसी भी AC को DC में कन्वर्ट करके दोबारा AC में कंवर्ट करना है जो कि एक फिल्ट्रेशन सिस्टम है. इसके बाद में रिक्वायरमेंट के हिसाब से अलग-अलग वोल्टेज निकाल दी जाती है जैसे की 12 वोल्ट, 6 वोल्ट, और 3 वोल्ट इस तरह की SMPS प्राइमरी वोल्टेज देने के बाद सेकेंडरी आउटपुट हमें देता है.

AC का फुल फॉर्म अल्टरनेटिव करंट है और DC का फुल फॉर्म डायरेक्ट करंट है. जो कि दो अलग-अलग तरह के चार्ज है इनके बारे में हम ज्यादा बात नहीं करेंगे, तो आप बस यह समझ लीजिए DC हमें बैटरी या रेक्टिफायर से मिलता है और AC हमें डायरेक्ट ट्रांसफार्मर से मिलता है जो घर में हमारे सॉकेट लगे हुए हैं उनमें AC वोल्टेज ही आती है और जो हमारे सेल है वह DC वोल्टेज में काम करते हैं.

SMPS के प्रकार

1. DC से DC Converter
2. Forward Converter
3. Flyback Converter
4. Self-Oscillating Flyback Converter

इस पोस्ट में आपको पावर सप्लाई क्या है एसएमपीएस की परिभाषा smps pdf types of smps पावर सप्लाई सर्किट smps block diagram regulated power supply in hindi एसएमपीएस फुल फॉर्म के बारे में बताया गया है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें. और इस पोस्ट को शेयर जरूर करें ताकि दूसरे भी इस जानकारी को जान सकें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.