हेडफोन लगाकर गाने सुनने के नुकसान

हेडफोन लगाकर गाने सुनने के नुकसान

आजकल हर किसी के पास स्मार्टफोन है। या आजकल जितने भी फोन आ रहे हैं उनमें गानों की सुविधा आपको हर फोन में आपको मिल जाएगी। जैसे जैसे नए फोन आते जा रहे हैं वैसे वैसे यह हमारी रोजमर्रा की जरूरत बनती जा रही है। इसके बिना कुछ घंटे निकालना भी बहुत ज्यादा मुश्किल हो रहा है। अगर हम खाना भी खा रहे हैं तो भी हमें मोबाइल चाहिए।

अगर हम रास्ते में चल रहे हैं तो भी हम मोबाइल में कुछ न कुछ देखते रहते हैं। यह जिंदगी का एक अहम हिस्सा बनता जा रहा है। और आप यह भी कह सकते हैं कि यह शोक के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन लोग इसका सही ढंग से इसका इस्तेमाल करने से आपकी जान का खतरा हो सकता है। किसी भी मोबाइल लीड लगा कर बात करने, गाने सुनने से हमारे सेहत को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचता है। आज हम आपको ऐसी बारे में बताएंगे कि आपको लीड लगाकर गाने सुनने से क्या क्या नुकसान हो सकते हैं।

नुकसान

अगर आप लगातार लीड लगाकर गाने सुनते हैं तो आपको कम सुनने की प्रॉब्लम हो सकती है। मैं आपको यहां पर कुछ ऐसे यूनिट बता रहा हूं। अगर उससे ज्यादा या लगातार इस मेज़रमेंट में गाने सुनते हैं तो आपको कम सुनने की प्रॉबलम हो सकती है।

  • 95 dB में अगर आप लगातार 4 घंटे गाने सुनते हैं तो आपको कम सुनने की दिक्कत हो सकती है।
  • 100 dB में अगर आप लगातार 2 घंटे गाने सुनते हैं तो आपको कम सुनने की दिक्कत हो सकती है।
  • 105 dB में अगर आप लगातार 1 घंटे गाने सुनते हैं तो आपको कम सुनने की दिक्कत हो सकती है।
  • 110 dB में अगर आप लगातार 30 मिनट गाने सुनते हैं तो आपको कम सुनने की दिक्कत हो सकती है।
  • 115 dB में अगर आप लगातार 15 मिनट गाने सुनते हैं तो आपको कम सुनने की दिक्कत हो सकती है।
  • 120-plus dB से ज्यादा आप गाने सुनते हैं तो आपको जल्दी ही ना सुनने की प्रॉब्लम हो सकती है।

अगर आप रात को सोते हुए आप गाने सुनते हैं तो यह आपके कान के लिए ठीक नहीं है। क्योंकि इसकी वजह से कान की नस कमजोर हो जाती है। एक बार आपके कान की नस कमजोर हो गई तो इसको ठीक नहीं किया जा सकता है। इसके साथ साथ आपको कान में दर्द सूजन और कान में इंफेक्शन हो सकता है। अगर आपको लगातार कान का दर्द रहता है इससे आप का मानसिक तनाव बढ़ जाता है।

अगर आप गाड़ी चलाते हुए गाने सुनते हैं तो आपको हॉर्न सुनाई नहीं दे पाता है। जिसकी वजह से दुर्घटना होने का खतरा बढ़ जाता है। इसीलिए गाड़ी चलाते समय आपको गाने नहीं सुनने चाहिए और ना ही लीड लगाकर गाड़ी चलाने चाहिए। अगर आपको किसी से बात करनी है तो आप एक बार गाड़ी रोककर फोन पर बात करके दोबारा गाड़ी चला सकते हैं जिससे आपकी दुर्घटना होने का खतरा कम हो जाता है।

बढ़िया हैडफ़ोन कैसे ख़रीदे

अगर आप अपने स्वास्थ्य को ठीक रखना चाहते हैं तो आपको अच्छा हेडफोन खरीदना बहुत ही जरूरी है। यहां पर दाम मायने नहीं रखता है क्योंकि अगर आप किसी अच्छे ब्रांड का कोई हेडफोन खरीदते हैं तो वह अपनी कंडीशन और स्टैंडर्ड और दूसरों के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए बनाया जाता है। इसीलिए उन का दाम इतना ज्यादा होता है ताकि वह आपके स्वास्थ्य पर ज्यादा नुकसान ना कर सके। तो अगर आपको हेडफोन खरीदना चाहते हैं तो इन नीचे बताए गए इन बातों का ध्यान जरूर रखें।

1. कोई भी हैडफोन खरीदने से पहले उसको एक बार अपने कानों में लगाकर जरुर देखे। ताकी आपको यह पता लग जाए कि वह कितना आरामदायक है। और आप उससे कितने समय तक गाने सुन सकते हैं और कहीं उसके वॉल्यूम ज्यादा तो नहीं है।

2. जब भी आप कोई हैड फोन खरीदने जाए तो उसकी ऑडियो क्वालिटी का ध्यान जरूर रखें क्योंकि अगर आपके हेडफोन की ऑडियो क्वालिटी ठीक नहीं है तो आपको बहुत ज्यादा परेशानी हो सकती है। जिसकी वजह से आपको कम सुनने की भी दिक्कत हो सकती है। तो इसलिए जब भी आप कोई हैडफ़ोन खरीद है तो उसके ऑडियो क्वालिटी जरुर चेक करें।

3. हेडफोन खरीदने से पहले यह जरूर निश्चय कर लें कि आपको किस चीज के लिए हेडफोन चाहिए। अगर आप घर में गाने सुनना चाहते हैं या फिर कहीं पर जा रहे हैं तब आप को गाना सुनना है या किसी भीड़ भाड़ वाले इलाके में किसी से बात करनी है या गाने सुनने उसके लिए आपको हैडफोन चाहिए तो यह सब चीजें आप ध्यान में रखकर ही अपनी हेड फोन खरीदें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.