पेट में गैस क्यों बनती है और इसका घरेलू उपाय

पेट में गैस क्यों बनती है और इसका घरेलू उपाय

पेट की गैस आज एक समान्य समस्या बनी हुई है बहुत से लोगो से सुना है कुछ खाने पीने के बाद कह देते है की पेट में गैस बनगी और सभी इसी समस्या से बहुत परेशान है यह गैस  हम खाना खाते है उसके पाचन के दौरान बनती है और  यह गैस गुदा से होते हुऐ कई बार गंध और आवाज के साथ बाहर निकलती है और बहुत  बुरा लगता है यदि कोई पास हो तो बहुत ज्यादा गन्दा लगता है और सबसे ज्यादा गैस खाद्य पदार्थों में माइक्रोबियल ब्रेकडाउन से होती है

बहुत बारी लोग इसके टेबलेट या कैप्सूल ले लेते है उस से कुछ दिन के लिए तो आराम पड़ता है लेकिन कुछ दिन बाद वही समस्या होती है इसलिए खाने पीने में कुछ बदलाव के बिना यह समस्या दूर नही होती है इसलिए यदि इस समस्या से छुटकारा पाना है तो अपने खाने पीने में बहुत ज्यादा बदलाव करना पड़ता है और अपनी जीवन सैली में कुछ बदलाव करना पड़ेगा तभी ऐसी समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है क्योकि इस से बहुत सी बीमारी हो जाती है और अधिक गैस निकलना कोई आपात चिकित्सा स्थिति नहीं पैदा करती, हालांकि इसको जल्द से जल्दी डॉक्टर से चेक करवा लेना चाहिए क्योंकि पेट की गैस के साथ कुछ अन्य लक्षण भी जुड़ सकते हैं

इसलिए यदि यह समस्या ज्यादा दिन हो जाये तो डॉक्टर को जरुर दिखाना चाहिए आज हम यंहा आपको बतायेंगे की पेट की गैस क्यों बनती है और इसको कैसे दूर किया जा सकता है |

पेट में गैस के लक्षण – Stomach Gas Symptoms in Hindi

  • गैस निकलने में वृद्धि या बार-बार गैस आना
  • बहुत ज्यादा पेट फूल जाता है
  • बार-बार डकार आती है
  • पेट में दर्द और बेचैनी होने लगती है
  • बार बार बदबूदार गैस बनना और बार बार आती है
  • बहतु बारी उल्टी और मतली होती है |
  • कब्ज की समस्या भी हो सकती है |

पेट में गैस के कारण – Stomach Gas Causes in Hindi

पेट में गैस के बहुत से कारण हो सकते है लेकिन सबसे बड़ा कारण खाना होता है जैसेः-

  • ऐसे भोजन का सेवन जो पचने में बहुत ज्यादा कठिनाई करते है |
  • कॉलन में पाए जाने वाले बैक्टीरिया का विघटन होने से गैस बनती है |
  • कुछ सब्जियों कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों से भी गैस बनती है जैसेः-
  1. लैक्टोज युक्त डेयरी उत्पाद भी शरीर में जल्दी सी पचते नही है
  2.  सोडा व बीयर क्योकि इनमे कार्बोनेटेड होता है |
  3. पतेदार सब्जियां जैसे पत्ता गोभी, फूलगोभी, ब्रोकोली, बोक-चोय
  4. सोर्बिटोल  यह चीनी मुक्त कैंडी और चुइंगम आदि में पाया जाने वाला मीठा पदार्थ होता है
  5. फ्रुक्टोज फलों से बनाई जाने वाली एक प्रकार की चीनी जिसको कई पेय व खाद्य पदार्थों में डाला जाता है।
  6. राजमा और मसूर से भी बहुत ज्यादा पेट की समस्या होती है |

यह कारण होते है जिन से पेट में गैस की समस्या होती है और कुछ शरीर की भी बीमारी होती है जिन से गैस की बीमारी हो सकती है क्योकि बहुत बीमारी होती है जो यह समस्या उत्पन्न करते है |

पेट में गैस से बचाव – Prevention of Stomach Gas in Hindi

यदि पेट की गैस की समस्या को दूर करनी है  तो अपने खाने पीने से लेकर अपने रहन सहन सब कुछ में बदलाव करना पड़ेगा|

वसायुक्त भोजन का सेवन ना करे- यदि पेट की गैस की समस्या है तो वसायुक्त चीजो का कम से कम सेवन करना चाहिए क्योकि यह जल्दी सी पचते नही है |

कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन नही करना-पेट की समस्या को दूर करने के लिए बहुत सी चीजो का सेवन छोड़ना पड़ेगा जैसे  राजमा, मटर, मसूर, बंदगोभी, फूलगोभी, प्याज, ब्रोकोली, मशरूम और साबुत अनाज का कम से कम सेवन करना चाहिए|

धूम्रपान बिलकुल ना करें-  जिसको गैस की समस्या रहती है उसको कभी भी धुम्रपान नही करना चाहिए क्योकि इस से ज्यादा पेट खराब होता है कई कहते है धूम्रपान करने से गैस निकल जाता है लेकिन ऐसा कुछ नही होता बस शरीर खराब होता है|

खाना खाने के बाद कुछ देर इधर उधर घूमना चाहिए-   किसी भी टाइम खाना खाये खाते ही लेटना नही चाहिए थोड़ी देर इधर उधर घुमना चाहिए |

कुछ दिन के लिए कम फाइबर वाली चीजो का सेवन करे- पेट की गैस के रोगी को फाइबर वाली चीजो का कम से कम सेवन करना चाहिए जब तक गैस की समस्या से छुटकारा ना मिल जाये लेकिन फाईबर में कई प्रकार के गुण होते हैं, जो शरीर के लिए अच्छी होती है |

कार्बोनेटेड ड्रिंक्स व बीयर का सेवन ना करे –कार्बोनेटेड पेय और बीयर पेट में बहुत ज्यादा गैस उत्पन्न होती है इसलिए इनका कम से कम सेवन करना चाहिए |

पेट में गैस का इलाज – Stomach Gas Treatment in Hindi

पेट में यदि गैस बनती है तो इसका इलाज समय से करवाना चाहिए क्योकि यह समस्या शुरु में तो छोटी सी होती है लेकिन बाद में इस से और बीमारी भी बन सकती है इसलिए सबसे पहले तो अपने खाने पीने से लेकर सब कुछ में बदलाव करना पड़ेगा|

और यदि बीमारी ज्यादा है तो इसके लिए मेडिकल उपचार में एंटीबायोटिक्स दवाइयां शामिल होती हैं लेकिन या दवाई बैक्टीरिया की असामान्य वृद्धि के अन्दर ही काम कर सकती है लेकिन घरेलू उपाए करना चाहे तो वह भी कर सकते है कुछ दवाई होती है ऐसी बीमारी के लिए जिन्हें आप मडिकल से खरीद सकते है जैसे

  • एंटीएसिड्स-यह एक  डी-जेल (Di-gel) है जिसमें सिमेथिकोन होता है और इस दवाई से गैस डकार के रूप में आसानी से बाहर निकल जाती है|
  • चार्कोकैप्स-एक्टिवेटेड चारकोल टैबलेट भी गैस के लिए एक अच्छी टेबलेट है
  • बीनो-एक एंजाइम सप्लिमेंट है यह टेबलेट तब ली जाती है जब  शरीर वसा, बीन्स व अन्य सब्जियों को पचाना कम कर दे और गैस ज्यादा बनती है तब यह टेबलेट अपना काम करती है |

पेट में गैस होने पर क्या क्या नही खाना चाहिए

पेट में गैस होने पर खाने की चीजो के अन्दर बहुत सा बदलाव करना पड़ता है |

    • धूम्रपान बिलकुल ना करे- पेट की गैस वाले रोगी को धूम्रपान बिलकुल नही करना चाहिए क्योकि यह  पेट में ज्यादा प्रोब्लम होती है |
    • कार्बोनेटेड पेय पदार्थों का सेवन ना करें-   जिस भी व्यक्ति को गैस की समस्या रहती है उनको कार्बोनेटेड पेय पदार्थों का सेवन नही करना चाहिए |
    • तली हुई चीजो से दूर रहे- तली हुई चीजो से दूर रहना चाहिए क्योकि इन से पट में बहुत ज्यादा गैस बनती है|
    • अल्कोहोलिक चीजो का सेवन न करे- अल्कोहोलिक चीजो का सेवन नही करना चाहिए क्योकि इन से दस्त की समस्या बहुत ज्यादा होती है |

इस पोस्ट में पेट में गैस बहुत बनती है पेट में गैस की समस्या का समाधान पेट में गैस का गोला पेट में गैस बनने की प्रक्रिया पेट में गैस किस कारण से बनती है पेट में गैस बनने के कारण और उपाय पेट में गैस होता है गैस में क्या खाना चाहिए gas ki problem in hindi gas acidity treatment in hindi gastric problem permanent solution in hindi gas problem and chest pain in hindi  से सबंधित जानकारी दी है  इसके बारे में कोई भी सवाल या सुझाव होतो कमेंट करे और इस ब्लॉग को शेयर जरूर करे|

Leave A Reply

Your email address will not be published.