कब्ज की बीमारी कैसे होती कब्ज का इलाज कैसे करे

कब्ज की बीमारी कैसे होती कब्ज का इलाज कैसे करे

यदि सुबह-सुबह पेट अच्छे से साफ न हो तो पूरा दिन कुछ अच्छा नही लगता है और सारा दिन आलसी बने रहते है और शरीर में बहुत सी समस्या हो जाती है  ऐसी स्थिति होती है जिसमें व्यक्ति का पाचन तंत्र खराब हो जाता है, जिसके कारण वह जो भी खाना खाता है उसको अच्छे से पचा नही पाता है और सीधा मल के रूप में छोड़ देता है जिस से आँतों में ज्यादा दिक्कत आने लगती है और जिसमें मल निष्कासन की मात्रा  में कमी आ जाती है मल कड़ा हो जाता है, और मल निकालने की कोशिश करे तो भी नही आता है

और मल के निष्कासन के समय अधिक शरीर का अधिक जोर लगाना पड़ता है इस स्थिति को कब्ज खाते है वैसे तो यह इंतनी गंभीर सम्स्या नही होती है लेकिन यह ज्यादा लम्बे समय तक चले तो इसके कारण और ज्यादा बीमारी हो सकती है इस पोस्ट में कब्ज होने के प्रमुख कारण , लक्षण , कब्ज से बचने के लिए क्या खाना चाहिए , क्या नहीं खाना चाहिए , सही दिनचर्या क्या होनी चाहिए , भोजन कैसे करें , कब्ज कैसे दूर करे इसके लिए कुछ आसान घरेलू उपाय , और अंत में कब्ज ठीक करने के लिए पांच योगासन | इससे अगले पोस्ट में कब्ज का आयुर्वेदिक तथा प्राकृतिक (Naturopathy) इलाज बतायेंगे |

कब्ज के लक्षण – Constipation Symptoms in Hindi

  • कब्ज होने पर पेट अच्छे से साफ़ नही होता है कब्ज में मल सख्त हो जाता है जिसकी वजह से मलत्याग में अधिक जोर  लगाना पड़ता है।
  •  खुलकर भूख नही लगती है किसी भी चीज या काम में कोई रूचि नही लगती है
  • कब्ज होने पर की जीभ सफेद या मटमैली हो जाती है और मुंह का स्वाद भी खराब हो जाता है। साथ ही मुंह से बदबू भी आने लगती है।
  •  कब्ज होने पर पेट में सूजन या पेट दर्द आदि

कब्ज के कारण – Constipation Causes in Hindi

कब्ज होने के कारण बहुत से होते है और कब्ज हमारे हर रोज के खाने से भी कब्ज हो सकती है जैसेः

कम फाइबर युक्त का सेवन करना

यदि आप जो खाना कहा रहे है उसके अन्दर फाइबर की कमी है तो कब्ज हो सकती है क्योकि फाइबर खाने को अच्छे से पचाता है और यदि फाइबर खाने में नही है तो खाना अच्छे से पचेगा नही और कब्ज हो सकती है इसलिए फाइबर युक्त खाना खाना चाहिए जैसेः फल, सब्जियां और साबुत अनाज

ज्यादा पेनकिलर्स या नॉरकोटिस या दर्द निवारक दवाएं खाने से

यदि ज्यादा पेनकिलर्स या नॉरकोटिस या दर्द निवार दवाईयों का ज्यादा सेवन किया जाये तो कब्ज की समस्या हो सकती है |

 समय पर शौच ना जाना

यदि समय पर पेट साफ़ न किया जाये तो कब्ज की बीमारी हो सकती है क्योकि यदि समय पर पेट साफ़ नही करते है तो हमारी आंतो में मल जमा हो जाता है और इस से कब्ज हो सकती है |

चाय, कॉफी, तंबाकू, सिगरेट शराब का सेवन करने पर

यदि आप ज्यादा चाय, कॉफी, तंबाकू, सिगरेट शराब  का सेवन करते है तो इस से हमारी पाचन सकती कम हो जाती है और शरीर खाने को अच्छे से नही पचाता है जिस से कब्ज हो सकती है |

सारा दिन पड़े रहना व्यायाम बिल्कुल न करना

यदि सारा दिन पड़े रहे और बिलकुल एक्टिविटी न करे तो हमारे शारीर में सबसे ज्यादा कब्ज की समस्या हो सकती हैक्योकि कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि शारीरिक गतिविधि हमारे चयापचय को उच्च रखती है, जिससे हमारे शरीर में प्रक्रियाएं अधिक तेजी से होती है।

 तले हुए ज्यादा मसालेदार भोजन का सेवन ज्यादा बार करना

यदि ज्यादा मसालेदार और तले हुए भोजन का ज्यादा सेवन करते है तो इस से भी पाचन सकती कमी हो जाती है जिस से कब्ज हो सकती है |

कुछ बिमारियों के कारण भी कब्ज हो सकती है

बहुत बारी हॉरमोंस की गडबडी, थाइरॉयड या शुगर की बीमारी भी कब्ज का कारण बन जाती है।

कम पानी पिने से

यदि हम कम पानी पिटे है तो शरीर में पानी की कमी आ जाती है और शरीर हमारे मल से पानी लेने लगता है और मल कड़ा हो जाता है जिस  से कब्ज हो सकती है |

कब्ज दूर कैसे करे

यदि कई दिनों से कब्ज है और बहुत ज्यादा समस्या का सामना कर रहे है तो दवाईयों का ज्यादा इस्तेमाल न करे क्योकि बहुत बारी शरीर दवाईयों की आदत डाल लेता है और फिर दवाईयों के बिना पेट साफ़ नही होता है कुछ घरेलू उपाए भी कर सकते है जैसे;

ताजी सब्जियों और फलों का सेवन करे.

यदि आप कब्ज से कई दिनों से परेशान है और आपको ज्यादा दिन हो गये है तो आप  ताजी सब्जियों और फलों का सेवन करे जिनके अन्दर ज्यादा फाइबर हो और आराम से पच जाये और ऐसी सब्जी का ज्यादा इस्तेमाल करे जिनके अन्दर ज्यादा पानी की मात्रा हो |

मैदा उत्पादो का सेवन न करे

कब्ज होने पर मैदा उत्पादों का इस्तेमाल बिलकुल न करे क्योकि मैदा शरीर में जमा हो जाता है और जल्दी से पचता नही है जिस से कब्ज ज्यादा हो सकती है |

 दिन में 25-30 गिलास पानी पीये

कब्ज के रोगी को दिन में 25-30 गिलास पानी पीये जिस से शरीर में पानी की कमी ना रहे और जल्दी से जल्दी कब्ज की समस्या दूर हो जाये |

व्यायाम करे

कब्ज के रोगी को रात को जल्दी सोना चाहिए और सुबह जल्दी उठके व्यायाम करना चाहिए जितनी शरीर की ज्यादा एक्टिविटी होगी उतनी जल्दी कब्ज ठीक होगी |

सरसों के तेल की मालिस करे

कब्ज के रोगी को सरसों के तेल की पेट पर सुबह-शाम मालिश करनी चाहिए क्योकि इस से आंतो को आराम मिलेगा और जल्दी ही कब्ज से छुटकारा मिल सकता है |

कब्ज दूर करने के लिए क्या खाना चाहिए

  1. अंकुरित अनाज  को ज्यादा से ज्यादा खाये गेहूं के पौधे का रस पिएं।
  2. छिलके वाली दालें खाये उड़द की छोड़कर
  3. हल्के गर्म पानी में एक नींबू का रस मिलकर पियें |
  4. ककड़ी, शलगम, गाजर, मूली, पालक, मेथी, पता गोभी, बथुआ, प्याज के छोटे-छोटे टुकड़े कर नीबू का रस मिलाकर सलाद की तरह नियमित खाएं। खाने के साथ टमाटर का सलाद जरुर लें
  5.  दलिया, खिचड़ी, मूंग, अरहर की दाल  ज्यादा से ज्यादा खाये
  6. रोजाना भोजन के साथ गाजर, मूली, प्याज, टमाटर, खीरा व चुकंदर का सलाद बनाकर, नीबू का रस और सेंधा नमक मिलाकर सेवन करे
  7. भोजन के बीच में और अंत में थोड़ा-थोड़ा छाछ पिएं।
  8. गाजर या संतरे  के जूस का दो-तीन दिन तक अवश्य सेवन करे
  9. रात में सोते समय गर्म मीठा दूध मुनक्के के साथ सेवन करें।
  10. फलों में केले, सेब, अनार, अमरूद, पपीता, आम, खरबूजा तथा सूखे मेवों में मुनक्का, अंजीर, किशमिश, बादाम आदि का सेवन करें।
  11. पेय पदार्थ जैसे शर्बत, सूप, लस्सी, मट्ठा, पानी का अधिक सेवन करें।
  12. भोजन में रोटी से अधिक हरी-सब्जियों का सेवन करें।
  13. गेहूं का आटा 2 भाग और चने का आटा 1 भाग को मिलाकर बनाई गई मिस्सी रोटी, मोटे पिसे हुए आटे की रोटी, चोकरयुक्त आटे की रोटी, दलिया, भुना हुआ चना, बथुआ, मैथी, टमाटर, पालक व पालक का रस पानी मिलाकर, मक्खन, दूध व दूध के साथ भिगोई हुई मुनक्का, खजूर या अंजीर, रेशेदार साग-सब्जियां आदि।
  14. कब्ज में सही खान पान जानकारी भी बहुत जरुरी है , दवा कितनी भी महंगी और असरदार क्यों न हो जब तक सही खानपान का पालन नहीं किया जाएगा सब बेकार ही सिद्ध होगा।
  15. रोजाना सेब, अंगूर या पपीता  जैसे फल ज्यादा से ज्यादा खाये

कब्ज से बचने  के लिए क्या नहीं खाना चाहिए

  1. प्रोसेस्ड फूड  का कम से कम सेवन करे क्योकि  प्रोसेस्ड फूड में चीनी तथा सोडियम की मात्रा बेहद अधिक होती है और वहीं फाइबर बहुत ही कम होता है जिस से कब्ज होती है |
  2. फास्ट फूड, जंक फूड यानी मैदे आदि  का कम से कम सेवन करे
  3. भोजन के पहले बीच में या आखिर में एक ही बार में अधिक मात्रा में पानी न पिएं धीरे धीरे साथ साथ पिए
  4. मीट, अंडा व मछली कब्ज करती हैं इसलिए इनका सेवन  ना करे
  5. मैदा तथा मैदा से बने हुए खाद्य पदार्थ जैसे नान , सफेद ब्रेड, पिज़्ज़ा, बर्गर, चाउमीन, तले-भुने हुए खाद्य पदार्थ, अधिक मिर्च-मसाले युक्त खाना, मछली, अंडे, आदि का सेवन बिलकुल न करे
  6. चावल कम  से कम खाये

 

हमने इस पोस्ट में कब्ज भयंकर कब्ज तत्काल कब्ज राहत कब्ज के नुकसान पुरानी कब्ज का इलाज कब्ज की दवा कब्ज के उपाय कब्ज से होने वाले रोग कब्ज से होने वाली बीमारी पुरानी कब्ज का इलाज कब्ज का उपचार कब्ज का रामबाण इलाज राजीव दीक्षित कब्ज की दवा भयंकर कब्ज कब्ज का आयुर्वेदिक इलाज कब्ज से होने वाली बीमारी पुरानी कब्ज का रामबाण इलाज से सबंधित जानकारी दी है  इसके बारे में कोई भी सवाल या सुझाव होतो कमेंट करे और इस ब्लॉग को शेयर जरूर करे

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.