फैटी लिवर क्या होता है इस से बचने के घरेलू उपाय

फैटी लिवर क्या होता है इस से बचने के घरेलू उपाय

लिवर हमारे शरीर के बहुत महत्वपूर्ण अंग होता है यह हमारे शरीर का दूसरा सबसे जरुरी अंग होता है और यदि लीवर में कुछ दिक्कत आती है तो शरीर में बहुत ज्यादा बीमारी हो सकती है लीवर हमारे शरीर के बहुत से काम करता है जैसे जैसेः  लिवर आपके खाने और पीने की सभी चीजों की प्रक्रिया करता है। आपका लिवर आपके शरीर के उपयोग के लिए भोजन और पेय पदार्थों को ऊर्जा और पोषक तत्वों में परिवर्तित करता है हमारे शरीर में 80% बीमारियो से लीवर बचाता है

और लीवर में कुछ फैट ज़रूर होता है, लेकिन कभी-कभी लिवर की कोशिकाओं में फैट की मात्रा बढ़ जाती है और यह एक रोग बन जाता है जिसे आम तौर पर फैटी लिवर के नाम से जाना जाता है फैटी लिवर  मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं एल्कोहल फैटी लिवर और गैर एल्कोहल फैटी लिवर दोनों में खाने पीने का फर्क होता है यदि ज्यादा शराब पीना और ज्यादा नशीली चीजो का सेवन करने से यह बीमारी हो जाती है आज हम इस पोस्ट में आपको बतायेंगे की फैटी लिवर होने के मुख्य कारण क्या क्या हो सकते है और इस के कारण क्या क्या रोग हो सकते है |

फैटी लिवर के लक्षण – Fatty Liver Symptoms in Hindi

  • यदि फैटी लीवर है तो त्वचा और आंखे पिली दिखाई देने लगती है इसलिए लीवर के रोगों से बचने के लिए समय समय त्वचा और आँखों की समय समय पर चेक करवाना चाहिए |
  • यदि फैटी लीवर है तो बहुत ज्यादा थकान होती है और कुछ काम करने का मन नही करता है
  • भूख बहुत कम लगती है
  • पाचन सकती बहुत ज्यादा कमजोर हो जाती है|
  • फैटी लिवर का आमतौर पर 40-60 की उम्र के बाद पता चलता है|

फैटी लिवर के कारण Fatty Liver Causes & Risk Factors in Hindi

फैटी लीवर होने का सबसे बड़ा कारण खाने पीने की सबसे बड़ी समस्या होती है और कुछ गलत खाने पीने से यह बीमारी शुरु होती है |

  • अल्कोहल पदार्थ का अधिक सेवन- यदि अधिक अल्कोहोल वाली चीज का सेवन करते है                लिवर पर फैट का डिपॉज़िशन शराब के कारण होता है शराब का ज्यादा सेवन करने से लिवर में सूजन आ सकती है और लिवर क्षतिग्रस्त भी हो सकता है।
  • ज्यादा मोटापा आना- ज्यादा मोटापा वाले लोगो को भी फैटी लीवर होने का सबसे बड़ा खतरा रहता है क्योकि  शरीर में फैट प्रोटीन का भी ज्यादा होना ज्यादा खतरनाक है और  उच्च कोलेस्ट्रॉल वालो को भी फैटी लिवर होने का खतरा अधिक हो सकता है।
  • ज्यादा दवाई का सेवन करने से- कुछ दवाई ऐसी होती है जो फैटी लिवर की समस्या को पैदा कर सकती हैं और उसे बढ़ा भी सकती है। शोध में यह सामने आया है कि एस्पिरिन जैसी दवाईयां इसका कारण बन सकती हैं।
  • आनुवंशिकी-कई बारी यदि माता पिता में ये लीवर की समस्या है तो यह आगे वंस में भी चलती रहती है |

फैटी लिवर से बचाव – Prevention of Fatty Liver in Hindi

फैटी लीवर की सबसे बड़ी समस्या मोटे लोगो को होती है और उन लोगो को होती है जो शराब का सबसे ज्यादा सेवन करते है और फैटी लीवर में हमारे शरीर में जो लीवर होता है उसकी चर्बी समान्य से 5-10% अधिक हो जाती है और बहुत ज्यादा समस्या करता है और यह एक बार हो जाये तो ठीक होने का नाम नही लेता है इस से बहुत ज्यादा समस्या होती है जैसे  थकान, पेट में जलन जैसी समस्याएं होती हैं लेकिन कुछ बातो का ध्यान रख कर इस बीमारी से दूर रहा जा सकता है जैसेः-

  • शराब का सेवन न करे- शराब का सेवन बिलकुल न करे क्योकि शराब लिवर में फैट को जमने में मदद करती है। शराब का अधिक सेवन फैटी लिवर जैसी बीमारी को जन्म देती है इसलिए जिन चीजो के अन्दर अल्कोहोल की मिलावट होती है उनका सेवन नही करना चाहिए |
  • संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए- ऐसे आहार का सेवन करना चाहिए जिनके अन्दर पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन विटामिन हो और शरीर को कोई नुकसान न करे |
  • ज्यादा मोटापा न होने दे- यदि शरीर में ज्यादा मोटापा है तो उसका इलाज करवाए सुबह साम एक्सरसाइज करे क्योकि यह भी एक बहुत बड़ी बीमारी है |

फैटी लिवर का इलाज – Fatty Liver Treatment in Hindi

फैटी लिवर का इलाज करने के लिए सबसे पहले खाने पिने में कुछ बदलाव करने पड़ेंगे और कुछ जीवनशैली में बदलाव करना पड़ेगा और कुछ दवाई भी लेनी पड़ेगी और  सप्लिमेंट्स  ओमेगा-3 फैटी एसिड   सर्जरी, लिवर प्रत्यारोपण जैसे कई इलाज हो सकते है |

  • उचित व्यायाम करे- यदि कोई भी फैटी लीवर का रोगी है क्योकि फैटी लीवर के मरीज के लिए  व्यायाम करना बहुत जरुरी है और वजन कम करे क्योकि शरीर से 10 प्रतिशत वजन करना काफी होता है। फुर्तीले व्यायाम करने से लिवर के फैट में कमी होती है|
  • दवाइयाँ और अन्य उपचार  यदि फैटी लीवर की समस्या है तो डॉक्टर के पास जाये और डॉक्टर जो भी दवाई और सलाह दे उनके अनुसार बदलाव करे और जो भी दवाई वह दे सभी टाइम से ले |
  • सर्जरी –  यदि नॉन अल्कोहलिक फैटी लीवर की समस्या है तो बेरिएट्रिक सर्जरी (Bariatric surgery), गेस्ट्रोइंटेस्टिनल (gastrointestinal) की एक सर्जरी  होती है जिस से वजन कम हो जाता है और इस से फैटी लीवर की समस्या का इलाज किया जा सकता है|
  • लिवर प्रत्यारोपण (Liver transplantation   जब लीवर सिरोसिस रोग ग्रस्त हो जाता है तो मामला ज्यादा जटिल हो जाता है इसमें दो रोगी के पास दो ही आप्शन बचते है पहला बीमारी को पनपने दे या फिर रोग ग्रस्त लिवर को प्रत्यारोपित लिवर के साथ बदल दिया जाए|

हमने इस पोस्ट में फैटी लीवर के नुकसान फैटी लिवर के पतंजलि के उपचार फैटी लीवर डाइट फैटी लिवर सिम्पटम्स फैटी लिवर के लिए योग फैटी लिवर ग्रेड १ फैटी लिवर में दही फैटी लिवर टाइप 2 yoga for fatty liver in hindi fatty liver me kya khana chahiye in hindi fatty liver ke gharelu upchar fatty liver ka ayurvedic ilaj udiliv 300 for fatty liver in hindi से सबंधित जानकारी दी है  इसके बारे में कोई भी सवाल या सुझाव होतो कमेंट करे और इस ब्लॉग को शेयर जरूर करे|

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+