What Is Computer | Computer Information In Hindi

What Is Computer | Computer Information In Hindi

आज हम आपको computer के बारे में बता रहे है. आजकल Computer के बारे में हर कोई जानता है कि Computer क्या क्या काम करता है. आजकल Computer के बिना कई ऐसे काम कर पाना बहुत मुश्किल है क्योंकि आप सोच भी नहीं सकते कि Computer कितनी जल्दी कर सकता है. आज हम इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि Computer क्या क्या काम करता है और यह कितने प्रकार के होते है और इसकी विशेषताएं के बारे में बता रहे है. 

Computer क्या है

Computer मानव द्वारा बनाया एक अत्यंत उपयोगी एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है. Computer में हमारे दैनिक जीवन को काफी प्रभावित किया है, चाहे घर हो या स्कूल, कॉलेज, ऑफिस , हॉस्पिटल, बैंक एवं डिजाइन संस्थान, इत्यादि प्रत्येक क्षेत्र में हम इसकी उपस्थिति का अनुभव कर सकते हैं.

एक Computer मूल रूप से एक प्रोग्राम की जा सकने वाली कंप्यूटिंग मशीन है. पहले Computer का उपयोग जटिल घटनाओं के लिए होता था और इसका इस्तेमाल केवल वैज्ञानिक एवं इंजीनियर ही इस्तेमाल कर सकते थे. यह काफी महंगे होते थे अतः कुछ बड़े संस्थान ही इन्हें खरीद सकते थे.

Computer शब्द की उत्पत्ति compute शब्द से हुई है जिसका मतलब है गणना करना. Computer को आमतौर पर एक गणना करने वाली डिवाइस माना गया है जो बहुत तेजी से ऐरीथमैटिक ऑपरेशंस को पूरा कर सकती है.

Computer के प्रकार

Computer दो प्रकार के होते हैं

  1. एनालॉग Computer
  2. डिजिटल Computer

एनालॉग Computer

यह ऐसी सूचनाओं को handle करते हैं जो प्राकृतिक की होती है जैसे तापमान, दबाव आदि. ये एनालॉग या समकक्ष भौतिक मानो को मापने पर आधारित होती है.

डिजिटल Computer

यह एसी सूचनाओ को प्रोसेस करते हैं जो अनिवार्य रूप से binary याtwo state form  में होती है. जैसे ‘0’ और ‘1’ . जब हम Computer की बात करते हैं तो हम आम तौर पर डिजिटल प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक मशीनों की ओर इशारा करते हैं. डिजिटल Computer माइक्रो Computer मिनी, Computer मेनफ्रेम एवं सुपर Computer के इसी के अन्दर आते हैं.

Computer की विशेषताएं

  1. सूचनाओं को store करना एवं गणना करने की तीव्र गति
  2. सूचना को ग्रहण करने एवं उनके भविष्य के उपयोग के लिए store करके रखने की क्षमता
  3. Education के लिए अलग अलग निर्देशों को ग्रहण करने की क्षमता.
  4. अपने आंतरिक नियंत्रण अथवा कुछ बाहरी गतिविधियों के नियंत्रण के लिए जाने वाले निर्णयों के लिए सरल लॉजिकल नियमों को उपयोग करने की क्षमता
  5. अन्य Computer सिस्टम से communicate करने की क्षमता
  6. गणनाओं को करने के बाद उनका तीव्रता से एवं सही तरीके से विश्लेषण करना.

एक Computer की संरचना

  1. CPU (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट)
  2. इनपुट यूनिट
  3. आउटपुट यूनिट
  4. स्टोरेज डिवाइस
  5. कम्युनिकेशन इंटरफेस

CPU

Computer का एक मस्तिष्क होता है. अन्य भाग CPU के साथ डाटा ट्रांसफर करने एवं संपर्क स्थापित करने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं. इसमें मेन मेमोरी कंट्रोल यूनिट एवं ऐरीथमैटिक लॉजिक यूनिट होते हैं.

इनपुट करना

इसका अर्थ है यूजर द्वारा किसी एक इनपुट डिवाइस जैसे keyboard का उपयोग करके डाटा को Computer में एंट्री करने की प्रक्रिया इनपुट है.

स्टोर करना

इसका अर्थ है डाटा एवं निर्देशों को Computer की मुख्य मेमोरी के में रोके रखना जिससे उनका परिचालन हो सके

प्रोसेस करना

इसका अर्थ है Computer में एंटर किए गए डेटा का परिचालन करना अथवा उन पर ऐरीथमैटिक मैटिक एवं लॉजिकल दोनों तरह के ऑपरेशन करना जिससे हम एंटर किए गए डेटा में से उपयोगी सूचना बाहर निकाल सके.

आउटपुट भेजना

इसका अर्थ है यूजर को स्क्रीन मॉनिटर अथवा पेपर पर सुचना एवं अथवा रिजल्ट दिखाए जाने की प्रक्रिया.

कंट्रोल करना

इसका अर्थ है उपरोक्त सभी प्रक्रियाओं को समन्वित तरीके से निर्देशित करना यह कंट्रोलिंग प्रक्रिया CPU के अंदर स्थित कंट्रोल यूनिट द्वारा की जाती है.

Hardware

Computer के भौतिक भागों को हार्डवेयर कहा जाता है. यह भौतिक भाग इलेक्ट्रॉनिक, इलेक्ट्रिकल, मैग्नेटिक, मैकेनिकल अथवा ऑप्टिकल कुछ भी हो सकते हैं ऐसे कुछ भाग हैं माइक्रोप्रोसेसर, इंटीग्रेटेड सर्किट, हार्ड डिस्क, ऑप्टिकल डिस्क, कलर मॉनिटर, keyboard ,प्रिंटर एवं प्लॉटर आदि.

Computer Input Device

इनपुट डिवाइस द्वारा डाटा एवं निर्देशों को Computer में एंटर किया जाता है. आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली इनपुट डिवाइस keyboard है. कुछ अन्य इनपुट डिवाइसिस भी विकसित की गई है. जिनमें टाइपिंग की आवश्यकता नहीं होती है. ये है: माउस, जोस्टिक, ट्रैकबॉल, लाइट पेन, ग्राफिक टैबलेट, टच स्क्रीन आदि है.

Computer Output Device

आउटपुट डिवाइस इसका प्रयोग Computer में स्टोर की गई सूचनाओं अथवा किसी भी प्रोसेसिंग के रजल्ट को बाहरी विषय तक पहुंचाने के लिए किया जाता है. सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाले आउटपुट डिवाइस है वीडियो मॉनीटर एवं प्रिंटर . प्रिंटर कागज पर प्रिंटेड रिकॉर्ड प्रदान करते हैं. जिन्हें स्थाई रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है.

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (CPU) का मुख्य कार्य निर्देशों अथवा प्रोग्रामों को excute करना है. इसके अलावा प्रोसेसिंग यूनिट अन्य सभी भागों से मेमोरी इनपुट एवं आउटपुट डिवाइस के कार्यों को कंट्रोल करती है. बड़ी प्रोसेसिंग यूनिट का प्रत्येक प्रोसेसर इसे दिया गया निश्चित कार्य ही करता है.

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट के मुख्य भाग हैं

  1. प्राइमरी अथवा मेन मेमोरी
  2. ऐरीथमैटिक एवं लॉजिक यूनिट (ALU)
  3. कंट्रोल यूनिट (CU)

मेमोरी

मेमोरी एक Computer सिस्टम का आवश्यक भाग है Computer सिस्टम को इसकी आवश्यकता डेटा और निर्देशों को स्टोर करने के लिए होती है. मेमोरी दो प्रकार की होती है

  1. सेकेंडरी मेमोरी वह मेमोरी जो सीपीयू से बाहर होती है.
  2. प्राइमरी मेमोरी या मेन मेमोरी वह मेमोरी जो सीपीयू से सीधे तौर पर जुड़ी होती है अथवा कुछ PC में सीपीयू का ही एक हिस्सा होती है

Computer का PC सिस्टम

Computer का PC सिस्टम के अलग भाग है

  1. फ्रंट पैनल
  2. रियल पैनल
  3. सिस्टम यूनिट के अन्दर

Front Panel

Power स्विच:- प्रत्येक मॉडल के अनुसार यह स्विच या तो सिस्टम यूनिट के आगे या साइड में स्थित होता है और इसका प्रयोग सिस्टम को ऑन या ऑफ करने के लिए किया जाता है.

Reset बटन:- यह एक प्रेस स्विच है जिसे, बिना मेन पावर सप्लाई ऑफ किए, pc को रीस्टार्ट करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. आप pc को रिस्टार्ट करेंगे यह मेमोरी में तो सभी सूचना को खो देगा.

Turbo स्विच:- यदि आप एक ऐसा pc इस्तेमाल कर रहे हैं जिसमें दो अलग-अलग ऑपरेशन स्पीड है तो आपको pc के आगे की तरफ एक तरफ स्विच मिलेगा  यह स्विच स्पीड को धीमी से तेज या तेज से धीमी गति में बदलता है इसलिए इसका नाम टर्बो स्विच रखा गया है.

Indicator लाइट:- Computer यूनिट में PC की वर्किंग को दर्शाने के लिए रंगीन लाइट हो सकती है. ये लाइट जब जलती है जब डाटा को कॉपी या हार्ड डिस्क पर रिकॉर्ड किया जाता है या उसमें पढ़ा जाता है.

Floppy ड्राइव:- आपके पीसी में एक स्लॉट बना होता है जो फ्लॉपी ड्राइव के साथ होता है. फ्लॉपी ड्राइव का प्रयोग फ्लॉपी डिस्क से डाटा पढ़ने या उसपर डाटा स्टोर करने के लिए होता है.

Real Panel के Part

यदि आप अपने PC के सिस्टम यूनिट के rearअथार्थ पिछले भाग को देखेंगे तो आप पाएंगे कि हमें अलग-अलग केबल के साथ कुछ hole एवं slots बने हुए हैं.

मॉनिटर के लिए Video Port:- यह एक सॉकेट है जो मॉनिटर को सिस्टम यूनिट से जोड़ने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

Keyboard:- इसका प्रयोग keyboard को सिस्टम यूनिट से जुड़ने के लिए किया जाता है.

पावर सॉकेट:- इस सॉकेट में लगाए गए केबल इलेक्ट्रिकल आउटलेट में से इलेक्ट्रिकल पावर सप्लाई को आपके सिस्टम यूनिट तक ले जाता है और आपके सिस्टम यूनिट में से मॉनीटर तक ले जाता है.

पैरेलेल,सीरियल पोर्ट या सोकेट और USB पोर्ट:- इस का प्रयोग आपके PC की क्षमता बढ़ाने के लिए किया जाता है उदाहरण के तौर पर आपके द्वारा प्रिंटर ,माउस, मोडेम उसको जोड़ने के लिए होता है.

सिस्टम यूनिट के अन्दर

फैन हाउसिंग :- सिस्टम यूनिट के अंदर लगी पावर सप्लाई में एक छोटा सा पंखा लगा होता है. जो गर्मी को मशीन से बहार निकालता है.

सिस्टम यूनिट:- सिस्टम यूनिट के भीतर इलेक्ट्रिकल कॉन्पोनेंट होते हैं जो प्रोग्राम का संचालन करते हैं. टाइप किए गए निर्देशों को हैंडल करते हैं. एव रिजल्ट निर्धारित करते हैं.

मदर बोर्ड:-में एक सिस्टम में सभी इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेटस एक फाइबर क्लास के टुकड़े पर लगे होते हैं. जिसे मदरबोर्ड कहा जाता है फाइबर ग्लास का इसका प्रयोग किया जाता है क्योंकि यह इलेक्ट्रिसिटी का कुचालक है.

रेमचिप:- रेम चिप काले प्लास्टिक के सर्किट IC लगे होते हैं जिसके दोनों और पिनो की कतार होती है. उन्हें या तो इंसर्ट किया जाता है या सीधे प्रिंटेड सर्किट बोर्ड पर ही सोल्डर कर दिया जाता है.

रोम:- रोम चिप जेसे BIOS में वह डाटा होता है. तो इसे बनाने समय ही उस पर लिख दिया जाता है. इसमें कई महत्वपूर्ण निर्देश स्टोर होते हैं.

माइक्रोप्रोसेसर:- एक माइक्रो प्रोसेसर सभी प्रोग्राम निर्देशों का पालन करता है यह वास्तव में यह पर्सनल Computer का दिल होता है इसमें एक सिलिकॉन चिप होता है जिस पर एक फोटो केमिकल प्रक्रिया द्वारा छोटे-छोटे सर्किट बनाए गए होते हैं.

इनपुट/आउटपुट इंटरफ़ेस कार्ड:- इनपुट आउटपुट इंटरफ़ेस कार्ड ,इनपुट आउटपुट डिवाइस जैसे प्रिंटर या मोडेम के लिए होता है जिसमें आम तौर पर एक या दो पैरलल पोर्ट होते हैं और एक या दो सीरियल पोर्ट होते हैं और एक जॉय स्टिक पोर्ट होता है.

निष्कर्ष

आज हमने आपको कंप्यूटर के बारे में computer के बारे में बताया और कंप्यूटर क्या है और कंप्यूटर के प्रकार और कंप्यूटर की विशेषताएं और कंप्यूटर की सरंचना कंप्यूटर के हार्डवेयर के बारे में बताया हैं. यदि यह जानकारी आपको पसंद आए तो आप ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और हमें कमेंट करके बता सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+