आईये कुछ नया जाने

चीकू खाने के फायदे और नुकसान

चीकू खाने के फायदे और नुकसान

चीकू भारत में एक सामान्य फल है जो कि आपको हर दुकान पर मिल जाएगा. यह स्वाद में मीठा होता है. यह कई देशों में मिलता है इसके अलावा चीकू का इस्तेमाल chewing gum बनाने में भी किया जाता है. चीकू के बीज बीन्स जैसा होता है. चीकू का पौधा बनने में कम से कम 5 से लेकर 8 साल तक लगते हैं. Chikkoo khane ke fayde aur nuksaan

इसका फल कीवी के फल जैसा होता है. चीकू के पेड़ के साल में दो बार चीकू के फल लगते हैं. इसका इस्तेमाल कई प्रकार की दवाइयां बनाने में भी किया जाता है. आज इस आर्टिकल में हम आपको अलग-अलग तरह के चीकू और चीकू खाने के फायदे व नुकसान के बारे में बताएंगे

चीकू के प्रकार

चीकू के कई प्रकार हैं जिनके बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं. Types of Chikkoo

ब्राउन शुगर

ब्राउन शुगर के चीकू को 1948 में introduce किया गया था. इस की लंबाई 2 से 2.5 इंच तक होती है और यह भूरे रंग का होता है.

Prolific

इस चीकू को 1951 में introduce करवाया जो कि Cone शेप का होता है. यह ऊपर से भूरा और अंदर से गुलाबी रंग का होता है. इसका स्वाद मीठा और इसकी गंध तेज होती है. इसका इसकी लंबाई लगभग 2.5 से लेकर 3.5 इंच तक होती है और इसकी क्वालिटी बहुत ही बढ़िया होती है.

Russell

इस चीकू को 1935 में introduce करवाया और यह चीकू फैमिली का सबसे पुराना सदस्य हैं. इसकी लंबाई लगभग 3 इंच से लेकर 5 तक होती है और इसका स्वाद दूसरे सभी चीकू से ज्यादा मीठा होता है.

Tikal

यह भी एक तरह का चीकू है जिसका स्वाद बहुत अच्छा होता है और यह अंडे के आकार का होता है और इसकी स्किन का रंग हल्का भूरा होता है.

चीकू में पोषक तत्व

Chikkoo nutritional fact

Energy 83 Kcal
फैट
1.10 g
कार्ब
19.9 g
प्रोटीन 0.44 g
फाइबर 5.3 g
विटामिन लिस्ट :
विटामिन A  60 IU
विटामिन C 14.7 mg
Folates
14 mcg
Niacin (B3) 0.2 g
Thiamin (B1) 0.058 g
Riboflavin (B2) 0.02 g
Pantothenic acid (B5) 0.252 g
Pyridoxine (B6) 0.037 g
मिनरल्स:
कैल्शियम 21 mg
कॉपर 0.086 mg
मैग्नीशियम
12 mg
आयरन
0.8 mg
फॉस्फोरस
12 mg
Selenium 0.6 mcg
जिंक
0.1 g
इलेक्ट्रोलाइट:
सोडियम
12 mg
पोटैशियम
193 mg
Lipids NA
Saturated fatty acid 0.33 g
Monounsaturated fatty acids 0.89 g
Polyunsaturated fatty acids 0.02 g

 

चीकू खाने के फायदे (chikko khane ke fayde)

  • चीकू में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है जो कि एक रेचक प्रभाव रखता है चीकू खाने से आपके कब्ज की शिकायत दूर हो जाएगी और आपका डाइजेशन सिस्टम भी बढ़िया हो जाएगा. इसके लिए आप इसके ऊपर थोड़ा नमक डाल कर ले. इससे आपको कब्ज दूर करने में मदद मिलेगी और इसके साथ-साथ यह आपके वजन और मोटापे को कम करने में भी मदद करेगा.
  • चीकू Colon Cancer, Oral cavity, और Lung Cancer जैसी बीमारी से बचाने में मदद करता है. चीकू में मौजूद फाइबर हमारे मेंब्रेन को कैंसर जैसी बीमारियों से दूर रखता है.
  • चीकू में विटामिन मिनरल्स और शुगर जैसे सुक्रोज और फ्रुक्टोज जैसे चीजें होती है जो कि हमें एनर्जी देने का काम करती है और हमारे बॉडी को फ्री रेडिकल्स जैसी चीजों से बचाती है. इसमें विटामिन A भरपूर मात्रा में होता है जो हमारे आंखों के और त्वचा के हेल्थ के लिए बहुत ही बढ़िया है.
  • चीकू में टैनिंग होता है जोकि दवाई की तरह काम करता है और यह बवासीर के लिए बहुत ही अच्छा फल है.
  • यह inflammation दूर करने में भी मदद करता है इसके लिए आप चीकू के पत्तों को पानी में गर्म करके उसके बाद पत्तों को निकाल दें और इस पानी को पिए और इस से गरारे भी करें.
  • चीकू में haemostatic क्वालिटी होती है जो बवासीर की वजह से होने वाले खून की कमी और इंजरी से होने वाली खून की कमी को दूर करता है.
  • चीकू खाने के और भी बहुत फायदे हैं चीकू खाने से यह हमारी बॉडी में वायरल इंफेक्शन और बैक्टीरिया को दूर करने में मदद करते हैं. इसके अलावा यह हमारी body pain और muscle में होने वाले जकड़न को भी दूर करता है.
  • यह खांसी और जुखाम के लिए भी बहुत बढ़िया है और यह मेडिसिन की तरह काम करता है इसकी मदद से आप को बंद नाक खोलने में भी हेल्प मिलती है.
  • चीकू sedative मेडिसिन की तरह काम करता है जिसका मतलब होता है कि यह आपके शरीर में तनाव और आपको रिलैक्स करने में मदद करता है, इसकी वजह से आपको insomnia, anxiety और panic disorders को ठीक करने में मदद मिलती है. यह आपके mental health को भी improve करता है.
  • चीकू में अच्छी मात्रा में latex होते हैं जिससे आपको दांतों की हेल्प हेल्थ बढ़ाने में मदद मिलती है.
  • चीकू में Folic acid बहुत अच्छी मात्रा में होता है जो कि हमारे red blood cells को बढ़ाने में मदद करता है और इसके अलावा यह प्रेग्नेंसी में भी बहुत फायदेमंद है.
  • चीकू का पेस्ट फल और पौधों को फफूंदी लगने से बचाता है.
  • यह एक ऐसा फल है जिसको आप इसके स्किन के साथ भी खा सकते हैं और इसके स्किन आप को healthy रखने में बहुत ज्यादा मदद करती है.
  • चीकू में अच्छी मात्रा में पोटेशियम होता है जो कि आपके ब्लड प्रेशर और ब्लड सर्कुलेशन को regulates करता है.
  • इसकी मदद से आपके बॉडी में water retention नहीं बनती है और आपकी बॉडी में पानी की मात्रा सही रहती है.
  • यह हमारी बॉडी से toxins निकालने में मदद करता है और चीकू खाने से आपको kidney और bladder stones को निकालने में भी मदद मिलती है.
  • चीकू के बीज का पेस्ट बनाकर आप किसी मक्खी के काटे हुए जगह पर लगा सकते हैं यह एक बहुत ही बढ़िया घरेलू उपाय है

चीकू के इस्तेमाल

chikkoo uses in hindi

  • चीकू का इस्तेमाल बालों और स्किन के लिए किया जा सकता है.
  • चीकू खाने से आपके बाल healthy रहते हैं.
  • चीकू के बीज से बनाए गए पेस्ट को सिर में लगाने से dandruff ठीक हो जाता है.
  • चीकू के बीज से निकाला हुआ तेल सिर में लगाने से बालों का रूखापन चला जाता है
  • चीकू में पाए जाने वाले विटामिन से आपकी त्वचा मॉस्चराइजर रहती है
  • चीकू में पाए जाने वाले Antioxidants आपको उम्र से पहले बूढ़े होने और wrinkles को कम करने में मदद करते हैं.
  • Regular चकू खाने से आपको वायरल इंफेक्शन और fungal infections से बचाव मिलता है.

बच्चों के लिए चीकू

बच्चों के लिए बहुत ही फायदेमंद है. जो बच्चे 6 से 8 महीने की उम्र के हैं उनको आप चीकू दे सकते हैं. इसमें कोई एलर्जी रिएक्शन नहीं होता है. यह सभी बच्चों के लिए सुरक्षित है. इसमें पाए जाने वाले विटामिन और मिनरल्स बच्चों की आंखों के लिए और बच्चों के हिमोग्लोबिन और उनके प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाने के लिए बहुत बढ़िया है.

इसके अलावा यह बच्चों के हड्डियों को भी मजबूत करता है और इसके साथ साथ बॉडी के कई फंक्शन को ठीक रखने में मदद करते हैं. यह बच्चों को सर्दी जुखाम से बचा कर रखता है तो इसके अलावा यह डायरिया जैसी बीमारियों को ठीक करने में भी मदद करता है.

चीकू खाने के नुकसान (chikkoo khane ke nuksaan)

चीकू में बहुत अच्छी मात्रा में पोषक तत्व होते हैं लेकिन इसको खाने से पहले इसके नुकसान के बारे में भी जानना जरूरी है. अपने वजन के हिसाब से आप दिन में 100 से 120 ग्राम तक चीकू का सेवन कर सकते हैं यह आपके उम्र पर भी निर्भर करता है.

  • ज्यादा चीकू खाने की वजह से आपका वजन बढ़ सकता है क्योंकि इसमें कैलोरी बहुत ज्यादा होती है.
  • चीकू ज्यादा खाने की वजह से आपको पेट में प्रॉब्लम हो सकती है और दर्द भी हो सकता है.
  • ज्यादा कच्चे चीकू खाने की वजह से बच्चों में गले में खराश, सांस लेने में दिक्कत और इस तरह की समस्या हो सकती है.

निष्कर्ष

तो हमने आपको ऊपर चीकू कितने प्रकार के होते हैं? चीकू को खाने के क्या फायदे हैं? बच्चों को चीकू देने चाहिए या नहीं देनी चाहिए? चीकू खाने के क्या क्या नुकसान हो सकते हैं? इसके बारे में हमने आपको बताया अगर आपको हमारी जानकारी पसंद आती है तो आप नीचे कमेंट करके हमें जरूर बताएं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+