भारत के प्रधान मंत्री की लिस्ट और उनका कार्यकाल

 भारत के प्रधान मंत्री की लिस्ट और उनका कार्यकाल

हमारे देश आजाद होने के बाद चुने गए  सभी प्रधानमंत्रीयो के नाम की सूचि और उनका कार्यकाल निम्नलिखित है .भारत सरकार का मुखिया, भारत के राष्ट्रपति का मुख्य सलाहकार, मंत्रिपरिषद का मुखिया, तथा लोकसभा में बहुमत वाले दल का नेता होता है। वह भारत सरकार के कार्यपालिका का नेतृत्व करता है।वह किसी भी धर्म या जाति का हो सकता है

1.जवाहरलाल नेहरू

पंडित जवाहरलाल नेहरु भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे जिन्होंने स्वतंत्रता के बाद अपने निधन तक भारत में शासन किया. जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर 1889 को इलाहबाद में हुआ था.जवाहरलाल नेहरू बच्चों से बहुत प्यार करते थे और उन्हें बच्चे चाचा नेहरु के नाम से भी पुकारते थे और उनके जन्म 14 नवंबर को बाल दिवस के रूप में  मनाया जाता है. और जवाहरलाल नेहरू लाल किले पर पहली बार तिरंगा लहराया था उनकी प्रारंभिक शिक्षा अपने घर पर और निजी सचिव द्वारा हुई थी और 15 साल की उम्र में मेरी इंग्लैंड चले गए थे और उन्होंने 15 अगस्त 1947 से लेकर 27 मई, 1964 तक भारत में शासन कियाऔर 27 मई 1964 को उनकी मृत्यु हो गई.

2.गुलजारीलाल नंदा

गुलजारीलाल नंदा भारत के दूसरे प्रधानमंत्री थे गुलजारी लाल नंदा का जन्म 4 जुलाई 1898 में सियालकोट पाकिस्तान में स्थित पंजाब में हुआ था वैसे भारत के चौथे प्रधानमंत्री की क्योंकि पंडित जवाहरलाल लगातार तीन बार प्रधानमंत्री के पद पर रह चुके थे उस के नजरिए से देखा जाए तो वह चौथे प्रधानमंत्री थे और अगर किसी व्यक्ति के हिसाब से देखा जाए तो वह दूसरे प्रधानमंत्री थे और गुलजारीलाल नंदा अपने जीवन में दो बार 13 -13 दिन कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने क्योंकि 1964 में पंडित जवाहरलाल नेहरु की मृत्यु के बाद गुलजारी लाल नंदा को कार्यवाहक प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया.गुलजारीलाल नंदा को एक लेखक के रूप में भी जाना जाता है और गुलजारीलाल नंदा देश को स्वतंत्र कराने में अपना सब कुछ झोंक दिया था 1921 में इन्होंने गांधी जी के नेतृत्व में असहयोग आंदोलन में भी भाग लिया वह एक आदर्शवादी, राजनीतिज्ञ, शिक्षा वादी, और अर्थशास्त्री थे.और 15 जनवरी 1998 में उनका देहांत हो गया.

3. लालबहादुर शास्त्री

लाल बहादुर शास्त्री एक ईमानदार सच्चे और सादगी भरे इंसान थे. लाल बहादुर शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर 1904 को उत्तर प्रदेश में वाराणसी के निकट मुगलसराय गांव में हुआ जब शास्त्री जी सिर्फ 18 महीने के थे तब उनके पिता की दुर्भाग्यवश उनके पिता की मौत हो गई लाल बहादुर शास्त्री जी के पिता एक शिक्षक थे. शास्त्री जी सबसे छोटे होने के कारण घर में उन का नाम नन्हे था.पंडित जवाहरलाल नेहरु की मौत के बाद एक ईमानदार और सच्चे इंसान की नजर से देखते हुए लाल बहादुर शास्त्री जी को प्रधानमंत्री के रुप में चुना गया.लाल बहादुर शास्त्री जी ने मरो -नहीं -मारो , जय -जवान जय -किसान का नारा भी दिया लाल बहादुर शास्त्री ने 1964 से लेकर 11 जनवरी 1966 तक प्रधानमंत्री रहे. 11 जनवरी 1966 को उनकी मृत्यु हो गई मरणोपरांत उनको ईमानदारी सच्चाई देशभक्ति और साफ-सुथरी छवि होने के कारण भारत रतन से सम्मानित किया गया.

4. इन्दिरा गान्धी

इंदिरा गांधी भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री की उनका जन्म 19 नवंबर 1917 को उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद में हुआ उनके पिता का नाम पंडित जवाहरलाल नेहरु था और माता का नाम कमला देवी जवाहरलाल नेहरू था उनकी प्रारंभिक शिक्षा इलाहाबाद मुंबई पुणे और कोलकता हुई और उच्च शिक्षा के लिए उनको इंग्लैंड में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में भेजा गया. इंदिरा गांधी को 1942 में चले जाओ आंदोलन में शामिल होने के कारण जेल की सजा भी. इंदिरा गांधी इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री के पद पर 24 जनवरी 1966 से 24 मार्च 1977 तक रही और 14 जनवरी 1980 से लेकर 31 अक्टूबर 1984 जब उनकी मृत्यु हुई प्रधानमंत्री के पद पर रहे.

5. मोरारजी देसाई

मोरारजी देसाई स्वतंत्रता के बाद पहले ऐसे प्रधानमंत्री थे जो कि कांग्रेस को छोड़कर किसी अन्य दल के प्रधानमंत्री थी मोरारजी देसाई भारत के छठे प्रधानमंत्री थे उनका जन्म 29 फरवरी 1896 में गुजरात के बुलसर जिले के नजदीक भदेली नामक स्थान पर हुआ था उनके पिता का नाम रणछोड़ जी देसाई था उनके पिता एक अध्यापक थे. मोरारजी देसाई एक सच्चे और ईमानदार और साफ-सुथरी छवि के आदमी थे.मोरारजी देसाई पहले ऐसे प्रधानमंत्री जिसको 2 देशों में सर्वोच्च पुरस्कार से सम्मानित किया गया उनको पाकिस्तान के सर्वोच्च पुरस्कार निशान-ए-पाकिस्तान से सम्मानित किया गया और भारत में भारत रत्न से सम्मानित किया गया.मोरारजी देसाई 1977 से 1989 तक प्रधानमंत्री पद पर रहे.10 अप्रैल 1995 में उनकी मृत्यु हो गई.

6. चौधरी चरण सिंह

प्रथम किसान प्रधानमंत्री – चौधरी चरण सिंह एक नेक इंसान है उनको किसी राजनेता के रुप में कम बल्कि किसान नेता के रूप में ज्यादा जाना जाता है. चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर 1902 में उत्तर प्रदेश के मेरठ नजदीक नूरपुर गांव में एक जाट परिवार में हुआ. उनके पिता का नाम चौधरी मीर सिंह. वे किसानों की आवाज को उठाने में अपना सब कुछ लगा देते. क्योंकि चौधरी चरण सिंह के पिता एक किसान थे और वह बहुत ही गरीब थे इस गरीबी को चौधरी चरण सिंह ने नजदीक से देखा था और किसानों पर हो रहे अत्याचार को भी वह देख चुके थे इसलिए उन्होंने किसानों की आवाज को ऊंचा उठाने की बहुत कोशिश की और भी कृषि मंत्री भी बने. चौधरी चरण सिंह 28 जुलाई 1979 से लेकर 14 जनवरी 1980 तक प्रधानमंत्री पद पर रहे. 29 मई 1987 को उनकी मृत्यु हो गई.

7. राजीव गान्धी

राजीव गांधी एक सच्चे और शांति सभाव वाले इंसान थे उनका जन्म 14 अगस्त 1944 में मुंबई में हुआ था और उनकी माता का नाम इंदिरा गांधी था और वह 40 साल की उम्र में प्रधानमंत्री बने वे सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री बनने वाले इंसान थे जब वह प्रधानमंत्री बने उस समय उनकी उम्र 40 वर्ष थी और दुनिया के कुछ युवा राजनेता में से एक थे वह लंदन की कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए इंग्लैंड गए वहां उनकी मुलाकात एक लड़की से हुई जो कि इटली की थी उसका नाम था “एडविग एन्टोनिया एल्बीना माइनो” बाद में उनकी शादी हुई और उस लड़की का नाम बदलकर सोनिया गांधी रख दिया गया जो कि भारत में आकर रहने लगी. और राजीव गांधी 31 अक्टूबर 1984 से लेकर 2 दिसंबर 1989 तक भारत के प्रधानमंत्री बने और बाद में एक रैली के दौरान. और 21 मई 1991 को एक रैली के दौरान उनकी बम विस्फोट नहीं हत्या कर दी गई

8.विश्वनाथ प्रताप सिंह

विश्वनाथ प्रताप सिंह एक कठिन परिश्रम करने वाले राजनेता थे उनका जन्म 25 जून 1931 में उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुआ. उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय पुना विश्वविद्यालय में अपनी पढ़ाई पूरी की विश्वनाथ प्रताप सिंह निचली जाति को ऊपर उठाने के लिए बहुत ही कदम उठाए और बहुत ही परिश्रम किया. विश्व प्रताप सिंह हमेशा ही राजनीति की तरफ ध्यान रख करते थे. विश्वनाथ प्रताप सिंह 2 दिसंबर 1989 से लेकर 10 नवंबर 1990 तक भारत के प्रधानमंत्री के पद पर रहे और इससे पहले वे उत्तर प्रदेश मे 1980 से 1982 तक मुख्य मंत्री भी रह चुके थे.27 नवंबर 2008 में 77 वर्ष की आयु में इनका दिल्ली में एक हॉस्पिटल के अंदर निधन हो गया.

9. चंद्रशेखर

श्री चंद्रशेखर कुशलता कार्यशील और दृढ़ निश्चय के इंसान थे. चंद्रशेखर का जन्म 1 जुलाई 1927 को उत्तर प्रदेश के इब्राहिम पट्टी में हुआ चंद्रशेखर के पिता एक किसान थे उनकी प्रारंभिक शिक्षा डीएवी स्कूल में हुई और वह अपने गांव से मेरिट की परीक्षा पास करने वाले पहले विद्यार्थी थे बाद में उन्होंने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से अपनी शिक्षा पूरी की और उसके बाद में वह राजनीति में प्रवेश कर गए. 14 साल की आयु में उनका विवाह कर दिया गया. चंद्रशेखर 10 नवंबर 1990 से लेकर 21 जून 1991 तक प्रधानमंत्री के पद पर रहे 8 जुलाई 2007 में कैंसर के कारण दिल्ली के एक अस्पताल में उनका निधन हो गया उस समय वे 80 वर्ष के थे.

10. नरसिंह राव

नरसिंह राव भारत के 10 प्रधानमंत्री थे इनका जन्म हैदराबाद के करीमनगर गांव में 28 जून 1921 को हुआ इनका पूरा नाम पामुलापति वेंकट नरसिंह राव था.जब नरसिंह राव 3 वर्ष के थे तब इनको गोद लिया गया था. नरसिंह राव में मुंबई विश्वविद्यालय एवं नागपुर विश्वविद्यालय से अपनी शिक्षा पूरी की नरसिंह राव पेशे से एक कृषि विशेषज्ञ एवं वकील थे. नरसिंह राव  1971 से 73 के बीच आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री नरसिंह राव को भारतीय भाषा के साथ पेनिस और फ्रांसीसी भाषा का भी ज्ञान था. इन्होंने बहुत ही आर्थिक परिवर्तन किए जिसके कारण इनको भारतीय आर्थिक सुधारक के जनक के नाम से भी पुकारा जाने लगा. नरसिंह राव ने 21 जून 1991 से 16 मई 1996 तक भारत के प्रधानमंत्री के रूप में रहे. 23 दिसंबर 2004 को उनका निधन हो गया.

11. अटल बिहारी वाजपेयी

अटल बिहारी वाजपेई प्रशंसनीय और आदर्शवादी नेता थे उनका जन्म 25 दिसंबर 1924 में मध्यप्रदेश के ग्वालियर में हुआ उनकी माता का नाम कृष्णा देवी था उनके पिता का नाम कृष्णा बिहारी वाजपेई था वह पेशे से एक अध्यापक और कवि थे.अटल बिहारी वाजपेई राजनेता होने के साथ-साथ एक अच्छे कवि भी थे जवाहरलाल नेहरू के बाद अटल बिहारी वाजपेई वह नेता थे जिन्होंने लगातार दो बार प्रधानमंत्री पद को संभाला. उन्होंने 16 मई 1996 से लेकर 1 जून 1996 तक और उसके बाद 19 मार्च 1998 से लेकर 22 मई 2004 तक प्रधानमंत्री पद पर रहे. उन्होंने शादी नहीं करवाई और राजनीति से संयास लेकर वह अपने निवास स्थान पर रह रहे हैं.

12. एच डी देवगौड़ा

एच.डी. देवगौड़ा महान राजनेता में से एक माना जाता है इनका पूरा नाम हरदनहल्ली डोडेगौडा देवगौडा था. इनका जन्म 18 मई 1935 को कर्नाटक के हसन जिले के निकट हरदनहल्ली गांव में हुआ था. उनके पिता एक किसान थे पूर्वी पिछड़ी जाति से थे. एच.डी. देवगौड़ा सिविल इंजीनियर की पढ़ाई की थी और उन्होंने 20 साल की उम्र में ही अपनी पढ़ाई को पूरा कर लिया था इसके बाद वे राजनीति के मैदान में कूद पड़े. ये 1994 में कर्नाटक के मुख्यमंत्री भी बने एच.डी. देवगौड़ा 1 जून 1996 से लेकर 21 अप्रैल 1997 तक भारत के प्रधानमंत्री पद पर रहे.

13. इंद्रकुमार गुज़राल

इंद्र कुमार गुजराल एक शिक्षित राजनेता थे उनका जन्म झेलम जो को  पाकिस्तान के  पंजाब प्रांत का एक जिला है झेलम नदी के पास वहां पर उनका जन्म 4 दिसंबर 1919 को हुआ हिंदी उर्दू और पंजाबी के साथ अन्य कई भाषाओं के बारे में जानते थे इंद्र कुमार गुजराल के पिता का नाम अवतार नारायण था और उनकी माता का नाम पुष्पा गुजराल था. इंद्रकुमार गुजराल 21 अप्रैल 1997 से लेकर 19 मार्च 1998 तक भारत के प्रधानमंत्री पद पर नियुक्त रहे और बाद में लंबी बीमारी  के कारण 30 नवंबर 2012 को गुड़गांव में उनका निधन हो गया.

14. मनमोहन सिंह

डॉक्टर मनमोहन सिंह को एक बुद्धिमान और शिक्षित और अर्थशास्त्री के रूप में महान महान राजनेता माना जाता है. डॉक्टर मनमोहन सिंह भारत के 13वें प्रधानमंत्री थे उनका जन्म पाकिस्तान में स्थित पंजाब प्रांत में 26 सितंबर 1932 को हुआ. भारत के विभाजन के बाद यह अमृतसर आकर रहने लगे.  उन्होंने अपनी शिक्षा ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पूरी की.शिक्षा पूरी करने के बाद कुछ दिन तक उन्होंने अध्यापन कार्य भी किया मनमोहन सिंह लगातार दो बार भारत के प्रधानमंत्री बने इससे पहले वह वित्त मंत्री भी बने. मनमोहन सिंह 22 मई 2004 से लेकर 22 मई 2009 तक और 22 मई 2009 से लेकर 17 मई 2014 तक प्रधानमंत्री पद पर रहे.

15. नरेन्द्र मोदी

नरेंद्र मोदी पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनका जन्म स्वतंत्रता के बाद हुआ है और प्रधानमंत्री पद पर नियुक्त हैं नरेंद्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 में वंदनगर गुजरात में हुआ इनके पिता का नाम दामोदरदास मूलचंद मोदी माता का नाम हीराबेन मोदी है. हीराबेन मोदी है. इनका पूरा नाम नरेंद्र दामोदरदास मोदी है.नरेंद्र मोदी बचपन में चाय बेचते थे. नरेंद्र मोदी ने 2 महीने के लिए अपने घर को भी छोड़ दिया था इसके बाद वे अपने कदम राजनीतिक की ओर बढ़ाने लगे. फिर नरेंद्र मोदी गुजरात में लगातार 10 साल तक मुख्यमंत्री बनी रहे.और 26 मई 2014 में यह प्रधानमंत्री बने.

इस पोस्ट में आपको भारत के प्रधानमंत्रियों , साढ़े पांच महीने का प्रधानमंत्री कौन था , भारत के प्रथम प्रधानमंत्री कौन थे, भारत के दूसरे प्रधानमंत्री कौन थे, देश के किस राज्य में सबसे अधिक प्रधानमंत्री दिए हैं, देश के किस राज्य ने सबसे अधिक प्रधानमंत्री दिए हैं, प्रथम किसान प्रधानमंत्री कौन था के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करें और अगर आपको यह जानकारी फायदेमंद लगे तो दूसरों के साथ शेयर जरूर करें.

3 Comments
  1. Ravi sondhiya says

    Sabse kam samay tak pm kon raha jiska karyakal sabse kam raha plz replay me

    1. hindigyanbook says

      गुलजारीलाल नंदा 13 day

  2. Ashu says

    Sbse jyada din tk pm kon rha

Leave A Reply

Your email address will not be published.