रेलवे जंक्शन टर्मिनल सेंट्रल के बीच का अंतर

रेलवे जंक्शन टर्मिनल सेंट्रल के बीच का अंतर

हम सभी जानते हैं.हमारे देश के लोग एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने के लिए रेल का सहारा लेते हैं और रेल का सहारा किसी सामान को लाने और ले जाने के लिए भी लिया जाता है. और हमारे देश का रेल नेटवर्क बहुत बड़ा है अगर बात की जाए हमारे देश के रेल नेटवर्क की तो हमारे देश का रेल नेटवर्क दुनिया में चौथे नंबर पर आता है हमारे देश से पहले चीन अमेरिका और रशिया का रेल नेटवर्क आता है जो कि बहुत बड़ा रेल नेटवर्क है.और हमारे देश की रेल देश के अलग-अलग हिस्सों को आपस में जोड़ती है तो आपने भी कई बार रेल में सफर किया होगा लेकिन जब आप रेल में सफर करते हैं तो आपने किसी स्टेशन के ऊपर देखा होगा.

लेकिन आपने कई जगह पर देखा होगा कि उस जगह के नाम के बाद जंक्शन, टर्मिनस, टर्मिनल या सेंट्रल लिखा हुआ होता है. तो आपने भी कई बार यह जरूर सोचा होगा कि आखिरकार इन चारों शब्दों का क्या मतलब होता है. लेकिन शायद आपको इनके बारे में कहीं पर जानकारी नहीं मिली होगी या आपने इनके ऊपर कुछ ज्यादा ध्यान नहीं दिया होगा. तो आज हम आपको इन चारों लोगों के बारे में बताएंगे कि आखिरकार इनका मतलब क्या होता है तो यदि आपको भी इनका मतलब नहीं पता है तो आप हमारी इस पोस्ट को पूरा और अंत तक जरूर देखें/

स्टेशन कितने प्रकार के होते हैं

भारत में चार प्रकार की रेलवे स्टेशन होते हैं टर्मिनस या टर्मिनल जंक्शन Central और एक साधारण रेलवे स्टेशन तो सबसे पहले हम बात करेंगे टर्मिनस या टर्मिनल रेलवे स्टेशन कौन से होते हैं और उनका क्या मतलब होता है

टर्मिनस या टर्मिनल

टर्मिनस या टर्मिनल को रेलवे स्टेशन होता है जहां से आगे जाने का कोई रास्ता नहीं होता यानी जिस दिशा से ट्रेन आई है. उसी दिशा में ट्रेन वापस जा सकती है आगे उसके लिए कोई रास्ता नहीं होता है. यानी ट्रैक का दी एंड, हमारे देश में अभी 27 टर्मिनल रेलवे स्टेशन है. छत्रपति शिवाजी और लोकमान्य टर्मिनल भारत के सबसे बड़े टर्मिनल रेलवे स्टेशन पर है.इसके अलावा कुछ और भी फेमस टर्मिनल है जैसे बांद्रा टर्मिनल भावनगर टर्मिनल कोचीन हार्वर्ड टर्मिनल हावड़ा टर्मिनल आदि.

सेंट्रल रेलवे स्टेशन

सेंट्रल रेलवे स्टेशन के नाम से जाने जाने वाला रेलवे स्टेशन वह होता है जो कि किसी शहर का सबसे पुराना रेलवे स्टेशन होता है लेकिन यह जरूरी नहीं है कि वह रेलवे स्टेशन पुराना है किसी भी शहर का सेंट्रल रेलवे स्टेशन सबसे ज्यादा Busy होता है यहां पर गाड़ियों की आवाजाही दूसरे सभी रेलवे स्टेशनों से ज्यादा होती है लेकिन यह जरूरी नहीं है कि किसी शहर में एक से ज्यादा रेलवे स्टेशन है तो वहां पर सेंट्रल रेलवे स्टेशन होगा क्योंकि भारत की राजधानी दिल्ली में भी कोई सेंटर रेलवे स्टेशन नहीं है भारत में 5 सेंट्रल रेलवे स्टेशन है मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन, त्रिवेंद्रम सेंट्रल रेलवे स्टेशन, कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन, चेन्नई सेंट्रल, स्टेशन और बेंगलुरु रेलवे सेंट्रल रेलवे स्टेशन

जंक्शन रेलवे स्टेशन

जंक्शन रेलवे स्टेशन वे रेलवे स्टेशन होते हैं जहां से गाड़ी 3 दिशाओं में जा सकती है और 3 दिशाओं से आ सकती है और गाड़ी 3 से ज्यादा दिशाओं में भी जा सकती है. इस तरह के रेलवे स्टेशन को जंक्शन रेलवे स्टेशन कहा जाता है और हमारे देश में 300 से भी ज्यादा जंक्शन रेलवे स्टेशन है जिनमें से सबसे ज्यादा ट्रैक वाला जंक्शन मथुरा का है यहां से 7 ट्रैक निकलते हैं और इसके अलावा सेलम जंक्शन से 6 और विजयवाड़ा से 5 ट्रैक अलग-अलग दिशाओं में निकलते हैं.

साधारण रेलवे स्टेशन

साधारण रेलवे स्टेशन वे रेलवे स्टेशन होते हैं जोकि टर्मिनस सेंट्रल या जंक्शन रेलवे स्टेशन की कैटेगरी में नहीं आते हैं वह साधारण रेलवे स्टेशन होते हैं. साधारण रेलवे स्टेशन के ऊपर गाड़ी आती है और वहां से सवारी लेती है और वहां से चलती है बस साधारण रेलवे स्टेशन के ऊपर यही होता है और भारत में 8000 से भी ज्यादा साधारण रेलवे स्टेशन मौजूद है.

आज आपको इस पोस्ट में जंक्शन का अर्थ स्टेशन और जंक्शन के बीच का अंतर भारत के सबसे पुराने रेलवे टर्मिनल टर्मिनल अर्थ टर्मिनल का मतलब टर्मिनल का मतलब क्या होता है जंक्शन मीनिंग इन हिंदी टर्मिनल किसे कहते है के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से दी है तो यदि आपको यह जानकारी पसंद आए तो लाइक और शेयर जरूर करें और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं

Leave A Reply

Your email address will not be published.