2018 की भयानक प्राकृतिक घटनाएं

2018 की भयानक प्राकृतिक घटनाएं

जैसा कि हम सभी जानते हैं. हमने धरती के ऊपर ऐसी बहुत सी प्राकृतिक चीजें मिलती हैं. जिनका हम इस्तेमाल करते हैं हमें प्रकृति के द्वारा बहुत सी ऐसी चीजें मिलती हैं जिससे हम जिंदा रहते हैं. और हम हमारे रोजाना इस्तेमाल में उन चीजों का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन कुछ प्राकृतिक चीजें ऐसी हैं जिनका इस्तेमाल हम गलत तरीके से करते हैं या उनको हानि पहुंचा देते हैं.

जिससे हमारे आने वाला भविष्य भी खतरे में है और हम खुद भी उसके कारण खतरे में हैं. क्योंकि सभी चीजों का इस्तेमाल अपने हिसाब से ही होना चाहिए अगर हम किसी चीज का इस्तेमाल ज्यादा या कम करते हैं. तो उससे हमें नुकसान होगा और इसी तरह से हम प्रकृति की चीजों का इस्तेमाल करते हैं और इसके कारण प्रकृति का संतुलन बिगड़ गया है. और यह पिछले कुछ सालों में तो बहुत ज्यादा बिगड़ चुका है जिससे कि प्रकृति अपना बदला मानव जाति से ले रही है और इसके लिए धरती के ऊपर ऐसी अनेकों घटनाएं होती है जो मानव जाति के लिए बहुत बड़ा खतरा साबित हो सकती है.

और ऐसी ही कुछ घटनाएं इस साल में भी घटी है. तो आज हम आपको इस पोस्ट में पूरी जानकारी विस्तार से देंगे.और हम जो आपको आज इस पोस्ट में प्राकृतिक घटनाएं बताएंगे वह इसी साल की फरवरी महीने में घटी है और इसकी सबसे महत्वपूर्ण सोचने वाली बात यह है कि यह पूरी धरती के ऊपर अलग-अलग हिस्सों में घटी है और यह घटनाएं हमारी धरती को बदलने जा रही है क्योंकि प्रकृति अपने ऊपर होने वाले अत्याचारों का बदला लेने को तैयार है और बदला लेना शुरू कर दिया है कि इस साल में कौन-कौन सी ऐसी प्राकृतिक घटनाएं हुई है जो हमारे लिए एक सबक हो सकता है. और यह सभी चीजें हमें सोचने पर मजबूर जरूर कर देगी.

ब्रह्मांड क्या है ब्रह्मांड कैसे बना ब्रह्मांड के बारे में जानकारी

नॉर्थवेस्टर्न अर्जेंटीना में  भारी वर्षा

4 फरवरी 2018 नॉर्थवेस्टर्न अर्जेंटीना में  अचानक आई भारी वर्षा के कारण भयानक बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है. और कुछ हिस्सों में तो एक ही दिन में पानी का स्तर 5 फीट से भी ज्यादा बढ़ गया अर्जेंटीना की मुख्य नदी का पानी एक ही दिन में खतरे के निशान से ऊपर बहने लगा और अपने रास्ते में आने वाली हर चीज को अपने साथ ही बहा कर ले गया जैसे गाड़ी पेड़ पौधे मकान सब कुछ और इस बार से लगभग 60,000 लोग प्रभावित हुए और इस बाढ का असर पड़ोसी देश बोलीविया में भी देखने को मिला जहां आपातकाल घोषित कर दिया गया अब तक तो आपको यह लग रहा होगा कि यह एक प्राकृतिक आपदा है. जो हर साल कहीं ना कहीं होती है लेकिन हम आपको अब कुछ ऐसी चीज बताएंगे जो हर साल या हर दिन नहीं होती जहां पर साउथ अमेरिका बाढ़ की चपेट में था.

तो वहीं पर टेक्स्ट शहर में जो हो रहा था उसका किसी ने अंदाजा भी नहीं लगाया होगा 6 फरवरी को यहां पर हजारों की तादाद में काले पक्षियों ने लोगों पर हमला कर दिया लेकिन यह माना गया है कि यह पक्षी किसी पर हमला नहीं कर रहे थे बल्कि यह अपने नियमित समय पर एक जगह से दूसरी जगह है जा रहे थे लेकिन प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार यह पक्षी उड़ान नहीं भर रहे थे. बल्कि वह हवा में दिशाहीन इधर उधर उड़ रहे थे और लोगों और चीजों से टकरा रहे थे और इसके कारण ही सारा माहौल बिल्कुल बिगड़ चुका था और पक्षियों के इस दुर्व्यवहार का कारण किसी के पास नहीं था.

मोहनजोदड़ो के इतिहास के बारे में रोचक जानकारी

ताइवान में 6.4 रिक्टर स्केल का भूकंप

इस घटना को अभी तक 24 घंटे पूरे नहीं हुए थे कि दूसरे दुनिया के दूसरे हिस्से ताइवान में 6.4 रिक्टर स्केल का भूकंप आया और यह भूकंप आधी रात को आया जिसमें बहुत सी बिल्डिंग खत्म हो गई और बहुत से लोगों की जान भी गई और यह इस शहर की पहली घटना नहीं की इससे पहले भी 4 फरवरी को यहां पर भूकंप के हल्के झटके महसूस की जा चुकी थी ठीक उसी समय जिस समय अर्जेंटीना में भारी वर्षा शुरू हुई थी और यदि आपको यह सिर्फ संयोग लग रहा है तो आगे हम आपको ऐसा ही कुछ और बताएंगे.

JAKARTA शहर में अचानक बाढ़

जिस दिन ताइवान में भूकंप की प्राकृतिक आपदा आएगी और ठीक उसी समय इंडोनेशिया के JAKARTA  शहर में आपातकाल घोषित कर दिया गया क्योंकि यहां पर अचानक बाढ़ आ गई थी और इस बार में बहुत सारे घर बह गए थे और 6500 लोगों को सुरक्षित जगह पर ले जाया गया. और बहुत से लोग इस बार में लापता भी हो गए स्थानीय प्रशासन के अनुसार यह बाढ़ अब तक के पिछले कई दशकों में आई बाढ़ से बहुत भयानक थी.

इंडोनेशिया पिछली बाढ़ से उभरा ही नहीं था. कि 8 फरवरी को अचानक ही कोरडोवा शहर में ओलों की बारिश होने लगी शुरू में तो यह बिल्कुल साधारण ही ओले की बारिश जैसा था जहां पर बिल्कुल छोटे छोटे बर्फ के टुकड़े आसमान से गिर रहे थे. लेकिन धीरे-धीरे इनका आकार बढ़ गया और कुछ ओले तो 6 से 7 इंच तक बढ़ चुके थे लेकिन प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बताया जाता है. कि इन ओलों का आकार बहुत बड़ा था लेकिन धरती के ऊपर गिरने से इसकी छोटे-छोटे टुकड़े टूट गए और यहां का माहौल बहुत भयानक था. और ऐसा प्रतीत हो रहा था कि आसमान से बड़े-बड़े पत्थर बरस रहे हैं और इस ओलों की बारिश ने यहां पर बहुत ज्यादा तबाही मचाई और कई लोगों को घायल भी कर दिया और इस घटना के 5 दिन बाद धरती ने राहत की सांस ली.

5 दिन की राहत के बाद 13 फरवरी को प्रकृति का तांडव एक बार फिर देखने को मिला और Pacific सागर में  एक बहुत बड़े साइक्लोन में जन्म लिया. जिस को गीता का नाम दिया गया इस तूफान में हवा की अधिकतम गति 205 किलोमीटर प्रति घंटा थी और इस तूफान ने द्वीप देश टोंगा में भारी तबाही मचाई इसकी राजधानी टोंगा टप्पू शहर ने 74 प्रतिशत घरों को तबाह कर दिया और यह तूफान यहां पर नहीं रुका और यह फिजी होते हुए न्यूजीलैंड तक पहुंच गया और वहां पर भी भारी तबाही मचाई और बाढ़ की स्थिति उत्पन्न कर दी और तब जहां पर यह सब कुछ चल रहा था तो दुनिया का दूसरा हिस्सा इराक भी बाढ़ की चपेट में था भारी वर्षा के कारण यहां का जीवन अस्त व्यस्त हो गया इसका असर पड़ोसी देश सीरिया यमन और तुर्की में भी देखने को मिला.

जहां पर दुनिया के एक हिस्से में बाढ़ और तूफान का कहर मचा हुआ था.वहीं पर दुनिया का दूसरा हिस्सा एक नई प्राकृतिक आपदा से रूबरू होने वाला था 19 फरवरी 2018 को इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप पर ज्वालामुखी अचानक फट पड़ा इसके कारण आसमान में 4 किलोमीटर और साहित्य की भूमिका  मच गया इस ज्वालामुखी का किसी की जान तो नहीं गई बल्कि वहां पर दोहे के कारण 5 शहरों पर अंधेरा छा गया आवाजाही ठप हो गई.

अंटार्टिका के बारे में रहस्यमय चीजें और रोचक जानकारी

अफ्रीका महाद्वीप में दरार

आप सब ने अफ्रीका महाद्वीप का नाम तो सुना ही होगा लेकिन बहुत कम ही लोग यह जानते हैं. कि इस द्वीप कि अब टुकड़े होने जा रहे हैं अमेरिका के पूर्वी भाग में एक ऐसा दरार है. जो 2200 किलोमीटर तक फैला है. और यह दरार कई देशों जैसे इथोपिया, कोंगो   कीनिया, युगांडा, रवांडा ,जांबिया महाद्वीप से होकर गुजरता है, इस दरार को ईस्ट अफ्रीका रिफ्ट कहा जाता है, जो ईस्ट अफ्रीका और वेस्टर्न अफ्रीका को अलग करता है, यह दरार हर साल 5 / 6 मीटर बड़ा हो जाता है.

और कहीं कहीं पर इसकी गहराई 66 फीट से भी ज्यादा है. इस दरार की वजह से कई गांव के लोगों को अपना घर छोड़कर दूसरी जगह पर जाना पड़ा और फरवरी 2018 में यह दरार कीनिया की मुख्य सड़क तक पहुंच गया. और इस दरार को स्थाई रूप से भरने की कोशिश भी की गई ताकि आवाजाही में बाधा ना आए. लेकिन यह एक ऐसी चीज है. जिसे ठीक नहीं किया जा सकता और आने वाले सालों में ज्यादा बढ़ने वाली है. और यह दरार अफ्रीकन द्वीप को दो भागों में बांट देगी और आगे आने वाले 10 मिलियन साल में यह दो अलग-अलग महाद्वीप बन जाएंगे और बीच में समंदर अपनी जगह बना लेगा इन सभी घटनाओं को देखते हुए यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि पृथ्वी मनुष्य द्वारा किए जाने वाले अत्याचारों को और नहीं सह सकता है. और यदि हम समय पर नहीं संभाल पाए तो शायद आगे आने वाले समय में पूरी मानव जाति के साथ-साथ दूसरी सभी जीव जंतुओं जानवरों की प्रजातियां विलुप्त हो जाएगी खत्म हो जाएगी.

टाइटैनिक जहाज के बारे में कुछ रोचक जानकारी

तो आज हमने आपको इस पोस्ट में 2018 की भयानक प्राकृतिक घटनाएं सत्य घटनाएं समसामयिक घटनाएं रहस्यमय घटनाएं वर्तमान घटनाएं रहस्यमयी घटनाएं चमत्कारी घटनाएं रोचक घटनाएं घटना अर्थ अनहोनी घटनाएं की महत्वपूर्ण जानकारी बताई इस पोस्ट में हमने आपको दुनिया की कुछ ऐसी घटनाएं बताइए जो हमें सोचने पर मजबूर कर देगी तो यदि हमारे द्वारा चाहिए यह जानकारी आपको पसंद आए तो शेयर करना ना भूले और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं

Leave A Reply

Your email address will not be published.