बैंक लोन ना भरने से बैंक आपके खिलाफ क्या क्या कर सकता है

बैंक लोन ना भरने से बैंक आपके खिलाफ क्या क्या कर सकता है

हर किसी का सपना होता है. कि उसके पास एक अच्छा घर हो और यह सपना आपका भी होगा लेकिन इतनी महंगाई के कारण आज के समय में एक साथ पैसे इकट्ठे करके घर लेना बहुत मुश्किल है. क्योंकि एक साथ पैसे इकट्ठे करना कोई आसान काम नहीं है. इसलिए आज के समय में बहुत से बैंक होम लोन दे रहे .हैं और वह होम लोन आपको बहुत ही आसानी से मिल जाते हैं. और आसानी से होम लोन मिल जाने के कारण बहुत से लोग लोन लेकर अपने घर खरीद रहे हैं. और आसानी से लोन मिल जाने के कारण सभी लोग सोचते हैं.वह अपना लोन बहुत जल्द ही भर देंगे लेकिन कई बार बहुत से लोगों के साथ ऐसा होता है कि घर लेने के बाद या तो उनकी जॉब छूट जाती है या किसी दूसरी दिक्कत के चलते वह बैंक का लोन भरने में असमर्थ हो जाते हैं.

तो आज हम आपको इस पोस्ट में इसी चीज के बारे में जानकारी देंगे कि यदि आप लोन लेकर खरीद लेते हैं. उसके बाद यदि आप लोन भरने में असमर्थ हो जाते हैं. या आप किसी दिक्कत के चलते लोन नहीं भर पाते हैं. तो बैंक आपके साथ क्या-क्या कर सकता है.और फिर आप क्या कर सकते हैं. यह जानकारी हम आपको इस पोस्ट भेज देंगे तो यह जानकारी आप ध्यान से पढ़ें और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें क्योंकि लगभग आज के समय में हर कोई लोन लेकर ही घर खरीद रहा है. लेकिन लोन लेने से पहले वह इन बातों के बारे में नहीं जानते होंगे कि यदि उन्होंने बैंक का लोन नहीं भरा तो बैंक उनके साथ क्या-क्या कर सकता है. तो देखिए

समय पर लोन न लौटने पर क्या होता है

सबसे पहले हम बात करते हैं कि यदि आप बैंक से लोन लेते हैं और उस लोन को आप समय पर नहीं भरते हैं.आप यहां पर इस बात को याद रखें कि हम आपको यह बता रहे हैं. कि यदि आप समय पर लोन नहीं भरते हैं. तो बैंक आपके साथ क्या-क्या कर सकता है भारतीय रिजर्व बैंक यानी RBI के अनुसार यदि लगातार कोई भी आदमी 90 दिनों तक किसी भी तरह की राशि या EMI का भुगतान नहीं करता है तो इसे  Non Performing Asset (NPA) ऐसी स्थिति में बैंक के द्वारा अकाउंट खाता धारक को एक पत्र भेजा जाता है जिसमें कहा जाता है कि खाताधारक बैंक की बाकी राशि का भुगतान एक बार में ही कर दें .और यदि उसके बाद भी वह ऐसा नहीं करता है वह बैंक को लोन की राशि नहीं देता है. तो बैंक उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की धमकी भी दे सकता है.

लोन न लौटने पर क्या होता है

जब आप बैंक से अपने घर के लिए लोन ले लेते हैं. और उसके बाद आप उस लोन को नहीं पाते हैं. तो क्या होता है. या नहीं यदि आप घर का लोन नहीं चुका पाएंगे तो सबसे पहले बैंक आपको एक नोटिस भेजता है. और यह नोटिस पहला नोटिस भेजे जाने के  लगभग 2 महीने बाद भेजा जाता है. यानी बैंक के लोन का भुगतान न करने के 5 महीने बाद बैंक आपको दूसरा नोटिस भेजता है. बैंक इस नोटिस के जरिए आपको बताता है. कि आपकी प्रॉपर्टी की कुल कीमत कितनी होगी और इसको नीलामी के लिए कितनी कीमत पर रखा जा रहा है. और इसमें नीलामी की तारीख भी लिखी होती है. जो कि लगभग दूसरा नोटिस भेजे जाने के 1 महीने के बाद की हो सकती है.आम तौर पर ऐसे मामले Non Performing Asset (NPA) से जुड़े नहीं होते हैं. इसलिए बैंक होम लोन से जुड़े मामलों पर ज्यादा सख्ती से कार्यवाही नहीं करते हैं. लेकिन वह अपने खाताधारक पर एक दबाव बनाकर रखते हैं. ताकि खाताधारक उन पैसों को जल्दी से भर सके लेकिन यदि  इसके बाद भी खाताधारक बैंक लोन नहीं भरता है. तो बैंक कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं या किसी भी तरह का कोई कानूनी एक्शन ले सकते हैं.

बैंक क्या-क्या कर सकता है

अब हम आपको बताएंगे कि यदि आप बैंक लोन नहीं भरते हैं. तो बैंक क्या-क्या कर सकते हैं. जो कंपनियां आपको लोन दे रही है. उसके लिए भारत सरकार ने साल 2002 में एक कानून पास किया था. जिसके मुताबिक होम लोन का भुगतान नहीं किया जाता है. तो बैंक के पास आपकी संपत्ति को जप्त करने का अधिकार होता है. और बैंक उस संपत्ति को नीलाम भी कर सकता है. लेकिन सीधे तौर पर बैंक आपकी संपत्ति को जप्त नहीं करता है उससे पहले वह कुछ कानूनी कार्रवाई के साथ अपने पैसे वापस लेने की कोशिश करता है और यदि आप खुद भी अपना बकाया लोन नहीं भरते हैं तो उसके बाद आप के खिलाफ बैंक कानूनी कार्रवाई कर सकता है जिसमें आपकी संपत्ति को जप्त भी कर सकता है और उस की नीलामी भी कर सकता है. बैंकों का काम मुख्य रूप से बचे हुए लोन के पैसों को वापस पाना होता है. इसलिए बैंकों का काम सिर्फ नाम देना और उसे समय पर वापस लेना होता है. और यदि फिर भी कोई आदमी बैंक का लोन वापस नहीं करता है. तो उसके खिलाफ बैंक कानूनी कार्रवाई कर सकता है.

आपकी संपत्ति की नीलामी होने के बाद

कुछ लोग सोचते हैं कि हम अगर लोन नहीं भरेंगे तो बैंक हमारी संपत्ति को जप्त करेगा और उस की नीलामी कर देगा और हमारा पीछा छूट जाएगा लेकिन फिर भी बैंक आपका पीछा नहीं छोड़ता है.क्योंकि बैंकों का नियम होता है. कि यदि बैंक आपकी संपत्ति को जप्त कर के और उसे नीलाम कर देता है. तो नीलामी में जो पैसा बैंक को मिलता है. और वह पैसा आपके बैंक के के लिए हुए लोन से ज्यादा है. तो बैंक बचा हुआ पैसा आपके अकाउंट में भेज देगा. और यदि बैंक आपकी संपत्ति को नीलाम कर देता है. और उससे बैंक के लोन का पैसा पूरा नहीं होता है. तो वह बता हुआ पैसा आपको बैंक को देना पड़ता है. तो यदि आपकी संपत्ति बैंक के लोन से कम हुई तो आपको पैसा और भरना पड़ेगा और यदि आपके बैंक की संपत्ति बैंक के पैसों से ज्यादा आपकी संपत्ति की नीलामी होती है.

तो बैंक आपके पैसों को अपने अकाउंट में भेज देगा तो यह बात भी आपके लिए जानना बहुत ही जरूरी है. और यदि आपके बैंक के लोन के पैसों से ज्यादा कि आप की संपत्ति की नीलामी होती है तो बाकी का बचा हुआ पैसा बैंक आपके अकाउंट में भेज देगा तो यह बात याद रखने योग्य बात है. आपको इस बात को हमेशा याद रखना चाहिए जब भी आप होम लोन लेते हैं. क्योंकि कई लोग लोन लेकर घर तो खरीद लेते हैं. लेकिन बाद में सोचते हैं कि घर शायद कम पैसों का है. और लोन के पैसे ज्यादा है. इसलिए भी कई लोग बैंक के लोन को नहीं भरते हैं. और वह सोचते हैं कि वह कि हमारी संपत्ति को नीलाम कर देगा और हमारा पीछा छूट जाएगा लेकिन अगर आपके लोन के पैसे ज्यादा है. और आपकी संपत्ति कम की है तो बैंक फिर भी आपका पीछा नहीं छोड़ेगा और आपको वह पैसे बचे हुए पैसे भरने पड़ेंगे.

और यदि कोई आदमी अपना पर्सनल लोन लेता है और उसे नहीं भरता है. तो इस मामले में बैंक उसकी प्रॉपर्टी को जप्त करके नीलाम नहीं करता बल्कि उसके खिलाफ Civil Complain कर देता है. और उस Civil Complain के कारण वह आदमी भारत के किसी भी बैंक से कभी लोन नहीं ले पायेगा.यानि भारत का कोई भी बैंक उसे उसकी पूरी जिंदगी में किसी भी तरह का लोन नहीं देगा. वैसे तो पर्सनल लोन का राशि बहुत हम होती है. इसलिए पर्सनल लोन पर Civil Complain से ही काम चल जाता है.

लोन के प्रकार

अब आप को यह भी जानना जरूरी है कि लोन कितने प्रकार के होते हैं लोन दो प्रकार के होते हैं. सुरक्षित लोन और असुरक्षित लोन इन दोनों में आपको अलग-अलग तरह के लोन और अलग-अलग तरह की राशि दी जाती है. सुरक्षित लोन वह लोन होते हैं. जिनमें Home Loan, Gold Loan, Mtivation Lone, Mtual fund Lone, Auto Lone  यह सभी लोग सुरक्षित लोन ले आते हैं.

और असुरक्षित लोन में पर्सनल लोन और एजुकेशन लोन जैसे लोन आते हैं. और सुरक्षित लोन में कोई आदमी लोन नहीं भरता है. तो बैंक उसकी प्रॉपर्टी को जप्त कर लेती है. और नीलाम कर देती है. और असुरक्षित लोन में जैसे एजुकेशन लोन या पर्सनल लोन है. उनको लेने के बाद कोई आदमी लोन नहीं भरता है. तो बैंक के एक Civil Complain दर्ज करवा देता है. जिसके बाद उसको कभी भारत में किसी भी बैंक से लोन नहीं दिया जाएगा.

तो अब आपको पता चल गया होगा कि यदि आप बैंक से लोन लेते हैं और उसको वापस नहीं करते तो बैंक ऑफ के साथ क्या-क्या कानून कारवाई कर सकता है

आज हमने आपको इस पोस्ट में बहुत ही बढ़िया और फायदेमंद जानकारी बताई हमने आपको इस पोस्ट में बताया कि यदि आप बैंक से होम लोन लेते हैं. और उसको वापस नहीं करते हैं. तो बैंक आपको आपके साथ क्या-क्या कर सकता है. और कितने समय के बाद क्या कार्रवाई कर सकता है. इसके बारे में पूरी और विस्तार से जानकारी दी है. तो यदि हमारे द्वारा बताई गई यह जानकारी आपको पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं.

5 Comments
  1. Narendra singh says

    Sir mere papa kcc lon liye the mere dada ji ke naam se or dono ka date ho gya he
    Or bank vale mere ko parsan kr rhe he lon chukane k liye

    M kya kru plzz kuch raye bataye sir

  2. Ranjeet sharma says

    Mughe lon nhi mil raha hea

  3. Sidhyarth Kushwaha says

    Sir
    Mai PL liya hu two years se unfortunately nhi pay kar paa raha hu aur anewale two years aur bhi nhi De paane ke condition me hu
    Kya court jail bhej sakta hai

  4. Sujit Kumar says

    Ek agent ne mujhse Delhi ke different bank me home loan ke liye march 2017 me apply karwaya r bank ka cheque jispe mujse sign bhi karwaya r kahan ki jis bank se home loan sanction ho jayega wahan se karwa denge phir mujhse PNB housing Varanasi se officer mile ar bataya aap ke loan sanction ho gaya hai r Kuch document pe signature bhi karwaya main may 2017 se PNB housing Varanasi branch ka EMI dene laga November me mere salary account par with hold laga diya gaya bank me sampark karne par pata chala ki sbi Delhi ke dwara with hold lagaye gaya hai jab cibil report dekha to pata chala ki 3 different other bank se bhi mere name se home loan diya gaya hai jiski jaankari mujhe pahle Nahi tha San mai PNB housing Varanasi ka EMI Nahi de paa raha hun main aab kya kar sakta hun

  5. भगत सिंह says

    कितनी किसते नहीं भरते है तो नीलामी हो तीहै

Leave A Reply

Your email address will not be published.

+